Coviddeaths, Mpnews, Madhya Pradesh News, Mp News, Gwalior News, Madhya Pradesh Coronavirus, Covid Deaths, Death Toll From Corona

Coviddeaths, Mpnews

Covid Deaths: यहां बढ़ सकता है कोरोना से मौत का आंकड़ा, डेथ आडिट के इंतजार में अटकी हैं इन सबकी फाइलें

#CovidDeaths : यहां बढ़ सकता है कोरोना से मौत का आंकड़ा, डेथ आडिट के इंतजार में अटकी हैं इन सबकी फाइलें #MPNews

13-06-2021 21:47:00

CovidDeaths : यहां बढ़ सकता है कोरोना से मौत का आंकड़ा, डेथ आडिट के इंतजार में अटकी हैं इन सबकी फाइलें MPNews

ग्वालियर जिले में कोरोना की दूसरी लहर में मरने वाले करीब तीन सौ लोगों की मौत का सच फाइलों में दबा है। इनके स्वजन को अब तक यह पता नहीं चल सका कि आखिर उनके मरीज की मौत का कारण कोरोना था या फिर कुछ और।

मध्य प्रदेश के इन फाइलों में दबा मौत का सच सरकारी आंकड़ों में तेजी लाएगा। शायद यही कारण है कि मृतकों की फाइल के ऑडिट में विलंब हो रहा है। यदि कागजों में दबी मौत का सच सामने आया तो बिहार की तरह ग्वालियर में भी कोरोना से मरने वालों की संख्या अचानक से बढ़ेगी।

डॉ. मनमोहन सिंह की चेतावनी: पूर्व PM बोले- देश की इकोनॉमी के लिए 1991 से भी मुश्किल वक्त आ रहा; ये खुश होने का नहीं, विचार करने का समय IND vs SL: भारत ने 2-1 से जीती वन-डे सीरीज, आखिरी मैच में श्रीलंका ने तीन विकेट से हराया अप्रैल 2020 से मार्च 2021 के बीच योगी सरकार ने टीवी विज्ञापनों पर ख़र्चे 160 करोड़ रुपये

फाइलों में बंद है 300 से अधिक लोगों की मौत का सचजेएएच में 143 और स्वास्थ्य विभाग में निजी अस्पतालों में मरने वालों की करीब 150 फाइलें अभी आडिट के इंतजार में हैं। आडिट से पता चलेगा कि मौत कोरोना से हुई या नहीं। प्रशासन भले ही इन मौत को फाइलों में बंद रखकर धीरे-धीरे निकाले, पर यह कहना गलत नहीं होगा कि दूसरी लहर में कोरोना से मौत के आंकड़े बढ़े तो ऑक्सीजन की कमी से भी मरने वालों की संख्या में इजाफा होगा। शनिवार को ग्वालियर में संक्रमित और मौत का आंकड़ा शून्य रहा।

सीएमएचओ मनीष शर्मा ने कहा कि कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है, क्योंकि निजी व सरकारी अस्पताल में जिन लोगों की कोरोना से मौत हुई है, उन सभी का डेथ आडिट फिलहाल काम की अधिकता के चलते नहीं हो सका है। जल्द ही आडिट होने पर सरकारी बुलेटिन में मौत के आंकड़े शामिल कर लिए जाएंगे। headtopics.com

जीआर मेडिकल कॉलेज के प्रवक्ता डा. अमित निरंजन ने कहा कि वर्तमान में कार्य की अधिकता के चलते कुछ फाइलों का डेथ आडिट नहीं हो सका है। अब काम शुरू कर दिया है, जल्द ही सभी मौत का आडिट कर डाटा स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध करा दिया जाएगा।यह भी पढ़ेंबिहार में कोरोना से मौत का आंकड़ा बदला, एक दिन में 73 फीसद की वृद्धि

देश में कोरोना से मौत का आंकड़ा बीते नौ जून को अचानक छह हजार के पार पहुंच गया। वैश्विक महामारी के कहर की शुरुआत से लेकर अब तक एक दिन में संक्रमण से मौत के ये सर्वाधिक मामले हैं। इसका प्रमुख कारण बिहार में कोरोना के कारण मौत के आंकड़े में करीब 73 फीसद का बड़ा बदलाव होना रहा।

सरकारी आंकड़े के मुताबिक, सात जून 2021 तक बिहार में कोरोना से 5,424 लोगों की मौत हुई थी (मार्च 2020 से मार्च 2021 की 1,600 मौत शामिल) लेकिन अस्पताल और जिला स्तर पर सत्यापन में पता चला कि कोरोना से प्रदेश में अब तक 5,424 नहीं बल्कि 9,375 लोगों की मौत हुई। यानी बिहार सरकार के पास 3,941 लोगों की कोरोना से मौत का आंकड़ा ही नहीं था। इस संबंध में पटना हाई कोर्ट के दखल के बाद बनाई गई दो कमेटियों की रिपोर्ट में मौत का नया आंकड़ा सामने आया है।

यह भी पढ़ेंउत्तराखंड में भी आंकड़े में लापरवाही और पढो: Dainik jagran »

10तक: केंद्र नहीं करती दो बच्चों की नीति का समर्थन, BJP शाषित राज्यों में क्यों आया कानून?

