Bihar, Biharelection 2020, Biharelections 2020, Nda, Ljp, Bihar Assembly Election, Bihar Election, Nitish Kumar, Election, नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव, तेजप्रताप यादव, उपेंद्र कुशवाहा, Priyanka Gandhi, Tejashwi Yadav, Tej Pratap Yadav, Upendra Kushwaha, Small Political Parties, प्रियंका गांधी, बिहार विधानसभा चुनाव, बिहार चुनाव, Bihar Assembly Elections, राष्ट्रीय जनता दल, Rashtriya Janata Dal, जनता दल, Congress Party, Congress

Bihar, Biharelection 2020

Bihar Assembly Election 2020: सीटों के बंटवारे पर कांग्रेस ने महागठबंधन तो लोजपा ने राजग को उलझाया

बिहार के चुनावी समर में उतरने से पहले राज्य के दोनों प्रमुख गठबंधनों में ज्यादा से ज्यादा सीट हासिल करने की जोर आजमाइश

29-09-2020 02:50:00

बिहार चुनाव : सीटों के बंटवारे पर कांग्रेस ने महागठबंधन तो लोजपा ने राजग को उलझाया Bihar Bihar Election 2020 Bihar Election s2020 NDA LJP NitishKumar yadavtejashwi iChiragPaswan SushilModi TejYadav14 INCIndia BJP4India

बिहार के चुनावी समर में उतरने से पहले राज्य के दोनों प्रमुख गठबंधनों में ज्यादा से ज्यादा सीट हासिल करने की जोर आजमाइश

महागठबंधन का हालराजद की अगुवाई वाले विपक्षी महागठबंधन के सीट बंटवारे के फार्मूले से कांग्रेस और वाम दल खुश नहीं है। कांग्रेस को 65 सीट के प्रस्ताव से नाराज पार्टी की प्रदेश स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडे ने सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने की धमकी दी है।

पंजाब में पीएम का पुतला फूंकने के पीछे राहुल का हाथ: जेपी नड्डा इस्लाम पर मैक्रों के बयान से कई अरब देशों में बौखलाहट, सामानों के बहिष्कार की अपील - BBC News हिंदी बेटे के प्रचार में उतरे शत्रुघ्न सिन्हा, बोले- नीतीश मेरे दोस्त, लेकिन तेजस्वी बिहार का भविष्य

वाम दल अलग मोर्चा बनाने की चेतावनी दे रहे हैं। आरएलएसपी ने भले ही तेजस्वी को चेहरा बनाने का विरोध करते हुए महागठबंधन से दूरी बनाई, लेकिन सच्चाई यह है कि राजद उसे एक दर्जन से ज्यादा सीटें देने को तैयार नहीं था।क्या है राजद का फार्मूलादरअसल राजद खुद 155 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहता है। उसकी योजना कांग्रेस को 65, वाम दलों को 20 सीटें देने की है। राजद वीआईपी और झामुमो को अपने कोटे से सीटें देने को तैयार है। राजद ने कांग्रेस को वाल्मीकि नगर लोकसभा चुनाव लड़ने का भी प्रस्ताव दिया है। मगर इस सूरत में उसे 65 की जगह 58 सीटें देने पर ही राजी है। कांग्रेस कम से कम 70 सीटें चाहती है, जबकि वाम मोर्चा 30 से कम सीटों पर राजी नहीं है।

इन दलों का नहीं है मजबूत आधारकांग्रेस और वाम दल भले ज्यादा सीटें मांग रहे हैं, मगर राज्य में इनका मजबूत आधार नहीं है। बीते चुनाव में कांग्रेस अपने हिस्से की 40 में से 27 सीटें जरूर जीती थीं, मगर इसका कारण पार्टी को मिला जदयू-राजद मतदाताओं का साथ था। इतना ही नहीं बीते चुनाव में इन्हीं दो दलों के कई नेता कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े थे। वाम दलों में सीपीआई माले का ही थोड़ा प्रभाव है। बीते चुनाव में उसे तीन सीटें मिली थी, जबकि भाकपा, माकपा खाता भी नहीं खोल पाई थी।

