Ghaziabad, Uttarpradesh, Indianarmy, Mountaineer, Soldier, Body, Found, Snow, 16 Years, Ghaziabad, Uttrakhand

Ghaziabad, Uttarpradesh

16 साल बाद बर्फ में दबा मिला जवान का शव: गाजियाबाद के फौजी अमरीश ने 2005 में उत्तराखंड की सतोपंथ चोटी पर फहराया था तिरंगा, लौटते समय खाई में गिर गए थे

16 साल बाद बर्फ में दबा मिला जवान का शव: गाजियाबाद के फौजी अमरीश ने 2005 में उत्तराखंड की सतोपंथ चोटी पर फहराया था तिरंगा, लौटते समय खाई में गिर गए थे #Ghaziabad #UttarPradesh @adgpi #IndianArmy

25-09-2021 17:15:00

16 साल बाद बर्फ में दबा मिला जवान का शव: गाजियाबाद के फौजी अमरीश ने 2005 में उत्तराखंड की सतोपंथ चोटी पर फहराया था तिरंगा, लौटते समय खाई में गिर गए थे Ghaziabad UttarPradesh adgpi IndianArmy

गाजियाबाद के एक शहीद फौजी का शव उसकी मौत के ठीक 16 साल बाद उत्तराखंड में बर्फ में दबा मिला है। पर्वतारोही फौजियों का एक दल 2005 में गंगोत्री हिमालय की सबसे ऊंची चोटी सतोपंथ पर तिरंगा फहराकर वापस लौट रहा था। रास्ते में संतुलन बिगड़ने से हादसा हो गया। इससे 4 जवान सैकड़ों फीट नीचे खाई में गिर गए थे। उनमें से एक का शव नहीं मिला था। मां-बाप की आखिरी इच्छा थी कि शहीद बेटे का अंतिम दर्शन कर लें, मगर वह भी ... | Mountaineer soldier 's body found in snow after 16 years : Amrish Tyagi had fallen into a ditch hundreds of feet deep while returning after hoisting the tricolor on the Himalayan peak in 2005, the parents died in the last wish to see the son's body पर्वतारोही फौजी का 16 साल बाद बर्फ में मिला शव : 2005 में हिमालयन चोटी पर तिरंगा फहराकर लौटते समय सैकड़ों फीट गहरी खाई में गिर गए थे अमरीश त्यागी

16 साल बाद बर्फ में दबा मिला जवान का शव:गाजियाबाद के फौजी अमरीश ने 2005 में उत्तराखंड की सतोपंथ चोटी पर फहराया था तिरंगा, लौटते समय खाई में गिर गए थेगाजियाबाद3 घंटे पहलेकॉपी लिंकगाजियाबाद के एक शहीद फौजी का शव उसकी मौत के ठीक 16 साल बाद उत्तराखंड में बर्फ में दबा मिला है। पर्वतारोही फौजियों का एक दल 2005 में गंगोत्री हिमालय की सबसे ऊंची चोटी सतोपंथ पर तिरंगा फहराकर वापस लौट रहा था। रास्ते में संतुलन बिगड़ने से हादसा हो गया। इससे 4 जवान सैकड़ों फीट नीचे खाई में गिर गए थे। उनमें से एक का शव नहीं मिला था। मां-बाप की आखिरी इच्छा थी कि शहीद बेटे का अंतिम दर्शन कर लें, मगर वह भी पूरी नहीं हुई और वे चल बसे।

आर्यन ख़ान मामला: नवाब मलिक के आरोपों पर समीर वानखेड़े ने दी सफ़ाई, दुबई जाने से किया इनकार - BBC Hindi वानखेड़े को नवाब मलिक की चुनौती- सालभर में जाएगी नौकरी, जाना होगा जेल, NCB अफसर ने दीं शुभकामनाएं दंगल: क्रूज ड्रग्स केस में आर्यन खान के बाद अनन्या पांडे?

अब 16 साल बाद शव मिलने से परिवार के जख्म ताजा हो गए हैं। जवान की ड्रेस, नेम प्लेट और शरीर भी काफी हद तक सुरक्षित मिला है। परिवार ने भी शव की पहचान कर ली है। दो दिन में औपचारिकताएं पूरी होने के बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा। जवान अमरीश त्यागी गाजियाबाद के हिसाली गांव के रहने वाले थे। यह गांव थाना मुरादनगर में आता है।

