Bccı, Bombay High Court, Bccı, Deccan Chargers, 4800 Crores

Bccı, Bombay High Court

BCCI को नहीं भरना पड़ेगा 4800 करोड़ का हर्जाना, बंबई हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत

बीसीसीआई को अब नहीं देना होगा डेक्कन चार्जर्स को 4800 करोड़ रुपये का हर्जाना #BCCI

16-06-2021 10:06:00

बीसीसीआई को अब नहीं देना होगा डेक्कन चार्जर्स को 4800 करोड़ रुपये का हर्जाना BCCI

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ( BCCI ) को डेक्कन चार्जर्स के अनुबंध समाप्ति से जुड़े मामले में बंबई हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है. बीसीसीआई को अब डेक्कन चार्जर्स को 4800 करोड़ रुपये का हर्जाना नहीं देना होगा.

यह पूरा मामला साल 2012 का है, जब बीसीसीआई ने डेक्कन चार्जर्स (DC) का अनुबंध खत्म कर दिया था. बीसीसाई के मुताबिक डेक्कन चार्जर्स ने बैंक गारंटी के तौर पर 100 करोड़ रुपये जमा नहीं किए थे, जो उसके अनुबंध समाप्त करने की बड़ी वजह बना. बाद में हैदराबाद की फ्रेंचाइजी ने बीसीसीआई के इस फैसले को चुनौती देते हुए बंबई हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. जिसके बाद पूरे मामले की जांच के लिए अदालत ने सेवानिवृत्त न्यायाधीश सीके ठक्कर को पंचाट (आर्बिट्रेटर) नियुक्त किया था.

ज्ञानवापी मस्जिद ने काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरडोर के लिए दी ज़मीन - BBC News हिंदी डॉ. मनमोहन सिंह की चेतावनी: पूर्व PM बोले- देश की इकोनॉमी के लिए 1991 से भी मुश्किल वक्त आ रहा; ये खुश होने का नहीं, विचार करने का समय अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन का भारत दौरा अगले हफ़्ते, पीएम मोदी से करेंगे मुलाकात: आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi

पिछले साल जुलाई में पंचाट ने बीसीसीआई के साथ विवाद में डेक्कन क्रॉनिकल्स होल्डिंग्स लि. (DCHL) के पक्ष में फैसला देते हुए बीसीसीआई को डीसीएचएल को 4800 करोड़ रुपये का भुगतान करने को कहा था. बाद में बीसीसीआई ने इस फैसले को चुनौती देते हुए बंबई हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी.

बीसीसीआई का एक ऐसे ही मामले में कोच्चि टस्कर्स केरला से भी विवाद चल रहा है. 2011 में बीसीसीआई ने केरल की फ्रेंचाइजी को आईपीएल से निलंबित कर दिया था. क्योंकि यह फ्रेंचाइजी 156 करोड़ रुपए के सालाना भुगतान की बैंक गारंटी देने में नाकाम रही थी. इसके बाद फ्रेंचाइजी ने उसी साल बंबई हाई कोर्ट में बीसीसीआई के खिलाफ आर्बिट्रेशन दायर की थी. जिसके बाद पंचाट ने बीसीसीआई को 850 करोड़ रुपये का हर्जाना भरने का आदेश दिया था. पंचाट के इस फैसले को भी बीसीसीआई ने हाईकोर्ट में चुनौती दी है. headtopics.com

डेक्कन चार्जर्स की टीम ने साल 2008 से 2012 तक आईपीएल में भाग लिया था. 2009 में एडम गिलक्रिस्ट के नेतृत्व में डेक्कन चार्जर्स आईपीएल का खिताब जीतने में सफल रही थी. डेक्कन चार्जर्स को हटाए जाने के बाद हैदराबाद फ्रेंचाइजी के लिए बोली सन टीवी नेटवर्क ने जीती थी. जिसके बाद सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) की टीम ने आईपीएल में खेलना शुरू किया था.

Live TV और पढो: आज तक »

10तक: केंद्र नहीं करती दो बच्चों की नीति का समर्थन, BJP शाषित राज्यों में क्यों आया कानून?

