Loksabhaelections 2019

Loksabhaelections 2019

हाथरस लोकसभा सीट: कौन-कौन है उम्मीदवार, किसके बीच होगी कड़ी टक्कर

03-04-2019 08:11:00

जानिए हाथरस लोकसभा सीट की राजनीतिक पृष्ठभूमि के बारे में LokSabhaElections2019(SkvermaSur)

हाथरस लोकसभा सीट (सुरक्षित) पर दूसरे चरण में मतदान होना है और यहां पर 18 अप्रैल को वोटिंग होनी है. यहां के चुनावी समर में बीजेपी के राजवीर दिलेर हैं जिनके सामने समाजवादी पार्टी के रामजी लाल सुमन, कांग्रेस के त्रिलोकी राम, राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी के भूपेंदर कुमार और लोकदल के राजाराम हैं. इसके अलावा 3 निर्दलीय प्रत्याशी तिलक सिंह, दिनेश साय और हरस्वरूप भी मैदान में हैं.

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के इलाक़े में फ़्लैश फ़्लड, बड़ी संख्या में लोगों की मौत - BBC Hindi ओलंपिक में गईं पाकिस्तानी खिलाड़ी महूर शहज़ाद को पठानों से मांगनी पड़ी माफ़ी - BBC News हिंदी अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के इलाक़े में फ़्लैश फ़्लड, बड़ी संख्या में मौत - BBC Hindi

90 के बाद बीजेपी की धूमहाथरस संसदीय सीट पर 1962 में पहली बार लोकसभा चुनाव हुए जिसमें कांग्रेस पार्टी ने जबरदस्त जीत दर्ज की थी. उसके बाद 1967, 1971 में भी यहां कांग्रेस का परचम लहराया. 1977 में चली सत्ता विरोधी लहर में भारतीय लोक दल ने जीत दर्ज की, जबकि 1984 में भी यहां कांग्रेस ने वापसी की. 1989 में हुआ चुनाव यहां जनता दल के खाते में गया था.

रामलहर के बाद बीजेपी का गढ़90 के दशक में रामलहर के दौर में 1991 के बाद से ही यह सीट भारतीय जनता पार्टी का गढ़ रही है. 1991, 1996, 1998, 1999 और 2004 में यहां बीजेपी ने जीत दर्ज की. इस दौरान बीजेपी के कृष्ण लाल दिलेर 1996-2004 तक सांसद रहे. 2009 में यहां राष्ट्रीय लोकदल के उम्मीदवार ने जीत दर्ज की, हालांकि तब रालोद-बीजेपी का गठबंधन था. वहीं 2014 में तो बीजेपी के राजेश कुमार दिवाकर ने यहां से प्रचंड जीत दर्ज की. headtopics.com

पश्चिमी उत्तर प्रदेश की महत्वपूर्ण लोकसभा सीटों में से एक हाथरस मुस्लिम-जाट वोटरों के प्रभाव वाली सीट है. यही कारण रहा कि बीजेपी-आरएलडी को यहां लगातार जीत मिलती रही. पिछले चुनावी आंकड़ों के अनुसार, यहां पर करीब 17 लाख से अधिक मतदाता हैं, इनमें से करीब 9.6 लाख पुरुष वोटर और 7.8 लाख महिला मतदाता हैं.

हाथरस लोकसभा सीट के अंतर्गत 5 विधानसभा छर्रा, इगलास, हाथरस, सादाबाद और सिकंदरा राऊ सीटें आती हैं. 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में सिर्फ सादाबाद में बसपा ने जीत दर्ज की थी, जबकि बाकी अन्य 4 सीटों पर बीजेपी ने झंडा लहराया था. और पढो: आज तक »

बारिश से तबाही के 15 फोटो: महाराष्ट्र में बाढ़-लैंडस्लाइड से 138 लोगों की मौत, 53 घायल और 99 लापता; बाढ़ प्रभावित इलाकों से 1.35 लाख लोगों को हटाया गया

