Anandgiri, Haridwar

Anandgiri, Haridwar

हरिद्वार से ग्राउंड रिपोर्ट: आनंद गिरि बिना अनुमति गंगा किनारे बनवा रहे लग्जरी आश्रम, यहीं बॉलीवुड एक्ट्रेस भूमिका चावला के पति और एक मंत्री का भी ठिकाना

हरिद्वार से ग्राउंड रिपोर्ट: आनंद गिरि बिना अनुमति गंगा किनारे बनवा रहे लग्जरी आश्रम, यहीं बॉलीवुड एक्ट्रेस भूमिका चावला के पति और एक मंत्री का भी ठिकाना #AnandGiri #haridwar @akshayvajpaye

23-09-2021 05:51:00

हरिद्वार से ग्राउंड रिपोर्ट: आनंद गिरि बिना अनुमति गंगा किनारे बनवा रहे लग्जरी आश्रम, यहीं बॉलीवुड एक्ट्रेस भूमिका चावला के पति और एक मंत्री का भी ठिकाना AnandGiri haridwar akshayvajpaye

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के बाद हिरासत में लिए गए उनके शिष्य आनंद गिरि गंगा किनारे बिना परमिशन के लग्जरी आश्रम बनवा रहे हैं। बॉलीवुड एक्ट्रेस भूमिका चावला के पति और स्पिरिचुअल टीचर भरत ठाकुर और उत्तराखंड के एक मंत्री का आश्रम भी यहीं है। चंद कदमों की दूरी पर हेलीपैड भी है, जहां से चारधाम की यात्रा के लिए हेलिकॉप्टर उड़ान भरते हैं। दैनिक भास्कर की टीम जब मौके पर पह... | Dainik Bhaskar ground Report from Haridwar , Where Anand giri's Hermitage construction is in Progress

हरिद्वार से ग्राउंड रिपोर्ट:आनंद गिरि बिना अनुमति गंगा किनारे बनवा रहे लग्जरी आश्रम, यहीं बॉलीवुड एक्ट्रेस भूमिका चावला के पति और एक मंत्री का भी ठिकाना2 घंटे पहलेलेखक: अक्षय बाजपेयीकॉपी लिंकअखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के बाद हिरासत में लिए गए उनके शिष्य आनंद गिरि गंगा किनारे बिना परमिशन के लग्जरी आश्रम बनवा रहे हैं। बॉलीवुड एक्ट्रेस भूमिका चावला के पति और स्पिरिचुअल टीचर भरत ठाकुर और उत्तराखंड के एक मंत्री का आश्रम भी यहीं है। चंद कदमों की दूरी पर हेलीपैड भी है, जहां से चारधाम की यात्रा के लिए हेलिकॉप्टर उड़ान भरते हैं। दैनिक भास्कर की टीम जब मौके पर पहुंची तो कई सच सामने आए।

शाहरुख़ के बेटे आर्यन ख़ान को ज़मानत क्यों नहीं मिल पा रही है? - BBC News हिंदी भारत-पाक टी-20: 'ब्लैंक चेक में जो चाहे रक़म भर दो लेकिन भारत को हरा दो' - BBC News हिंदी भास्कर LIVE अपडेट्स: फैजाबाद रेलवे स्टेशन का नाम अब अयोध्या कैंट होगा, CM योगी ने ऐलान किया

पढ़िए ग्राउंड रिपोर्ट...हरिद्वार से 10 किमी दूर गांव में बन रहा आश्रमइस आश्रम का निर्माण हरिद्वार से करीब 10 किमी दूर गाजीवाली गांव में किया जा रहा है। गांव की आबादी ढाई से तीन हजार है, लेकिन बीते चार-पांच सालों में यहां जमीन के रेट 600 रुपए स्क्वायर फीट से बढ़कर 1500 रुपए स्क्वायर फीट हो चुके हैं। बड़े-बड़े लोग गंगा किनारे जमीन खरीदकर आश्रम और होटल बनवा रहे हैं। यहीं आनंद गिरि ने भी जमीन खरीदी थी। पिछले साल दिसंबर में इस आश्रम का कंस्ट्रक्शन शुरू हुआ और महज 8 महीने में बुनियादी ढांचा बनकर तैयार हो चुका है।

पिछले कुछ सालों से यहां जमीन की कीमत काफी बढ़ गई है। बड़े-बड़े लोग जमीन खरीद कर बिल्डिंग बनवा रहे हैं। पिछले साल ही इस भवन का निर्माण कार्य शुरू हुआ है।खास बात ये है कि इस बिल्डिंग को तैयार करने के पहले न ही नक्शा पास करवाया गया और न ही गंगा से 200 मीटर की दूरी बनाई गई। जबकि नियमों के मुताबिक, यह दोनों काम किए बिना भवन बनाया नहीं जा सकता, लेकिन राजनीतिक रसूख के चलते बिल्डिंग खड़ी कर दी गई। ग्रामीणों ने बताया कि कुंभ और कोरोना के दौरान तेजी से निमार्ण कार्य हुआ। कभी किसी अधिकारी की यहां आने तक की हिम्मत नहीं हुई, क्योंकि सब जानते हैं कि आनंद गिरि जी की पहुंच सरकार तक है और वे महंत नरेंद्र गिरि के शिष्य हैं। headtopics.com

