#LadengeCoronaSe: 21 दिन के लिए ही लॉकडाउन क्यों?, जानिए इसके पीछे का वैज्ञानिक तर्क

Ladengecoronase, Indiafightscorona, Covıd 19, Lockdown 21, 21 Days Lockdown, Why 21 Days Lockdown, Lockdown Meaning, Lockdown Delhi, Lockdown İndia, Lock Down Meaning, Lockdown Meaning İn Hindi, Lockdown İn İndia Due To Corona, Lockdown İn İndia For 21 Days, Lockdown İn İndia, Lockdown İn Delhi, Lockdown İn İndia Rules, İndia Lockdown, İndia Lockdown Essential Services, İndia Lockdown Date, İndia Lockdown Coronavirus, Haarga Corona Jeetega İndia, Coronavirus İndia, Corona Symptoms, Coronavirus Treatment, Corona Outbreak İn İndia, Corona Special News, Ladengecoronase, Corona Ko Harana Hai, कोरोना को हराना है

#LadengeCoronaSe: 21 दिन के लिए ही लॉकडाउन क्यों?, जानिए इसके पीछे का वैज्ञानिक तर्क #IndiaFightsCorona #COVID19 #Lockdown21

Ladengecoronase, Indiafightscorona

3/26/2020

LadengeCoronaSe: 21 दिन के लिए ही लॉकडाउन क्यों?, जानिए इसके पीछे का वैज्ञानिक तर्क IndiaFightsCorona COVID19 Lockdown21

कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को देशभर में लॉकडाउन का एलान कर दिया