महाराष्ट्र में बारिश के चलते हालात खतरनाक बने हुए हैं। लगातार कई दिनों से हो रही बारिश की वजह से सांग्ली, सतारा, रत्नागिरी, रायगढ़, कोल्हापुर और ठाणे में भयानक हादसे हुए हैं, जिनमें 138 लोगों की मौत हुई है। यहां NDRF की 34 टीमें राहत और बचाव कार्यों में जुटी हैं, लेकिन बारिश और बाढ़ के बाद बर्बादी के निशान साफ देखे जा सकते हैं। | Monsoon update in Indian states; heavy rains expected in Bihar, Rajasthan, Uttar Pradesh, Maharashtra उत्तर प्रदेश, राजस्थान और बिहार में अगले दो दिनों में हो सकती है भारी बारिश; महाराष्ट्र में नहीं थम रही आसमानी आफत

बुलंदशहर लोकसभा सीट: कौन-कौन है उम्मीदवार, किसके बीच होगी कड़ी टक्करबुलंदशहर संसदीय सीट से फिलहाल बीजेपी के भोला सिंह ही सांसद हैं. पिछले चुनाव में उन्होंने यहां से प्रचंड जीत हासिल की थी. बुलंदशहर का संसदीय इतिहास 1952 से ही कायम है और 1952 से लेकर 1971 तक यहां हुए पांच चुनाव में कांग्रेस ने लगातार जीत दर्ज की. जरुरी नही की आप जमीन पर ही थुके ! हर बात पे हिन्दु - मुस्लिम करने वालो के मुँह पर भी थुक सकते हैं !! 🤷 🌷🌷🌷 *'कौन पूरी तरह काबिल है...* *कौन पूरी तरह पूरा है..* *हर एक शख्स कहीं न कहीं...* *किसी जगह थोड़ा सा अधूरा है.......* Gud morning

अलीगढ़ लोकसभा सीट: कौन-कौन है उम्मीदवार, किसके बीच होगी कड़ी टक्करपिछले साल एएमयू में पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर काफी बवाल हुआ था. स्थानीय सांसद सतीश गौतम ने जिन्ना की तस्वीर पर आपत्ति जताई थी, जिसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तस्वीर हटाने का आदेश दिया था. तब कर्नाटक विधानसभा चुनाव से पहले इस मुद्दे पर राजनीतिक तौर पर काफी शोर हुआ था. चुनोतियों से ही तो भाजपा उभर के आय है । देश हित में हर चुनोतियों का डट कर सामना करेगी भाजपा और बाजपा के हरेक प्रत्याशी ।। अलीगढ़ सीट बी जे पी मजबूत सीट है जनता काम देखती है Only Modi

मथुरा लोकसभा सीट: कौन-कौन है उम्मीदवार, किसके बीच होगी कड़ी टक्करaap mat sudharo bas itana bata do kab -kab bjp ka prachar aayega ...tab -tab ham aajtak (rsstak ) se door rahe ... हेमामालिनी गेँहू कटाई का नाटक करते हुए.......... यूकि वोट वाली फसल भी काट ले लगे हाथो😂😂🙏🙏

नगीना लोकसभा सीट: कौन-कौन है उम्मीदवार, किसके बीच होगी कड़ी टक्कर2009 लोकसभा चुनाव में नगीना संसदीय सीट समाजवादी पार्टी के खाते में गई तो 2014 में इस सीट पर भी मोदी लहर का असर दिखा और जीत भारतीय जनता पार्टी के खाते में गई. मुस्लिम बहुल होने के बावजूद भी ये सीट बीजेपी के पास गई, बीजेपी की नजर फिर से इस सीट पर जीत हासिल करने की है.

अमरोहा लोकसभा सीट: कौन-कौन है उम्मीदवार, किसके बीच होगी कड़ी टक्करअमरोहा लोकसभा सीट के संसदीय इतिहास की बात करें तो 1952 से लेकर 1971 तक इस सीट पर शुरुआती तीन बार कांग्रेस ने और इसके बाद दो बार सीपीआई ने जीत दर्ज की थी. 1977 और 1980 में जनता पार्टी, 1984 में कांग्रेस और 1989 में एक बार फिर जनता दल को जीत मिली. 1991 के बाद 1998 में इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी की तरफ से पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान सांसद चुने गए. चेतन चौहान के कारण भी यह सीट चर्चा में रही थी. उजल बूंद आकाश की,परी गई भूमि बिकार। माटी मिली भई कीच सो बिनसंगति भौछार। अर्थात:-आदमी भी अच्छी संगति के अभाव से बुरा हो जाता है। उसी प्रकार शत्रुघ्न सिन्हा से भाजपा ने किनारा किया तो उनकी बुद्धि भ्रष्ट हो गई। चारा घोटाला का सजाफ्ता'कैदी लालू यादव'उनके मार्गदर्शक हो गये। ये चैनल मोदी की दलाली करता है हमलोग इसका बहिष्कार करते हैं। ये निष्पक्ष नहीं है।

