1971 की सबसे खूनी जंग #VandeMatram #ATLivestream

'बैटल ऑफ हिली' की अनसुनी कहानियां #VandeMatram @SwetaSinghat पूरा शो-

Vandematram, Politics

04-12-2021 21:08:00

'बैटल ऑफ हिली' की अनसुनी कहानियां VandeMatram SwetaSinghat पूरा शो-

1971 \u0915\u0940 \u0938\u092c\u0938\u0947 \u0916\u0942\u0928\u0940 \u091c\u0902\u0917 \n#VandeMatram #ATLivestream\n Sweta Singh

और पढो: AajTak »

अपनी मां की वजह से साधना गुप्ता के करीब आये थे Mulayam Singh, जानें कैसे शुरू हुई ये कहानी

मुलायम सिंह यादव अपनी बीमार मां का इलाज करा रहे थे. एक नर्स मुलायम सिंह की मां मूर्ति देवी को गलत इंजेक्शन लगाने जा रही थी. वहां मौजूद एक महिला ने गलत इंजेक्शन लगाने से रोक दिया. बताते हैं कि तभी से एक नई शुरुआत मुलायम सिंह की जिंदगी में हुई. वो शुरुआत थी साधना गुप्ता से रिश्ते की, जिसे साल 2003 में जाकर मुलायम सिंह ने नाम दिया. साधना गुप्ता को अपनी पत्नी का दर्जा दिया. बात 1980 के दशक की है. यूपी के औरैया जिले के बिधूना के रहने वाले कमलापति की 23 साल की बेटी साधना नर्सिंग की ट्रेनिंग कर रही थी. लेकिन वो राजनीति में कुछ करना चाहती थी. यही ललक इस लड़की को राजनीतिक कार्यक्रमों में लेकर चली गई और वहीं पर बताया जाता है मुलायम सिंह यादव ने पहली बार साधना गुप्ता को देखा. देखें लखनऊ की लड़ाई. और पढो >>

अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कैपिटल को दीवालिया घोषित करने की RBI ने शुरू की प्रक्रियारिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) और रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग (रिलायंस नेवल) के बाद दिवालिया प्रक्रिया के तहत आने वाली अनिल अंबानी समूह की यह तीसरी कंपनी है।

भारत ने कश्मीरी कार्यकर्ता की गिरफ़्तारी पर संयुक्त राष्ट्र की चिंताओं को ख़ारिज कियासंयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय ने एनआईए द्वारा कश्मीर के मानवाधिकार कार्यकर्ता ख़ुर्रम परवेज़ की यूएपीए के तहत गिरफ़्तारी पर चिंता जताई थी, जिसके बाद विदेश मंत्रालय ने कहा कि उसे मानवाधिकारों पर आतंकवाद के नकारात्मक प्रभाव की बेहतर समझ विकसित करनी चाहिए. Atankawadi ki giraftari se UN kyu pareshan hai atankawadiyon ka dalal ban gaya kya और कर भी क्या सकता है बीजेपी भारत विभाजन को उतारू हैं

Video: जब Aayush Sharma ने की सलमान खान की मिमिक्रीआजतक ने 'एजेंडा आजतक' के नाम से एक खास कार्यक्रम का आयोजन किया. सेशन ' अंतिम भला तो सब भला' में अभिनेता आयुष शर्मा ने भी हिस्सा लिया. इस दौरान आयुष शर्मा ने सुपरस्टार सलमान खान की मिमिकरी भी. उन्होंने सलमान खान के कुछ डायलॉग्स को अपने स्टाइल में बोलने की कोशिश की. आपको बता दें आयुष की शादी सलमान खान की बहन अर्पिता से हुई है. इसके अलावा हाल ही में वह फिल्म अंतिम में भी नजर आए हैं, जिनमें उनके अभिनय की जमकर तारीफ की जा रही है. देखें वीडियो.

पाकिस्तान में श्रीलंकाई नागरिक की लिंचिंग में 118 गिरफ्तार, श्रीलंका के पीएम ने की वारदात की निंदा, निष्पक्ष जांच की मांगपंजाब के पुलिस महानिरीक्षक राव सरदार अली खान व प्रांतीय सरकार के प्रवक्ता हसन खावर ने शनिवार को प्रारंभिक जांच रिपोर्ट साझा करते हुए कहा कुमारा पर उस पोस्टर को फाड़ने और कूड़ेदान में डालने का आरोप था जिस पर कुरान की कुछ आयतें लिखी हुई थीं। जो कभी नहीं होगी। पाकिस्तान से निष्पक्ष जांच की आशा n रखे। गिरफ्तारी का नाटक तो पुराना शगल है जिहादिस्तान का।

इंडियन नेवी का स्वर्णिम विजय वर्ष: 1971 के भारत- पाक युद्ध के 50 साल पूरे, कराची हार्बर को तबाह करने वाली किलर स्क्वाड्रन को मिलेगा प्रेसिडेंट स्टैंडर्ड अवार्डइंडियन नेवी हर साल 4 दिसंबर को अपनी बहादुरी और उपलब्धियों को सम्मानित करने के लिए इंडियन नेवी डे मनाती है। आज ही के दिन, 04 दिसंबर 1971 के भारत-पाक वॉर के दौरान भारतीय नौसेना ने पाकिस्तान के खिलाफ ऑपरेशन ट्राइडेंट चलाया था। करीब 5 दिन तक ये पूरा ऑपरेशन चला। इस ऑपरेशन में कराची हार्बर को काफी नुकसान पहुंचा था। | 1971 Indo-Pak war Victory Flame, Veterans Day 2021, Veterans' day, Veterans day, Indian Army, Golden Victory Year, 50 years of 197, Indian Navy Day

भीमा कोरेगांव मामले की आरोपी सुधा भारद्वाज की मुश्किलें बढ़ी, जमानत के खिलाफ SC पहुंची NIAछत्तीसगढ़ की जानी-मानी सामाजिक कार्यकर्ता और वकील सुधा भारद्वाज को बॉम्बे हाईकोर्ट की ओर से मिली जमानत के खिलाफ राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करते हुए NIA ने बॉम्बे हाईकोर्ट के 1 दिसंबर के आदेश को चुनौती दी. एक भी देशद्रोही बचना नहीं चाहिए,,, अंदर ही रहणा चाहिए मध्यप्रदेश में भी बेरोजगारी की हालात देखिए pm महोदय जी स्कूल के 1 लाख से ऊपर को हटाकर मात्र 10,000 से काम चला रहे,ऐसे में बच्चे क्या सीखेगे आपको पता होगा,100 से ऊपर अतिथि शिक्षक आत्महत्या भी कर चुके है क्या शासन इतना गरीब हों गया मध्यप्रदेश में 50,000 माह वेतन देने तो है, अतिथी शिक्षक को पैसे देने 5,7,9 हजार नही ,धन्य है सरकार,जय हो मध्यप्रदेश शासन की