Narendragirideath, Anandgiri, Narendragirisuicide, Narendragiri, Prayagraj, Mahantnarendragiri, Lete Hanuman Ji Prayagraj, Bade Hanuman Ji Prayagraj, Narendra Giri Maharaj, Narendra Giri, Mahant Narendra Giri Death, Haridwar Police, Anand Giri, महंत नरेंद्र गिरि, Mahant Narendra Giri, Saints Death, Saints Death İn Haridwar, Dehradun News İn Hindi, Latest Dehradun News İn Hindi, Dehradun Hindi Samachar

Narendragirideath, Anandgiri

हरिद्वार: संतों के साथ हत्या के रहस्यों ने भी ली ‘समाधि’, तीन दशकों में 22 संत हुए साजिशों का शिकार

अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि की प्रयागराज बाघंबरी मठ में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत और उनके शिष्य

22-09-2021 00:20:00

हरिद्वार: संतों के साथ हत्या के रहस्यों ने भी ली ‘समाधि’, तीन दशकों में 22 संत हुए साजिशों का शिकार NarendraGiriDeath AnandGiri NarendraGiriSuicide NarendraGiri Prayagraj Mahantnarendragiri Uppolice

अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्री महंत नरेंद्र गिरि की प्रयागराज बाघंबरी मठ में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत और उनके शिष्य

Published by:Updated Wed, 22 Sep 2021 01:30 AM ISTसारMahant Narendra Giri Death:हरिद्वार में बीते तीन दशकों में 22 संत इन साजिशों का शिकार हुए हैं। कइयों का कत्ल हुआ तो कइयों का आज तक पता नहीं चला है।विज्ञापनकुंभ के दौरान महंत नरेंद्र गिरि- फोटो : अमर उजाला फाइल फोटो

लखीमपुर हिंसा केस में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ने यूपी पुलिस को घेरा, कहा- अधिकारियों ने लापरवाही की यूपी के शाहजहांपुर जिले के कोर्ट परिसर में वकील की गोली मारकर हत्या दशहरे के बाद अब दिवाली के मूड में शेयर बाजार, 62 हजार की ओर बढ़ा सेंसेक्स

ख़बर सुनेंख़बर सुनेंअखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि की प्रयागराज बाघंबरी मठ में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत और उनके शिष्य संत आनंद गिरि की हरिद्वार से गिरफ्तारी के बाद धर्मनगरी एक बार फिर सुर्खियों में है। श्रीमहंत की मौत का रहस्य भी संपत्ति के विवाद से जोड़कर देखा जा रहा है। धर्मनगरी में मठ-मंदिर-महंत, आश्रम और अखाड़ों की गद्दी व संपत्ति के विवाद जगजाहिर है। संपत्ति और साजिश में तीन दशकों में कई संत अपनी जान गंवा चुके हैं। कई आज तक लापता हैं। हरिद्वार में कई आश्रम और अखाड़ों की संपत्तियों पर विवाद चल रहा है।

नरेंद्र गिरि: महंगे सामान के शौकीन थे श्रीमहंत, लग्जरी कार में करते थे सवारी, पहनते थे लाखों की घड़ीधर्मनगरी के मठ-मंदिर, आश्रम और अखाड़ों के पास अकूत संपत्ति है। अधिकतर संस्थाओं को संपत्ति दान में मिली है। सांसारिक और पारिवारिक मोह माया से दूर रहने का उपदेश देने वाले कई संत व महंत इन्हीं के फेर में पड़े हैं। आलीशान आश्रमों में रहते हैं। करोड़ों रुपये की लग्जरी कारों में घूमते हैं। भगवा वस्त्र पहनते जरूर हैं, लेकिन संतों का रहन-सहन राजाओं से कम नहीं है। headtopics.com

लग्जरी लाइफ स्टाइल जीते हैं। सर्वोच्च गद्दी पर बैठने से लेकर खर्चों की पूर्ति के लिए संस्था की संपत्ति को खुर्दबुर्द करने के षड्यंत्र रचे जाते हैं। हरिद्वार में बीते तीन दशकों में 22 संत इन साजिशों का शिकार हुए हैं। कइयों का कत्ल हुआ तो कइयों का आज तक पता नहीं चला है। पुलिस अधिकतर मामलों को नहीं सुलझा सकी है। कई संस्थाओं के संपत्ति और गद्दी के विवाद थानों से लेकर अदालतों में चल रहा है। पुलिस भी विवादित मामलों में हाथ डालने से खुद को बचाती है।