आर्मी का खोजी दल जवान के शव को पहाड़ी से उतारकर गंगोत्री ले आया है। पार्थिव शरीर 26 या 27 सितंबर को पैतृक गांव हिसाली लाया जा सकता है।भारतीय सेना के दल को बर्फ में दबा मिला शवभारतीय सेना का 25 सदस्यों का एक दल स्वर्णिम विजय वर्ष के मौके पर सतोपंथ चोटी को फतह करने 12 सितंबर को उत्तरकाशी से निकला था। यह चोटी हिमालय रेंज के बीच है। यह गंगोत्री नेशनल पार्क की दूसरी सबसे बड़ी चोटी है। इसकी ऊंचाई करीब 7075 मीटर है। अभियान के दौरान सेना के दल को 23 सितंबर को हर्षिल नाम की जगह के पास बर्फ में दबा अमरीश त्यागी का शव मिला। इसे सेना के जवानों ने गंगोत्री पहुंचाया और पुलिस को सौंपा। headtopics.com

तीन शव तभी मिल गए थेपुलिस और सेना ने जब जानकारी जुटाई तो पता चला कि अमरीश 23 सितंबर 2005 में इसी चोटी पर तिरंगा फहराकर लौट रहे थे। तब पैर फिसलने से 4 जवान खाई में गिर गए थे। तीन जवानों के शव उसी वक्त बरामद हो गए थे, जबकि एक लापता था। ठीक 16 साल बाद 23 सितंबर 2021 को उनका शव बरामद हुआ है।

गाजियाबाद के हिसाली गांव में यह अमरीश त्यागी का पैतृक मकान है।आर्मी जवानों ने गांव पहुंचकर भाइयों को दी खबरआर्मी मुख्यालय नई दिल्ली से तीन जवानों का दल 25 सितंबर को गांव हिसाली पहुंचा। यहां अमरीश त्यागी का पैतृक मकान है। घर पर अमरीश के भाई विनेश और रामकिशोर मौजूद मिले। जवानों ने उन्हें बताया कि 16 साल पहले बर्फीले पहाड़ से उतरने के दौरान अमरीश त्यागी लापता हुए थे, उनका शव अब मिला है। आर्मी जवानों के अनुसार, बर्फ पिघलने पर उसमें दबे अमरीश त्यागी का शव दिखाई पड़ा।

आर्मी ने 2006 में मृत घोषित कर दिया थाअमरीश त्यागी के तीन भाई रामकिशोर त्यागी, विनेश त्यागी, अरविंद त्यागी हैं। रामकिशोर और विनेश त्यागी हिसाली में ही रहते हैं और खेतीबाड़ी संभालते हैं। अरविंद त्यागी ऑर्डिनेंस फैक्ट्री चंडीगढ़ में कार्यरत हैं।'दैनिक भास्कर' से फोन पर बातचीत में विनेश त्यागी ने बताया कि आर्मी मुख्यालय से शनिवार सुबह घर पर आए तीन जवानों ने अमरीश त्यागी के बारे में सूचना दी है। वह कई कागजातों पर दस्तखत कराकर ले गए हैं। 26 या 27 सितंबर तक अमरीश का पार्थिव शरीर गांव में लाया जा सकता है। विनेश त्यागी ने बताया कि 2005 में यह हादसा हुआ। 2006 में आर्मी ने मृत घोषित करते हुए अमरीश की पत्नी को आर्थिक सहायता दे दी थी।

सतोपंथ चोटी हिमालयन रेंज में है।मां-बाप की आखिरी इच्छा नहीं हो सकी पूरीविनेश त्यागी ने बताया कि अमरीश उस वक्त डीजीएमआई साउथ ब्लॉक दिल्ली के पीए पद पर थे। 23 सितंबर 2005 को यह हादसा हुआ था। उन दिनों आर्मी ने कई दिन तक बचाव-खोजी अभियान चलाया। उत्तराखंड में मौसम खराब होने की वजह से सफलता नहीं मिली थी। उनके पिता राजकुमार का 10 साल पहले और मां विद्यावती का 4 साल पहले निधन हो चुका है। दोनों की आखिरी इच्छा थी कि बेटे के दर्शन कर लें, जो अधूरी रह गई। headtopics.com

विवाद: आमिर खान के पटाखे वाले विज्ञापन में BJP सांसद ने जताई आपत्ति, सड़कों पर नमाज को लेकर कही ये बात चीन में कोरोना रिटर्न्स...फ्लाइटें रद्द...स्कूल बंद और कई जगह लग गया लॉकडाउन वारदात: आखिर आर्यन खान को ड्रग्स केस में क्यों नहीं बेल, समझिए और पढो: Dainik Bhaskar »

India Today Conclave 2021: Taj Palace Hotel, New Delhi on 8th and 9th October

India Today Conclave 2021 - Check out the full details and schedule of India Today Conclave event to be held at Taj Palace Hotel, New Delhi on 8th and 9th October 2021.

