Governmentscheme, Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana, Bindki Branch Manager Ashish Tiwari, Gyanvati, प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा, बिंदकी के शाखा प्रबंधक आशीष तिवारी, ज्ञानवती

Governmentscheme, Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana

हादसे के बाद छूटी 1500 रुपये की नौकरी, अब सरकारी योजना से कमा रहीं 12,000 रुपये

हादसे के बाद छूटी 1500 रुपये की नौकरी, अब सरकारी योजना से कमा रहीं 12,000 रुपये #governmentscheme

19.11.2019

हादसे के बाद छूटी 1500 रुपये की नौकरी, अब सरकारी योजना से कमा रहीं 12,000 रुपये governmentscheme

प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा के लिए बैंक गई थी महिला प्रबंधक ने दिखाई आत्मनिर्भरता की राह चार बच्चों संग समाज में सम्मान से जी रही ज्ञानवती

गोविंद दुबे, फतेहपुर। एक सार्थक पहल से किसी जरूरतमंद की जिंदगी कैसे संवर जाती है, ज्ञानवती से पूछिए। दुर्घटना में हाथ टूटने और स्कूल से रसोइया की नौकरी छूटने के बाद वह प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा योजना के लाभ की उम्मीद लिए बैंक गईं तो वहां निराशा हाथ लगी, लेकिन उसके पीड़ा भरे शब्दों ने बैंक प्रबंधक के दायित्वबोध को जगा दिया। फतेहपुर क्षेत्र में बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक, बिंदकी के शाखा प्रबंधक आशीष तिवारी नियमों में बंधे होने के कारण ज्ञानवती को बीमा का लाभ तो नहीं दिला पाए, लेकिन डेयरी लोन और क्रेडिट कार्ड दिलाकर स्वावलंबन और आत्म निर्भरता की राह दिखा दी। भरण- पोषण की जिम्मेदारी ज्ञानवती पर आन पड़ी आज ज्ञानवती दूध के कारोबार और खेती के बल पर समाज में सम्मान के साथ गुजर-बसर कर रही हैं और बच्चों को पढ़ा पा रही हैं। मुसीबतों ने तो मानो बिंदकी तहसील के अमेना गांव निवासी 45 वर्षीय ज्ञानवती का पता ही ढूंढ़ लिया था। छह साल पहले पति संतोष विश्वकर्मा की मौत हो गई। वह लकड़ी कारीगर थे। अब चार बच्चों कोमल, आंचल, अभिलाषा और बबलू के भरण- पोषण की जिम्मेदारी ज्ञानवती पर आन पड़ी। बच्चों का पेट भरने के लिए प्राइमरी स्कूल में 1500 रुपये महीने पर रसोइया की नौकरी की, लेकिन दुर्घटना में हाथ टूटने के बाद काम छूट गया। 1500 रुपये प्रतिमाह की नौकरी भी चली गई हताश ज्ञानवती ने बैंक जाकर कहा कि साहब! मैं प्राइमरी स्कूल में रसोइया थी, एक दुर्घटना में मेरे हाथ की हड्डी टूटकर बाहर निकल आई थी। सदर अस्पताल में इलाज और लंबी परेशानी झेलने के बाद अब बैंक आने लायक हुईं हूं। 1500 रुपये प्रतिमाह की नौकरी भी चली गई, बच्चों को कैसे पढ़ाएं और खिलाएं। अपने खाते से प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा करवाया था, जिसमें 12 रुपये सालाना कटते हैं। बीमा योजना का लाभ दिला दें तो परिवार दुआ देगा...। स्थाई अपंगता पर ही मिलता है लाभ बैंक शाखा प्रबंधक ने तहकीकात के बाद भारी मन से कहा कि बीमा में मानक के अनुसार दुर्घटना में मृत्यु या स्थाई अपंगता पर ही लाभ मिलता है, लेकिन उन्होंने ठान लिया कि ज्ञानवती की मदद करेंगे और रोजगार जरूर दिलाएंगे। उन्होंने ज्ञानवती को नाबार्ड की डेयरी अनुदान योजना से 1.40 लाख रुपये का ऋण स्वीकृत कराया। इसमें 35 हजार रुपये अनुदान मिलेगा और 1.05 लाख रुपये ही लौटाने होंगे। वह हिचकिचाईं, लेकिन शाखा प्रबंधक के समझाने पर मान गईं। महज एक सप्ताह में औपचारिकता पूरी कराने के बाद पहली किस्त में मिले 70 हजार रुपये से बैंक शाखा प्रबंधक ने ही भैंस खरीदवाई। अब ज्ञानवती 400 रुपये का दूध रोजाना बेचती हैं, जिससे करीब 200 रुपये का लाभ हो जाता है। इससे गृहस्थी की गाड़ी आराम से चल रही है। बैंक प्रबंधक की पहल से डेढ़ बीघा खेत का एक लाख रुपये का क्रेडिट कार्ड भी बन गया है। एक वर्ष बाद दूसरी भैंस खरीदने के लिए धन मिल जाएगा। खूब पढ़ाऊंगी बच्चों को, पूरे करूंगी अरमान आत्मनिर्भर हुईं ज्ञानवती बैंक प्रबंधक को दुआ देते नहीं थकती हैं। कहती हैं कि हमारी जिंदगी में तो अंधेरा छाया था। लग रहा था कि चार बच्चों को कैसे पालेंगे, लेकिन मैनेजर साहब भगवान बन गए। अब बेटे-बेटियों की खूब पढ़ाऊंगी और उनके अरमान पूरे करूंगी। मिली आत्मसंतुष्टि बैंक शाखा प्रबंधक आशीष तिवारी कहते हैं कि आत्मसंतुष्टि तब मिली, जब ज्ञानवती ने अपनी भैंस के दूध से बने पेड़े मुझे और पूरे स्टाफ को खिलाए। मैंने तो अपना फर्ज निभाया था, महिला और बच्चों की जिंदगी संवर गई तो इससे ज्यादा सुखद और क्या हो सकता है। Posted By: और पढो: Dainik jagran

