Congress, Maharashtra, Radhakrishna Vikhe Patil, Senior Maharashtra Congress Leader Radhakrishna Vikhe Patil, Ncp, Sharad Pawar, Devendra Fadnavis

Congress, Maharashtra

ANALYSIS: पाटिल के 'हाथ' छोड़ BJP में जाने से महाराष्ट्र की राजनीति में क्या होगा असर?– News18 हिंदी

राधाकृष्ण विखे पाटिल को इस्तीफा देने की जरूरत क्यों पड़ी?

6/4/2019

राधाकृष्ण विखे पाटिल को इस्तीफा देने की जरूरत क्यों पड़ी?

पूर्व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री बालासाहेब विखे पाटिल के सुपुत्र राधाकृष्ण विखे पाटिल ने मंगलवार को विधिवत तौर पर अपने विधायक पद का इस्तीफा महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष को सौंप दिया. राधाकृष्ण विखे पाटिल को इस्तीफा देने की जरूरत क्यों पड़ी, इसकी प्रष्ठभूमि क्या है, जिनके पास महाराष्ट्र के विधानसभा में विरोधी दल के नेता का पद हो, ऐसे व्यक्ति को क्यों इस्तीफा देना पड़ा? यह आज की राजनीति में जानना जरूरी है. जिस तरह से लोकसभा चुनाव के दरमियान राधाकृष्ण विखे पाटिल काफी कोशिश करने के बाद भी अपने बेटे डॉक्टर सुजय विखे पाटिल को कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर लड़ा नहीं पाए और अंततः सुजय को भारतीय जनता पार्टी का 'कमल' थामना पड़ा. चुनाव में सुजय को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार को हराकर 17वीं लोकसभा में जाना पड़ा, तभी से राधाकृष्ण विखे पाटिल कांग्रेस का त्याग करेंगे? ऐसी सूचना आने लगी थीं या उसका संकेत मिलना शुरू हो गया था.

का 'कमल' थामना पड़ा. चुनाव में सुजय को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार को हराकर 17वीं लोकसभा में जाना पड़ा, तभी से राधाकृष्ण विखे पाटिल कांग्रेस का त्याग करेंगे? ऐसी सूचना आने लगी थीं या उसका संकेत मिलना शुरू हो गया था.

पार्टी के कद्दावर नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल शिरडी विधानसभा से लगातार विधायक के तौर पर विजय हो रहे थे. शिरडी विधानसभा अहमदनगर जिले में आती है. जब अशोक चव्हाण मुख्यमंत्री के तौर पर काम कर रहे थे, तब उनके मंत्रिमंडल में कृषि मंत्री का काम कर रहे थे. साथ में पृथ्वीराज चव्हाण के मंत्रिमंडल में भी उनके पास काफी जिम्मेदारी पूर्ण मंत्रालय था. लेकिन जैसे ही कांग्रेस-एनसीपी की सरकार गई, तब से ही राधाकृष्ण विखे पाटिल कांग्रेस पार्टी के अंदर सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे थे. इसके पीछे कारण भी है. अशोक चव्हाण बार-बार राधाकृष्ण विखे पाटिल पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ मिलीभगत करने का आरोप भी लगा रहे थे.

पर तीखे शाब्दिक प्रहार करने में राधाकृष्ण विखे पाटिल नाकाम हो रहे थे, ऐसा कहा जाता है. लेकिन जब लोकसभा का चुनाव आया तब अहमदनगर (यह सीट राष्ट्रवादी कांग्रेस के पाले में गई थी) सीट को लेकर राहुल गांधी ने आगे बढ़कर शरद पवार से बात की और यह सीट डॉ सुजय बिखे पाटिल को देने की बात की थी. लेकिन जिस तरह से सुजय ने शरद पवार से बात की, उनकी बात करने के तरीके से शरद पवार काफी आहत हुए थे. इसी कारण यह सीट डॉक्टर सुजय को नहीं दी गई.