adgpi Jai Hind 🙏 adgpi 👏 adgpi Ye collage me student ko padhai ke naam par bypar ho raha hai student credit card loane ka paisa ghotala hua hai bhut sare student ke saath atyachar ho raha hai aap log awaz utha ye adgpi 🙏🙏 adgpi जय हिन्द 🇮🇳 ErKamalSingh6 adgpi सत सत नमन adgpi जय हिंद🙏 adgpi जय हिन्द

adgpi adgpi Om Shanti....Jai Hind! 🇮🇳🙏

पंजाब में पाकिस्तानी दहशतगर्दी का नया हथियार बना टिफिन बम, NIA जांच में जुटीगुरुवार को ही पंजाब पुलिस ने एक बड़े टेरर मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था. उस ग्रुप का नाम था खालिस्तान टाइगर फोर्स. इस संगठन के तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इनके पास से टिफिन बम मिला था. kamaljitsandhu Rashtrapati shasan lagane ki tyari ho rahi hai

अफगानिस्तान में लौटेगा मौत की सजा का दौर, तालिबानी नेता मुल्ला नूरुद्दीन तुराबी का बयानअफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता में वापसी के बाद अब कट्टर इस्लामी कानूनों को लागू किया जाएगा। तालिबान के संस्थापकों में से एक और इस्लामी कानून के जानकार मुल्ला नूरुद्दीन तुराबी ने कहा है कि जल्द ही हम पुराने सरकार में दी जाने वाली सजाओं को लागू करेंगे। Assam bhi chale ja kabhi Kab tak Afganistan me rahega भारतीय ,अमरीकी बिदेशी निति के फेलियोर के कारण यह सब होगा अफगान नागरिकों के हत्या के पाप में बाईडेन और मोदी संयुक्त रुप से जिम्मेदार हैं अफगानिस्तान में आतंकवादी समुदाय मतलब कबीले मतलब कबीले सरकार बनाकर विश्व हित की अनदेखी करेंगे जोआज तक करते आए हैं

वारदात: दिल्ली में अब तक का सबसे भयंकर गैंगवॉर, जज के सामने गैंगस्टर का कत्लदिल्ली का रोहिणी कोर्ट का कोर्टरूम पूरी तरह से तैयार था. जज गगनदीप सिंह अपने सीट पर मौजूद थे. मुकादमे की कार्रवाई शुरू हो चुकी थी. इसके बाद अगले केस की बारी थी. और उसी केस के सिलसिल में एक आरोपी को कोर्टरूम में लाया जाता है. कोर्टरूम में आने के बाद वो अपने सीट पर बैठने के लिए आगे बढ़ रहा था. मगर इससे पहले वो बैठ पाता. उसी कोर्टरूम में पहले से मौजूद दो लोग अचानक खड़े होते हैं और पिस्टल निकालकर उस आरोपी पर अंधाधुंध गोलियां चलाना शुरू कर देते हैं. वो दोनों वकील के पोशाक में थे. इसके बाद पुलिस अंदर आती है. और फिर मुठभेड़ होता है. दोनों हमलावरों को पुलिस मार गिराती है. ये सबकुछ कोर्ट परिसर के अंदर होता है. और जज साहब बकायदा इसके गवाह होते हैं. ये कोई फिल्मी कहानी नहीं है. बल्कि दिल्ली की रोहिणी कोर्ट का लाइव शूटआउट का सच है. देखें वारदात. ShamsTahirKhan sir i am the victim of 2 FIR in rohini court . but now i think there is no justice and protection.

उपलब्धि : भारतीय वैज्ञानिकों ने विस्फोटकों का पता लगाने का सस्ता पॉलीमर सेंसर बनाने में पाई सफलताउपलब्धि : भारतीय वैज्ञानिकों ने विस्फोटकों का पता लगाने का सस्ता पॉलीमर सेंसर बनाने में पाई सफलता India Scientist PolymerSensor Explosives Proud

MP में कोरोना विस्फोट: 24 घंटे में 36 नए केस, इंदौर में सबसे ज्यादा 32 पॉजिटिव मिले, भोपाल में 3 और बालाघाट में 1 केस; प्रदेश में 121 एक्टिव केसMP में कोरोना विस्फोट: 24 घंटे में 36 नए केस, इंदौर में सबसे ज्यादा 32 पॉजिटिव मिले, भोपाल में 3 और बालाघाट में 1 केस; प्रदेश में 121 एक्टिव केस MadhyaPradesh CoronavirusUpdates 36 में विस्फोट ओर केरल में 22 हजार सामान्य वाह क्या बात है भाडकर 😂😂😂😂

यूपी में निषाद पार्टी से बीजेपी का गठबंधन कितनी कर पाएगा राजभर की भरपाईउत्तर प्रदेश में एनडीए से नाता तोड़कर अलग हो चुके भारतीय सुहेलदेव पार्टी के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर की सियासी भरपाई के लिए बीजेपी ने निषाद पार्टी के साथ हाथ मिलाया है. ऐसे में देखना है कि बीजेपी और निषाद पार्टी की यह सियासी दोस्ती 2022 में क्या राजनीतिक गुल खिलाती है, क्योंकि दोनों ही नेता पूर्वांचल से है और इनका सियासी आधार भी अपनी-अपनी जातियों पर टिका है.