Uttarakhand, Nainital-Politics, Chief Minister Pushkar Singh Dhami, Pushkar Singh Dhami, Khatima Constituency, Pushkar Singh Dhami Khatima Visit, Uttarakhand Politics, Uttarakhand News

Uttarakhand, Nainital-Politics

'नायक' बने मुख्‍यमंत्री पुष्कर धामी, अचानक पहुंचे अपने विधानसभा क्षेत्र खटीमा, पढ़ें पूरी खबर

'नायक' बने मुख्‍यमंत्री पुष्कर धामी, अचानक पहुंचे अपने विधासभा क्षेत्र खटीमा, पढ़ें पूरी खबर @pushkardhami #Uttarakhand

27-10-2021 12:10:00

'नायक' बने मुख्‍यमंत्री पुष्कर धामी, अचानक पहुंचे अपने विधासभा क्षेत्र खटीमा, पढ़ें पूरी खबर pushkardhami Uttarakhand

आपने नायक फिल्म तो देखी ही होगी। इस फिल्म में एक दिन का मुख्यमंत्री बना अनिल कपूर जिस तरीके से अपने सूबे का कायाकल्प करता है। उससे वह अपनी कैशल क्षमता का प्रदर्शन करता है जिसमें जनता वाह-वाही करने लगती है।

आपने नायक फिल्म तो देखी ही होगी। इस फिल्म में एक दिन का मुख्यमंत्री बना अनिल कपूर जिस तरीके से अपने सूबे का कायाकल्प करता है। उससे वह अपनी कैशल क्षमता का प्रदर्शन करता है, जिसमें जनता वाह-वाही करने लगती है। उसी फिल्म से मिलता जुलता ट्रेलर आज खटीमा में दिखाई दिया। खटीमा क्षेत्र के विधायक पुष्कर सिंह धामी चूंकि प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। जब भी वह मुख्यमंत्री बनने के बाद क्षेत्र में आए हैं उनका पूर्व निर्धारित कार्यक्रम तय रहा है, मगर मंगलवार को उनका दौरा रूटीन से हटकर दिखा।

रूस ने अगर यूक्रेन पर हमला किया तो हम चुप नहीं बैठेंगे: अमेरिका - BBC Hindi बीबीसी के अंतरराष्ट्रीय ऑडियंस में भारत पहले पायदान पर बरक़रार - GAM रिपोर्ट - BBC News हिंदी प्रशांत किशोर ने फिर कांग्रेस नेतृत्व को निशाने पर लिया - BBC Hindi

यह भी पढ़ेंयूं तो मुख्यमंत्री के आने की सुगबुगाहट सुबह दस बजे से अफसरों को लग गई थी, मगर उनके आने की तस्वीर साफ दो बजे हो पाई। दोहपर 2:50 पर चौपर खटीमा के पॉलीप्लैक्स कारखाने के मैदान पर मडराने लगा। जिले से डीएम, एसएसपी से लेकर हर उच्चअधिकारी नीचे और सीएम का हैलीकॉप्टर ऊपर। हाथों में गुलदस्त लिए भले ही हर कोई उनके स्वागत की आगवानी की तैयारी में था मगर जवान पर सवाल तैर रहा था कि आखिर मुख्यमंत्री का अचानक आगमन कैसे। मगर पूछे कौन। मुख्यमंत्री का चॉपर उतरता है। सीएम साबह उतरते हैं सब लोग उनकी आगवानी करते हैं। वह भी बिना लावलस्कर सुरक्षा दस्ते के सभी से आत्मीता के साथ मिलते हैं, हालचाल पूछते हैं। लेकिन उनके कदम लगातार आगे बढ़ते चले जाते हैं।