धर्मनगरी संतों के खून से लाल होती आई है। 25 अक्तूबर 1991 को रामायण सत्संग भवन के संत राघवाचार्य को स्कूटर सवार लोगों ने गोली मारी। वह आश्रम से निकलकर टहल रहे थे। 9 दिसंबर 1993 को रामायण सत्संग भवन के ही संत रंगाचार्य की ज्वालापुर में हत्या हो गई। 1 फरवरी 2000 को मोक्षधाम ट्रस्ट से जुड़े रमेश को जीप ने टक्कर मार दी। उनकी मौत हुई। चेतनदास कुटिया में अमेरिकी साध्वी प्रेमानंद की दिसंबर 2000 में हत्या हो गई। 5 अप्रैल 2001 को बाबा सुतेंद्र बंगाली की हत्या हुई।

6 जून 2001 को हरकी पैड़ी के पास बाबा विष्णुगिरि समेत चार साधुओं की हत्या हुई। 26 जून 2001 को बाबा ब्रह्मानंद की हत्या हो गई। 2001 को पानप देव कुटिया के बाबा ब्रह्मदास को दिनदहाड़े गोली मार दी। 17 अगस्त 2002 बाबा हरियानंद और शिष्य की हत्या हो गई। इसी साल संत नरेंद्र दास की हत्या की गई। 6 अगस्त 2003 को संगमपुरी आश्रम के प्रख्यात संत प्रेमानंद अचानक लापता हो गए। 28 दिसंबर 2004 को संत योगानंद की हत्या हो गई।

15 मई 2006 को पीली कोठी के स्वामी अमृतानंद की हत्या हुई। 25 नवंबर 2006 को बाल स्वामी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जुलाई 2007 में स्वामी शंकर देव लापता हो गए। 8 फरवरी 2008 को निरंजनी अखाड़े के सात साधुओं को जहर दिया गया। 14 अप्रैल 2012 निर्वाणी अखाड़े के महंत सुधीर गिरि की हत्या हो गई। 26 जून 2012 लक्सर में हनुमान मंदिर में तीन संतों की हत्या हुई। headtopics.com

यूपी चुनाव: अयोध्या में भागवत तो कुशीनगर में PM मोदी, पूर्वांचल को साधने की कोशिश! उत्तराखंड चुनाव: एनडी तिवारी के नाम को भुनाएगी BJP! CM धामी ने चला बड़ा दांव T20 WC: हार के बाद PC कर रहे थे बांग्लादेशी कप्तान महमूदुल्लाह, स्कॉटलैंड फैंस ने लिए मजे

विस्तारअखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि की प्रयागराज बाघंबरी मठ में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत और उनके शिष्य संत आनंद गिरि की हरिद्वार से गिरफ्तारी के बाद धर्मनगरी एक बार फिर सुर्खियों में है। श्रीमहंत की मौत का रहस्य भी संपत्ति के विवाद से जोड़कर देखा जा रहा है। धर्मनगरी में मठ-मंदिर-महंत, आश्रम और अखाड़ों की गद्दी व संपत्ति के विवाद जगजाहिर है। संपत्ति और साजिश में तीन दशकों में कई संत अपनी जान गंवा चुके हैं। कई आज तक लापता हैं। हरिद्वार में कई आश्रम और अखाड़ों की संपत्तियों पर विवाद चल रहा है।

विज्ञापननरेंद्र गिरि: महंगे सामान के शौकीन थे श्रीमहंत, लग्जरी कार में करते थे सवारी, पहनते थे लाखों की घड़ीधर्मनगरी के मठ-मंदिर, आश्रम और अखाड़ों के पास अकूत संपत्ति है। अधिकतर संस्थाओं को संपत्ति दान में मिली है। सांसारिक और पारिवारिक मोह माया से दूर रहने का उपदेश देने वाले कई संत व महंत इन्हीं के फेर में पड़े हैं। आलीशान आश्रमों में रहते हैं। करोड़ों रुपये की लग्जरी कारों में घूमते हैं। भगवा वस्त्र पहनते जरूर हैं, लेकिन संतों का रहन-सहन राजाओं से कम नहीं है।