Updated Thu, 26 Mar 2020 10:31 AM IST विज्ञापन भारत में लॉकडाउन - फोटो : PTI ख़बर सुनें ख़बर सुनें कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को देशभर में 21 दिनों के लॉकडाउन का एलान किया। यह लॉकडाउन 14 अप्रैल तक जारी रहेगा। पीएम मोदी ने कहा है कि इसे एक तरह का कर्फ्यू ही समझें। हालांकि इतने लंबे लॉकडाउन से आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। राशन, सब्जी, दूध, पेट्रोल पंप, बैंक मेडिकल स्टोर जैसी तमाम जरूरी सेवाएं आपको मिलती रहेंगी। लॉकडाउन की घोषणा के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर आने वाले 21 दिन हम घर में नहीं रहेंगे तो हमारा देश 21 साल पीछे चला जाएगा। उन्होंने कहा कुछ लोग गलतफहमी में हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग केवल मरीज के लिए है। सोशल डिस्टेंसिंग हर नागरिक, हर परिवार के लिए है। 21 दिन के लॉकडाउन पर सबसे पहले आपके दिमाग में यह सवाल उठ रहा होगा कि ये सिर्फ 21 दिन का ही क्यों? 14 दिन या पूरा एक महीना क्यों नहीं? 21 दिन के लॉकडाउन से हम क्या हासिल कर सकते हैं? तो इसके पीछे भी वैज्ञानिकों का तर्क है। कोरोना के चरित्र को देखते हुए डॉक्टरों और एक्सपर्ट की सलाह पर 21 दिन लॉकडाउन रखने का फैसला लिया गया है। कोरोना वायरस 14 दिन तक सक्रिय रहता है, मरीज में लक्षण 7 दिन में दिखने लगते है। 14 दिन (7 अप्रैल) तक पता चल जाएगा कि कौन बीमार है। जो बीमार है वो घर में ही रहा है तो अगले 7 दिन (14 अप्रैल) तक उनके परिवार के लक्षण भी दिख जाएंगे। यानि अगले 7 दिन आप फिर घर में रहे तो इस वायरस से संक्रमित होने का खतरा कम हो जाता है। कोरोना वायरस (Covid-19) को रोकने के लिए लॉकडाउन सबसे कारगर तरीका है। दुनिया के तमाम देशों ने इसे बहुत पहले ही लागू कर दिया था। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, इस महामारी से संक्रमित एक व्यक्ति सिर्फ हफ्ते 10 दिन में सैकड़ों लोगों तक इसे पहुंचा सकता है। यह इतनी तेजी से फैलता है इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या को 1 लाख होने में 67 दिन लगे थे। उसके बाद 2 लाख लोगों तक पहुंचने में सिर्फ 11 दिन लगे। आप खुद ही इसका अंदाजा लगा सकते हैं कि इसकी रफ्तार कितनी तेज होगी। क्या होता है लॉकडाउन? लॉकडाउन का अर्थ है लोगों को घरों से निकलने पर पाबंदी। लॉकडाउन किसी आपदा के वक्त सरकारी तौर पर लागू की जाती है। जिस इलाके को लॉकडाउन किया जाता है उस इलाके के लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती है। व्यक्ति केवल जरूरत के समानों के लिए ही बाहर जा सकता है यानी आप अनावश्यक कार्य के लिए सड़कों पर नहीं निकल सकते। अगर आपको लॉकडाउन की वजह से किसी तरह की परेशानी हो रही हो तो आप संबंधित पुलिस थाने, जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक अथवा अन्य उच्च अधिकारी को फोन कर सकते हैं। इसे लेकर सभी राज्यों ने हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिए हैं। मौजूदा वक्त में हेल्थ इमरजेंसी के तहत देश के तमाम हिस्सों में लॉकडाउन लगाया गया है। कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को देशभर में 21 दिनों के लॉकडाउन का एलान किया। यह लॉकडाउन 14 अप्रैल तक जारी रहेगा। पीएम मोदी ने कहा है कि इसे एक तरह का कर्फ्यू ही समझें। हालांकि इतने लंबे लॉकडाउन से आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। राशन, सब्जी, दूध, पेट्रोल पंप, बैंक मेडिकल स्टोर जैसी तमाम जरूरी सेवाएं आपको मिलती रहेंगी। लॉकडाउन की घोषणा के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर आने वाले 21 दिन हम घर में नहीं रहेंगे तो हमारा देश 21 साल पीछे चला जाएगा। उन्होंने कहा कुछ लोग गलतफहमी में हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग केवल मरीज के लिए है। सोशल डिस्टेंसिंग हर नागरिक, हर परिवार के लिए है। विज्ञापन भारत में लॉकडाउन - फोटो : self 21 दिन के लॉकडाउन पर सबसे पहले आपके दिमाग में यह सवाल उठ रहा होगा कि ये सिर्फ 21 दिन का ही क्यों? 14 दिन या पूरा एक महीना क्यों नहीं? 21 दिन के लॉकडाउन से हम क्या हासिल कर सकते हैं? तो इसके पीछे भी वैज्ञानिकों का तर्क है। कोरोना के चरित्र को देखते हुए डॉक्टरों और एक्सपर्ट की सलाह पर 21 दिन लॉकडाउन रखने का फैसला लिया गया है। कोरोना वायरस 14 दिन तक सक्रिय रहता है, मरीज में लक्षण 7 दिन में दिखने लगते है। 14 दिन (7 अप्रैल) तक पता चल जाएगा कि कौन बीमार है। जो बीमार है वो घर में ही रहा है तो अगले 7 दिन (14 अप्रैल) तक उनके परिवार के लक्षण भी दिख जाएंगे। यानि अगले 7 दिन आप फिर घर में रहे तो इस वायरस से संक्रमित होने का खतरा कम हो जाता है। दुनिया में कोरोना वायरस - फोटो : पीटीआई कोरोना वायरस (Covid-19) को रोकने के लिए लॉकडाउन सबसे कारगर तरीका है। दुनिया के तमाम देशों ने इसे बहुत पहले ही लागू कर दिया था। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, इस महामारी से संक्रमित एक व्यक्ति सिर्फ हफ्ते 10 दिन में सैकड़ों लोगों तक इसे पहुंचा सकता है। यह इतनी तेजी से फैलता है इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या को 1 लाख होने में 67 दिन लगे थे। उसके बाद 2 लाख लोगों तक पहुंचने में सिर्फ 11 दिन लगे। आप खुद ही इसका अंदाजा लगा सकते हैं कि इसकी रफ्तार कितनी तेज होगी। lockdown क्या होता है लॉकडाउन? लॉकडाउन का अर्थ है लोगों को घरों से निकलने पर पाबंदी। लॉकडाउन किसी आपदा के वक्त सरकारी तौर पर लागू की जाती है। जिस इलाके को लॉकडाउन किया जाता है उस इलाके के लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती है। व्यक्ति केवल जरूरत के समानों के लिए ही बाहर जा सकता है यानी आप अनावश्यक कार्य के लिए सड़कों पर नहीं निकल सकते। अगर आपको लॉकडाउन की वजह से किसी तरह की परेशानी हो रही हो तो आप संबंधित पुलिस थाने, जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक अथवा अन्य उच्च अधिकारी को फोन कर सकते हैं। इसे लेकर सभी राज्यों ने हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिए हैं। मौजूदा वक्त में हेल्थ इमरजेंसी के तहत देश के तमाम हिस्सों में लॉकडाउन लगाया गया है। विज्ञापन और पढो: Amar Ujala