राजग में नीतीश बनाम चिरागसीट बंटवारे के मामले में सत्तारूढ़ राजग की स्थिति भी महागठबंधन जैसी है। मुख्यमंत्री लोजपा को भाव नहीं देना चाहते। जबकि लोजपा ने मनमाफिक सीटें नहीं मिलने पर भाजपा उम्मीदवारों को छोड़ कर सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की धमकी दी है। राजग में शामिल तीन अहम दलों के पास सीट बंटवारे का अपना-अपना फार्मूला है, लेकिन तीनों एक दूसरे के फार्मूले को खारिज कर रहे हैं।

ये है फार्मूलानीतीश चाहते हैं कि भाजपा और जदयू आधी आधी सीटें बांट ले। इसके बाद भाजपा लोजपा को अपने कोटे से तो जदयू हम को अपने कोटे से सीट दे। अगर आरएलएसपी राजग में आता है तो जदयू उसकी जिम्मेदारी उठाने के लिए तैयार है।भाजपा में नीतीश फार्मूले पर मंथन हुआ। सहमति भी बनती दिख रही थी, मगर चिराग के तीखे तेवर से पेच फंस गया। भाजपा चाहती है कि वह खुद 101, जदयू 103 सीटों पर चुनाव लड़े। बाकी बची 39 सीटें सहयोगी लोजपा और हम को बांट दी जाए।

भाजपा लोजपा को अधिकतम दो दर्जन सीटें देना चाहती है। बाकी की 15 सीटें हम और रालोसपा के लिए बचाना चाहती है। मगर इस प्रस्ताव पर जदयू और लोजपा दोनों को आपत्ति है। उधर चिराग चाहते हैं कि उसे बीते विधानसभा चुनाव की तरह 42 सीटें मिले।अगर उसे 33 सीटें दी जाती हैं तो लोजपा को विधानपरिषद की दो और राज्यसभा की एक सीट दी जाए। अगर इस पर भी सहमति नहीं है तो चिराग को डिप्टी सीएम पद का उम्मीदवार बनाया जाए।

सारकांग्रेस और चिराग ने ज्यादा सीटों के लिए अलग-अलग चुनाव लड़ने की दी धमकीबिहार के दोनों गठबंधनों में जोर आजमाइश जारी, सीटों की नहीं सुलझ रही गुत्थीहर पार्टी ज्यादा से ज्यादा सीट झटकने के लिए आजमा रही दांवविस्तार जारी है। हालात ये हैं कि चुनाव अधिसूचना जारी होने के तीन दिन बाद भी राजग और विपक्षी महागठबंधन में सीट बंटवारे की गुत्थी नहीं सुलझ रही। मन मुताबिक सीट न मिलने से आरएलएसपी के महागठबंधन से टूटने के बाद अब कांग्रेस ने सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की धमकी दी है। वहीं राजग में लोजपा के तेवर लगातार तल्ख होते जा रहे हैं।

सोनिया गांधी का मोदी सरकार पर हमला, लिखा- अर्थव्यवस्था के साथ लोकतांत्रिक ढांचा भी खतरे में भारत में पहली बार हाईकोर्ट की सुनवाई हुई लाइव, यूट्यूब पर किया गया प्रसारण उद्धव ठाकरे के ड्रग कमेंट पर भड़कीं कंगना, 'गंदी राजनीति कर रहे, शर्म आनी चाहिए'

विज्ञापनमहागठबंधन का हालराजद की अगुवाई वाले विपक्षी महागठबंधन के सीट बंटवारे के फार्मूले से कांग्रेस और वाम दल खुश नहीं है। कांग्रेस को 65 सीट के प्रस्ताव से नाराज पार्टी की प्रदेश स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडे ने सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने की धमकी दी है।

वाम दल अलग मोर्चा बनाने की चेतावनी दे रहे हैं। आरएलएसपी ने भले ही तेजस्वी को चेहरा बनाने का विरोध करते हुए महागठबंधन से दूरी बनाई, लेकिन सच्चाई यह है कि राजद उसे एक दर्जन से ज्यादा सीटें देने को तैयार नहीं था।क्या है राजद का फार्मूलादरअसल राजद खुद 155 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहता है। उसकी योजना कांग्रेस को 65, वाम दलों को 20 सीटें देने की है। राजद वीआईपी और झामुमो को अपने कोटे से सीटें देने को तैयार है। राजद ने कांग्रेस को वाल्मीकि नगर लोकसभा चुनाव लड़ने का भी प्रस्ताव दिया है। मगर इस सूरत में उसे 65 की जगह 58 सीटें देने पर ही राजी है। कांग्रेस कम से कम 70 सीटें चाहती है, जबकि वाम मोर्चा 30 से कम सीटों पर राजी नहीं है।