हम 15 करोड़ मुस्लिम 100 करोड़ के ऊपर भारी हैं: AIMIM नेता का भड़काऊ बयान



अस्पतालों में वार्ड मास्टर की नौकरी के लिए डॉक्टर, इंजीनियर भी लाइन में!

ट्रंप के लिए यमुना में छोड़ा गया पानी ताकि साफ़ दिखे



वारिस पठान का भड़काऊ बयान, कहा- हम 15 करोड़ 'मुस्लिम' 100 करोड़ लोगों पर भारी

वो युद्ध जो संतरों से लड़ा जाता है



राष्ट्रपति मैक्रों ने विदेशी इमामों के फ्रांस आने पर लगाया बैन, कहा- ये कट्टरपंथ फैलाते हैं

नागौर केस: पायलट का गहलोत पर निशाना, कहा- आत्म चिंतन करना होगा



इस केस माए शाखा प्रबंधक आशीष तिवारी को बहुत धन्यवाद के उन्होंने अपने हित की ना सोच कर इस महिला को समर्थ किया अपना विवेक उपयोग कर और अपनी ताकत को सही दिशा में लगाया ,काश सब ऐसे है काम करे और सोचे तो समाज की क्या तस्वीर होगी उसकी शायद कल्पना भी ना कर सके,क्यूंकि कम लोग ऐसा करते है

कंधे की चोट के कारण पाकिस्तान के खिलाफ डेविस कप मुकाबले से हटे रोहन बोपन्नारोहन बोपन्ना (Rohan Bopanna) कंधे में चोट की वजह से बाहर, डेविस कप टीम में बाएं हाथ के नेदुंचेझियान झामिल | sports News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

साक्षात्कार : अधूरी परियोजनाओं के लिए पर्याप्त होगी 25 हजार करोड़ रुपये की मददसुस्ती में फंसे रियल एस्टेट क्षेत्र को उबारने के लिए सरकार ने बीते छह नवंबर को 25,000 करोड़ रुपये के विशेष कोष की घोषणा की

दोस्त बना दुश्मन, सिर्फ दस रुपये के लिए उतार दिया मौत के घाट - Crime images AajTakदोस्ती में लोग एक दूसरे के लिए जान तक दे देते हैं लेकिन उत्तर प्रदेश के मेरठ में महज 10 रुपये के लिए एक दोस्त ने दूसरे दोस्त की bash sirf 10 rupia me are 10 rupia me desh ka bade university jnu sab kuch free miltahe Jab media ne faisla Kar Diya hai ki murder 10 rupees ke liye hi hua hai to ab koi case aur mukadma ladne ki jarurat nahi hai.saara faisla media hi Kar deti hai to desh ki saari court kachehri band Kar Deni chahiye. Sirf 10 k pichey nahi, kuch or hi masla hoga

रायबरेली से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह पार्टी के MLA अंगद सिंह से करेंगी शादीरायबरेली से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह (Aditi Singh) पार्टी के ही एमएलए अंगद सिंह सैनी (Angad Singh) से शादी करने जा रही हैं. Congratulations both of you💐💐 राहुल गांधी से हो रही उसका क्या हुआ फिर दोनों मिलकर अपना पार्लियामेंट बनाएंगे

