'ओमिक्रॉन' कोविड के डेल्टा वेरिएंट से अधिक गंभीर नहीं : शीर्ष अमेरिकी वैज्ञानिक

'ओमिक्रॉन' कोविड के डेल्टा वेरिएंट से अधिक गंभीर नहीं : शीर्ष अमेरिकी वैज्ञानिक

Anthony Fauci, Omicron

08-12-2021 04:20:00

'ओमिक्रॉन' कोविड के डेल्टा वेरिएंट से अधिक गंभीर नहीं : शीर्ष अमेरिकी वैज्ञानिक

ओमिक्रॉन वेरिएंट अब तक कम से कम 38 देशों में पाया गया है. हालांकि इसे अभी तक किसी भी मौत से नहीं जोड़ा गया है. फौसी ने कहा कि विज्ञान इस बात पर स्पष्ट नहीं है कि वेरिएंट की उत्पत्ति कैसे हुई.

वाशिंगटन: शीर्ष अमेरिकी वैज्ञानिक एंथोनी फौसी ने मंगलवार को कहा कि शुरुआती संकेतों से पता चलता है कि कोविड -19 ओमिक्रॉन वेरिएंट पहले के स्ट्रेनो से घातक नहीं है और संभवतः हल्का है, हालांकि उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि इसकी गंभीरता को समझने में अभी कुछ और हफ्ते लगेंगे. एएफपी से बात करते हुए राष्ट्रपति जो बिडेन के मुख्य चिकित्सा सलाहकार ने ओमाइक्रोन को तीन प्रमुख क्षेत्रों में विभाजित किया, संचरणशीलता, यह पूर्व संक्रमण और टीकों से प्रतिरक्षा को कितनी अच्छी तरह से बचाता है और बीमारी की गंभीरता.

Yashraj Mukhate की क्रिएटिविटी को मिला Shehnaaz Gill का साथ, 'Boring Day' पर मचाया धमाल

यह भी पढ़ेंभारत में ओमिक्रॉन के पहले मरीजों में शामिल डॉक्टर ने बताया- क्या असर दिखाता है कोरोना का ये वैरिएंटफौसी ने कहा कि डेल्टा की तरह ही नया वेरिएंट"स्पष्ट रूप से अत्यधिक एक दूसरे में फैलने वाला हैस जो कि वर्तमान में प्रमुख वैश्विक स्ट्रेन है. दुनिया भर से महामारी विज्ञान के आंकड़ों का संग्रह यह भी इंगित करता है कि ओमिक्रॉन के साथ पुन: संक्रमण अधिक हैं और यह टीकाकरण से प्रतिरक्षा से बचने में बेहतर है. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज (एनआईएआईडी) के लंबे समय के निदेशक फौसी ने कहा कि ओमिक्रॉन के खिलाफ मौजूदा टीकों से एंटीबॉडी की शक्ति का परीक्षण करने वाले प्रयोगशाला प्रयोगों के परिणाम"अगले कुछ दिनों से एक सप्ताह तक के भीतर आने चाहिए. गंभीरता के सवाल पर फौसी ने कहा कि यह लगभग निश्चित रूप से डेल्टा से अधिक गंभीर नहीं है.

उन्होंने कहा कि कुछ सुझाव हैं कि यह कम गंभीर भी हो सकता है, क्योंकि जब आप दक्षिण अफ्रीका में पालन किए जा रहे कुछ साथियों को देखते हैं तो संक्रमणों की संख्या और अस्पतालों की संख्या के बीच का अनुपात डेल्टा की तुलना में कम प्रतीत होता है. लेकिन उन्होंने नोट किया कि इस डेटा की अधिक व्याख्या नहीं करना महत्वपूर्ण है क्योंकि जिन आबादी का अनुसरण किया जा रहा है, वे युवा हैं और उनके अस्पताल में भर्ती होने की संभावना कम है. गंभीर बीमारी को विकसित होने में भी हफ्तों लग सकते हैं. headtopics.com

भारत में ओमिक्रॉन के पहले मरीजों में शामिल डॉक्टर ने बताया- क्या असर दिखाता है कोरोना का ये वैरिएंटउन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि दक्षिण अफ्रीका में पुष्टि करने में कम से कम कुछ हफ़्ते लगेंगे, जहां पहली बार नवंबर में संस्करण की सूचना दी गई थी. फिर जैसा कि हम दुनिया के बाकी हिस्सों में अधिक संक्रमण प्राप्त करते हैं, यह देखने में अधिक समय लग सकता है कि गंभीरता का स्तर क्या है. एक अधिक संक्रमणीय वायरस जो अधिक गंभीर बीमारी का कारण नहीं बनता है और अस्पताल में भर्ती होने की वृद्धि नहीं करता है और मौतें"सबसे अच्छी स्थिति" थी.