और पढो: News18 India

😃😃😃😃बोहत तो गये आये, क्या कर लिये, कमाई बीजेपी देख चला गया, पैसा जीदा कमावे कि लत , पार्टि बदल देती, जब पार्टी मैं ऎसा अध्यक्ष हो जो पार्टी के लोगों से मिलने के वक़्त कुत्ते को बिस्कुट खिलाएं और वही बिस्किट मिलने वाले व्यक्ति को तो आप सोच सकते हैं उन नेताओं पर क्या गुजरती होगी अखिर हर किसी का अपना सेल्फ respect होता है l ऎसे में वो तो पार्टी छोड़ेंगे ही l

डुबते जहाज़ पर कोई सवारी नहीं करता Baad mein royega modi modi hoga.....

महाराष्ट्र: बेटे के BJP के टिकट पर जीतने के बाद राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कांग्रेस की विधायकी छोड़ी कांग्रेस नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने आज विधायक पद से इस्तीफा दे दिया. वे जल्द ही बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि मैंने अच्छा काम करने की कोशिश की लेकिन स्थिति ने मुझे इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया. Pakistaniyo Ko bhi Sharm aaygi aisi dagabaji congress k Sath ki hy is Aadmi ne Jin Ko Congress ne itna kuch diya wahi bure waqt me sath chod rahe hain Congress ka ...

महाराष्ट्र में कांग्रेस को झटका, राधाकृष्ण विखे पाटिल ने छोड़ी पार्टी, BJP में जाने के कयास kamleshsutar most wellcome all of you kamleshsutar Nonsense person shopped by BJP. kamleshsutar ये तो ईमानदार नहीं लगते। क्योँकि कांग्रेस में रहकर कांग्रेस के लरती जवाबदेही नहीं निभाए। ये बीजेपी के योग्य नही।

राधाकृष्‍ण विखे पाटिल से मिले कांग्रेस विधायक, BJP में शामिल होने के संकेत– News18 हिंदी इस मुलाकात के बाद इन सभी विधायकों के भी कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने के संकेत मिले हैं. बता दें कि कुछ दिन पहले सूचना आई कि महाराष्‍ट्र कांग्रेस नेता और सदन में नेता प्रतिपक्ष राधा कृष्‍ण विखे पाटिल 4 जून को बीजेपी की सदस्‍यता ग्रहण कर सकते हैं. हम पहले से जानते हैं अहमदनगर वाले

महाराष्ट्र में कांग्रेस को एक और झटका, राधाकृष्ण विखे पाटिल ने विधायक पद से दिया इस्तीफा महाराष्ट्र में कांग्रेस को एक और झटका, राधाकृष्ण विखे पाटिल ने विधायक पद से दिया इस्तीफा Maharashtra RadhaKrishnaVikhePatil Get trained in Medical Transcription for recession free international career. Contact ALEX INFOSYSTEMS, ALEX INSTITUTE OF MEDICAL TRANSCRIPTION SCO 2 Sector 17 E Chandigarh Ph:172 2716254, +91 6284448508, 9815583200. Email: alextranscriptiontrainersgmail.com

महाराष्ट्र कांग्रेस के कद्दावर नेता विखे का इस्तीफा, 10 विधायकों संग बीजेपी में जाएंगे? सिल्लोड से तीन बार के कांग्रेस विधायक अब्दुल सत्तार ने भी कांग्रे का दामन छोड़ दिया है। उन्होंने यह भी दावा किया है कि कांग्रेस के 10 विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं और कभी भी उसमें शामिल हो सकते हैं।

मोदी कैबिनेट 2.0: देखें किसे-किसे मिला केंद्रीय मंत्री का दर्जा-Navbharat Times लोकसभा चुनावों में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आए भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के नेता के तौर पर नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में एक भव्य समारोह में मोदी व उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। करीब दो घंटे चले शपथ ग्रहण समारोह में एनडीए की जीत के सूत्रधार रहे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर आकर्षण का केंद्र रहे। जानें मोदी सरकार 2.0 के 24 केंद्रीय मंत्रियों के बारे में...