यूपी सरकार जनसंख्या नियंत्रण नीति लेकर आ चुकी है. असम के मुख्यमंत्री भी आबादी कंट्रोल करने वाले कानून के लिए प्रबल समर्थक हैं. एमपी के कई मंत्री, विधायक मांग कर रहे हैं कि आबादी नियंत्रण कानून लाया जाए. लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने संसद में लिखित जवाब दिया कि टू चाइल्ड पॉलिसी यानी दो बच्चों की नीति लाने का कोई इरादा केंद्र सरकार का नहीं है. तो जब केंद्र की सरकार ही नीति का समर्थन नहीं करती तो फिर राज्यों में बीजेपी की सरकार क्या सिर्फ धर्म के आधार पर वोटों के ध्रुवीकरण वाली राजनीति के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून का इस्तेमाल करना चाहते हैं? देखें 10तक.

WTC Final: विजेता टीम को मिलेंगे 12 करोड़, पाकिस्तान को 1.5 करोड़ से करना होगा संतोषयह पहली बार होगा जब खेल के इस प्रारूप में आधिकारिक विश्व चैंपियन होंगे। आईसीसी प्रमुख कार्यकारी ज्योफ एलार्डिस ने मीडिया के सदस्यों के साथ बातचीत के दौरान कहा, ‘यह (डब्ल्यूटीसी) टेस्ट क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ टीम का प्रतीक बन गया है।’

UP: सरकारी कर्मचारियों ने नहीं लगवाई वैक्सीन तो नहीं मिलेगा वेतन, DM ने जारी किए आदेशलखीमपुर डीएम ने आदेस जारी करते हुए कहा है कि सभी सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों को वैक्सीनेशन करवाना अनिवार्य होगा. वैक्सीन लगने के बाद ही उनका वेतन उन्हें मिल पाएगा. शाबाश! क्या इसे लोकतंत्र कहते हैं? अभी तक वेक्सीन का लगवाया जाना किसी सरकार, विधानसभा अथवा संसद या न्यायालय द्वारा अनिवार्य नहीं किया गया है। फिर कोई डीएम ऐसे आदेश कैसे दे सकता है? आखिर मोदी सरकार या राज्य सरकारें इस सम्बंध में कोई अधिनियम या शासनादेश क्यों नहीं लाती जो संविधानिक हो?

स्विटजरलैंड को आशंका 2030 तक पूरा नहीं कर सकेगा पेरिस समझौते में किया वादा, जानें- क्‍योंस्विटजरलैंड के लोगों ने एक जनमत संग्रह में सरकार के उस प्रस्‍ताव को ठुकरा दिया है जिससे वो 2030 तक कार्बन उत्‍सर्जन के अपने लक्ष्‍य को पाने में सफल हो सकता। सरकार का कहना है कि अब उसको कुछ और उपाय अपनाने होंगे।

पुतिन को आलोचकों से परहेज नहीं, लेकिन देश के लिए होनी चाहिए 'वफादारी'अमेरिकी टेलीविजन नेटवर्क एनबीसी के द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि वो ऐसे व्यक्ति का समर्थन करने के लिए तैयार हैं जो राष्ट्रपति की आलोचना करे लेकिन देश के लिए वफादार हो। एक हत्यारे पुतिन से प्यार भाजपा का मुखपत्र दैनिक जागरण ही कर सकता है पुतिन ने अपने सभी विरोधियों और आलोचकों को मरवा दिया 2 उद्योगपतियों के दम पर पुतिन अपनी सत्ता बनाए हुए हैं रूस मे चुनाव एक खिलवाड़ बन चुका भाजपा का मुखपत्र दैनिक जागरण भारत मे ही ऐसा राकश तानाशाह है 👌 Exactly

चीन और पाकिस्तान बढ़ा रहे परमाणु हथियारों का जखीरा, भारत को नहीं है चिंता, जानें वजहएसआइपीआरआइ की रिपोर्ट के अनुसार चीन और पाकिस्तान परमाणु हथियारों का जखीरा बढ़ा रहे हैं। चीन के पास 350 पाक के पास 165 और भारत के पास 156 परमाणु हथियार है। वहां दुनिया के 90 फीसद परमाणु हथियार अमेरिका और रूस के पास हैं।

चीन ने ख़ुद को ख़तरा बताए जाने पर नेटो को दिया सख़्त जवाब - BBC News हिंदीनेटो नेताओं की बैठक के दौरान चीन को चुनौती बताया गया था जिसके बाद उसका बयान सामने आया है. अधिक संभावनाएं चीन द्वारा विश्व युद्ध 3 शुरू करनें की नजर आ रहीं हैं। तुम तो चीन का सबसे पहला चाटुकार हो क्यों कि तुम्हारा घर तो उसी से चलता है