Jammukashmir, Internet, Socialmedia, Administration, Uapa, जम्मूकश्मीर, इंटरनेट, सोशलमीडिया, प्रशासन, यूएपीए, Latest News In Hindi, India News, Breaking News In Hindi, Headlines In Hindi, News In Hindi

Jammukashmir, Internet

सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने पर कश्मीर पुलिस ने यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया

पुलिस ने आईटी एक्ट की धारा 66ए के तहत भी मामला दर्ज किया है, जिसे सुप्रीम कोर्ट द्वारा रद्द किया जा चुका है.

18-02-2020 20:30:00

सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने पर कश्मीर पुलिस ने यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया JammuKashmir Internet SocialMedia Administration UAPA जम्मूकश्मीर इंटरनेट सोशलमीडिया प्रशासन यूएपीए

पुलिस ने आईटी एक्ट की धारा 66ए के तहत भी मामला दर्ज किया है, जिसे सुप्रीम कोर्ट द्वारा रद्द किया जा चुका है.

जम्मू कश्मीर पुलिस उन लोगों के खिलाफ कठोर यूएपीए कानून का इस्तेमाल कर रही है जो कथित तौर पर सोशल मीडिया वेबसाइट इस्तेमाल करने के लिए वीपीएन या प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल कर रहे हैं.द वायरने पहले ही रिपोर्ट कर बताया था कि घाटी में इंटरनेट को आंशिक तौर पर बहाल किया गया है और सिर्फ करीब 350 वेबसाइट्स को ही इस्तेमाल करने की इजाजत दी गई है. सभी सोशल मीडिया साइट्स को बैन कर दिया गया है और यह पहला ऐसा मौका है जब प्रतिबंध तोड़ने के चलते एफआईआर दर्ज किया गया है.

यूपी: दाढ़ी रखने पर एक मुसलमान सब-इंस्पेक्टर के निलंबन का पूरा मामला - BBC News हिंदी साइकिल से 50 हज़ार किलोमीटर की यात्रा करने वाले कामरान - BBC News हिंदी Bihar Election 2020: प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम पर इनकम टैक्स का छापा, मिले साढ़े आठ लाख

पिछले साल पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के बाद सरकार ने इंटनेट पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया था. बाद में 3जी और 4जी प्रतिबंधों को 24 फरवरी तक के लिए बढ़ा दिया गया था. फिलहाल सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के बाद 2जी इंटरनेट सेवा बहाल की गई है.

हालांकि अब वीपीएन सर्वर का इस्तेमाल कर सोशल मीडिया साइट्स पर वीडियो अपलोड करने के संबंध में पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज करने का मामला सामने आया है.इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्टके मुताबिक सोशल मीडिया पर हुर्रियत नेता सैयद अली गिलानी का वीडियो अपलोड करने के बाद पुलिस ने वीपीएन सर्वर का इस्तेमाल करने वाले लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का फैसला किया है.

पुलिस ने कहा, ‘सोशल मीडिया के दुरुपयोग को गंभीरता से लेते हुए साइबर पुलिस स्टेशन, कश्मीर जोन, श्रीनगर ने विभिन्न सोशल मीडिया यूजर्स के खिलाफ केस दर्ज किया है, जिन्होंने सरकारी आदेशों की अवहेलना की और सोशल मीडिया प्लेटफार्मों का दुरुपयोग किया.’पुलिस के बयान में आगे कहा गया, ‘उपद्रवियों द्वारा सोशल मीडिया साइटों का दुरुपयोग कर अलगाववादी विचारधारा का प्रचार करने और गैरकानूनी गतिविधियों को बढ़ावा देने की खबरे मिलती रही हैं. सोशल मीडिया इनका एक पसंदीदा माध्यम बना हुआ है जो काफी हद तक यूजर्स को गुमनाम रखता है और उनकी पहुंच को भी बढ़ाता है.’

