24 करोड़ डोज़ क्या हो जाएंगे बर्बाद, ग़रीबों को नहीं मिलेगी कोरोना वैक्सीन? - BBC News हिंदी

24 करोड़ डोज़ क्या हो जाएंगे बर्बाद, ग़रीबों को नहीं मिलेगी कोरोना वैक्सीन?

23-09-2021 13:24:00

24 करोड़ डोज़ क्या हो जाएंगे बर्बाद, ग़रीबों को नहीं मिलेगी कोरोना वैक्सीन?

अमीर देशों ने इस साल ग़रीब देशों को सौ करोड़ डोज़ दान करने का वादा किया था. अकेले अमेरिका ने 58 करोड़ डोज़ देने का वादा किया था, लेकिन अभी तक 14 करोड़ ही दे पाया है.

आधी आबादी अभी भी असुरक्षितदुनिया भर में वैक्सीन आपूर्ति के आँकड़ों का असंतुलन एक डराने वाली वास्तविकता पेश करता है. दुनिया में आधी से अधिक आबादी (वाले देशों) को अभी वैक्सीन की एक डोज़ भी नहीं मिली है.ह्यूमन राइट्स वॉच के मुताबिक दुनियाभर में कोविड वैक्सीन का 75 फ़ीसदी स्टॉक सिर्फ़ दस देशों के पास है.

यूपी में पुलिस ने 'चोरों को लूटा', चार पुलिसवाले गए जेल - BBC News हिंदी एनसीपी नेता नवाब मलिक ने NCB अधिकारी समीर वानखेड़े पर लगाए गंभीर आरोप - BBC Hindi भारत से मैच से पहले अपनों के ही निशाने पर आई पाकिस्तानी टीम - BBC News हिंदी

वहींद इकोनॉमिस्टकी इंटेलिजेंस यूनिट की गणना के मुताबिक दुनियाभर में उत्पादित कुल वैक्सीन का आधे से अधिक स्टॉक दुनिया की 15 फ़ीसदी आबादी के पास पहुंचा है.दुनिया के सबसे अमीर देशों ने सबसे ग़रीब देशों की तुलना में सौ गुणा अधिक टीके लगाए हैं.इस साल जून में जी-7 देशों- कनाडा, फ़्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन, अमेरिका, इटली और जापान ने अगले एक साल के भीतर दुनिया के ग़रीब देशों को एक अरब डोज़ देने का संकल्प लिया.

इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट की वैक्सीन आपूर्ति को लेकर प्रकाशित ताज़ा रिपोर्ट की प्रमुख लेखक और पूर्व राजनयिक अगाथा डेमारेज़ कहती हैं, "मैंने जब ये देखा तो मैं हंसी, मैं ऐसी बहुत सी बातें सुनती हूं लेकिन आप जानते हैं कि ऐसा कभी होने वाला नहीं है." headtopics.com

इस संकल्प में ब्रिटेन ने दस करोड़ डोज़ देने का वादा किा था लेकिन अभी तक वह 90 लाख से कुछ कम डोज़ ही दान कर पाया हैअमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने 58 करोड़ डोज़ देने का वादा किया था, अभी तक अमेरिका 14 करोड़ ही दे पाया है.कोविड वैक्सीन: कैसे बनती हैं वैक्सीन?

वीडियो कैप्शन,कोरोना वायरस को 130 दिन बाद मात देने वाले शख़्स की कहानीवहीं यूरोपीय यूनियन ने 25 करोड़ डोज़ इस साल के अंत तक देने का वादा किया था, ईयू ने अब तक अपने वादे की 8 प्रतिशत डोज़ ही दी हैं.मध्यम आय वर्ग वाले दूसरे देशों की तरह ही ईरान ने भी कोवैक्स से वैक्सीन ख़रीदी थी. विश्व स्वास्थ्य संगठन के समर्थन वाली इस वैक्सीन स्कीम का मक़सद वहां वैक्सीन पहुंचाना है जहां इसकी सबसे ज़्यादा ज़रूरत है.

कोवैक्स वैक्सीन ख़रीदती है और फिर इन्हें मध्यम आय वाले देशों को बेचती है और ग़रीब देशों को दान करती है.लेकिन कोवैक्स के सामने आपूर्ति का बड़ा संकट खड़ा हो गया. कोवैक्स को इस साल के अंत तक दो अरब डोज़ वितरित करनी थीं और इनमें से अधिकतर उसे भारत की एक निर्माता कंपनी से मिलनी थी.