यूपी सरकार जनसंख्या नियंत्रण नीति लेकर आ चुकी है. असम के मुख्यमंत्री भी आबादी कंट्रोल करने वाले कानून के लिए प्रबल समर्थक हैं. एमपी के कई मंत्री, विधायक मांग कर रहे हैं कि आबादी नियंत्रण कानून लाया जाए. लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने संसद में लिखित जवाब दिया कि टू चाइल्ड पॉलिसी यानी दो बच्चों की नीति लाने का कोई इरादा केंद्र सरकार का नहीं है. तो जब केंद्र की सरकार ही नीति का समर्थन नहीं करती तो फिर राज्यों में बीजेपी की सरकार क्या सिर्फ धर्म के आधार पर वोटों के ध्रुवीकरण वाली राजनीति के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून का इस्तेमाल करना चाहते हैं? देखें 10तक.

कोरोना काल में अलग-अलग चुनौतियों का सामना करते बच्चों में जगाएं सुपर हीरो का एहसासमहामारी में जिस प्रकार बच्चों-किशोरों ने खुद को संभाला है। बेशक बच्चे खुद को संपूर्णता में अभिव्यक्त नहीं कर पा रहे लेकिन उनके डर एवं संकोच को दूर करना जरूरी है। उन्हें एहसास दिलाना है कि वे किसी सुपर हीरो से कम नहीं हैं...

Kolkata: कोरोना काल में बदला सफर का अंदाज, साइक‍िल का बढ़ा इस्तेमालपश्चिम बंगाल में लॉकडाउन के समय में यात्रा का स्वरूप पूरी तरह बदल चुका है. बस और ट्रेन बंद होने के कारण, ज्यादातर लोग सफर करने के लिए साइकिल का इस्तेमाल कर रहें हैं. हजारों की संख्या में साइकिल सवार यात्री हर जगह देखने को मिल रहे हैं. कोई 30 किलोमीटर तो कोई 40 किलोमीटर साइकिल चला कर काम पर जा रहा है. देखिए कोलकाता से आजतक संवाददाता अनुपम मिश्रा की ये रिपोर्ट. सात साल में सौ करोड़ का खाना खाने वाले प्रधानमंत्री ने पेट्रोल डीज़ल के दाम बढ़ा कर जनता को साइकिल से चलने पर मजबूर कर दिया है अरे गोदी मीडिया अंदाज नही बदला. पेट्रोल के पैसे नही है. तुमको रातको निंद कैसे आती बे

Coronavirus Lockdown Live Update: दिल्ली में आज कोरोना के 213 नए मामले, 28 की मौतभारत में कोरोना वायरस के दूसरी लहर की रफ्तार (Coronavirus 2nd Wave Speed) लगातार धीमी पड़ रही है। आज लगातार 5वें दिन कोरोना के नए मामले एक लाख से कम आए हैं, लेकिन मौतों का आंकड़ा 4,000 के करीब रहा। वहीं, प्रतिष्ठित न्यूरोलॉजिस्ट और पद्मश्री से सम्मानित डॉ. अशोक पनगड़िया का शुक्रवार को निधन हो गया। 71 वर्षीय डॉक्टर कोरोना वायरस संक्रमण और संक्रमण के बाद की जटिलताओं से पीड़ित थे। मुंबई में अगले आदेश तक कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर लागू प्रतिबंधों को कम करने की महाराष्ट्र सरकार की योजना की तीसरी श्रेणी में बना रहेगा। बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) ने यह जानकारी दी। इस दौरान मुंबई लोकल के भी नहीं चलने के आसार हैं। पल-पल के अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ... सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़कर आप मेरे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक और फॉलो करे फेसबुक - इंस्टाग्राम - ट्विटर - व्हाट्सएप्प - सदैव आपका *समीर श्रीवास्तव*

कोरोना: दूसरी लहर में 719 डॉक्टरों की मौत, बिहार और दिल्ली ने खोए सबसे अधिक चिकित्सकइंडियन मेडिकल एसोसिएशन के मुताबिक, कोरोना की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा बिहार में 111 डॉक्टरों और दिल्ली में 109 डॉक्टरों IMAIndiaOrg 4332a297

भारत में कोरोना: कितने नए मामले मिले, कितने ठीक हुए, जानिए पिछले 24 घंटों का हालभारत में कोरोना: कितने नए मामले मिले, कितने ठीक हुए, जानिए पिछले 24 घंटों का हाल LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI

Coronavirus: नवीन पटनायक बोले, कोरोना से लड़ाई में सब का सहयोग जरूरीCoronavirus नवीन पटनायक ने कहा है कि लोगों के सहयोग से ओडिशा जल्द ही कोरोना से निजात पा लेगा। उन्होंने संक्रमण को नियंत्रित करने में जुटे चिकित्सकों स्वास्थ्य कर्मियों व अन्य कोरोना योद्धाओं के त्याग और परिश्रम के प्रति उनका आभार जताया। Naveen_Odisha यहां काम से ज्यादा आरोप लगाने की नीति पर काम हो रहा है चाहे वह किसी सत्तापक्ष की बात हो या विपक्ष की बात है खुद की क्रेडिट लेना और सामने वाले की गलती साबित करने में सब की ताकत जाया हो रहे और जनता अपने जीवन से हाथ धो रहे Naveen_Odisha लाजवाब जनप्रिय नेता कोई प्रचार नही अपना काम लग्न और ईमानदारी के साथ लोकप्रिय मुख्यमंत्री नवीन पटनायक जी को सादर प्रणाम।