Studyınındia, स्टडी इन इंडिया स्कीम, स्टडी इन इंडिया, एनबीटी संपादकीय, एजुकेशन हब का लक्ष्य, Study İn India Scheme, Study İn India, Nbt Editorial, Goal Of Education Hub, Foreign Students, Editorial News, Editorial News İn Hindi, Latest Editorial News, Editorial Headlines, संपादकीय Samachar

Studyınındia, स्टडी इन इंडिया स्कीम

स्टूडेंट्स की जगी रूचि

संपादकीयः विदेशी छात्रों के बढ़े आवेदन, पर अभी दूर है एजुकेशन हब का लक्ष्य #StudyInIndia

31-07-2021 04:44:00

संपादकीयः विदेशी छात्रों के बढ़े आवेदन, पर अभी दूर है एजुकेशन हब का लक्ष्य StudyInIndia

Study in India: हालांकि 168 देशों के स्टूडेंट्स यहां पढ़ने आते हैं, लेकिन सबसे ज्यादा हिस्सा (करीब 45 फीसदी) अब भी पड़ोसी देशों- नेपाल, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और भूटान- से आने वाले स्टूडेंट्स का ही है।

स्टडी इन इंडिया) में इस साल बढ़ी हुई भागीदारी उत्साहवर्धक है। चार साल पहले यानी 2018-19 में शुरू की गई इस योजना में विदेशी स्टूडेंट्स को भारत में रहकर शिक्षा प्राप्त करने के लिए स्कॉलरशिप देने का प्रावधान है। आंकड़े बताते हैं कि जहां पिछले साल इसके लिए 20659 आवेदन आए थे, वहीं इस साल 50,739 आवेदन आए। यानी करीब 146 फीसदी की बढ़ोतरी। यही नहीं आवेदन करने के बाद ऑनलाइन टेस्ट में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स में भी इस बार पिछले साल के मुताबिक 23.8 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

बच्चे का मिठाई चुराना अपराध नहीं: जज ने आरोपी बच्चे को बरी करते हुए कहा- माखन चोरी बाल लीला है तो मिठाई चोरी अपराध कैसे? 'इस सुरक्षा चूक को बर्दाश्त नहीं करेंगे' : रोहिणी कोर्ट में हुई फायरिंग पर दिल्ली पुलिस कमिश्नर दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में फायरिंग, एक गैंगस्टर और दो हमलावरों की मौत - BBC News हिंदी

योजना का नाम इस बार बदलकर प्रगति (परफॉरमेंस रेटिंग ऑफ ऐप्लिकेंट्स थ्रू ग्लोबल ऐप्टिट्यूड टेस्ट फॉर इंडियन इंस्टिट्यूट्स) जरूर किया गया है, लेकिन इसकी इस कामयाबी का श्रेय नए नामकरण को नहीं दिया जा सकता। इसके पीछे उन खास बदलावों की भूमिका है, जो विदेशी स्टूडेंट्स की जरूरत और उनकी मानसिकता को समझते हुए इस योजना में किए गए हैं। पहले इस योजना में उन्हीं संस्थानों को शामिल किया गया था, जिन्हें एनएएसी (नैशनल असेसमेंट एंड एक्रेडिटेशन काउंसिल) से 3.26 ग्रेड और एनआईआरएफ की 100 रैंकिंग हासिल हो। यह ऐकडेमिक रैंकिंग है, लेकिन विदेशों से आने वाले स्टूडेंट्स की इकलौती चिंता रैंकिंग की नहीं होती। उन्हें हॉस्टल, ट्रांसपोर्ट, सुरक्षा आदि की सहूलियतें भी देखनी होती हैं।

