फर्रुखाबाद, बौद्धतीर्थस्थल, Farrukhabad, Buddhistpilgrimage

फर्रुखाबाद, बौद्धतीर्थस्थल

फ़र्रूख़ाबाद में बौद्ध तीर्थ क्षेत्र के मंदिर से झंडा उतारने पर विवाद, तोड़फोड़ के बाद तनाव

यूपी: फ़र्रूख़ाबाद में अराजक तत्वों ने बौद्ध तीर्थ क्षेत्र के मंदिर से झंडा उतारा, तोड़फोड़ के बाद तनाव #फर्रुखाबाद #बौद्धतीर्थस्थल #Farrukhabad #BuddhistPilgrimage

21-10-2021 03:30:00

यूपी: फ़र्रूख़ाबाद में अराजक तत्वों ने बौद्ध तीर्थ क्षेत्र के मंदिर से झंडा उतारा, तोड़फोड़ के बाद तनाव फर्रुखाबाद बौद्धतीर्थस्थल Farrukhabad BuddhistPilgrimage

उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले का मामला. बुधवार दोपहर धम्म यात्रा के दौरान बौद्ध अनुयायियों में शामिल कुछ अराजक तत्व संकिसा बौद्ध तीर्थ क्षेत्र में विवादित टीले पर स्थित बिसारी देवी मंदिर पर चढ़े और वहां लगा भगवा झंडा नीचे फेंककर उस पर पंचशील ध्वज लगा दिया.

उत्तर प्रदेश के फ़र्रूख़ाबाद ज़िले का मामला. ज़िले के संकिसा स्थित धार्मिक स्थल के संबंध में बौद्ध अनुयायियों का दावा है कि यह बौद्ध स्तूप है और यहीं भगवान बुद्ध का स्वर्गावतरण हुआ था. वहीं, सनातनधर्मियों का दावा है कि धार्मिक स्थल पर मां बिसारी देवी का प्राचीन मंदिर है. यहां भगवान हनुमान की प्रतिमा स्थापित है. लिहाज़ा यह सनातनधर्मियों की जगह है.

Omicron की महाराष्ट्र के बाद राजस्थान में दहशत, 9 नए केस के साथ देश में हुए कुल 21 संक्रमित महाराष्‍ट्र में ओमिक्रॉन के 7 नए मामले आए सामने, भारत में अब तक कुल 12 मरीज दिल्‍ली में कोरोना के मामलों में दर्ज की गई तेजी, पिछले 24 घंटे में सामने आए 63 नए मरीज

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)फर्रुखाबादःउत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले में बुधवार को संकिसा बौद्ध तीर्थ क्षेत्र स्थित विवादित स्थल पर बौद्ध धर्मावलंबियों की भीड़ में शामिल कुछ अराजक तत्वों द्वारा भगवा झंडा उतारकर पंचशील ध्वज फहराए जाने को लेकर दोनों पक्षों के बीच पथराव होने से क्षेत्र में स्थिति तनावपूर्ण हो गई है.

यह घटना संकिसा में दो दिवसीय बौद्ध महोत्सव के दौरान हुई.पुलिस सूत्रों ने बताया कि दोपहर धम्म यात्रा के दौरान बौद्ध अनुयायियों में शामिल कुछ अराजक तत्व संकिसा बौद्ध तीर्थ क्षेत्र में विवादित टीले पर स्थित बिसारी देवी मंदिर पर चढ़े और वहां लगा भगवा झंडा नीचे फेंककर उस पर पंचशील ध्वज लगा दिया. headtopics.com

उन्होंने बताया कि घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे सनातन धर्मियों और बौद्ध धर्मियों के बीच पथराव हुआ, जिसमें कई लोग घायल हो गए, जिसके बाद सनातन धर्मियों ने मुख्य मार्ग जाम कर दिया.सूत्रों ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह और पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंचे और आक्रोशित सनातन धर्मियों को शांत करवाकर सड़क खुलवाया.

उन्होंने बताया कि स्थिति अब नियंत्रण में है.जिलाधिकारी के निर्देश पर उपजिलाधकारी (सदर) अनिल कुमार ने लिखित आश्वासन दिया कि बिसारी देवी मंदिर में हुई तोड़फोड़ को सही कराकर उसे पुरानी स्थिति में लौटाया जाएगा.संकिसा स्थित धार्मिक स्थल के संबंध में बौद्ध अनुयायियों का दावा है कि यह बौद्ध स्तूप है और यहीं भगवान बुद्ध का स्वर्गावतरण हुआ था.

वहीं, सनातनधर्मियों का दावा है कि धार्मिक स्थल पर मां बिसारी देवी का प्राचीन मंदिर है. यहां भगवान हनुमान की प्रतिमा स्थापित है. लिहाजा यह सनातनधर्मियों की जगह है.इस धार्मिक स्थल पर दावे को लेकर करीब 40 साल से बौद्ध और सनातन धर्मावलम्बियों के बीच अदालत में मुकदमा चल रहा है.