यह भी पढ़ेंअफसरों में पीछे-पीछे कानाफुसी भी हो रही है कि आखिर सीएम साहब जाऐंगे कहा। मगर पूछे कौन। खैर मुंख्यमंत्री अपनी कार में सावर हुए। आगे फ्लीट और पीछे अफसरों और नेताओं का काफिला। अपने क्षेत्र से पूर्व से परिचत धामी सबसे पहले आश्रम पद्धति जाकर पहुंचते हैं। फिर दिन भर अपने सारे ड्रीम प्रोजेक्टों को अपनी नजरों से देखते हैं शाम को समीक्षा बैठक में अधिकारियों को डेड लाइन तय कर दी जाती है। देर रात को कार्यकर्ताओं को चुनावी तैयारियों का पाठ पढ़ाया जाता है और सुबह देहरादून की तैयारी। इस तरह उनका आज दौरा पूरे क्षेत्र ही नहीं जिले में चर्चा का विषय बना रहा है। headtopics.com

यह भी पढ़ेंखटीमा पहुंचने पर सवा तीन बजे सीएम का काफिला सबसे पहले आश्रम पद्धति की ओर मुड जाता है। तभी अधिकारी व कार्यकर्ता समझ जाते हैं कि सीएम साहब अपने क्षेत्र के ड्रीम प्रोजेक्टो का जायजा लेने आए हुए हैं। सीएम धामी आश्रम विद्यालय का निरीक्षण करते हैं जहां वे 4.32 करोड की लागत से बन रहे छात्रावास भवन को देखते हैं। इसके बाद वे सीएम का काफिला वहां से चलता है और सीधे धान क्रय केंद्र मंडी समिति में। वहां पहुंचते ही आढ़ती और दूर दराज से आज किसान वहां के कर्मचारी भैचक रह जाते हैं आखिर यह अमला है किसका। सीएम जब गाड़ी से उतरते हैं तो बिना सुरक्षा अमले के मौजूद धामी को देर हर कोई हैरान होते हैं। सीधे किसान से रुबरु होते हैं बोले परेशान क्या है धान तौल में कोई परेशानी है तो बताओ।

यह भी पढ़ेंअपने बीच सरल और सहज से खड़े एक मुख्यमंत्री को देख किसान भी प्रफुल्लित होते हैं। किसानों ने सीएम को अपनी पीढ़ा बताई कहा बारिश से धान काल और खबरा हो रहा है। कहा इस बार फसल अच्छी बेचने की उम्मीद थी पर बारिश ने उने उनकी उम्मीदों को ही धो डाला। सारा सोना काला पड़ गया है। कहा दूरसों को पेट भरना तो दूर इस बार अपना ही भर वह बहुत है। यह सुन सीएम ने भाउक हुए उन्होंने ढांढंस बधाया कहा चिंता मत करो मै इसिलिए आया हूं। इस पर अधिकारियों से किसान को नमी पर परेशान करने की हिदायत दी। तोल में किसी प्रकार की गड़बड़ी के बारे में पूछा। किसानों ने उससे भी अवगत कराया।

यह भी पढ़ेंइसके बाद मुख्यमंत्री का काफिला शहीद स्मारक स्थल पहुंचे। नौ नंबर को राज्य स्थापना दिवस है धामी के विधायक रहते भी यह इच्छा रही कि स्मारक की नींव रखें। सौभाग्य की बात है कि धामी खुद सीएम हैं और वह चाहते हैं कि वह किसी भी हाल में स्थापना दिवस पर लोकापर्ण हो। इस पर उन्होंने अधिकारियों से बजट और त्रीवता के बारे में जानकारी ली। उन्होंने 8 नंबर तक तैयार करने को कहा। अधिकारी भी मुख्यंत्री की मंशा को भांपकर स्थापना दिवस से पूर्व तैयार होने की बात कहते हैं। इतना सुन धामी का काफिला पूर्व सैनिक के लिए पुराने अस्पताल में अस्थाई कैंटीन स्थल पर पहुंचे। जहां पर काम चल रहा था।