पेड्डापल्ले लोकसभा सीट से 17 प्रत्याशी चुनाव मैदान में, कौन मारेगा बाजी?तेलंगाना की पेड्डापल्ले लोकसभा सीट पर कांग्रेस से अगमा चंद्रशेखर, भारतीय जनता पार्टी से एस कुमार, बहुजन समाज पार्टी से बाला कल्याण पंजा, पिरामिड पार्टी ऑफ इंडिया से एरुगुराला भाग्यलक्ष्मी, तेलंगाना राष्ट्र समिति से वेंकटेश नेथा बोरलाकुंता, सेकुलर डेमोक्रेटिक कांग्रेस से एस. कृष्णा और एंटी करप्शन डायनेमिक पार्टी से संकेनापल्ली देवदास चुनाव मैदान में हैं. इस सीट पर पहले चरण में 11 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. इसके बाद 23 मई को मतगणना होगी और चुनाव नतीजे घोषित किए जाएंगे.

तिरुनेलवेली लोकसभा सीट: AIADMK के सामने सीट बचाने की चुनौतीतिरुनेलवेली में लोकसभा चुनाव के लिए 18 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. तमिलनाडु की 39 लोकसभा सीटों में से एक तिरुनेलवेली में मतदाता दूसरे चरण के मतदान के तहत अपने वोट का इस्तेमाल कर सकेंगे. इस सीट पर राज्य की दो बड़ी AIADMK और DMK के बीच मुकाबला है. DMK ने यहां से Gnanathiraviam S को टिकट दिया है. AIADMK की ओर से पॉल मनोज मैदान में हैं. वहीं बहुजन समाज पार्टी ने Essakkiammal E को यहां से प्रत्याशी घोषित किया है. जेम्स वाट को इंजन बनाने का आइडिया जिस केतली से आया था वह केतली मेरी थी - मोई जी

नबरंगपुर लोकसभा सीटः बीजद, बीजेपी, कांग्रेस और बसपा के बीच मुकाबला, कौन मारेगा बाजी?अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित नबरंगपुर लोकसभा सीट कांग्रेस की परंपरागत सीट रही रही है. नबरंगपुर संसदीय क्षेत्र में घुसपैठ करने में ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक की पार्टी बीजेडी को लंबा वक्त लग गया. 2014 में बीजेडी ने एक बेहद कड़े मुकाबले में मात्र 2000 वोट से ये सीट कांग्रेस से छीन ली. Subha subha Baazi word use na karen, sattabaaz abhi se he ipl main paise lagana start kar denge 😂 BJP✌️ Bjp

थुथुकुडी लोकसभा सीट: क्या कनिमोझी को मिलेगी जीत या बीजेपी करेगी कमाल?सारे विपक्ष का ठगबंधन मिलकर भी BJP4India की बराबरी क्यों नहीं कर सकता? क्योंकी BJP के प्रधान मंत्री भी सक्रिय कार्यकर्ता हैं और हर कार्यकर्ता में प्रधानमंत्री जैसा समर्पण है! कितने चौकीदारों को रोकोगे? पूरा भारत चौकीदार है! MainBhiChowkidar बीजेपी जीत सकती है।

आंध्र प्रदेश: नेल्‍लोर लोकसभा सीट पर YSR कांग्रेस ने पूर्व TDP नेता को उतार रोमाचंक की जंगनेल्‍लोर लोकसभा सीट कांग्रेस के दबदबे वाली सीट रही है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कांग्रेस ने यहां से कुल 13 बार जीत हासिल की है. यहां तक कि 1982 में टीडीपी के अस्तित्व में आने के बाद हुए 10 लोकसभा चुनावों में भी 6 बार कांग्रेस को जीत मिली. वहीं इन टीडीपी 2 बार और 2 बार वाईएसआर कांग्रेस ने जीत दर्ज की. 1957 के लोकसभा चुनाव में इस सीट से कांग्रेस को जीत मिली, जिसके बाद कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन किया और 1984 तक इस सीट पर कब्जा बरकरार रखा.