नेस्ले ने भगवान जगन्नाथ की तस्वीर वाले किटकैट वापस लिए, जताया अफ़सोस - BBC Hindi

उन्होंने कहा कि सबसे खराब स्थिति यह है कि यह न केवल अत्यधिक संक्रामक है, बल्कि यह गंभीर बीमारी का भी कारण बनता है और फिर आपके पास संक्रमण की एक और लहर होती है जो जरूरी नहीं कि टीके या लोगों के पूर्व संक्रमणों से प्रभावित हो. मुझे नहीं लगता कि सबसे खराब स्थिति आने वाली है, लेकिन क्या हो जाए, यह आप कभी नहीं जानते.

बता दें कि ओमिक्रॉन वेरिएंट अब तक कम से कम 38 देशों में पाया गया है. हालांकि इसे अभी तक किसी भी मौत से नहीं जोड़ा गया है, वैज्ञानिक विशेष रूप से स्पाइक प्रोटीन पर 30 से अधिक उत्परिवर्तन के अद्वितीय"नक्षत्र" से चिंतित हैं जो कोरोनवायरस की सतह को डॉट करता है और इसे कोशिकाओं पर आक्रमण करने की अनुमति देता है.

फौसी ने कहा कि विज्ञान इस बात पर स्पष्ट नहीं है कि वेरिएंट की उत्पत्ति कैसे हुई, लेकिन दो मुख्य सिद्धांत हैं. या तो यह एक प्रतिरक्षाविहीन रोगी के शरीर के अंदर विकसित हुआ, जैसे कि एचआईवी वाला व्यक्ति जो तेजी से वायरस से लड़ने में विफल हो जाता है. या, वायरस मनुष्यों से जानवरों में पार हो सकता था, फिर"रिवर्स ज़ूनोसिस" की तरह अधिक उत्परिवर्तित रूप में लोगों के पास लौट आया. headtopics.com

यूक्रेन पर यूरोपीय देशों और अमेरिका के विदेश मंत्रियों के बीच ​बर्लिन में हुई मुलाक़ात - BBC Hindi

महाराष्ट्र में 45 से अधिक उम्र के केवल 56 प्रतिशत लोगों को ही लगी हैं कोरोना वैक्सीन की दोनों डोजयह पूछे जाने पर कि क्या टीकाकरण वाले लोगों को अधिक सावधानी से कार्य करना चाहिए, फौसी ने कहा कि जनता को विवेकपूर्ण रहना चाहिए, विशेष रूप से यात्रा के दौरान और घर के अंदर इकट्ठा होने पर मास्क पहनना चाहिए, जहां दूसरों की टीकाकरण की स्थिति अज्ञात है. उन्होंने जोर देकर कहा कि जिन लोगों को पूरी तरह से टीका लगाया गया है, उन्हें भी जरूरत होने पर बूस्टर लेना चाहिए.

फौसी ने कहा कि बूस्टर शॉट्स को एंटीबॉडी के स्तर में काफी वृद्धि करने के लिए दिखाया गया है जो स्पाइक को बांधता है और वास्तविक दुनिया में बेहतर बीमारी के परिणामों में भी अनुवाद करता है, जैसा कि इज़राइल में देखा गया है, जिसने संयुक्त राज्य अमेरिका से पहले अपने बूस्टर अभियान को शुरू किया था. लेकिन, जबकि बूस्टर किसी व्यक्ति की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया की तीव्रता और चौड़ाई को बढ़ाते हैं, यह अभी भी बहुत जल्द है कि प्रतिक्रिया कितनी टिकाऊ होगी और क्या भविष्य में अतिरिक्त शॉट्स की आवश्यकता हो सकती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com ओमिक्रॉन का तेजी से प्रसार, अन्‍य देशों से क्‍या सीख ले सकता है भारत(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)Anthony FauciOmicroncoronavirusटिप्पणियां पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News) | कोरोनावायरस के लाइव अपडेट के लिए हमें फॉलो करें |

लाइव खबर देखें:

और पढो: NDTV India »

चुनावों का सबसे बड़ा Opinion Poll: देखिए #DNA LIVE Sudhir Chaudhary के साथ

Aditya Birla Sunlife insurance is a fraud company and looting the people through their insurance policies. I request to all Indians not to purchase the insurance policies of Aditya Birla Sunlife insurance. Otherwise, you have to weep for your this decision like me.