यह भी पढ़ेंर्निर्माणाधीन एकलव्‍य विद्यालय पहुंचता हैं। जहां पर वे निर्माण ईकाई के अधिकारियों से कब तक तैयार होने की जानकारी लेते हैं और बजट की बात पूछते हैं अधिकार बतातें है कि बजट की कोई कमी नहीं है। जिसपर सीएम आंखे टेड़ी हो जाती हैं कहते हैं जब बजट पूरा है तो काम अधूरा क्यों है। जिसकी समय सीमा तय करते हुए सौ बेड के नागिरक अस्पताल पहुंचते हैं। वह सरकारी अस्पताल जो कोरोना काल में सीमांत वासियों के लिए जीवनदान देने वाला साबित हुआ वह भी विधायक धामी के प्रयास से। लेकिन वही विधायक आज मुख्यमंत्री है तो उसकी सुविधओं में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं। इसलिए वह सीधे पहुंचे। डाक्टर से लेकर नर्स तक सारा स्टाफ अपने-अपने काम में लगे थे। headtopics.com

'एक विशेष व्‍यक्ति का दैवीय हक नहीं..' : प्रशांत किशोर ने राहुल गांधी पर कसा तंज कंगना रणौत पर भड़के मुकेश खन्ना: बोले- लकड़ी के घोड़े पर बैठकर खुद को झांसी की रानी कहती हैं, लानत है ऐसे शख्स पर केशव प्रसाद मौर्य के 'मथुरा की तैयारी है' बयान पर बोलीं मायावती - BBC Hindi

यह भी पढ़ेंसीएम आदर सतकार को छोड़े सीधे भर्ती मरीजों के बीच पहुंचे। उन्होंने सिर्फ और सिर्फ अस्पताल की व्यवस्थाओं के बारे में पूछा उपचार हो रहा है डाक्टर मिल रहे हैं कि नहीं। दवाएं मिल रही हैं दवाएं मिल रही हैं। बाहर की दवा तो नहीं लिख रहे हैं। ये सारे सवाल मरीज व उनके तीमारदारों से हुए। जहां मरीजों ने अस्पताल की सेवाएं को बेहतर बताया। सीएम ने प्रभारी सीएमओ डा.सुनीता रतूड़ी से अस्पताल में किसी भी चीज की जरुरत हो तो सीधे बताया जाए। इसके बाद वह बस अडडे व बाइपास स्थल पर पहुंचे। जहां उन्होंने जल्द निर्माण शुरू कराने को कहा। दोपहबर बाद सिलसिल चलता रहा सीएम आगे-आगे अधिकारी पीछे-पीछे चलते रहे। वे केवल दिमाग में अनुमान ही लगाते रहे सीएम अब कहां जाऐंगे। सीएम को जो मिलता रास्ते में उससे मिलने रुकते और चलते गए।

यह भी पढ़ेंइस तरह तय की काम की डेड लाइन1-आश्रम पद्वति के जनजाति छात्रावास-परियोजना प्रबंधक एके त्यागी से 15 नवंबर तक कार्य पूरा करने।2-शहीद स्मारक-ग्रामीण निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता पंकज कुमार को 8 नवंबर कार्य पूरा करने3-एकलव्य विद्यालय में पेजयल निगम के परियोजना प्रबंधक एके त्यागी से निर्माण कार्य की जानकारी लेते हुए 15 दिसंबर तक कार्य पूरा करने

4-सीएसडी कैंटीन के लिए उन्होंने दूरभाष पर कर्नल बीबी चंद से वार्ता कर एक माह के भीतर कैंटनी शुरु करने को कहा।5-बाइपास निर्माण-एनएचआई के अधिकारियों को दिसंबर तक कार्य करने6-रोडवेज बस स्टेशन हेतु विकास प्राधिकरण के अधिकारियों से कार्य जल्द शुरु करनेयह रहे अधिकारी रहे मौजूद