आर्थिक मंदी से बेहाल म्यूचुअल फंड्स, जनवरी से अक्टूबर के बीच निवेश में 50% की कमीसैमको में म्यूचुअल फंड डिस्ट्रिब्यूशन कारोबार के प्रमुख ओमकेश्वर सिंह ने कहा कि हालांकि प्रति महीने शेयरों में निवेश सकारात्मक रहा है, लेकिन अगर हम ‘सिस्टैमेटिक इनवेस्टमेंट प्लान’ (सिप) प्रवाह को हटा दें, यह प्रवाह नकारात्मक हो जाता है।

विराट कोहली के 'ड्रीम कॉम्बिनेशन' से निकलता है टीम इंडिया की जीत का रास्ताविराट कोहली के 'ड्रीम कॉम्बिनेशन' से निकलता है टीम इंडिया की जीत का रास्ता... पढ़िए Shivendra Kumar Singh का आर्टिकल viratkohli shivendrak imVkohli



नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ चेन्नई में बड़ा प्रदर्शन

भारत ने हमारे साथ बहुत अच्छा सलूक नहीं कियाः ट्रंप

गुजरात में ट्रंप के तीन घंटों पर खर्च होंगे 85 करोड़

अधीर रंजन बोले- क्या ट्रंप कोई भगवान है, जो 70 लाख लोग करेंगे स्वागत

- jnu sedition case probe delhi police writes to delhi government seeking nod for prosecution against kanhaiya kumar - AajTak

शरजील के लैपटॉप में छुपा था दिल्ली ठप करने का प्लान, चार्जशीट का बना आधार

कोई मरने आ रहा है तो ज़िंदा कैसे हो जाएगा: योगी आदित्यनाथ

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

19 नवम्बर 2019, मंगलवार समाचार

पिछली खबर

Article 370 पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू, जम्मू-कश्मीर में लगी पाबंदियों को दी गई है चुनौती

अगली खबर

पैकेज से समस्या सुलझेगी नहीं, छोटे उद्योगों को पुनर्जीवित किए बिना प्रॉपर्टी की मांग में बढ़ोतरी नहीं होगी
हम 15 करोड़ मुस्लिम 100 करोड़ के ऊपर भारी हैं: AIMIM नेता का भड़काऊ बयान अस्पतालों में वार्ड मास्टर की नौकरी के लिए डॉक्टर, इंजीनियर भी लाइन में! ट्रंप के लिए यमुना में छोड़ा गया पानी ताकि साफ़ दिखे वारिस पठान का भड़काऊ बयान, कहा- हम 15 करोड़ 'मुस्लिम' 100 करोड़ लोगों पर भारी वो युद्ध जो संतरों से लड़ा जाता है राष्ट्रपति मैक्रों ने विदेशी इमामों के फ्रांस आने पर लगाया बैन, कहा- ये कट्टरपंथ फैलाते हैं नागौर केस: पायलट का गहलोत पर निशाना, कहा- आत्म चिंतन करना होगा सिंधिया से समर्थकों की अपील- पिता की तर्ज पर कांग्रेस से अलग बनाएं नई पार्टी सेना मुख्यालय साउथ ब्लॉक से शिफ्ट होगा दिल्ली कैंट, राजनाथ करेंगे भूमि पूजन पश्चिम बंगाल के मदरसों में बढ़ रही है हिंदू छात्रों की संख्या, जानिए क्या है कारण अमरीका से MH-60 रोमियो क्यों ख़रीद रहा है भारत? आज तक @aajtak
नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ चेन्नई में बड़ा प्रदर्शन भारत ने हमारे साथ बहुत अच्छा सलूक नहीं कियाः ट्रंप गुजरात में ट्रंप के तीन घंटों पर खर्च होंगे 85 करोड़ अधीर रंजन बोले- क्या ट्रंप कोई भगवान है, जो 70 लाख लोग करेंगे स्वागत - jnu sedition case probe delhi police writes to delhi government seeking nod for prosecution against kanhaiya kumar - AajTak शरजील के लैपटॉप में छुपा था दिल्ली ठप करने का प्लान, चार्जशीट का बना आधार कोई मरने आ रहा है तो ज़िंदा कैसे हो जाएगा: योगी आदित्यनाथ कार्टून: अबकी बार... दीवार के पार जब राजीव गांधी ने सोनिया के क़रीब आने के लिए दी थी रिश्वत रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, डर और लालच दिखाकर धर्मांतरण कराना महापाप से कम नहीं अर्दोआन ने कश्मीर की रट क्यों लगा रखी है दौरे से पहले बोले ट्रंप- भारत हमारे साथ बहुत अच्छी तरह पेश नहीं आया, बड़ा व्यापारिक समझौता नहीं