लग्जरी लाइफ स्टाइल जीते हैं। सर्वोच्च गद्दी पर बैठने से लेकर खर्चों की पूर्ति के लिए संस्था की संपत्ति को खुर्दबुर्द करने के षड्यंत्र रचे जाते हैं। हरिद्वार में बीते तीन दशकों में 22 संत इन साजिशों का शिकार हुए हैं। कइयों का कत्ल हुआ तो कइयों का आज तक पता नहीं चला है। पुलिस अधिकतर मामलों को नहीं सुलझा सकी है। कई संस्थाओं के संपत्ति और गद्दी के विवाद थानों से लेकर अदालतों में चल रहा है। पुलिस भी विवादित मामलों में हाथ डालने से खुद को बचाती है।

तीन दशकों में 22 संत साजिशों का शिकारधर्मनगरी संतों के खून से लाल होती आई है। 25 अक्तूबर 1991 को रामायण सत्संग भवन के संत राघवाचार्य को स्कूटर सवार लोगों ने गोली मारी। वह आश्रम से निकलकर टहल रहे थे। 9 दिसंबर 1993 को रामायण सत्संग भवन के ही संत रंगाचार्य की ज्वालापुर में हत्या हो गई। 1 फरवरी 2000 को मोक्षधाम ट्रस्ट से जुड़े रमेश को जीप ने टक्कर मार दी। उनकी मौत हुई। चेतनदास कुटिया में अमेरिकी साध्वी प्रेमानंद की दिसंबर 2000 में हत्या हो गई। 5 अप्रैल 2001 को बाबा सुतेंद्र बंगाली की हत्या हुई। headtopics.com

6 जून 2001 को हरकी पैड़ी के पास बाबा विष्णुगिरि समेत चार साधुओं की हत्या हुई। 26 जून 2001 को बाबा ब्रह्मानंद की हत्या हो गई। 2001 को पानप देव कुटिया के बाबा ब्रह्मदास को दिनदहाड़े गोली मार दी। 17 अगस्त 2002 बाबा हरियानंद और शिष्य की हत्या हो गई। इसी साल संत नरेंद्र दास की हत्या की गई। 6 अगस्त 2003 को संगमपुरी आश्रम के प्रख्यात संत प्रेमानंद अचानक लापता हो गए। 28 दिसंबर 2004 को संत योगानंद की हत्या हो गई।

15 मई 2006 को पीली कोठी के स्वामी अमृतानंद की हत्या हुई। 25 नवंबर 2006 को बाल स्वामी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जुलाई 2007 में स्वामी शंकर देव लापता हो गए। 8 फरवरी 2008 को निरंजनी अखाड़े के सात साधुओं को जहर दिया गया। 14 अप्रैल 2012 निर्वाणी अखाड़े के महंत सुधीर गिरि की हत्या हो गई। 26 जून 2012 लक्सर में हनुमान मंदिर में तीन संतों की हत्या हुई।

बांग्लादेश में फिर निशाने पर हिंदू: जमात-ए-इस्लामी के उपद्रवियों ने हिंदुओं के 65 घरों में आग लगाई, मंदिर में भी हो चुकी तोड़फोड़ जम्मू-कश्मीर: क्यों आतंकियों के निशाने पर हैं प्रवासी मजदूर, राज्य से पलायन को क्यों हो रहे मजबूर पश्चिम बंगाल में बीजेपी नेता की गोली लगने से मौत, राजनीतिक विवाद तेज - BBC Hindi और पढो: Amar Ujala »