जिलाधिकारी रंजना राजगुरु, एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर, सीडीओ आशीष भटगाई, एडीएम जयभारत सिंह, विकास कार्या के नोडल अधिकारी केएस ब्रजवाल, एएसपी ममता बोहरा, प्रमोद कुमार, प्रभारी सीएमओ डॉ.सुनीता रतूड़ी, एसडीएम निर्मला बिष्टï, सीओ मनोज ठाकुर, तहसीलदार युसूफ अली, झनकईया थानाध्यक्ष दिनेश फत्र्याल। headtopics.com

यह कार्यकर्ता रहे मौजूदनानकमत्ता विधायक डॉ.प्रेम सिंह राणा, किसान आयोग के उपाध्यक्ष राजपाल सिंह, मंडी चेयरमैन नंदन सिंह खड़ायत, भाजपा जिलमहामंत्री हिमांशु बिष्टï, टीवीएस अध्यक्ष गोपाल बोरा, दिनेश मंगला, अजय मौर्या, विधानसभा प्रभारी कमलेंद्र सेमवाल, अमित पांडे, नवीन कन्याल, दिगंबर कन्याल, सतीश गोयल, संतोष अग्रवाल, दिनेश अग्रवाल, रमेश जोशी, अजय सिंह अज्जू, ईश्वरी पांडे, दीपक तिवारी, भवानी भंडारी, धर्मवीर खोलिया, मोहनी पोखरिया, विमला बिष्टï, राजेंद्र बिष्टï, मनोज बाधवा आदि मौजूद थे।

आशा कार्यकत्र्रियों ने जताया आभारनागरिक अस्पताल पहुंचने पर आशा कार्यकत्र्रियों ने सीएम धामी का आभार जताया। उन्होंने कहा कि आज तक किसी भी सरकार ने उनकी समस्या पर ध्यान नहीं दिया। पहली बार उनकी सरकार ने उनके बारे में सोचते हुए मानदेय बढ़ाया है। जो सराहनीय पहल है।

अखिलेश बताएं कृष्ण जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण चाहते हैं या नहीं- केशव प्रसाद मौर्य का सपा प्रमुख से सवाल दिल्ली के सभी स्कूल कल से अगले आदेश तक रहेंगे बंद : पर्यावरण मंत्री गोपाल राय 'प्रदूषण बढ़ रहा है और कुछ नहीं हो रहा', दिल्ली सरकार को SC की फटकार

चिरोंजी के ठेले पर मूंगफली लेने पहुंचे सीएमसीएम धामी विकास कार्यों के निरीक्षण के दौरान सितारगंज रोड पुराने अस्पताल के पास चिरोंजी लाल मूंगफली वाले के ठेले पर आ पहुंचे। जहां उन्होंने उससे मूंगफली लेने के साथ उसका हालचाल पूछा। पूर्व में धामी अक्सर उसके ठेले पर रुककर मूंगफली खाया करते थे। इसके अलावा धामी नरपत राम कोहली व अनमोल व निकिता अग्रवाल से मिलने उनकी दुकान पर भी पहुंचे।

और पढो: Dainik jagran »

इतिहास में पहली बार ट्रेन से चला प्याज: 220 टन लाल प्याज किसान व्यापारियों ने सीधे असम भेजा, 1836km का सफर करेगा

राजस्थान के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब यहां होने वाली प्याज को ट्रेन से किसी दूसरे राज्य में भेजा गया है। पहली बार अलवर की प्याज रेल से असम भेजा गया है। पूरे प्रदेश में इससे पहले कभी भी प्याज को मालगाड़ी से ट्रांसपोर्ट नहीं किया गया। किसान रेल के जरिए किसानों की उपज को भेजने की उत्तर पश्चिम रेलवे ने यह शुरुआत की है। | उत्तर पश्चिम रेलवे के क्षेत्र में किसान रेल की अलवर से शुरूआत, 220 टन प्याज अलवर से असम भेजी

pushkardhami रविंद्र सैनी अकेला जी ने तन मन धन से जो भाई शेर सिंह राणा जी RJP का साथ दिया है बेरोजगार युवा आपका हमेशा ऋणी रहेगा बीजेपी की रवैया के कारण 27/10/2021को देहरादून पुलिस ने युवाओं पर लाठी बरसाई मैं बीजेपी सरकार के खिलाफ घोर निंदा करता हूं और जो पुलिस अधिकारी दोषी है उनको सजा दी जाए

