Npas, Mudra Loans, Nirmala Sitharaman, Rajnish Kumar

Npas, Mudra Loans

...तो NPA के टाइम बम पर बैठे हैं बैंक? 31 मार्च के बाद स्थिति हो सकती है गंभीर

...तो NPA के टाइम बम पर बैठे हैं बैंक? 31 मार्च के बाद स्थिति हो सकती है गंभीर

22.1.2020

...तो NPA के टाइम बम पर बैठे हैं बैंक? 31 मार्च के बाद स्थिति हो सकती है गंभीर

31 मार्च को छोटे और मध्यम आकार के व्यवसायों (एमएसएमई) की परिसंपत्तियों से गैर-निष्पादित संपत्ति घोषित करने पर लगी रोक हट सकती है।

…तो NPA के टाइम बम पर बैठे हैं बैंक? 31 मार्च के बाद स्थिति हो सकती है गंभीर जनसत्ता ऑनलाइन Edited By मोहित नई दिल्ली | Updated: January 22, 2020 4:05 PM (प्रतीकात्मक तस्वीर- फाइल फोटो) नॉन परफॉर्मेंस अकाउंट (एनपीए) की मार झेल रहे भारतीय बैंकों की स्थिति 31 मार्च के बाद और गंभीर हो सकती है। करीब 9.5 लाख करोड़ रुपए एनपीए के तौर पर पहले से ही फंसे हुए हैं, लेकिन 31 मार्च के बाद स्थिति और ज्यादा खराब हो सकती है। माना जा रहा है कि इसके बाद बैंकों की स्थिति और गंभीर हो सकती है। मौजूदा समय में बैंक एनपीए के ‘टाइम बम’ पर बैठे हुए नजर आ रहे हैं। वहीं मुद्रा लोन पर लगातार बढ़ रहा एनपीए, राज्य बिजली वितरण कंपनियों का लोन भी चिंता का विषय है यह मार्च तक 80,000 करोड़ रुपए पहुंच जाएगा। इसके अलावा टेलिकॉम सेक्टर में सरकार का 92,000 करोड़ रुपए का बकाया भी मोदी सरकार के लिए चिंता का विषय है। संबंधित खबरें डेक्कन हेराल्ड में छपी एक खबर के मुताबिक सरकारी बैंक सबसे बड़ी मार झेलेंगे क्योंकि ये वह कर्जदाता हैं जिन्होंने पिछले साल सितंबर माह में वित्त मंत्रालय के आसान शर्तों पर कर्ज देने के फैसले को अमल में लाते हुए एमएसएमई को कर्ज मुहैया करवाया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने डूबती अर्थव्यवस्था को उठाने के लिए एमएसएमई को आसान शर्तों पर कर्ज मुहैया करवाने के उपायों की घोषणा की थी। हालांकि इस फैसले का कितना असर हुआ यह लंबे समय की अवधि के बाद ही साफ हो सकेगा। अगर 31 मार्च के बाद एनपीए को लेकर स्थिति गंभीर होती है तो यह भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के चेयरमैन रजनीश कुमार के बीते दिनों दिए गए उस आश्वासन के खिलाफ होगा जिसमें उन्होंने कहा था कि मार्च तक एनपीए में सुधार देखने को मिलेगा। हालांकि सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े ऋणदाता एसबीआई पर 31 मार्च के बाद भी ज्यादा असर देखने को नहीं मिलेगा क्योंकि बैंक हाई प्रोफाइल एस्सार स्टील केस में रिकवरी हासिल करने की प्रक्रिया में आगे बढ़ रहा है। Also Read वहीं रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के आंकड़े से पता चलता है कि कृषि क्षेत्र में पीएसयू बैंकों का सकल एनपीए 2019 के मध्य तक 9.42 लाख करोड़ रुपए के कुल ऋण में से 1.04 लाख करोड़ रुपए था। इसमें कुल ऋण के सकल एनपीए का अनुपात 11 फीसदी था। कृषि ऋण माफी में अभूतपूर्व उछाल क्रेडिट में सामान्य गिरावट की मुख्य वजह में से एक है। बीते चार सालों में 10 राज्यों ने 2.5 लाख करोड़ रुपए की किसान कर्ज माफी की घोषणा की है। किसान कर्ज माफी भी बैंकों के लिए बड़ा ‘सिरदर्द’ बनती जा रही है। वहीं एमएसएमई के लिए 5 करोड़ रुपए तक का लोन केवल 59 मिनट में पास करने वाला सरकार का फैसला एक्सपर्ट्स की नजर में सही नहीं है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि 59 मिनट में किसी अज्ञात उधारकर्ता को लोन देकर रिकवरी रिस्क कई ज्यादा हो जाता है। Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App ये खबरें पढ़ीं क्‍या? और पढो: Jansatta

