'ईरान के भूमिगत परमाणु केंद्र को 'आतंकी गतिविधि' से नुक़सान' - BBC News हिंदी

'ईरान के भूमिगत परमाणु केंद्र को 'आतंकी गतिविधि' से नुक़सान'

11-04-2021 21:00:00

'ईरान के भूमिगत परमाणु केंद्र को 'आतंकी गतिविधि' से नुक़सान'

पिछले साल ईरान के इसी भूमिगत परमाणु केंद्र में आग लग गई थी. ईरानी अधिकारियों ने इसे साइबर हमले का नतीजा बताया था.

शनिवार को ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने नेतंज़ केंद्र पर यूरेनियम का और अधिक तेज़ी से संवर्धन करने वाले सेंट्रीफ्यूज़ का उद्घाटन किया था.यह सेंट्रीफ़्यूज़ ईरान के परमाणु संवर्धन कार्यक्रम के लिए बेहद अहम है और इसके उद्घाटन का प्रसारण लाइव टीवी पर किया गया था.

असम चुनावः कैसे एक बूढ़ी मां ने जेल में बंद अपने बेटे को जीत दिलाई? - BBC News हिंदी देश को पूर्ण लॉकडाउन की ओर धकेला जा रहा है: राहुल गांधी - BBC Hindi सीताराम येचुरी ने पीएम मोदी से पूछा- लोग मर रहे हैं, लेकिन नई संसद का निर्माण क्यों जारी है - BBC Hindi

इस पहल से ईरान ने 2015 के समझौते की एक शर्त को तोड़े जाने का संकेत दिया. इस परमाणु समझौते के मुताबिक़ ईरान संवर्धित यूरेनियम की एक सीमित मात्रा का ही उत्पादन कर सकता है और सीमित मात्रा में ही इसे स्टोर कर सकता है.इसके अलावा, समझौते के अनुसार संवर्धित यूरेनियम का इस्तेमाल कमर्शियल परमाणु संयंत्रों के लिए ही होना चाहिए.

और पढो: BBC News Hindi »

महासंकट में भारतीय सेना का कमिटमेंट, क्या Corona की त्रासदी से बचाएगी सेना? देखें खबरदार

देश पर महासंकट के बीच कुछ राहत की खबर ये है कि दिल्ली, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ जैसे कुछ राज्यों में रोजाना के केस कुछ कम हुए हैं. हालांकि ये बात भी सच है कि जहां 18 से 19 लाख टेस्ट रोज हो रहे थे, वहां रविवार को सिर्फ 15 लाख टेस्ट हुए. अब भी बहुत बड़ी चुनौती इसलिए है, क्योंकि 12 राज्य ऐसे हैं, जहां एक्टिव केस 1 लाख से भी ज्यादा हैं. इस चुनौती के साथ बड़ा सवाल ये है कि देश का आक्सीजन संकट कब खत्म होगा. खासतौर पर दिल्ली में जो हाहाकार मचा है. उसमें हर कोशिश नाकाम क्यों हो रही हैं. आज भी कई अस्पतालों से ऑक्सीजन के लिए इमरजेंसी मैसेज आए. हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से सेना की मदद लेने को कहा था. दिल्ली सरकार ने रक्षा मंत्रालय को चिट्ठी लिखी है. जिसमें ऑक्सीजन सप्लाई के लिए सेना के संसाधन लगाने और बेड्स के लिए अस्थाई अस्पताल बनाने की मांग है. दिल्ली सरकार की मांग पर रक्षा मंत्रालय विचार कर रहा है. सेना अपनी पूरी ताकत से कैसे दिल्ली और देश की मदद कर सकती है. सेना की तैयारी क्या है? वहीं आज सरकार ने कोरोना जांच के लिए सीटी स्कैन पर लोगों को आगाह किया है. देखें खबरदार.

ArvindKejriwal आदरणीय सीएम सर, आज ऑफिस में अकेले बैठ था और कुछ लोग आए और 2000/- का चालान काटा गए। या सही है क्या। ? बोला रहे थे target है कौन सा traget दिया है। अपने msisodia आखिरकार ये आतंकवादी आते कहां से हैं। Sir why are you not applying odd and even rule in school ..... and please open them up with 5 square feet sitting area as a compulsion for every child...... online education is not a solution......if the things remains the same then it will become more bigger problem.....🙏

इजराइल ने फिर से ली, न कहके International solidarity needs at warfoot level. Pakistan's nuclear weapons needed to get fused. Israel hum zinda he