मध्यप्रदेश, भोपाल न्यूज, आकाश विजयवर्गीय, कैलाश विजयवर्गीय, साध्वी, प्रधानमंत्री की नाराजगी, बैटकांड-Madhya Pradesh, Bhopal News, Akash Vijayvargiya, Kailash Vijayvargiya, Sadhvi, Pms Resentment

मध्यप्रदेश, भोपाल न्यूज

ANALYSIS: आकाश मुद्दे पर PM मोदी की नाराजगी से सन्नाटे में मध्य प्रदेश भाजपा– News18 हिंदी

ANALYSIS: आकाश मुद्दे पर PM मोदी की नाराजगी से सन्नाटे में मध्य प्रदेश भाजपा @jayshreepingle

3.7.2019

ANALYSIS: आकाश मुद्दे पर PM मोदी की नाराजगी से सन्नाटे में मध्य प्रदेश भाजपा jayshreepingle

अपनी ही पार्टी के कद्दावर महामंत्री और उनके विधायक बेटे को कटघरे में खड़ा कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो सख्त नाराजी जाहिर की है उसने मध्यप्रदेश भाजपा को एक तरह से सन्नाटे में ला दिया है. भाजपा संसदीय दल की बैठक में मोदी ने जिस तरह विधायक आकाश विजयवर्गीय के बैटकांड को निशाना बनाकर घमंड और दुर्व्यवहार को नाकाबिले बर्दाश्त कहा है. उसने भाजपा संगठन को सकते में ला दिया है. प्रधानमंत्री ने दरअसल मध्यप्रदेश से सासंद प्रहलाद पटेल और पूर्व मंत्री कमल पटेल को भी घेरा है जिनके बेटे अपराधिक मामलो में गिरफ्त में आए हैं. लेकिन सबसे ज्यादा सुर्खियां कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजवर्गीय ने बटोरी हैं. क्योंकि भाजपा का एक पूरा खेमा आकाश की बल्लेबाजी और जेल यात्रा को हीरो की तरह पेश करने में जुट गया था.

के बैटकांड को निशाना बनाकर घमंड और दुर्व्यवहार को नाकाबिले बर्दाश्त कहा है. उसने भाजपा संगठन को सकते में ला दिया है. प्रधानमंत्री ने दरअसल मध्यप्रदेश से सासंद प्रहलाद पटेल और पूर्व मंत्री कमल पटेल को भी घेरा है जिनके बेटे अपराधिक मामलो में गिरफ्त में आए हैं. लेकिन सबसे ज्यादा सुर्खियां कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजवर्गीय ने बटोरी हैं. क्योंकि भाजपा का एक पूरा खेमा आकाश की बल्लेबाजी और जेल यात्रा को हीरो की तरह पेश करने में जुट गया था.

भाजपा के अंदरूनी खेमे से जुड़े नेता मानते हैं कि संसदीय दल की बैठक से जो बातें बाहर आई हैं उनमे एक बात काबिले गौर है- मोदी ने कहा है कि हम अपना खून-पसीना एक कर पार्टी को खड़ा कर रहे हैं और ये नामदार घमंड और दुर्व्यवहार कर रहे हैं. यह बयान बताता है कि भाजपा में अब हर नेता को पूरी जिम्मेदारी के साथ काम करना है. पहले आवेदन, फिर निवेदन और फिर दनानदन जैसी कार्यसंस्कृति मानने वाले नेता अब बर्दाश्त नहीं होंगे.

भाजपा संगठन से जुड़े एक वरिष्ठ नेता कहते हैं कि नि:संदेह इस पूरी घटना ने पीएम मोदी की छवि को और भी मजबूत और उंचा किया है. वे यहां तक कह गए हैं कि एक विधायक कम होगा तो क्या हो जाएगा. जबकि प्रदेश भाजपा 109 विधायकों के साथ सात अंकों से बहुमत के आंकड़े से दूर है. और विधायकों के दबाव में है. मोदी ने इस दबाव से भी संगठन के नेताओं को मुक्त कर दिया है.

