Tokyo, Paralympic, Player, Performance, Excellent, Summit

Tokyo, Paralympic

सुमित : एक और उपलब्धि की ओर पैरालंपिक चैंपियन

सुमित : एक और उपलब्धि की ओर पैरालंपिक चैंपियन

20-09-2021 21:58:00

सुमित : एक और उपलब्धि की ओर पैरालंपिक चैंपियन

तोक्‍यो पैरालंपिक खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। इस बार के पैरालंपिक खेल ऐतिहासिक और यादगार बन गए।

उनके अलावा निशानेबाज मनीष नरवाल, ऊंची कूद एथलीट शरद कुमार, पैरा शटलर प्रमोद भगत और भाला फेंक खिलाड़ी सुंदर सिंह गुर्जर के नाम मेजर ध्यान चंद खेल रत्न अवॉर्ड के लिए नाम किए गए हैं। ‘पैरालंपिक कमेटी आॅफ इंडिया’ की अध्यक्ष दीपा मलिक ने कहा, ‘इस बार सुमित और अवनि को अर्जुन अवॉर्ड के लिए भेजा गया है, दोनों ने अपने पदक से देश को गौरवान्वित किया है।

इसराइल में भारतीय वायु सेना का ‘मिराज’ लड़ाकू विमान क्या कर रहा है? - BBC News हिंदी आर्यन ख़ान को नहीं मिली अदालत से राहत, ख़ारिज हुई ज़मानत याचिका - BBC Hindi उत्तराखंड की नैनी झील कैसे तबाही की झील में तब्दील हुई - BBC News हिंदी

अवॉर्ड मिलने से खिलाड़ी 2024 पैरालंपिक खेलों में और बेहतर करने के लिए प्रेरित होंगे।’ सुमित और अवनि दोनों ने वर्ल्ड रेकॉर्ड के साथ गोल्ड मेडल जीते थे।अवनि ने गोल्ड के अलावा कांस्य पदक भी अपने नाम किया था। सुमित अंतिल ने 68.55 मीटर भाला फेंककर विश्व रेकॉर्ड भी कायम करने में सफलता पाई। भाला फेंक स्पर्धा में सुमित अंतिल ने निर्णायक दौर की प्रतियोगिता के दौरान पहले ही प्रयास में 66.95 मीटर का भाला फेंककर विश्व कॉर्ड बना दिया था। दूसरे प्रयास में सुमित ने 68.08 मीटर का भाला फेंका, तीसरे प्रयास में उन्होंने 68.55 मीटर दूर भाला फेंका।

सड़क हादसे में अपना एक पैर गंवाने वाले सुमित हरियाणा से हैं। जब सुमित सात साल के थे, तभी उनके पिता की बीमारी से मौत हुई थी। सात जून 1998 को पैदा होने वाले सुमित का यह सफर कठिनाइयों भरा रहा। छह साल पहले हुए सड़क हादसे में एक पैर गंवा दिया। बावजूद इसके उन्होंने जिंदगी में कभी हार नहीं मानी। हर परिस्थिति का डटकर सामना किया। headtopics.com

सुमित जब सात साल के थे, तब वायुसेना में तैनात पिता की मौत हो गई। तीन बेटियों और इकलौते बेटे को पालना मां के लिए आसान नहीं था। 2015 की एक शाम 17 साल के सुमित की बाइक को किसी ट्रैक्टर-ट्रॉली ने टक्कर मार दी। दुर्घटना में हमेशा-हमेशा के लिए एक पैर गंवाना पड़ा। कई महीनों तक अस्पताल में भर्ती रहने के बाद साल 2016 में सुमित को नकली पैर लगाया गया। खेलों के प्रति तो शुरू से ही रुझान था। कोच वीरेंद्र धनखड़ ने उनका मार्गदर्शन किया। दिल्ली में कोच नवल सिंह ने उन्हें भाला फेंक के गुर सिखाए।

साल 2018 में एशियाई चैंपियनशिप में पांचवीं रैंक मिली। अगले साल 2019 में वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता, फिर इसी साल हुए राष्ट्रीय खेलों में सोना जीतकर अपनी परेशानियों को उपलब्धियों के आगे बौना साबित कर दिया। और पढो: Jansatta »

दैनिक भास्कर से बोलीं कश्मीर की बेटी श्रद्धा बिंद्रू: मैं दुनिया को बताना चाहती हूं कि कश्मीर हमारा है, कोई डरा-धमकाकर हमारे हौसले को पस्त नहीं कर सकता

‘तुम सिर्फ शरीर को मार सकते हो, मेरे पिता की आत्मा को नहीं। अगर हिम्मत है तो सामने आओ, तुम लोग केवल पत्थर फेंक सकते हो या पीछे से गोली चला सकते हो। मैंने हिंदू होते हुए भी कुरान पढ़ी है। कुरान कहती है कि शरीर का जो चोला है, यह तो बदल जाएगा, लेकिन इंसान का जो जज्बा है, वह कहीं नहीं जाएगा। माखनलाल बिंद्रू इसी जज्बे में हमेशा जिंदा रहेंगे।’ यह कहना है आतंकियों को सरेआम ललकारने वालीं श्रीनगर में कश्मीर... | वुमन भास्कर ने श्रद्धा बिंद्रू से बात की। उन्होंने कश्मीर और कश्मीरियत का हवाला देते हुए कहा-हम इसी मिट्‌टी में पैदा हुए हैं, हमें इससे प्यार है। हमारे पिता ने भी इसी के लिए जान दी।