पुलिस ने कहा कि विभिन्न वीपीएन के उपयोग से उपद्रवियों द्वारा सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने का संज्ञान लेते हुए एफआईआर दायर की गई है. पुलिस ने कहा कि ये पोस्ट ‘कश्मीर घाटी के वर्तमान सुरक्षा परिदृश्य के संबंध में अफवाहों का प्रचार कर रहे हैं, अलगाववादी विचारधारा का प्रचार कर रहे हैं और आतंकी कृत्यों/आतंकवादियों का महिमामंडन कर रहे हैं.’

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक एफआईआर यूएपीए की धारा 13, भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और 505 तथा आईटी एक्ट की 66-ए (बी) के तहत दर्ज की गई है. एक तरफ यूएपीए का इस्तेमाल करना सवालों के घेरे में तो है ही, अन्य धाराओं पर भी विवाद है. अगर यह सही है, तो इसका मतलब है कि पुलिस ने एक बार फिर उस आईटी एक्ट की धारा 66 ए का इस्तेमाल करते हुए मामला दर्ज किया है, जिसे पहले ही खत्म किया जा चुका है.

सर्वोच्च न्यायालय ने 24 मार्च, 2015 को आईटी एक्ट की धारा 66ए को रद्द कर दिया था. हालांकि देश भर की पुलिस को यह समझ में नहीं आया और इस धारा के तहत लोगों को गिरफ्तार करना जारी रखा. पिछले साल फरवरी में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि सभी राज्य सरकारें यह सुनिश्चित करें कि उनकी पुलिस इस धारा के तहत मामला दर्ज नहीं करेगी.

बिहार चुनाव: जानिए आपके इलाक़े से कौन हैं एनडीए और महागठबंधन के उम्मीदवार - BBC News हिंदी मनीष पांडे और विजय शंकर ने राजस्थान रॉयल्स के छक्के छुड़ाए - BBC News हिंदी जंतर-मंतर पहुँचे महीनों से वेतन का इंतज़ार कर रहे दिल्ली के डॉक्टर - BBC News हिंदी और पढो: द वायर हिंदी »

डोनाल्ड ट्रम्प जानते हैं कि वे चुनाव हार चुके हैं, अब वे सिर्फ हार का अंतर कम करने की कोशिश में जुटे हैं

डोनाल्ड ट्रम्प अब भी 2020 का राष्ट्रपति चुनाव जीत सकते हैं। इसके 10 या 15% चांस हैं। लेकिन, अगर ऐसा होता है तो इसका श्रेय उनकी बंटवारे की कोशिशों के जाएगा। इसके लिए मैंने पहले ही कॉलम लिखकर रख लिया है। क्योंकि, फिलहाल जो कुछ हम देख रहे हैं वो उससे साफ जाहिर होता है कि वो सत्ता में बने रहने के बजाए अब हार का अंतर कम करने की कोशिश कर रहे हैं। | Donald Trump Vs Joe Biden 2020 Presidential Campaign; Here's New York Times (NYT) Latest US Election Opinion

पाक के लिये जासूसी में गिरफ्तार! सतीश मिश्र, दीपक त्रिवेदी, पंकज अय्यर, संजीत कुमार, संजय त्रिपाठी, बबलू सिंह, विकास कुमार, राहुल सिंह, संजय रावत, देवशरण गुप्ता, रिंकू त्यागी, ऋषि मिश्र, वेदराम्। इनकी फेसबुक पोस्ट पढ़ी तो पता चला सच्चे पक्के देशभक्त हैं! Shame on BJP RSS ideology government

अमित शाह ने मिलने का वादा किया है तो पुलिस ने रोका क्यों?गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारियों को उनके दफ़्तर से समय मांगना चाहिए और तीन दिन भीतर समय मिल जाएगा. पुलिस व्यवस्था को संवेदनशील बनाना बहुत जरूरी हैं ....जो आम लोगों की भावना को कदर नही करती हैं यह आश्चर्यजनक बात हैं कि मैंने इसकी शिकायत सुप्रीम कोर्ट से की थी उन्होंने ऐसी गंभीर मामलों में अभीतक संज्ञान नही लिया ....