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल कहते हैं कि इस पूरे मामले में क्या कहा गया है और क्या कार्रवाई होगी यह देखा जा रहा है. यह मसला संभवत राष्ट्रीय संगठन के अधिकार का है. प्रदेश अध्यक्ष उस बैठक में मौजूद थे. वे अभी दिल्ली में ही हैं. वे जैसा निर्देश दें वैसा पालन होगा.

और पढो: News18 India
ताज़ा खबर
अभी नवीनतम समाचार

jayshreepingle Pura desh bhi to tak laga kar dekh raha aise netao ke dwara uthae jane wale kadmo ki taraf. jayshreepingle और मुस्लिम तुष्टिकरण से पुरा देश

Why Mumbai is Facing such Problem in Every Monsoon? - रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क़ुदरत के निशाने पर आ गई है मुंबई, बारिश और चक्रवात का ख़तरा वीडियो - हिन्दी न्यूज़ वीडियो एनडीटीवी ख़बररवीश कुमार का प्राइम टाइम : क़ुदरत के निशाने पर आ गई है मुंबई, बारिश और चक्रवात का ख़तरा हिन्दी न्यूज़ वीडियो। एनडीटीवी खबर पर देखें समाचार वीडियो रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क़ुदरत के निशाने पर आ गई है मुंबई, बारिश और चक्रवात का ख़तरा अगले 48 घंटे में मुंबई और महाराष्ट्र में भारी से भारी बारिश होने की आशंका जताई गई है. मंगलवार को मुंबई, पुणे सहित महाराष्ट्र भर में दीवार गिरने से 31 लोगों की मौत हो गई. पुणे में पिछले हफ्ते दीवार गिरने से 17 लोगों की मौत हो गई थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बारिश के कारण महाराष्ट्र भर में दीवार गिरने से 46 लोगों की मौत हुई है. मुंबई में ही बारिश के कारण अलग-अलग दुर्घटनाओं में 25 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. पुराना अनुभव अब काम नहीं आएंगे. मुंबई की बारिश कभी भी धोखा दे सकती है. मुंबई में समंदर के अलावा नदियों और दलदली ज़मीन का अपना एक सिस्टम बना हुआ था. हम धीरे-धीरे उन पर कब्ज़ा करते चले गए. ये प्राकृतिक सिस्टम महानगर की सुरक्षा के उपकरण थे. अपने आस पास देखिए. प्राकृतिक आपदाओं का स्केल बड़ा होता जा रहा है. बीएमसी की तैयारी तबाही के असर को कुछ कम कर सकती है मगर तबाही नहीं टाल सकेगी. जिन लोगों की बनाई नीतियों के ये परिणाम हैं उन पर बीएमसी का ज़ोर नहीं चलेगा. अब देखिएगा. यहां से भाषा बदलेगी. उस भाषा को ग़ौर से नोट कीजिए. जब आप पूछेंगे कि इस तबाही का ज़िम्मेदार कौन है, कैसे इस तबाही से बचें तो जवाब आएगा हम सबको मिलकर सामूहिक रूप से जिम्मेदारी उठानी होगी. जब भी लापरवाही का स्तर हद से ज्यादा हो जाता है, लापरवाही सामूहिक बताई जाने लगती है और उन्हें बचा लिया जाता है जो कुर्सी पर बैठते हैं. बजट पास करते हैं, योजनाएं बनाते हैं. आम लोग ज़िम्मेदार हो जाते हैं. दुःखद सब ज्यादा हो रहा है मरने वालों की संख्या मोदीराज में ही क्यों