क्रूज़ ड्रग्स मामला: रिश्वत मामले में एनसीबी ने अपने अधिकारी समीर वानखेड़े की जांच शुरू कीमुंबई क्रूज़ ड्रग्स मामले में स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल ने दावा किया हैं कि अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन ख़ान को छोड़ने के लिए एनसीबी की मुंबई क्षेत्रीय इकाई के निदेशक समीर वानखेड़े और कुछ अधिकारियों द्वारा 25 करोड़ रुपये की मांग की गई थी. एनसीबी और समीर वानखेड़े ने इन आरोपों के ख़िलाफ़ अदालत का रुख़ किया है. शिकारी खुद यहाँ शिकार हो गया Bollywood valo ko bachane ki kosis..... bina post se hataye kun si janch hogi?

तेजस्वी का नीतीश कुमार पर तंज,बोले- जो सीएम अपने विधायकों को नहीं सका,वह किस आधार पर मांग रहा है वोटBihar By Elections: बिहार विधानसभा उपचुनाव में कुशेश्वरस्थान के विधायक को कभी भी कुशेश्वरस्थान के बारे में चर्चा करते नहीं सुना। इस बार राजद के प्रत्याशी को ...

अर्दोआन गरजकर बरसे क्यों नहीं? पीछे खींचे अपने क़दम - BBC News हिंदीशनिवार को तुर्की के राष्ट्रपति अर्दोआन ने जब यह घोषणा की थी तो लगा कि उन्होंने बहुत बड़ा फ़ैसला ले लिया है. लेकिन उनका विदेश मंत्रालय ही इस बात से बहुत सहमत नहीं था. इतना आसान नहीं दुनिया से कट के रहना खासकर पड़ोसी से । अर्दोगन एक Radical Islamist बनने के राह को अपना रहे है। जो उनके देश के ही विरुद्ध होगा । अर्दोआन इजरायल की कठपुतली हैं। एर्दोआन को सपने आते हैं ऑटोमन साम्राज्य के

ताइवान पर तनातनी के बीच अमेरिका ने कहा, चीन अपने पड़ोसी मुल्कों को डराने की कोशिश न करेचीन ताइवान को अपना ही हिस्सा बताता रहा है. चीन के लड़ाकू विमान या जहाज अक्सर ताइवान के क्षेत्र में घुसकर उसके सीमा क्षेत्र का उल्लंघन करते रहे हैं. Ab khud fasega

Petrol Diesel Price: आज भी नहीं बढ़े तेल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 107 के पार, जानें अपने शहर की कीमतेंPetrol Diesel Price: आज भी नहीं बढ़े तेल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 107 के पार, जानें अपने शहर की कीमतें PetrolDieselPrice PetrolPrice DieselPrice PriceHike PMOIndia dpradhanbjp myogiadityanath mai puchhana chahta hu up mein class 12th k wo students jinhone re-exam diya unaka results aakhir kab aayega & NEET ka result kab aayega sabhi aage admission lene mein bhut paresani ho rhi hai smay bit rha hai DM_MIRZAPUR aajtak NICMeity बहुत बङा अहसान किया

Nykaa IPO: नायका ने तय किया अपने आईपीओ के लिए प्रति शेयर प्राइस बैंड, जानें कब शुरू होगा सब्सक्रिप्शनNykaa IPO: नायका ने तय किया अपने आईपीओ के लिए प्रति शेयर प्राइस बैंड, जानें कब शुरू होगा सब्सक्रिप्शन IPO NykaaIPO Nykaa Money SharePrice