'जावेद अख्तर की बुद्धि पर पड़ा पर्दा, बुद्धिजीवी कहलाने लायक नहीं'



पुलिस के जवानों पर गर्भवती महिला सहित छह की बेरहमी से पिटाई का आरोप, एक की हालत गंभीर

दिल्ली दंगे: पुलिस की भूमिका की जाँच कैसे होगी?



एक साल में रेलवे NTPC भर्ती परीक्षा की तारीख तय नहीं कर सकी आर्टिकल 370 हटाने और CAA लाने वाली सरकार

JNU नारेबाजी के मामले में कन्हैया कुमार पर चलेगा देशद्रोह का केस, दिल्ली सरकार ने दी मंजूरी



दिल्ली हिंसाः मुस्तफाबाद में था अकेला हिंदू परिवार, मुस्लिमों ने हिफाजत कर पेश की मिसाल

असदुद्दीन ओवैसी ने अमित शाह पर कसा तंज- पहले राष्ट्रव्यापी NPR/NRC करवाइए फिर CAA का उपयोग करिए, यही तो क्रोनोलॉजी है



पब्लिक टॉयलेट की दुर्दशा पर भड़के उपायुक्त, अफसरों के ऑफिस शौचालयों के इस्तेमाल पर लगाई रोकउपायुक्त के आदेश के सकारात्मक परिणाम भी सामने आ रहे है. खुद डीसी कार्यालय, एसडीएम कार्यालय सहित कई विभागों के कार्यालय के शोचालयों को ताला लगाकर चाबी डीसी ऑफिस में भेज दी है. | haryana News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

मोदी सरकार के 36 मंत्रियों के दौरे पर क्या कह रहे हैं जम्मू-कश्मीर के लोगभारत सरकार में शामिल 36 मंत्रियों का जम्मू-कश्मीर दौरा शनिवार से शुरू हो चुका है. जय श्री राम सब की मांग है बीबीसी हिंदी बैन होना चाहिए इंडिया में मेरा_PM_झूठा_है

कुमारस्वामी के आरोप पर भड़की BJP, पूछा- जिहादियों के लिए रोना क्यों?कर्नाटक के मंगलौर एयरपोर्ट पर बम मिलने के बाद वहां पर फिर से राजनीति शुरू हो गई है. पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की टिप्पणी पर बीजेपी ने जोरदार पलटवार किया है. अगर केजरीवाल जी ने इतना काम सिर्फ 6 महीने मे कर दिखाया तो इसका मतलब ये हुआ की वो विश्व के सबसे बढ़िया नेता है जिन्होंने इतना काम सिर्फ 6 महीने मे कर दिखाया. शायद इनके अब्बा लगते हो हारी बिल्ली खंभा नोचे😄