महाराष्ट्र: रत्नागिरि में बांध में दरार, 6 की मौत, 23 लापता

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

दिल्ली में तनाव: पुलिस को नहीं था अंदेशा-दंगाई क्या कर सकते हैंखबरदार में आज दिल्ली का माहौल बिगाड़ने वाली उस सोच पर प्रहार करने वाला विश्लेषण करेंगे जिस सोच में एक मामूली कहासुनी भी सांप्रदायिक तनाव में बदल जाती है. पुरानी दिल्ली के मशहूर चावड़ी बाज़ार के पास के इलाके में दो दिन पहले जो सांप्रदायिक संघर्ष हुआ उसकी आग में आज भी वो इलाका तप रहा है. भले ही हालात कंट्रोल में हैं और धीरे धीरे सामान्य हो रहे हैं लेकिन सामान्य लोगों के लिए उस दहशत से निकलना इतना आसान नहीं है, जो उन्होंने रविवार की रात को महसूस की थी. लेकिन इस पूरे मामले में सबसे बड़ा सवाल दिल्ली पुलिस पर ही है क्योंकि रविवार की रात को ही अगर पुलिस मामले को संभालने की कोशिश करती तो शायद ये मामला इतना ना बिगड़ता. देखें वीडियो. SwetaSinghAT अबे पगला गए हो क्या, मुसरबान शांतिदूतों को दंगाई बोल रहे हो 😠😠 SwetaSinghAT देश के हिन्दू समाज एक नहीं है पुलिस क्या करेगी। मुस्लिम डरा हुआ है ऐसे शब्द देश के देश द्रोही बुद्धिजीवी कहते हैं । SwetaSinghAT ArvindKejriwal मुस्लिम वोट बैंक के किये कुछ नहीं करेगा ! वरना अब तक दोषियों को सजा मिल चुकी होती !

राम रहीम ने वापस ली पैरोल की अर्जी, रोहतक की सुनारिया जेल में है बंदराम रहीम की पैरोल अर्जी आने के बाद जेल अधीक्षक ने सिरसा जिला प्रशासन को पत्र लिखा था. जेल अधीक्षक ने पत्र में उल्लेख किया था कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख का जेल में व्यवहार अच्छा था और उसने नियम का कोई उल्लंघन नहीं किया. भक्तों को सदमा जेल की गुफा ज्यादा अच्छी हैं। This is a love charger . baba pls say which charger you are using this time charge your love passion?SAMSUNG.....NOKIA...or other?

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

अशोक गहलोत ने राहुल गांधी के सामने इस्तीफे की पेशकश की!– News18 हिंदीRajasthan CM Ashok Gehlot offer to resign from party amid dilemma over Rahul Gandhi quitting अखबार ने राहुल गांधी से कांग्रेस शासित मुख्यमंत्रियों की मुलाकात को लेकर सूत्रों के हवाले से लिखा है कि बैठक में गहलोत और कमलनाथ दोनों ने राहुल के सामने इस्तीफे की पेशकश की है. कांग्रेस पार्टी की चुनाव आयोग को मान्यता ही रद्द कर देनी चाहिये! ड्रामेबाज कांग्रेसी!! राहुल चाहता ही ये है जिस दिन इन दोनों ने इस्तीफा दे दिया पूरा ड्रामा ही ख़त्म हो जायेगा। दिया क्यूँ नहीं 🤣🤣

मोदी और योगी सरकार क्यों है आमने-सामनेउत्तर प्रदेश में 17 अन्य पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल वाली राज्य सरकार की मुहिम को केंद्र सरकार ने तगड़ा झटका दिया है। केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने संसद में कहा कि किसी वर्ग की किसी जाति को अन्य वर्ग में डालने का अधिकार सिर्फ़ संसद को है।

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

03 जुलाई 2019, बुधवार समाचार

पिछली खबर

भाई की लाश नहीं मिली तो लावारिसों को समझा अपना, अब तक 206 का कर चुके हैं अंतिम संस्कार– News18 हिंदी

अगली खबर

जाति मामले में पूर्व सीएम अजीत जोगी को झटका, हाई कोर्ट ने खारिज की याचिका– News18 हिंदी
भाई की लाश नहीं मिली तो लावारिसों को समझा अपना, अब तक 206 का कर चुके हैं अंतिम संस्कार– News18 हिंदी जाति मामले में पूर्व सीएम अजीत जोगी को झटका, हाई कोर्ट ने खारिज की याचिका– News18 हिंदी