स्टांप विभाग में ट्रांसफर घोटाला: UP के 21 अफसरों के तबादलों पर लटकी तलवार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के स्टांप पंजीयन विभाग में हुए घोटाले पर कड़ा रुख अपनाया है

25.8.2019

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के स्टांप पंजीयन विभाग में हुए घोटाले पर कड़ा रुख अपनाया है

स्टांप पंजीयन विभाग में एआईजी और डीआईजी के तबादलों में भी इसी तरीके की गड़बड़ियों की शिकायतें मिली हैं और उन्हें भी अब निरस्त किया जा सकता है. इस पूरे प्रकरण में शामिल करीब 21 अफसरों के तबादलों पर भी तलवार लटक रही है.

सूत्रों के मुताबिक विभाग में एआईजी और डीआईजी के तबादलों में भी इसी तरीके की गड़बड़ियों की शिकायतें मिली हैं और उन्हें भी अब निरस्त किया जा सकता है. इस पूरे प्रकरण में शामिल करीब 21 अफसरों के तबादलों पर भी तलवार लटक रही है. जानकारी के मुताबिक नंद गोपाल नंदी के साथ शामिल विभाग के कुछ अधिकारियों पर भी मुख्यमंत्री की गाज गिर सकती है. इससे पहले विभाग के प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विभाग के तबादले रद्द किए जाने के फैसले के बाद से एक साल की लंबी छुट्टी पर चले गए हैं.

इसके बाद सीएम योगी ने कर्मचारियों की शिकायत के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने आंतरिक रूप से एक रिपोर्ट मंगाई और विभाग में एक नई प्रमुख सचिव वीना कुमारी मीणा की तैनाती की थी. प्रमुख सचिव की शुरूआती जांच में पाया गया कि आरोपों में सच्चाई है, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने समूह ख,ग,घ की भर्तियो से जुड़े करीब 300 कर्मचारियों का तबादला रद्द कर दिया है.

और पढो: आज तक

तमिलनाडु के रास्ते आतंकियों के घुसने की आशंका, तिरुपति तिरुमला में भी हाईअलर्टखासकर कर्नाटक, तमिलनाडु से जुड़ी सीमाओं पर चैकिंग ज्यादा बढ़ा दी गई है. तिरुपति में इस समय हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं.

वाजपेयी सरकार में भी बड़ा था जेटली का कद, कानून मंत्री के रूप में जमाई धाकअरुण जेटली मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में दूसरे नंबर के सबसे अहम शख्सियत माने जाते थे. उन्होंने अटल बिहार वाजपेयी की सरकार में भी अहम भूमिका निभाई थी. शुरुआती करियर की बात करें तो 1990 में अरुण जेटली ने सुप्रीम कोर्ट में वरिष्‍ठ वकील में रूप में अपनी नौकरी शुरू की.

जानिए अरुण जेटली के परिवार के सदस्यों के बारे में, क्या करते हैं उनके बच्चेअरुण जेटली (Arun Jaitley) की पत्नी (Wife) का नाम संगीता है, उनकी शादी साल 1982 को हुई थी. | nation News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

हिंदी विरोध की सिकुड़ती जगह : राज्य के शीर्ष नेता भी इस आंदोलन में शामिल हो गएकर्नाटक में हाल में हिंदी विरोध की राजनीति जोर नहीं पकड़ पाई, तो उसकी वजह है। अतीत के विपरीत अब लोग हिंदी विरोधी आंदोलनकारियों

छत्तीसगढ़: अबूझमाड़ के जंगलों में सुरक्षाबलों ने मार गिराए पांच नक्सली, मुठभेड़ अब भी जारीछत्तीसगढ़: अबूझमाड़ के जंगलों में सुरक्षाबलों ने मार गिराए पांच नक्सली, मुठभेड़ अब भी जारी chhattisgarhnaxalencounter Chhattisgarh crpfindia BSF_India AmitShah HMOIndia

भूखे रहने के फायदे जानकर हफ्ते में एक दिन आप भी खाना छोड़ देंगेवैसे तो बीमार व्यक्ति को छोड़कर सभी को खाना-पीना इतना पसंद होता है कि भूखे रहने के बारे में कोई सोच भी नहीं सकता, वो भी तब जब भूखे रहने की वजह कोई व्रत, उपवास, श्रद्धा या आस्था भी न हो। बीना इन वजहों के आपने शायद ही किसी को बस ऐसे ही एक दिन का भोजन छोड़ते देखा हो,

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

26 अगस्त 2019, सोमवार समाचार

पिछली खबर

LIVE: G-7 में मोदी की क्रिकेट डिप्लोमेसी, एशेज में जीत की ब्रिटिश PM को दी बधाई

अगली खबर

सिंधिया और जनार्दन द्विवेदी के बाद इस कांग्रेसी नेता ने किया Article-370 का समर्थन