इसलिए इस बार इस योजना में रैंकिंग के साथ-साथ स्टूडेंट्स की पसंद को भी शामिल किया गया और नतीजा सामने है। यह बताता है कि किसी भी योजना की कामयाबी के लिए उन लोगों की स्थिति, सोच और जरूरत को ध्यान में रखा जाना सबसे जरूरी होता है, जिनके लिए वह योजना लाई गई हो। बहरहाल, इस खास योजना की कामयाबी और उसमें निहित संदेश की अहमियत स्वीकार करते हुए भी यह मानना पड़ेगा कि भारत को विदेशी स्टूडेंट्स के लिए हायर एजुकेशन हब बनाने का हमारा लक्ष्य अभी बहुत दूर है। भारत आकर पढ़ाई करने वाले कुल विदेशी स्टूडेंट्स की संख्या उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक 2019-20 में 49,348 थी, जो 2018-19 के 47,427 से कुछ ही ज्यादा थी। इस साल उसमें कितनी बढ़ोतरी होती है यह देखना पड़ेगा, लेकिन जो भी बढ़ोतरी हो इसे दो लाख स्टूडेंट तक पहुंचाने का लक्ष्य अभी काफी दूर है। headtopics.com

हालांकि 168 देशों के स्टूडेंट्स यहां पढ़ने आते हैं, लेकिन सबसे ज्यादा हिस्सा (करीब 45 फीसदी) अब भी पड़ोसी देशों- नेपाल, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और भूटान- से आने वाले स्टूडेंट्स का ही है। जाहिर है भारत को विदेशी स्टूडेंट्स का पसंदीदा डेस्टिनेशन बनाने के लिए के लिए स्कॉलरशिप स्कीम ही काफी नहीं है। सेशन और सिलेबस से लेकर फैकल्टी और इन्फ्रास्ट्रक्चर तक कई स्तरों पर काम करना पड़ेगा। अच्छी बात यह है कि नैशनल एजुकेशन पॉलिसी के जरिए इस दिशा में कुछ अहम सुधार प्रस्तावित किए गए हैं लेकिन उन पर अमल कैसा और कितना हो पाता है यह देखने के लिए इंतजार करना होगा।

Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

पंजाब के CM चन्नी का भांगड़ा: PTU में स्टेज पर युवाओं के साथ किया धमाल, भीम राव अंबेडकर म्यूजियम की रखी नींव; इस बार सिद्धू नहीं रहे साथ

पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी (PTU) कपूरथला में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का एक नया रूप देखने को मिला। यहां उनके स्वागत में रंगारंग कार्यक्रम किया गया। जैसे ही भांगड़ा करने के लिए युवा स्टेज पर आए तो चन्नी खुद को नहीं रोक पाए और स्टेज पर स्टूडेंट्स के साथ पंजाब का लोक नृत्य भांगड़ा करते हुए लुड्डी और धमाल करते नजर आए। इसके बाद चरणजीत सिंह ने सभी युवाओं को गले लगाया। उन्होंने स्टूडेंट्स के साथ फोटो ... | पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी (पीटीयू) कपूरथला में प्रदेश के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का एक नया रूप देखने को मिला। यहां उनके स्वागत में रंगारंग कार्यक्रम किया गया। जैसे ही भांगड़ा डालने के लिए युवा स्टेज पर आए तो चरणजीत सिंह चन्नी खुद को नहीं रोक पाए।

महामारी की जकड़न में दुनिया: वैश्विक संक्रमण का आंकड़ा 19 करोड़ 65 लाख के पार, जानें इन देशों का हालGlobal COVID-19 Cases महामारी कोविड-19 की शुरुआत से लेकर अब तक दुनिया के सभी देशों में सबसे खराब हालात अमेरिका के हैं। यहां अब तक कुल संक्रमितों का आंकड़ा 34745060 हो चुका है और 612105 संक्रमितों की मौत हो गई। इंसानी अकड़न बढा रही है बैश्विक महामारी की जकड़न!! No need of being so relax and careless unless or until the whole population is being vaccinated.CoronavirusPandemic COVID19