भास्कर रिपोर्टरके सामने पहुंची विकास प्राधिकरण की टीम, आश्रम को सील कियाबुधवार को भास्कर रिपोर्टर के सामने ही हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण की टीम भी आश्रम पर पहुंची। 8 से 10 लोग टीम में शामिल थे। टीम को लीड कर रहे अधिकारी एमएन जोशी ने बताया कि इस आश्रम को तैयार करने से पहले बिल्डिंग परमिशन नहीं ली गई। गंगा से 200 मीटर की दूरी रखना भी जरूरी है, वह भी नहीं रखी गई, इसलिए हम इसे सील कर रहे हैं। आगे की जांच पूरी करने के बाद इसे गिराने की कार्रवाई हो सकती है।

नए भवन के निर्माण के लिए गंगा से 200 किमी. की दूरी मेंटेन रखना अनिवार्य है। इसके बिना किसी को भी भवन बनाने की अनुमति नहीं दी जा सकती है।हमने पूछा, ये कार्रवाई पहले क्यों नहीं की गई? तो बोले, मई में भी हमने आश्रम को सील किया था, लेकिन तब इन्होंने तार तोड़कर फिर से काम शुरू कर दिया था। उस प्रकरण में गुरुवार को एफआईआर दर्ज की जाएगी। हमने आज फिर आश्रम को सील कर दिया है। आश्रम सील करने के बाद आनंद गिरि के तीनों शिष्यों को जरूरी सामान के साथ बाहर कर दिया गया और तीनों एंट्री गेट पर तार कस दिए गए हैं।

अभी हमार वक्त खराब चल रहा, सच्चाई सामने आते ही सब ठीक हो जाएगाआश्रम में हमें आनंद गिरि के शिष्य मिले। हालांकि उन्होंने अपना नाम बताने से इनकार कर दिया। पहले बात भी नहीं कर रहे थे। काफी कहने के बाद बोले कि अभी हमारा वक्त खराब चल रहा है। जैसे ही सच्चाई सबके सामने आएगी, सब ठीक हो जाएगा।

शिष्यों ने ये सवाल भी उठाए कि महंत नरेंद्र गिरि जी को फांसी के फंदे से उतारते हुए वीडियो क्यों नहीं बनाया गया? पोस्टमॉर्टम इतना लेट क्यों किया गया? जिसने सबसे पहले उन्हें लटकते हुए देखा, उसके बारे में क्यों नहीं बताया गया? बलवीर सिंह अपने बयान से पलट क्यों गए? ये सभी सवाल कई तरह की शंका पैदा कर रहे हैं। headtopics.com

यूपी: अयोध्या कैंट के नाम से जाना जाएगा फैजाबाद रेलवे स्टेशन, CM योगी का फैसला 'कृषि नीति पर पुनर्चिंतन की जरूरत' : किसान के फसल जलाने के VIDEO पर बोले वरुण गांधी इसराइली पीएम और रूसी राष्ट्रपति पुतिन की घंटों बातचीत - BBC Hindi

फिलहाल आनंद गिरि के इस निर्माणाधीन आश्रम को सील कर दिया गया है। जल्द ही इसे गिराने की कार्रवाई भी की जा सकती है।आठ से दस फीट ऊंची दीवार, अंदर क्या होता है, ग्रामीण नहीं जानतेजब हमने गाजीवाली गांव में आनंद गिरि के आश्रम के बारे में पूछा तो कोई बता नहीं सका, लेकिन जब यह पूछा कि जो संत अभी गिरफ्तार हुए हैं, उनका आश्रम कहां है, तो लोगों ने आश्रम का पता बता दिया। इसी गांव के रहने वाले अभय सिंह ने बताया कि आनंद गिरि को गांव में कोई नहीं जानता। उनके जैसे कई बड़े लोगों ने यहां कारोबार के लिहाज से होटल और आश्रम बना रखे हैं। कई आश्रमों में आठ से दस फीट ऊंची दीवार हैं। वहां टूरिस्ट आते हैं और चले जाते हैं। अंदर कब, कहां, क्या होता है, ये किसी को नहीं मालूम। गांव वाले बोले, ये सब बीते 4-5 सालों में ही हुआ है। कुंभ के बाद से भीड़ कुछ ज्यादा ही बढ़ रही है।

और पढो: Dainik Bhaskar »

10 तक: हत्यारों ने दी महिला को दर्दनाक मौत, जमवारामगढ़ हत्याकांड को लेकर गेहलोत सरकार घिरी

राजस्थान के जयुपर में 55-वर्षीय महिल गीता देवी की निर्मम हत्या से सनसनी मच गई है. हत्यारों ने महिला को कुल्हाड़ी से हमला भी किया. साथ में महिला के पैर कांट दिए. जांच के लिए पुलिस ने 30 टीमें लगा दी हैं. यानि 300 पुलिसवाले लगा दिए हैं. लेकिन तीन दिन बाद भी अब तक ना पैर काटकर जयपुर में महिला की पायल लूटने वाले अपराधियों की पता चला ना ही इस परिवार के पास किसी सक्षम मंत्री-अधिकारी के पहुंचने का पता चला. बीजेपी के नेता राज्यवर्धन सिंह राठौड़ परिवार से मिलने के बाद गेहलोत सरकार को घेरा है. देखें वीडियो.