गुवाहाटी HC ने किया साफ- नागरिकता के प्रमाण के तौर पर नहीं चलेंगे PAN, बैंक स्‍टेटमेंटCAA, NRC विवादः गुवाहाटी HC ने किया साफ- अब नागरिकता के प्रमाण के तौर पर नहीं चलेंगे PAN, बैंक स्‍टेटमेंट या जमीन की रसीद

दिल्ली में सुबह-सुबह मुठभेड़, पुलिस ने दो बदमाशों को किया ढेरarvindojha AajGothi दिल्ली पुलिस भी योगी की पुलिस निकली 😂 arvindojha AajGothi कहीं वो बिजेपी के KapilMishra_IND or p_sahibsingh तो नहीं 😂😂😂 जय श्री राम 🙏 arvindojha AajGothi कहीं वो बिजेपी के KapilMishra_IND or p_sahibsingh तो नहीं 😂😂😂

जामिया के वीडियो पर बवाल, कपिल सिब्बल ने दिल्ली पुलिस पर साधा निशानानागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ बीते साल दिल्ली में हुए प्रदर्शन के बीच जामिया यूनिवर्सिटी में बवाल हुआ था. इसी दौरान के कुछ वीडियो सामने आए हैं, जिसको लेकर अब राजनीति तेज हो गई है. आदरणीय पुलिस को घेरना। नाइंसाफ़ी एकसीलेटर पर राजनेतिक सत्ता के हाथ कार्यपालिका मशीन मात्र। कांग्रेस की सत्ता जब जब रही। याद करे। ताजा याद' पूज्य रामदेव जी के पंडाल मे रात को दिये गए निर्देश किस नृसंसता की श्रेणी मे आते हैं ।शेष आपको कई घटनाओं का अपना इतिहास। जय हिन्द। कब तक कविता करोगे सिबबल जी सच्चाई भी बयां कर दिया करो Sibbal! cant you think any think positive bloody fool.

शाहीन बाग के वार्ताकार से मिले दिल्ली पुलिस के अफसर, सड़क खुलवाने पर चर्चाकोर्ट ने कहा... लगी रहो.... मुल्ली बाई.. 😃😄🤣😂😃😄 कोर्ट ने दिशाहीनबाग में चल रहे मुल्लामुल्ली दोलन पर कहा विरोध का अधिकार है, पर सड़क रोककर लोगों को परेशान नहीं कर सकते। यानी ये जगह छोड़कर कहीं और जाकर विरोध करते रह सकते हैं🤔.. अंदोलन😜 बन्द करने की जरवत नी हे😁😄🤣 शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को केवल इलेक्ट्रॉनिक मीडिया खासकर रंडीटीवी भागतकएबीपी जैसे दलालभांड मीडिया के लोग भाव देते आ रहे हैं दादी दादा बुर्काढंकी मोटी औरतें जो चार पांच महीने के बच्चे कीहत्या के जिम्मेदार हैपूरी सड़कपूरे एरिया को इस अवैध प्रदर्शन से बंधक बनाए हुए हैं शर्मकरो मेरे पास एक तरीका है मारो सालों को गोली

चीन ने बढ़ी दाढ़ी और ज्यादा बच्चे होने के कारण उइगर मुस्लिमों को नजरबंद किया: रिपोर्टलीक हुए दस्तावेज में यह जानकारी सामने आई, इनमें 311 लोगों के नाम जिन्हें 2017-18 में काराकाक्स काउंटी में ‘री-एजुकेशन’ के लिए भेजा गया इस दस्तावेज में डाउनलोड किए गए वीडियो, इंटरनेट चैट मैसेजों, चेहरे की पहचान करने वाली उच्च तकनीक कैमरा की डिटेल भी है | China Uighur Muslim Latest News and Updates On China Xinjiang Camps amnesty हां तो इसमें गलत क्या है। चाइना भविष्य के लिए खुद को सुरक्षित कर रहा है। और यहां भारत खुद को खतरे में डालता जा रहा है। amnesty चायना सही करा रहा हैं amnesty ई तो साला होना ही था।।...