विपक्ष पर भड़के सीएम योगी, कहा- CAA के खिलाफ दुष्प्रचार द्रौपदी के 'चीरहरण' जैसायूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के रामकथा पार्क में सीएए के समर्थन में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि सीएए के खिलाफ दुष्प्रचार द्रौपदी के चीर हरण के समान है। वोट बैंक के लिए दुष्प्रचार कर रही सपा, बसपा और कांग्रेस के सहभागी नहीं बन सकते हैं। इस हैवान मनहूस शक्ल,खंजीर से पूछो कि तुझे हर समय महाभारत रामायण और मठ ही दिखता था तो तू संयासी बनकर हिमालय जाता इधर गां*** मराने को क्यो आया है बे 23लोगो को गोली मार दी,हज़ारों को जेल मे डाला बच्चों के साथ क्या किया .. इस सबका हिसाब इस कोड़ी को ही देना होगा,चिता पहुँचने से पहले

केजरीवाल के नामांकन में हुई देरी, पर चुनाव में चुनौती नहीं के बराबरकरीब 6 घंटों के इंतजार के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नंबर आ ही गया. बता दें कि अरविंद केजरीवाल नामांकन के लिए दोपहर करीब 12 बजे से अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे. बारी का इंतजार करते-करते शाम ढल गई, लेकिन केजरीवाल का नंबर नहीं आया. हलांकि केजरीवाल ने आपा नहीं खोया और कतार में लगे-लगे मोबाइल फोन पर बयान देते रहे. नामांकन की अड़चन अपनी जगह, लेकिन चुनावी जंग में केजरीवाल के सामने कोई रोड़े नहीं हैं. बीजेपी और कांग्रेस ने नई दिल्ली सीट से सिर्फ नाम के लिए उम्मीदवार उतारे हैं. यानि कि केजरीवाल के सामने चुनौती नहीं के बराबर है. देखें ये रिपोर्ट. chitraaum कोई मेडिकल कॉलेज या यूनिवर्सिटी बना दो अयोध्या में chitraaum नोकरी कब मिलेगी रोज़गार पे कब बहस होगी Vacancy कब निकलेंगी ? राम मंदिर भी बन गया , 370 भी हट गई , देश मे CAA भी लागू हो गया रोज़गार कब narendramodi_in narendramodi PMOIndia chitraaum Jai Shri Ram🙏

सीएए-एनआरसी पर भाजपा के साथ मतभेद के चलते अकाली दल नहीं लड़ेगा दिल्ली चुनावशिरोमणि अकाली दल के नेता और राजौरी गार्डन से विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल की पुरजोर राय है कि मुसलमानों को नागरिकता संशोधन कानून से अलग नहीं रखा जा सकता. हम एनआरसी के भी पुरजोर खिलाफ हैं. उड़ता तीर पिछवाड़े मे ले रहा है। तडीपार Ladte toh konsa jeet jaate. Yaha toh bjp ke khud ke hi 2-4 seet ke lale pade h वो फूलों से मिले थे कि खुशबू के साथ थे, फिर वक़्त ने ही उन्हें कांटा चुभा दिया।



दिल्ली हिंसा : राष्ट्रपति से मिले कांग्रेस के नेता, 'राजधर्म' बचाने की अपील, अमित शाह को हटाने की मांग

मनोज तिवारी का हमला- 'ताहिर हुसैन ने काफी पहले कर ली थी दिल्ली के दंगों के लिए तैयारी'

मुस्लिमों की गरीबी और बेरोजगारी की समस्या को खत्म कर रहे हैं पीएम मोदी : उमा भारती

Delhi Violence: सोनिया गांधी,ओवैसी और स्वरा भास्कर के खिलाफ HC में याचिका, FIR दर्ज करने की मांग

जस्टिस एस मुरलीधर के तबादले की टाइमिंग पर घिरी मोदी सरकार, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दी सफाई

दिल्ली हिंसा: नरेंद्र मोदी पर क्या कह रहा है विदेशी मीडिया

दिल्ली हिंसा: AAP पार्षद ताहिर पर हुआ एक्शन, तरफदारी में उतरे विधायक अमानतुल्लाह खान