चौथी लहर की चपेट में मिडिल ईस्ट: 22 में से 15 देशों में कोरोना के मामले बढ़े, कम वैक्सीनेशन इसकी बड़ी वजह; WHO ने डेल्टा वैरिएंट के लिए फिर से अलर्ट कियाभारत में खतरनाक दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार कोरोना का डेल्टा वैरिएंट अब मिडिल ईस्ट देशों में कहर बरपा रहा है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने गुरुवार को बताया कि डेल्टा वैरिएंट की वजह से मिडिल ईस्ट के ज्यादातर देश चौथी लहर का सामना कर रहे हैं। हालांकि, संक्रमितों और मौतों के आंकड़े पर नजर डालें, तो इनमें ज्यादातर लोग ऐसे हैं जिन्हें वैक्सीन की एक भी डोज नहीं लग पाई है। | Corona Forth Wave Latest News Update | Corona Forth Wave In Middle East, World Health Organization (WHO), Delta Varient

LIVE: कोरोना की दूसरी लहर में 52 देशों ने भेजी मदद, मिले 20 हजार वेंटिलेटरCoronavirus Lockdown India News Live updates, Covid-19 Cases and Lockdown in Delhi, UP, Bihar, Punjab Today News- Coronavirus (Covid-19) India News Live Updates: महाराष्ट्र में फिर से स्कूल खुलने के बाद शोलापुर में 613 छात्र कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इससे हड़कंप मचा हुआ है।

मिडिल ईस्ट में कोरोना की चौथी लहर की दस्तक, अमेरिका में तेज हुई संक्रमण की रफ्तार, जानिए 10 देशों का हाल...वाशिंगटन। अमेरिका में कोरोनावायरस की रफ्तार फिर बढ़ गई है। विश्वभर में कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के संक्रमितों की संख्या बढ़कर 19.66 करोड़ हो गई है और अब तक इसके कारण 41.99 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा कि कोरोना के डेल्टा वेरिएंट ने मिडिल ईस्ट यानी मध्य-पूर्व के देशों में चौथी लहर का रूप ले लिया है और वहां कोरोना वायरस के मामलें में तेज वृद्धि की है।

स्‍टूडेंट्स की बढ़ती संख्‍या के बीच अमेरिका जाने वाली फ्लाइट्स की संख्‍या दोगुनी करेगा एयर इंडियाNDTV की पूछताछ पर प्रतिक्रिया देते हुए एयर इंडिया ने कहा, कोरोना के केसों में आए हाल के उछाल और अमेरिकी राष्‍ट्रपति की भारत से आने वाली फ्लाइट्स की संख्‍या को सीमित करने के ऐलान के मद्देनजर हमें अपनी अमेरिका की कुछ फ्लाइट, जिसमें मुंबई और नेवार्क के बीच की फ्लाइट शामिल हैं, को कैंसल करना पड़ा था. यात्रियों को इस कैंसलेशन के बारे में पहले ही बता दिया गया था और यह स्थितियां हमारे नियंत्रण के बाहर थीं. एयर इंडिया जिन्दा है क्या ❓️❓️ एयर इंडिया तो बिक चुकी है ना।

बिजनेस स्कूलों में बदल गई पढ़ाई: IIM समेत देश के टॉप मैनेजमेंट स्कूलों का फोकस ESG वाले कोर्सेज पर, कंपनियां ऐसे मैनेजर ढूंढ रही हैं जिन्हें ये ट्रेंड पता होजुलाई महीने के एक मंगलवार की सुबह भारतीय मैनेजमेंट संस्थान यानी IIM इंदौर के डायरेक्टर हिमांशु राय कैंपस लॉन में नए स्टूडेंट्स की क्लास लेने आए। जब वो पढ़ा रहे थे तब स्टूडेंट्स को पक्षियों के चहचहाने की आवाज भी सुनाई दे रही थी। इतने बड़े संस्‍थान में बच्चों को क्लासरूम के बजाए लॉन में पढ़ाने का आइडिया बिना वजह नहीं था। बल्कि इसके पीछे एक सोची-समझी नीति थी। वो मैनेजमेंट और बिजनेस स्कूलों में शुरू ह... | Top management schools in the country including IIMs focus on ESG courses, companies are looking for managers who know this trend और मीडिया दलाली में, अरे वेशर्मों तुम भी तो उसी थाली के चट्टे बट्टे हो, जो मीडिया की आड़ में क्या क्या नहीं करते