इन दलों का नहीं है मजबूत आधारकांग्रेस और वाम दल भले ज्यादा सीटें मांग रहे हैं, मगर राज्य में इनका मजबूत आधार नहीं है। बीते चुनाव में कांग्रेस अपने हिस्से की 40 में से 27 सीटें जरूर जीती थीं, मगर इसका कारण पार्टी को मिला जदयू-राजद मतदाताओं का साथ था। इतना ही नहीं बीते चुनाव में इन्हीं दो दलों के कई नेता कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े थे। वाम दलों में सीपीआई माले का ही थोड़ा प्रभाव है। बीते चुनाव में उसे तीन सीटें मिली थी, जबकि भाकपा, माकपा खाता भी नहीं खोल पाई थी।

राजग में नीतीश बनाम चिरागसीट बंटवारे के मामले में सत्तारूढ़ राजग की स्थिति भी महागठबंधन जैसी है। मुख्यमंत्री लोजपा को भाव नहीं देना चाहते। जबकि लोजपा ने मनमाफिक सीटें नहीं मिलने पर भाजपा उम्मीदवारों को छोड़ कर सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की धमकी दी है। राजग में शामिल तीन अहम दलों के पास सीट बंटवारे का अपना-अपना फार्मूला है, लेकिन तीनों एक दूसरे के फार्मूले को खारिज कर रहे हैं।

ये है फार्मूलानीतीश चाहते हैं कि भाजपा और जदयू आधी आधी सीटें बांट ले। इसके बाद भाजपा लोजपा को अपने कोटे से तो जदयू हम को अपने कोटे से सीट दे। अगर आरएलएसपी राजग में आता है तो जदयू उसकी जिम्मेदारी उठाने के लिए तैयार है।भाजपा में नीतीश फार्मूले पर मंथन हुआ। सहमति भी बनती दिख रही थी, मगर चिराग के तीखे तेवर से पेच फंस गया। भाजपा चाहती है कि वह खुद 101, जदयू 103 सीटों पर चुनाव लड़े। बाकी बची 39 सीटें सहयोगी लोजपा और हम को बांट दी जाए।

भाजपा लोजपा को अधिकतम दो दर्जन सीटें देना चाहती है। बाकी की 15 सीटें हम और रालोसपा के लिए बचाना चाहती है। मगर इस प्रस्ताव पर जदयू और लोजपा दोनों को आपत्ति है। उधर चिराग चाहते हैं कि उसे बीते विधानसभा चुनाव की तरह 42 सीटें मिले। और पढो: Amar Ujala »

गुजरात सीएम से ग्लोबल लीडर तक, ऐसे बढ़ती रही पीएम नरेंद्र मोदी की साख

वो जो सामने मुश्किलों का अंबार है, उसी से तो मेरे हौसलों की मीनार है. चुनौतियों को देखकर घबराना कैसा, इन्हीं में तो छिपी संभावनाएं अपार हैं. कई मौकों पर कविता की इन पंक्तियों को पीएम मोदी ने बोला है. बारीकी से देखें तो लगता है कि यही पंक्तियां उनके जीवन का संविधान हैं. जिसे उन्होंने खुद लिखा है. वे लगातार बीस साल बिना ब्रेक के काम करने का दावा करते हैं तो जनता ने भी उन्हें बीस साल से लगातार सत्ता में बिठाए रखा है. पीएम मोदी ने देश को बीस साल दिए तो जनता ने भी उन्हें अमूल्य बीस साल सौंप दिए. ये बीस साल मील के पत्थर से कम नहीं, ऐसे में ये देखना लाजमी हो जाता है कि बीस साल में क्या खोया, क्या पाया. देखिए खास कार्यक्रम, श्वेता सिंह के साथ.