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

22 जनवरी 2020, बुधवार समाचार

पिछली खबर

राज ठाकरे से बीजेपी की बढ़ रही नजदीकियां, महीनेभर में दो बड़े नेताओं संग हुई मीटिंग

अगली खबर

महिला डिप्टी कलेक्टर पर भड़के शिवराज- BJP कार्यकर्ता को थप्पड़ मारोगे तो क्या हम भूल जाएंगे?
'जावेद अख्तर की बुद्धि पर पड़ा पर्दा, बुद्धिजीवी कहलाने लायक नहीं' पुलिस के जवानों पर गर्भवती महिला सहित छह की बेरहमी से पिटाई का आरोप, एक की हालत गंभीर दिल्ली दंगे: पुलिस की भूमिका की जाँच कैसे होगी? एक साल में रेलवे NTPC भर्ती परीक्षा की तारीख तय नहीं कर सकी आर्टिकल 370 हटाने और CAA लाने वाली सरकार JNU नारेबाजी के मामले में कन्हैया कुमार पर चलेगा देशद्रोह का केस, दिल्ली सरकार ने दी मंजूरी दिल्ली हिंसाः मुस्तफाबाद में था अकेला हिंदू परिवार, मुस्लिमों ने हिफाजत कर पेश की मिसाल असदुद्दीन ओवैसी ने अमित शाह पर कसा तंज- पहले राष्ट्रव्यापी NPR/NRC करवाइए फिर CAA का उपयोग करिए, यही तो क्रोनोलॉजी है दिल्ली हिंसाः अंकुर शर्मा बोले- मेरे भाई अंकित को मिले शहीद का दर्जा शिवसेना पर फडणवीस का हमला, कहा- संविधान में धर्म के आधार पर आरक्षण का प्रावधान नहीं जीडीपी विकास दर में गिरावट का सिलसिला जारी जेएनयू के पूर्व छात्र अध्यक्ष कन्हैया पर चलेगा देशद्रोह का केस, दिल्ली सरकार ने दी अनुमति सामने से फेंके जा रहे थे पेट्रोल बम, जान बचाने के लिए मां ने कलेजे के टुकड़े को छत से नीचे फेंका
दिल्ली हिंसा : राष्ट्रपति से मिले कांग्रेस के नेता, 'राजधर्म' बचाने की अपील, अमित शाह को हटाने की मांग मनोज तिवारी का हमला- 'ताहिर हुसैन ने काफी पहले कर ली थी दिल्ली के दंगों के लिए तैयारी' मुस्लिमों की गरीबी और बेरोजगारी की समस्या को खत्म कर रहे हैं पीएम मोदी : उमा भारती Delhi Violence: सोनिया गांधी,ओवैसी और स्वरा भास्कर के खिलाफ HC में याचिका, FIR दर्ज करने की मांग जस्टिस एस मुरलीधर के तबादले की टाइमिंग पर घिरी मोदी सरकार, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दी सफाई दिल्ली हिंसा: नरेंद्र मोदी पर क्या कह रहा है विदेशी मीडिया दिल्ली हिंसा: AAP पार्षद ताहिर पर हुआ एक्शन, तरफदारी में उतरे विधायक अमानतुल्लाह खान रविशंकर प्रसाद की दो टूक- CAA पर हम पीछे नहीं हटेंगे, ये नरेंद्र मोदी की सरकार है दिल्‍ली हिंसा: जावेद अख्‍तर ने कर दिया ऐसा ट्वीट, लोग पूछ रहे सवाल दिल्ली हिंसा पर सुनवाई करने वाले जस्टिस एस. मुरलीधर का तबादला राष्ट्रगान नहीं गा पाए कन्हैया कुमार, अंतिम दो लाइन में कर गए 'झोल' घुसपैठियों की जानकारी दो और 5555 रुपया लो... औरंगाबाद में MNS ने लगाए पोस्टर