लेकिन जब मई में भारत में कोरोना की दूसरी लहर आई तो सरकार ने वैक्सीन के निर्यात पर रोक लगा दी.वीडियो कैप्शन,‘माता-पिता मुझे कोविड वैक्सीन नहीं लेने दे रहे’इसके बाद से कोवैक्स अमीर देशों से दान में मिल रही वैक्सीन डोज़ पर निर्भर है. जिन देशों को कोवैक्स वैक्सीन पहुंचा रही हैं उनमें से कुछ ऐसे हैं जहां अभी दो प्रतिशत आबादी को भी वैक्सीन नहीं लगी है. headtopics.com

क्रूज ड्रग्स केस : अनन्या पांडे का लैपटॉप-फोन जब्‍त, पिता के साथ पूछताछ के लिए NCB ऑफिस पहुंचीं एक्ट्रेस SC ने कहा किसानों को प्रदर्शन का अधिकार, अनिश्चितकाल के लिए सड़क रोकने का नहीं - BBC Hindi लाइफ में पहली बार असली जेल पहुंचे शाहरुख: कांच की दीवार के पीछे खड़े बेटे से शाहरुख खान की हुई बात, दोनों हुए भावुक

कोवैक्स के एक केंद्र की प्रबंध निदेशक ओरेलिया ग्यूएन कहती हैं, "आजकल हमें कम वैक्सीन कम तादाद में मिलती है और इसकी एक्सपायरी डेट भी जल्द होती है, साथ ही हमें अधिक नोटिस भी नहीं दिया जाता है, जिसकी वजह से इन्हें ऐसे देशों में पहुंचाना चुनौतीपूर्ण हो जाता है जो इनका इस्तेमाल समय रहते कर पाएं."

दुनियाभर में वैक्सीन की सप्लाई पर रिसर्च कर रही वैज्ञानिक विश्लेषण कंपनी एयरफिनीटी के मुताबिक ये एक वैश्विक सप्लाई समस्या नहीं हैं क्योंकि अमीर देश ज़रूरत से अधिक वैक्सीन जमा कर रहे हैं. वैक्सीन निर्माता इस समय हर महीने 1.5 अरब डोज़ बना रहे हैं. यानी इस साल के अंत तक 11 अरब डोज़ बन जाएंगी.

एयरफिनीटी के लीड रिसर्चर डॉ. मैट लिनले कहते हैं, "बीते तीन चार महीनों में निर्मात क्षमता काफ़ी बढ़ी है, वो बड़ी तादाद में वैक्सीन का उत्पादन कर रहे हैं."डॉ लिनले कहते हैं, यदि दुनिया के सबसे अमीर देश बूस्टर डोज़ भी लगाएं तब भी उनके पास ज़रूरत के मुक़ाबले 1.2 अरब डोज़ अधिक हैं.

डॉ. लिनले कहते हैं कि यदि बहुत जल्द ही दान नहीं किया गया तो इनमें से 24.1 करोड़ डोज़ बहुत जल्द ही एक्सपायर (बर्बाद) हो जाएंगी.ऐसी संभावना है कि ग़रीब देश उन वैक्सीन डोज़ को स्वीकार नहीं कर पाएंगे जिनके एक्सपायर होने में कम से कम दो महीनों का वक़्त न हो. headtopics.com

और पढो: BBC News Hindi »

अमृतसर से ग्राउंड रिपोर्ट: सिख किसान बोले- आंदोलन और धर्म अलग नहीं, निहंग हमारी और हमारे धर्म की रक्षा के लिए सिंघु पर डटे रहेंगे

पंजाब के ज्यादातर किसानों को सिंघु बॉर्डर पर दलित लखबीर सिंह की नृशंस हत्या का मलाल नहीं है। उनका मानना है, आंदोलन और धर्म अलग-अलग नहीं हैं, दोनों एक साथ चलेंगे। प्रदर्शनकारी किसानों का कहना है कि निहंग सिंघु बॉर्डर पर जमे रहेंगे, क्योंकि वे किसानों और सिख धर्म की रक्षा के लिए हैं। | Sikh farmers said - movement and religion are not separate, Nihang will stand on Singhu to protect us and our religion

Ye to dawa free m mil raha hai ..kya ye alag se Garib ko diya ja raha tha ... Aisa nhi agle saal modi ka birthday fir aayega वैक्सीन सभी को मुफ़्त लग रही है। काश BBC भी की बोली लगे और कोड़ियों के भाव बिके। कौन से गरीब को मना किया है रे Presstitutes कि उसे vaccine मुफ़्त में नहीं दी जायेगी क्यों कि वो गरीब है

बिहारः रिश्तेदारों को मिले 53 करोड़ के ठेके, उपमुख्यमंत्री बोले- बिजनेस करना कोई गलत काम नहींबिहार के उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद की बहू और अन्य रिश्तेदारों से जुड़े फर्म को सरकारी योजना के ठेके मिले हैं। इस मामले में उन्होंने कहा कि बिजनस करना कोई गलत काम नहीं है। कमल गट्टे करें तो रामलीला बाक़ी करें तो रासलीला

