Chandrayaan2, Chandrayaan-2, Chandrayaan-2 Launch, Countdown For Moon Mission, Moon Mission, İsro's Second Launch Attempt, Chandrayaan 2 Launch, Chandrayaan Launch, Chandrayaan 2 Live, İsro, İsro Chandrayaan 2, İsro Chandrayaan 2 Launch, İsro Chandrayaan Launch, İsro Launch, Chandrayaan 2 Launch Live, İsro Live, İsro Chandrayaan 2 Launch Live, Chandrayaan 2 Time, Chandrayaan 2 Launch Time, Chandrayaan 2 Launch Date, Chandrayaan 2 Mission, Chandrayaan 2 Date And Time, Chandrayaan 2 Launch Time And Date, Chandrayaan, Chandrayaan-1, Mission Moon

Chandrayaan2, Chandrayaan-2

...अब अंतरिक्ष में होगा भारत का दबदबा, कई चुनौतियों से गुजरकर खजाने तक पहुंचेगा यान

...अब अंतरिक्ष में होगा भारत का दबदबा, कई चुनौतियों से गुजरकर खजाने तक पहुंचेगा यान #Chandrayaan2

22.7.2019

...अब अंतरिक्ष में होगा भारत का दबदबा, कई चुनौतियों से गुजरकर खजाने तक पहुंचेगा यान Chandrayaan2

चंद्रयान-2 के चांद पर कदम रखते ही भारत अंतरिक्ष युग में नए दौर में प्रवेश कर जाएगा। चंद्रयान-1, मंगलयान और अब चंद्रयान-2

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के पूर्व वैज्ञानिक गौहर रजा के मुताबिक लॉंचिंग के अंतिम पलों तक वैज्ञानिकों पर काफी दबाव रहता है। ऐसे दबाव में भी उन्हें सही फैसले लेने होते हैं। वहीं डीआरडीओे के रिटायर्ड वैज्ञानिक रवि गुप्ता कहते हैं कि यह मिशन हमारे देश के लिए काफी मायने रखता है। गुप्ता के मुताबिक यह मिशन पूर्ण रूप से स्वदेशी है। इसे पूरी तरह से हमारे वैज्ञानिकों ने डिजाइन और विकसित किया है।यहां तक कि इसका सॉफ्टवेयर भी हमारे ही वैज्ञानिकों ने बनाया है।

सोमवार अपराह्न 2.45 बजे जब चंद्रयान-2 बाहुबली यानी रॉकेट जीएसएलवी मार्क-III पर सवार होकर चंद्रमा की ओर उड़ान भरेगा तो यह अंतरिक्ष में भारत की नई गौरव यात्रा का आगाज होगा। यह भारत के लिए बेहद लाभदायक साबित होने वाली है। चंद्रयान-2 पृथ्वी के उपग्रह के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा जो खनिजों और पानी से भरपूर माना जाता है। चंद्रयान-1 ने चांद पर पानी खोजकर दुनिया को नई उम्मीद बंधाई थी तो अब हम इंसान के लिए खनिजों के नए स्रोत ढूंढ़ने का आधार बनेंगे।

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के पूर्व वैज्ञानिक गौहर रजा के मुताबिक लॉंचिंग के अंतिम पलों तक वैज्ञानिकों पर काफी दबाव रहता है। ऐसे दबाव में भी उन्हें सही फैसले लेने होते हैं। वहीं डीआरडीओे के रिटायर्ड वैज्ञानिक रवि गुप्ता कहते हैं कि यह मिशन हमारे देश के लिए काफी मायने रखता है। गुप्ता के मुताबिक यह मिशन पूर्ण रूप से स्वदेशी है। इसे पूरी तरह से हमारे वैज्ञानिकों ने डिजाइन और विकसित किया है।यहां तक कि इसका सॉफ्टवेयर भी हमारे ही वैज्ञानिकों ने बनाया है।

और पढो: Amar Ujala
ताज़ा खबर
अभी नवीनतम समाचार

मोदीजी के सपनो का भारत फलीभूत होना शुरू हो गया विकास जो थम्ह गया था आज दौडने लगा।कुछ लोग अन्दर से कुढ रहे हैं।जय श्री राम Jai sree ram jaroor hoga ye kaam

अब अपनी गाड़ी में भरवाएं BS-6 पेट्रोल-डीजल, इन शहरों में उपलब्ध है स्वच्छ ईंधनदेश कई शहरों में बीएस-6 उत्सर्जन मानक वाले ग्रीन फ्यूल पेट्रोल और डीजल की बिक्री शुरू हो गई है। दिल्ली-एनसीआर के 60 फीसदी

चंद्रयान-2: इन दो महिला वैज्ञानिकों के कंधों पर अहम जिम्मेदारी, स्टाफ में 30 प्रतिशत महिलाएंचंद्रयान-2 को नेतृत्व दो महिला वैज्ञानिकों के हाथ में रहेगा। इसरो के किसी अंतरिक्ष मिशन में ऐसा पहली बार होगा। इनमें

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

अब हाजीपुर में लिंचिंग, पति के सामने महिला को निर्वस्त्र कर पीटापुलिस का कहना था कि जानकारी पर मामले की जांच जारी है। पीड़ितों के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, जबकि पीड़ित पक्ष का कहना है कि पिटाई के दौरान भीड़ ने पीड़िता की चेन, पायल और पैसे छीन लिए। अब लोगों को कानून का भय नहीं रहा। कानून की कमजोरियों को समझ गये हैं या फिर अपने मुताबिक कर लेंगे इसका गुमान काम करने लगा है ‌

महाराष्ट्र के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अब करेंगे राजनीति, जानें इनके बारे मेंचर्चा है कि एनकाउंटर विशेषज्ञ प्रदीप शर्मा को भाजपा उत्तर-पूर्व मुंबई की अंधेरी या पालघर जिले की नालासोपारा सीट से मैदान में उतार सकती है। राजनीति इतनी अच्छी हो गयी है कि हर मशहूर इन्सान इसमे आना चाहता है। शायद देश सेवा मे कुछ कमी रह गई होगी जिसे राजनीति मे आ कर पूरा करना चाहता है।

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

मुंबई: मलाड में दीवार गिरने से अब तक 31 लोगों की मौतमुंबई के मलाड में मरने वालों की संख्या 31 पहुंच गई है. इस हादसे में घायल एक 50 वर्षीय महिला की भी शनिवार को मौत हो गई. VERY SAD INCIDENCE. My condolence to victims Family. When a dog bark in none bjp then it occurs in prime time. Why not now 😳😳😳😳😳 सरकार को सब पता होता है क्या गिरने वाला है पर वह आंखें बंद कर के तमाशा देखती है बाद में नंबर बनाने के लिए वोट बैंक हासिल करने के लिए मुआवजा देती अगर मरने से पहले जिंदगियां बचा नहीं गई होगी तो ऐसा ना होता सोचने का विषय है

सुभाष चंद्र बोस संग मिलकर लड़े दादा,अब टीम में चुना गया पोतावेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया का ऐलान हुआ है, जिसमें एक ऐसे खिलाड़ी को जगह मिली है जिनके दादाजी आजाद हिंद फौज में सुभाष चंद्र बोस के साथ मिलकर जंग लड़े थे welcome

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

22 जुलाई 2019, सोमवार समाचार

पिछली खबर

IMF के नए प्रमुख बन सकते हैं रघुराम राजन, सबसे आगे है उनका नाम

अगली खबर

YouTube
IMF के नए प्रमुख बन सकते हैं रघुराम राजन, सबसे आगे है उनका नाम YouTube