कुलगाम में फिर आतंकियों का निशाना बने गैर-कश्मीरी, अबतक 11 लोगों की हत्या

जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों ने एक बार फिर से गैर कश्मीरी को निशाना बनाया है. एक तरफ कश्मीर में आतंकी लगातार टार्गेट किलिंग कर रहे हैं और दूसरी तरफ 24 अक्टूबर को वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से क्रिकेट मैच होने जा रहा है, इस क्रिकेट मैच को लेकर भी अब सियासत गरमा गई है. सवाल उठ रहे हैं कि जब पाकिस्तान से लगातार आतंकियों की खेप कश्मीर को दहलाने की साजिश रच रही है तो फिर पाकिस्तान से क्रिकेट मैच खेलने का क्या मतलब है और ये सवाल अकेले कांग्रेस नहीं उठा रही खुद केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का भी यही मानना है कि पाकिस्तान से मैच खेलने को लेकर विचार किया जाना चाहिए. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

नरेंद्र गिरि की मृत्यु पर संतों में रोष, आनंद गिरि के ख़िलाफ़ एफ़आईआर - BBC News हिंदी महंत नरेंद्र गिरि का शव सोमवार को प्रयागराज के अल्लापुर स्थित बाघंबरी गद्दी मठ के एक कमरे में मिला. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा. कोई मुस्लिम एंगल मत निकालना भाई...... किसी भी आत्महत्या के पीछे अनेक कारण होते हैं । किसी भी एंगल से जांच की जा सकती है । आखिर किसी व्यक्ति के आत्महत्या के पीछे क्या कारण हो सकते हैं । निष्पक्ष रूप से जांच होगी तो हर कारण खुलकर सामने आ जायेगा ।हो सकता है सम्पत्ति विवाद भी इसका कारण हो सकता है । Yogi

कोविड महामारी के दौरान देश में हत्या के मामले बढ़े, यूपी में सर्वाधिक केस, लक्षद्वीप, लद्दाख में एक भी नहीं; NCRB रिपोर्ट में अन्य अपराधों में भी तेजीसबसे खास बात यह है कि आबादी के लिहाज से भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में 2020 में हत्या के सबसे अधिक 3,779 मामले दर्ज किए गए। दूसरी तरफ इस दौरान लक्षद्वीप और लद्दाख जैसे राज्यों में कोई मर्डर नहीं हुआ।

असदुद्दीन ओवैसी के मकान में तोड़फोड़, गिरफ्तार किए हिंदू सेना के पांच आरोपीदिल्ली पुलिस के डीसीपी दीपक यादव ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि उन्होंने तोड़फोड़ करने वाले पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी पूर्वी दिल्ली के मंडोली इलाके के रहने वाले हैं।

श्रीराम शर्मा आचार्य के जीवन के बारे में 11 तथ्यभारत के आध्यात्मिक संत पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य की 20 सितम्बर को जयंती है। वे एक दार्शनिक, विचारक और समाज सुधार के रूप में जीवनभर कार्य करते रहे हैं। उन्होंने वैदिक परंपरा की पुन: स्थापना का महत्वपूर्ण कार्य किया। आओ जानते हैं उनके जीवन के संबंध 11 तथ्‍य।

राजस्थान मैरिज एक्ट में संशोधन को SC में चुनौती, बाल विवाह के पंजीकरण को लेकर आपत्तियाचिकाकर्ताओं ने बाल विवाह के रजिस्ट्रेशन के प्रावधान पर आपत्ति जताते हुए इस संशोधन को रद्द करने की गुहार लगाई है. इस जनहित याचिका में भारत सरकार के कैबिनेट सचिव, राजस्थान सरकार और NCPCR को पक्षकार बनाते हुए जल्द सुनवाई की मांग की गई है.

तालिबान सरकार में तेल कंपनियों की मनमानी, काबुल में बढ़ने लगे पेट्रोल-डीजल के दामकाबुल में पिछले एक हफ्ते में ईंधन की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि हुई है। स्थानीय लोगों ने तालिबान सरकार से तेल कंपनियों और ईंधन के आयातकों से अधिक शुल्क को रोकने के लिए कदम उठाने का आग्रह किया है। Wo bhi gst mai laa re hai kya ? 😂😂😂😂😂😂😂😂 धन्यवाद आपका जो आपने काबुल की न्यूज दी,, अबे मूर्ख बनाने की भी सीमा है,, काबुल के न्यूज से क्या लेना देना बे,, यहां की भी न्यूज बता दो ,,और पूछ लो अपने आका से