महामारी से मुकाबला: अमेरिका में 12-17 साल तक के 56% बच्चों को टीके की पहली डोज लगी, स्कूल खुलने के बाद बाइडेन सरकार की बड़ी तैयारीअमेरिका में कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट घातक असर दिखा रहा है। लेकिन स्कूल और अन्य सार्वजनिक स्थान खुलने के बाद बाइडेन सरकार ने बच्चों को महामारी से सुरक्षा कवच मुहैया कराने का युद्धस्तर पर अभियान भी छेड़ा हुआ है। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार अमेरिका में अब तक 12 से 17 वर्ष के लगभग 56 फीसदी बच्चों को वैक्सीन की पहली खुराक जबकि 45 फीसदी बच्चों को दूसरी डोज लग चुकी है। | 56% of children aged 12-17 years in America got the first dose of vaccine, Biden government's big preparation after school opens

लाइव हिन्दी न्यूज़ Hindi News Live हिन्दी न्यूज़ लाइव Breaking News in Hindi | संयुक्त राज्य अमेरिका दुनिया भर के निम्न और निम्न-मध्यम आय वाले देशों को दान देने के लिए अतिरिक्त (500 मिलियन) 50 करोड़ वैक्सीन की खरीद करेगा। बाइडेन प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 50 करोड़ वैक्सीन दान करने के साथ अमेरिका की ओर से कुल दान की गई वैक्सीन की संख्या 1.1 बिलियन हो जाएगी।अवैध धर्मांतरण मामले में मौलाना कलीम सिद्दीकी को गिरफ्तार किया गया। यूपी एटीएस ने मौलाना कलीम सिद्दीकी को मेरठ से गिरफ्तार किया। मौलाना कलीम ग्लोबल पीस सेंटर के अध्यक्ष और उमर गौतम के करीबी हैं। वहीं, पीएम मोदी तीन दिवसीय दौरे के लिए अमेरिका रवाना हो गए हैं। अमेरिका रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने कहा कि वह अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ पारस्परिक हित के क्षेत्रीय व वैश्विक मुद्दों पर बातचीत करेंगे। महंत नरेंद्र गिरी के शव को पोस्टमॉर्टम के बाद प्रयागराज के संगम तट पर स्नान के लिए लाया गया है। इसके बाद शव को प्रयागराज के प्रसिद्ध लेटे हनुमान मंदिर भी ले जाया जाएगा। कर्ज में फंसी एंटरनेटमेंट कंपनी जी एंटरनेटमेंट एंटरप्राइजेज लिमिडेट (ZEEL) को तारणहार मिल गया है। कंपनी ने बुधवार को एक बयान में कहा कि उसके बोर्ड ने सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया (SPNI) और ZEEL के मर्जर को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। देश-दुनिया की तमाम ब्रेकिंग न्यूज (Breaking News) और ताजा तरीन खबरें (Latest News in Hindi) आपको सबसे पहले नवभारत टाइम्स ऑनलाइन पर मिलेंगी। तो बने रहिए हमारे साथ... Good to see cm gifting srimad bhagwat Gita

Heroin | तालिबान के आते ही ड्रग्स ट्रैफिकिंग बढ़ी, कंधार से आई 21 हजार करोड़ की हेरोइननई दिल्ली। अफगानिस्तान में तालिबानी हुकूमत के आते ही नशे का कारोबार बढ़ गया है। एक खबर में भारत को नशे के कारोबार का ठिकाना बनाने की साजिश का बड़ा मामला सामने आया है। गुजरात के कच्छ के मुंद्रा पोर्ट से राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने 3000 किलो हेरोइन जब्त की है। इसकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 21 हजार करोड़ रुपए बताई जा रही है। इस हेरोइन को टैल्कम पाउडर के नाम पर लाया गया था।

महाराष्ट्रः मंत्री ने भाजपा नेता किरीट सोमैया पर सौ करोड़ रुपये का मानहानि का मुक़दमा कियामहाराष्ट्र सरकार में मंत्री अनिल परब ने बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका में भाजपा नेता किरीट सोमैया पर 'दुर्भावनापूर्ण, अपमानजनक और मानहानिकारक' बयान देने के आरोप लगाते हुए बिना शर्त माफ़ी मांगने का निर्देश दिए जाने का अनुरोध किया है.

रिन्युएबल एनर्जी के क्षेत्र में अंबानी को टक्कर देने उतरे अदाणी, 1.5 लाख करोड़ रुपये के निवेश की घोषणाअदाणी ग्रुप के पास रिन्युएबल एनर्जी से जुड़ी 4920 मेगावाट क्षमता की चालू परियोजनाएं हैं तो 5124 मेगावाट क्षमता की परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं। वहीं 9750 मेगावाट की विभिन्न परियोजनाएं शुरू होने के चरण में है और 4500 मेगावाट की परियोजनाओं का काम जल्द ही मिलने वाला है। सफ़ेद पावडर कहां से आया? पूछता है भारत Arre APAS M GOOD FAITH M KAAM KRO, LOGO K BHKAVE M N AYO G,OM JI