नरेंद्र गिरि की मृत्यु पर संतों में रोष, आनंद गिरि के ख़िलाफ़ एफ़आईआर - BBC News हिंदीमहंत नरेंद्र गिरि का शव सोमवार को प्रयागराज के अल्लापुर स्थित बाघंबरी गद्दी मठ के एक कमरे में मिला. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा. कोई मुस्लिम एंगल मत निकालना भाई...... किसी भी आत्महत्या के पीछे अनेक कारण होते हैं । किसी भी एंगल से जांच की जा सकती है । आखिर किसी व्यक्ति के आत्महत्या के पीछे क्या कारण हो सकते हैं । निष्पक्ष रूप से जांच होगी तो हर कारण खुलकर सामने आ जायेगा ।हो सकता है सम्पत्ति विवाद भी इसका कारण हो सकता है । Yogi

नरेन्द्र गिरि के विवादित शिष्य आनंद गिरि को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गयामहंत मौत मामले में आनंदगिरि, आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी को गिरफ्तार किया गया NarendraGiriSuicideLie NarendraGiri Prayagraj NarendraGiriDeath Bagham UttarPradesh AnandGiri आद्यातिवारी नरेंद्रगिरि आनंदगिरी

13 अखाड़ों के हिन्दू संत अपने नाम के आगे गिरि, पुरी आदि उपनाम क्यों रखते हैं?हिन्दू संतों के 13 अखाड़े हैं। शिव संन्यासी संप्रदाय के 7 अखाड़े, बैरागी वैष्णव संप्रदाय के 3 अखाड़े और उदासीन संप्रदाय के 3 अखाड़े हैं। इन्हीं में नाथ, दशनामी आदि होते हैं। आओ जानते हैं कि संत अपने नाम के आगे गिरि, पुरी, आचार्य, दास, नाथ आदि उपनाम क्यों लगाते हैं।

भीलवाड़ा के अशोक चोटिया के आनंद गिरि बनने की कहानी: 12 साल की उम्र में घर छोड़ा, नरेंद्र गिरि के शिष्य बनेभीलवाड़ा के अशोक चोटिया के आनंद गिरि बनने की कहानी: 12 साल की उम्र में घर छोड़ा, नरेंद्र गिरि के शिष्य बने Rajasthan Bhilwara NarendraGiriDeath AnandGiri NarendraGiriSuicide NarendraGiri Prayagraj Mahantnarendragiri Uppolice start_MP_teachers_transfer_portal अनार्थिक मुद्दे को हल करने से यदि हजारों की पीड़ा दूर हो जाये तो क्या परेशानी है मामाजी?सिर्फ सिफारिशी ट्रांसफर हुये क्या देश का कोई भी बड़ा नेता हमारी फरियाद सुनेगा ? narendramodi ChouhanShivraj JM_Scindia OfficeOfR OfficeOfKNath

नरेंद्र गिरि: अखाड़ों का संघर्षों और विवादों का पुराना नाता - BBC News हिंदीऐसा माना जाता है कि अखाड़ों की शुरुआत आठवीं-नौवीं शताब्दी में आदि शंकराचार्य ने बौद्ध धर्म के बढ़ते प्रसार को रोकने के मक़सद से की थी. ….और ये हमें मोक्ष दिलायेगे । MahantNarendraGiriDeath प्रभु प्रेम तो दिखावा है असली प्रेम तो माया है। । वक्त की हेराफेरी है 'माया' न तेरी है न मेरी है ।। न कोई लाया है न लेकर जायेगा व्यर्थ में पाप की गठरी लादकर ले जायेगा। आत्म हत्या करने वाला योगी या सन्यासी तो हो नही सकता और हत्या का कारण तो , संपत्ति ,औरत और जमीन ही होता है। सीबीआई जांच की मांग करने वाले इस केस को लटकाना चाहते हैं,ये हत्या सिर्फ उत्तराधिकार के लिए की गई है और कुछ लोग मठ पर कब्जा करना चाहते हैं,ये स्पष्ट है। कुछ राजनेता भी ।

महंत नरेंद्र गिरि मौत केस: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और आरोपियों से पूछताछ में क्या-क्या सामने आया?अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की शुरुआती पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में आत्महत्या की पुष्टि हुई है. हालांकि, आत्महत्या क्यों की, इस बारे में पुलिस पता लगा रही है. इस बीच इस मामले में गिरफ्तार आरोपियों ने कई अहम खुलासे भी किए हैं.