विपक्ष के नेता रहे विखे पाटिल ने अब विधायक पद छोड़ा, भाजपा में शामिल होने की अटकलें रामकृष्ण विखे पाटिल को मंत्रिमंडल विस्तार में कैबिनेट में जगह मिलने की उम्मीद लोकसभा चुनाव के दौरान पाटिल ने नेता विपक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था कांग्रेस से निष्कासित विधायक अब्दुल सत्तार ने कहा- 8 से 10 विधायक भाजपा के संपर्क में | Maharashtra Congress leader Radhakrishna Vikhe Patil महाराष्ट्र में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष हरिभाऊ बागड़े को इस्तीफा सौंपा।

बंगाल में मारे गए अपने 54 कार्यकर्ताओं के परिवारवालों को PM मोदी के शपथग्रहण में बुलाएगी BJP, तैयार की पूरी लिस्ट दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के लिये गुरुवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में सभी प्रदेशों के राज्यपालों, मुख्यमंत्रियों और प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है. जिन विपक्षी नेताओं को आमंत्रित किया गया है उसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, जद (एस) नेता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी और आप प्रमुख तथा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शामिल हैं. सूत्रों ने कहा कि सभी मुख्यमंत्रियों, राज्यपालों, पूर्व प्रधानमंत्रियों और पूर्व राष्ट्रपतियों को कार्यक्रम के लिये न्योता भेजा गया है. Are modi ka news kaise tweet kardiye ndtv wale .........😂😂😂😂😂😂 Mujhe pata hai suji pari hai sab ndtv ke news anchor ke aur khass karke ravish kumar ka burnol lagalo relief aayega

अपमान भूल नीतीश को महागठबंधन में लेने को तैयार राबड़ी, तेजस्वी भूल पाएंगे? राबड़ी देवी द्वारा नीतीश कुमार को महागठबंधन में शामिल होने का न्यौता देने से हमें बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और राबड़ी के पुत्र तेजस्वी यादव का वो बयान याद आता है जब लोकसभा चुनाव से पहले तेजस्वी कहा करते थे कि नीतीश के महागठबंधन में आने के सभी रास्ते बंद हो गए हैं. तो क्या तेजस्वी यादव और आरजेडी 2017 के नीतीश कुमार के अपमान को भूल गई है, जब महज 24 घंटे के अंदर नीतीश कुमार लालू यादव को ठेंगा दिखाकर बीजेपी के साथ मिलकर एक बार फिर से सीएम बन गए थे? Aur bacha bhi kya he yhi Kar sakte hain... Baat badalana dal badalana koi AP se sikhe इसबार मायावती वाला बदला पार्ट 2 की तैयारी में राबड़ी देवी बिहार में पलटू चा के साथ,यहाँ भी बीजेपी पक्का जीतेगी अब क्योंकि राजद वोट ट्रांसफर नहीं होने वाला😊

टाइम के भी बदले सुर, नरेन्द्र मोदी को बताया भारत को जोड़ने वाला नेता नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद गुरुवार को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे नरेन्द्र मोदी को लेकर मशहूर अमेरिकी मैगजीन 'टाइम' के सुर भी बदल गए हैं। अब इस प्रतिष्ठित मैगजीन को भी लगता है कि मोदी 'डिवाइडर इन चीफ' नहीं हैं बल्कि भारत को जोड़ने वाले नेता हैं।

शपथ समारोह में आने वाले नेताओं से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे PM मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शपथग्रहण करने के अगले दिन विदेशी मेहमानों से द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे. हालांकि म्यांमार के राष्ट्रपति विन मयिंट से उनकी वार्ता नहीं हो पाएगी, क्योंकि वो शपथग्रहण के बाद रात को ही रवाना हो जाएंगे. Geeta_Mohan Ok Geeta_Mohan Geeta_Mohan 8000 mehmaan to bahot jyada h...

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

05 जून 2019, बुधवार समाचार

पिछली खबर

चुनावों में हार के बाद कांग्रेस की रणनीति में बदलाव, मोदी पर सीधे हमले से की तौबा!– News18 हिंदी

अगली खबर

जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोहली से पूछा गया, क्या आप कल शतक लगाएंगे; मिला यह जवाब
चुनावों में हार के बाद कांग्रेस की रणनीति में बदलाव, मोदी पर सीधे हमले से की तौबा!– News18 हिंदी जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोहली से पूछा गया, क्या आप कल शतक लगाएंगे; मिला यह जवाब