Omicron Variant : 47 से ज्यादा देशों में फैला ओमिक्रॉन, दक्षिण अफ्रीका में 700 गुना बढ़े केस, च्यूइंग गम से रोकने की कोशिश Omicron Variant : 47 से ज्यादा देशों में फैला ओमिक्रॉन, दक्षिण अफ्रीका में 700 गुना बढ़े केस, च्यूइंग गम से रोकने की कोशिश Coronavirus COVID19 Omicron Variant Omicron Alert अफ्रीका की पिछले 2 सालों से यही हालत है लेकिन फोकस अभी हुआ है Apnee surksha w vchav khud apnee jimmedaree se hi Corona pr jeet hasil kr sakte h.🙏🏻🇮🇳

पाकिस्‍तानियों ने संस्‍थापक मोहम्‍मद अली जिन्‍ना को भी नहीं छोड़ा, मूर्ति से चुराया चश्‍माJinnah Statue Monocle Glass Stolen In Vehari: पाकिस्‍तान में चोरों ने देश के संस्‍थापक मोहम्‍मद अली जिन्‍ना की मूर्ति में लगा एक लेंस वाला चश्‍मा चोरी कर लिया है। यह मूर्ति पंजाब के वेहारी इलाके में लगाई गई है। पाकिस्‍तान पुलिस चोरों का तलाश कर रही है। Islam me but Haram hai...

परमबीर सिंह पर राज्य सरकार से समझौता करने का दबाव नहीं बनाया: DGP संजय पांडेआज सुप्रीम कोर्ट में परमबीर सिंह की अर्जी पर सुनवाई है और महाराष्ट्र सरकार को भी अपना जवाब दाखिल करना है. इससे पहले 2 दिसंबर को राज्य सरकार ने परमबीर सिंह को उनके खिलाफ दर्ज मामलों और सेवा नियमों के उल्लंघन के चलते उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था. RailwayExamCalendarDo RailwayExamCalendarDo RailwayExamCalendarDo RailwayExamCalendarDo

सर्दियों में इन 5 तरीकों से करेंगे हल्दी का सेवन, तो नहीं पड़ेंगे बीमार!हल्दी सामान्य सर्दी साइनस दर्दनाक जोड़ों और अपच को ठीक करने में मदद करती है। यह गले में ख़राश और बैक्टीरियल संक्रमण से भी राहत देती है जो सर्दियों के दौरान आम है। आप भी अपनी रोज़ाना की डाइट में हल्दी को शामिल कर सकते हैं।

ओमिक्रॉन का बढ़ रहा कहर, जानिए क्यों एक्सपर्ट दे रहे हैं विदेश यात्राओं से बचने की सलाह Omicron variant: WHO के विशेषज्ञों को भी विदेश यात्रा की वजह से पैदा होने वाली चुनौतियों का आकलन है, लेकिन विदेश यात्रा पर अंकुश की वजह से होने वाले आर्थिक नुकसान को देखते हुए WHO विदेश यात्राओं पर कुछ भी स्पष्ट कहने से बच रहा है. RailwayExamCalendarDo

MP में ओमिक्रॉन का अलर्ट!: प्रदेश के बॉर्डर से लगे गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान पहुंचा नया वैरिएंट; इनसे सटे 20 जिलों में सख्ती बढ़ाईमध्यप्रदेश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का खतरा बढ़ गया है। प्रदेश के बॉर्डर से लगे तीन राज्यों गुजरात, महाराष्ट्र और राजस्थान में ओमिक्रॉन पहुंच गया है। इसे लेकर मध्यप्रदेश सरकार भी अलर्ट हो गई है। सरकार ने पड़ोसी राज्यों की सीमा से लगे जिलों में जांच और निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही, इन राज्यों से होकर आने वाली ट्रेनों के यात्रियों की कोरोना जांच अनिवार्य रूप से करने के लिए कहा है। | Madhya pradesh bhopal Omicron alert in MP too! New variant arrived in Gujarat, Maharashtra, Rajasthan bordering the state;