गाजियाबाद: आइसोलेशन वार्ड में बिना पैंट घूम रहे तबलीगी जमात के मरीज, DM-SSP से शिकायत



केजरीवाल का ऐलान- पब्लिक सर्विस वाहन चलाने वालों को मिलेंगे 5 हजार रुपये

10 तक: जिंदगी बचाने वालों पर हमला, मुश्किल हुई कोरोना की जंग



कोरोना की जांच टीम में शामिल महिला डॉक्टरों और टीम पर हमला करने वालों पर रासुका के तहत कार्रवाई करेगी सरकार

तबलीगी जमात पर गृह मंत्रालय का एक्शन, 960 विदेशी नागरिक ब्लैक लिस्ट, वीजा रद्द



डॉक्टरों पर हमला: सुबुही खान का फूटा गुस्सा, पूछा- बाकी मुसलमान चुप क्यों?

2011 में दूसरी बार क्रिकेट वर्ल्ड कप जीतने कहानी



सरकार ने 21 दिन का भारत लॉक डाउन का फैसला नोटबांधि की तरह आधी अधूरी तैयारी से लिया गया है अब पढ़ा लिखा प्रधान मंत्री चुनना, 21 दिन का इंटरनेट फ्री करो, 15 लाख तो दिए नहीं अब कोरोना के नाम पे 5 हज़ार खाते में भिजवाओ, मास्क और सैनिटाइज़र बटवाओ बेघर लोगो का भोजन का प्रबंध करे

कोरोनावायरस: PM मोदी के लॉकडाउन के ऐलान के बाद NPR और जनगणना का काम स्थगितगृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए एनपीआर और जनगणना का कार्य अगले आदेश तक के लिए रोक दिया गया है. Allah is best planner 👌👍 वो एक इंच पीछे नही हटेंगे का क्या हुआ! यही सही समय है कर डालो NPR

कोरोना के खात्मे के लिए भारत में 21 दिन का लॉकडाउनकोरोना वायरस के संपूर्ण नाश के लिए पीएम मोदी ने आज एक बेहद बड़ा और निर्णनायक कदम उठाया है. पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है जो एक तरह का कर्फ्यू ही होगा. और ये लॉकडाउन पूरे 21 दिन तक चलेगा. देखें ये रिपोर्ट. chitraaum मेरी मदद करो मालिक chitraaum पूरे भारत में लोकडाउन का पालन हो रहा होगा। हम्हे नहीं मालूम हैं, किन्तु इंदिरापुरम शक्ती खंड चार में लोकडाउन का पालन नहीं हो रहा हैं। क्योंकि यहाँ गृह कार्य करने बाली सेविकाएं घरो घरो में घूम घूम कर काम कर रही हैं। गाजिआबाद प्रशाशन को इस पर कठोर कार्यवाही करनी चाहिए। chitraaum Rght

Xiaomi Mi 10 के लिए करना होगा और इंतज़ार, कोरोनावायरस लॉकडाउन के कारण टला लॉन्च इवेंटXiaomi Mi 10 के भारत लॉन्च के स्थगित होने के साथ-साथ सब-ब्रांड Redmi ने Note 9 Pro Max की पहली फ्लैश सेल को भी स्थगित कर दिया है। Dekh kar China ka mal h

WHO ने भारत के लॉकडाउन के लिए बजाई ताली, बताया- देश में कैसे रुकेगा कोरोनाविश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस के खात्मे पर भारत के कदम की सराहना की है, साथ ही यह भी कहा कि व्यवस्थित तरीके से इस पर काम करना चाहिए. भारत को पोलियो की तरह खात्मे को लेकर रणनीति बनानी चाहिए. BouraVicky All shops forcefully closed by Police Force at 7:15 am in Goa. Grocery, milk, medicine nothing is available. This is clear violation of your idea of lockdown Modiji. I only have one question, what time it will be available so we can purchase it without paying anything to Police. चमचे नहीं मानेंगे