और पढो: द वायर हिंदी »

इतिहास में पहली बार ट्रेन से चला प्याज: 220 टन लाल प्याज किसान व्यापारियों ने सीधे असम भेजा, 1836km का सफर करेगा

राजस्थान के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब यहां होने वाली प्याज को ट्रेन से किसी दूसरे राज्य में भेजा गया है। पहली बार अलवर की प्याज रेल से असम भेजा गया है। पूरे प्रदेश में इससे पहले कभी भी प्याज को मालगाड़ी से ट्रांसपोर्ट नहीं किया गया। किसान रेल के जरिए किसानों की उपज को भेजने की उत्तर पश्चिम रेलवे ने यह शुरुआत की है। | उत्तर पश्चिम रेलवे के क्षेत्र में किसान रेल की अलवर से शुरूआत, 220 टन प्याज अलवर से असम भेजी

Ab bhodist v सब जानते हैं कि आज के विश्व के चौथे‌ सबसे बड़े बौद्ध धर्म को उसकी जन्म स्थली/कर्मस्थली से समाप्त करने वाले‌ धूर्त पोंगापाखंडी ही थे‌,जिन्होंने बौद्ध मठों पर कब्जा कर उनको मंदिरो‌ पर बदल‌ दिया? meghnad141120 RamdasAthawale Profdilipmandal. WamanCMeshram हमारी sencitivity high हो चुकी है।

पीएम चादर चढ़ाता है इसके दंगाई भक्त दुसरे धर्मों के धार्मिक स्थल पर दंगा, तोड़ फोड़ करते फिरते हैं। इसका चादर चढ़ाना जरूरी नहीं है इसका अपनें अंड भक्तों को रोकना ज्यादा जरूरी है। 🏹🏹🏹 RedicalHindutva HateCrime hindutvafascism

बड़े लोगों पर कीचड़ उछालने में सबको मजा आता है...आर्यन के समर्थन में जावेद अख्‍तरमुंबई के जुहू स्थित एक बुक स्टोर में 'चेंजमेंकर्स' नाम की किताब के लॉन्‍च के मौके पर जावेद अख्‍तर (Javed Akhtar) ने शाहरुख और आर्यन का नाम लिए बिना उनका समर्थन किया। उन्‍होंने कहा कि जांच के नाम पर बॉलिवुड और इंडस्ट्री के बड़े-बड़े सिलेब्रिटीज को निशाना बनाया जा रहा है। इंसान बड़ा अपने कर्मों से और अपनी सोच से होता है, यही दल्ला जब बंगला तोड़ा गया कंगना का तब दल्ला कोनसा बिल में छुपा बैठा था तब कियू नही मुंह खोला Javedakhtarjadu इन जैसे लोग अब भी देश को राह दिखाएंगे

भारतीय सबमरीन के झूठ पर पाकिस्‍तान के जहरीले बोल- बताया क्षेत्र में शांति का 'दुश्‍मन'Pakistan NSA On Indian Submarine: पाकिस्‍तानी नौसेना के भारतीय पनडुब्‍बी को रोकने के दावे की पोल खुलने के बाद भी पाकिस्‍तानी दुष्‍प्रचार करने में लगे हुए हैं। अब आतंकियों का पालने वाले पाकिस्‍तान के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोइद युसूफ ने भारत को शांति का दुश्‍मन करार दे दिया है।

Aryan Khan की जमानत के लिए मजारों-दरगाह पर दुआओं का दौर, जमानत पर फैसला आजड्रग्स केस में आर्य़न खान की बेल को लेकर कोर्ट आज अपना फैसला सुना सकता है. आर्यन की बेल पर कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था. आर्यन खान की बेल को लेकर मजार- दरगाह पर दुआएं मांगी जा रही हैं. आर्यन के बहाने महाराष्ट्र सरकार को घेरने वाली बीजेपी ने बेल को मुलभूत अधिकार बताया है तो बेल से पहले एक नए खुलासे से हडकंप मच गया है. इस सबूत में आर्यन की एक अभिनेत्री और कुछ ड्रग पेडलर से चैट है. आज कोर्ट 3 में से एक विकल्प चुन सकता है. आर्यन को बेल मिल सकती है या फिर फैसला तैयार ना होने की स्थिति में सुनवाई की नई तारीख मिल सकती है. अगर ऐसा हुआ तो आर्यन जेल में ही रहेंगे. आर्यन की जमानत याचिका खारिज होने की स्थिति में उनके वकील बॉम्बे हाईकोर्ट का रुख सकते हैं. इस सूरत में भी आर्यन को जेल में ही रहना होगा. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो. पहले ड्रग लो, खरीदो बेचो और बाद मे मजारों पर चादर चढ़ाओ? 😜

जनसंख्या नियंत्रण के प्रभावी उपायों पर जोर, सभी पहलुओं पर दिया जाए ध्यानभारत की भौगोलिक आर्थिक एवं सामाजिक स्थितियों को जनसंख्या वृद्धि दर के चश्मे से देखते हुए और अन्य विकसित देशों के तुलनात्मक अध्ययन करने का सही समय आ चुका है लेकिन कानून लाने से पहले देश को इसके लिए तैयार करना आवश्यक है।

अफगानिस्तान में अमेरिकी राजदूत का इस्तीफा, तालिबान के मुद्दे पर सवालों का कर रहे थे सामनाअफगानिस्तान के राजदूत रहते हुए खालिलजाद ने तालिबान नेताओं के साथ अच्छे रिश्ते कायम किए और दोनों पक्षों के बीच वार्ता में वो अहम किरदार थे. All Dear RT Please.. CBI_enquiry_for_LakhbirSingh CBI_enquiry_for_LakhbirSingh CBI_enquiry_for_LakhbirSingh CBI_enquiry_for_LakhbirSingh CBI_enquiry_for_LakhbirSingh CBI_enquiry_for_LakhbirSingh CBI_enquiry_for_LakhbirSingh CBI_enquiry_for_LakhbirSingh

जम्मू में सेना प्रमुख नरवणे, बड़े सैन्य ऑपरेशन के बीच फॉरवर्ड पोस्ट पर भी जाएंगेजम्मू में आर्मी चीफ एमएम नरवणे सुरक्षा मुद्दों से जुड़ी कई अहम बैठकों में भी हिस्सा लेंगे. इस दौरान ‘व्हाइट नाइट कोर’ के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी) उन्हें सुरक्षा स्थिति और अभियानगत तैयारियों के बारे में जानकारी देंगे.