पटना में स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड के लिए छात्रों ने किया प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्जस्टूडेंट क्रेडिट कार्ड में देरी को लेकर पटना में सोमवार को छात्र छात्राओं का गुस्सा फूट पड़ा. इस मामले को लेकर उन्होंने शिक्षा मंत्री और बिहार सरकार (Government of Bihar ) के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. वहीं छात्रों ने इस मामले को लेकर शिक्षा मंत्री का घेराव करने का प्रयास किया. police rule बिहार मे मोदी समर्थक भी वर्तमान सरकार से नराज हे जो ऐक बिकल्प की तलाश मे हे जो नजर नही आ रहा हे PCS परीक्षा में 976 में से 500 से अधिक पदों पर दूसरे राज्यों के छात्र-छात्राओं के चयन की मुख्य वजह ये है,क्योंकि सुनील बंसल जो UP का अघोषित सुप्रीम मुख्यमंत्री हैं,वह UP का नहीं,राजस्थान का है।सुनील बंसल यदि तेरी औकात है,तब राजस्थान में भी UP के 50% बच्चों का चयन कर के दिखा।ॐ।

दीपिका, श्रद्धा और सारा से पूछताछ के दौरान एनसीबी ने ढूंढ लिए अपने सवालों के जवाबदीपिका, श्रद्धा और सारा से पूछताछ के दौरान एनसीबी ने ढूंढ लिए अपने सवालों के जवाब ncbprobe ncb saraalikhan DrugCase mysarakhan deepikapadukone mysarakhan deepikapadukone justice_for_Tarun_67867 justice_for_Tarun_67867 justice_for_Tarun_67867 justice_for_Tarun_67867 justice_for_Tarun_67867 myogiadityanath drdwivedisatish UPGovt Aamitabh2 r9_tv PMOIndia barandbench LiveLawIndia drdineshbjp kpmaurya1 basicshiksha_up mysarakhan deepikapadukone तो अब तलाक समझे या शादी वाले गाने चलते रहेंगे 🤣😂 mysarakhan deepikapadukone लेकिन क्या नहीं लगता कि सबसे पहले नशेड़ियों की रानी दीपिका पादुकोण जेल की हवा खाने वाली है, क्योंकि ड्रग तो मंगाई ही है चाहे अपने लिए या किसी और के लिए ?

देशभर में जारी किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच कृषि बिलों को राष्ट्रपति ने दी मंजूरीभारत न्यूज़: president approves agricultural bill: किसानों और राजनीतिक दलों के लगातार विरोध के बीच राष्ट्रपति ने मॉनसून सत्र में संसद से पास किसानों और खेती से जुड़े बिलों पर अपनी सहमति दे दी है। किसान और राजनीतिक दल इस विधेयकों को वापस लेने की मांग कर रहे थे। rashtrapatibhvn Black day for Democracy rashtrapatibhvn भारत देश में महामहिम राष्ट्रपति बिना हड्डी का जानवर है जो अपने मन से कुछ भी नहीं कर सकता। 303 के डर से उसे सब कुछ वही मानना पड़ता है जो वह चाहते हैं।

नानी के निधन के बावजूद दिल्ली के खिलाफ खेले वॉटसन, अपने परिवार से मांगी माफीशेन वॉटसन ने ऑस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर डीन जोन्स को भी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की, जिनका पिछले हफ्ते मुंबई में निधन हो गया। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे विश्वास नहीं होता, ऐसा शानदार इंसान हमारे साथ नहीं है। मैं उन्हें बेहद करीब से जानता था।’’

IPL 2020: RRvsKXIP -शारजाह में राजस्थान ने पंजाब के जबड़े से छीनी जीत - BBC News हिंदीराजस्थान रॉयल्स ने 224 रन का लक्ष्य हासिल कर किंग्स इलेवन पंजाब को दी मात. जीत के हीरो तेवतिया-सैमसन Tewatia Nidahas ट्रॉफी के vijayshankar बनते बनते DineshKarthik बन गए । RRvKXIP Cricket अनिश्चितता का खेल । Magnificent chase.. ❤️

IPL 2020: शारजाह में राजस्थान ने पंजाब के जबड़े से छीनी जीत - BBC News हिंदीराजस्थान रॉयल्स ने 224 रन का लक्ष्य हासिल कर किंग्स इलेवन पंजाब को दी मात. जीत के हीरो तेवतिया-सैमसन.