कोरोना वायरस: बिहार के पटना में लॉकडाउन के चलते वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुआ निकाहकोरोना वायरस: बिहार के पटना में लॉकडाउन के चलते वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुआ निकाह CoronaOutbreakIndia coronavirusindia Bihar हलाला की प्रक्रिया कब शुरू होगी 😁 ye log apne fayde wali baat me koibhi had taq ja sakte hai par jisme inko kannon manne ki baat aye to ye apni ashwani kitab ko aage karke uska virodh karye hai ajib doglapan hai makkari ki sab se badi mishal hai ye kom HugeRespectNaMo तो का करे और उसके बाद मौलवी ने किया हलाला और अब्बू और भाई ने खेला यह भी तो लिखो

Lockdown | देवास के किसान परेशान, लॉकडाउन के कारण उपज नहीं ला पा रहे घरदेवास। देवास में रहने वाले कई किसानों की खेती भोपाल और उज्जैन रोड़ पर बसे गांवों में हैं। उक्त गांवों के खेत से वे अपनी फसल को अपने घर नहीं ला पा रहे हैं। किसानों का कहना है कि फसल पक चुकी है जिसकी कटाई करवाना है और उपज को घर लाना है, लेकिन जगह-जगह बेरिकेट लगाकर आने-जाने से रोका जा रहा है जिसके चलते किसान परेशान हैं। किसानों का कहना है कि फसल यदि ज्यादा समय तक खेत में ही पड़ी रहेगी तो नुकसान होने की संभावना है, क्योंकि अभी यह कटाई का समय है।



'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया

दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल

तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की

तबलीगी जमात पर बैन की मांग, यूपी अल्पसंख्यक आयोग का पीएम मोदी को खत

अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया

कोरोना वायरसः ममता बनर्जी ने PM मोदी को लिखा पत्र, मांगा 25000 करोड़ का पैकेज

लॉकडाउन हटने के बाद सबसे पहले क्या करेंगी दीपिका पादुकोण? किया खुलासा

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

26 मार्च 2020, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

कोरोना के खिलाफ जंग में हर चुनौती के लिए तैयार रहें सेनाएं: जनरल रावत

अगली खबर

कोरोना वायरस: हरियाणा के मंत्री का ऐलान- जेल में कैदियों को मिलेगी तीन महीने तक की सजा में माफी
गाजियाबाद: आइसोलेशन वार्ड में बिना पैंट घूम रहे तबलीगी जमात के मरीज, DM-SSP से शिकायत केजरीवाल का ऐलान- पब्लिक सर्विस वाहन चलाने वालों को मिलेंगे 5 हजार रुपये 10 तक: जिंदगी बचाने वालों पर हमला, मुश्किल हुई कोरोना की जंग कोरोना की जांच टीम में शामिल महिला डॉक्टरों और टीम पर हमला करने वालों पर रासुका के तहत कार्रवाई करेगी सरकार तबलीगी जमात पर गृह मंत्रालय का एक्शन, 960 विदेशी नागरिक ब्लैक लिस्ट, वीजा रद्द डॉक्टरों पर हमला: सुबुही खान का फूटा गुस्सा, पूछा- बाकी मुसलमान चुप क्यों? 2011 में दूसरी बार क्रिकेट वर्ल्ड कप जीतने कहानी बैठे-बैठे करना है कुछ काम, देखें आजतक अंताक्षरी कोरोना: ऑस्‍ट्रेलिया में वैक्‍सीन बनाने में जुटे वैज्ञानिक, परीक्षण शुरू 'रामायण' की वापसी से दूरदर्शन को मिली खुशखबरी, टीआरपी रेटिंग में बनाया ये रिकॉर्ड गौतम गंभीर का बड़ा ऐलान, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में करेंगे इतना दान - Sports AajTak देशभर में फैले जमातियों से बढ़ा खतरा! देखें, कोरोना से जुड़ी 10 बड़ी खबरें
'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की तबलीगी जमात पर बैन की मांग, यूपी अल्पसंख्यक आयोग का पीएम मोदी को खत अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया कोरोना वायरसः ममता बनर्जी ने PM मोदी को लिखा पत्र, मांगा 25000 करोड़ का पैकेज लॉकडाउन हटने के बाद सबसे पहले क्या करेंगी दीपिका पादुकोण? किया खुलासा डीएम के बाद नोएडा के CMO अनुराग भार्गव पर भी गिरी गाज, हुआ तबादला कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली मरकज मामले पर नकवी बोले- ये तालिबानी जुल्म, होनी चाहिए कड़ी कानूनी कार्रवाई सोनिया का PM मोदी को खत, कहा- मनरेगा मजदूरों को मिले 21 दिन की एडवांस मजदूरी जानें, कौन हैं मौलाना साद, जिनकी एक गलती से पूरे देश में फैला कोरोना!