गुजरातः महिला से कई बार बलात्कार के आरोप में एक फोटोग्राफर, वकील और डॉक्टर गिरफ़्तारघटना आणंद की है, जहां एक महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि बीते डेढ़ साल में तीनों आरोपियों ने साज़िशन कई बार उनका बलात्कार किया, जबरन उनकी निजी तस्वीरें खींची और उन्हें लीक करने की धमकी दी. Freind gujrath Mey jo hothia vo modi ji key dream role Kia new vision hothia hey es bath ke truth thinks modi ji apni pm beney say pheley Desh ke her city Mey gumker an theke bethey hey ok गुजरात मे तो रामराज्य है।।।।। BJP4Gujarat

आज का जीवन मंत्र: इंसान के शरीर का खून और इसका एक-एक अंग बहुत मूल्यवान है, इसलिए किसी को नुकसान न पहुंचाएंकहानी - गौतम बुद्ध से जुड़ी घटना है। उस समय शाक्यों और कोलियों के बीच पानी को लेकर विवाद चल रहा था। पानी रोहिणी नदी का था। दोनों ही राज्य खुद इस नदी के पानी का उपयोग करना चाहते थे, लेकिन दूसरे राज्य को पानी नहीं देना चाहते थे। | aaj ka jeevan mantra by pandit vijayshankar mehta, story of gautam buddha, prerak katha

अमेरिका में कोरोना का कहर, एक दिन में 2,579 मौतें, ब्राजील में 935 और रूस में 793 की गई जान, जानें बाकी मुल्‍कों का हालदुनियाभर में कोरोना के संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 22.81 करोड़ हो गया है जबकि महामारी से 46.8 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका दुनिया में सबसे ज्‍यादा प्रभावित देश है। जानें दुनिया के बाकी मुल्‍कों का हाल...

Punjab CM Oath Ceremony Live Updates: एक ही गाड़ी से राजभवन पहुंचे चन्नी, रावत और सिद्धू, थोड़ी देर में होगा शपथग्रहणपंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद चरणजीत सिंह चन्नी सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। बताया जा रहा है कि चन्नी के साथ दो उपमुख्यमंत्री भी शपथ ले सकते हैं। कांग्रेस विधायक दल के नेता चुने गए चन्नी ने रविवार को बताया था कि उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की है और उन्हें शपथ ग्रहण के लिए 11 बजे का समय दिया गया है। पाॅपकोर्न का पैकेट लेकर पर्दे पर नजर गड़ाये रहों...

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को फिर लगा झटका, सुरक्षा कारणों के चलते एक और देश ने रद्द किया दौरापाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को एक और झटका, न्यूजीलैंड के बाद अब इस देश ने भी सुरक्षा कारणों से रद्द किया दौरा PakistanCricketBoard PCB BadNews SecurityThreat PakistanCricket CricketInPakistan TourCancelled ImranKhan RamizRaja

खुद्दार कहानी: एक लड़की को डस्टबिन से पैड उठाते देखा तभी से गरीबों के बीच मुफ्त बांट रही हैं सैनिटरी पैड्स और पैंटी, PM मोदी और अक्षय कुमार भी कर चुके हैं तारीफकरीब 10 साल पहले की बात है। मैं कार से ट्रैवल कर रही थी, रास्ते में एक लड़की दिखी जो डस्टबिन से कुछ उठा रही थी। गाड़ी धीरे की तो पता चला कि वह कूड़े के ढेर से इस्तेमाल किया हुआ पैड निकाल रही थी। उसे ऐसा करते देख मैं खुद को रोक नहीं पाई। मैंने गाड़ी रोकी और उससे पूछा कि वह ऐसा क्यों कर रही है? उस लड़की ने बताया कि मैं इसे धोकर इस्तेमाल करूंगी। उस घटना ने मुझे झकझोर दिया। उस दिन के बाद से मैंने तय क... | Saw a girl picking up a pad from the dustbin, since then she has been distributing sanitary pads and panties for free among the poor, PM Modi and Akshay Kumar have also praised शिक्षक_ट्रांसफर_पोर्टल_चालू_करो ChouhanShivraj JM_Scindia Indersinghsjp माननीय चौराहों पर ये चर्चा ए आम है कि भाजपा शासन में सिर्फ आलपिन से काम है क्योंकि सच्चाई कभी दफन नहीं होती काला तो बहुत हो चुका, अब उस पर सफेद पोत दीजिये समदर्शी बनकर पोर्टल पुनः चालू कर दीजिये One day I will also do it for our nation.... Thanks for realization to one of the major problems... 😊🙏🙏🙏