Agr, Reliance Jio, Agr, Supreme Court, Telecom Department, Vodafone İdea, Airtel, Business News İn Hindi, Business Diary News İn Hindi, Business Diary Hindi News

Agr, Reliance Jio

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बाद बकाया चुकाएंगी एयरटेल-वोडा आइडिया, जियो ने किया 195 करोड़ का भुगतान

दूरसंचार कंपनियों के लिए 1.47 लाख करोड़ रुपये के समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) के भुगतान की समयसीमा बृहस्पतिवार को बीत गई।

23.1.2020

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बाद बकाया चुकाएंगी एयरटेल-वोडा आइडिया, जियो ने किया 195 करोड़ का भुगतान reliancejio airtel india VodafoneIN Idea Agr

दूरसंचार कंपनियों के लिए 1.47 लाख करोड़ रुपये के समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) के भुगतान की समयसीमा बृहस्पतिवार को बीत गई।

इससे पहले भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने दूरसंचार विभाग (डॉट) को सूचित कर दिया कि वे 88,624 करोड़ रुपये का एजीआर बकाया नहीं चुकाएंगी। सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए कहा कि दोनों कंपनियों ने अगले सप्ताह सुप्रीम कोर्ट में संशोधन याचिका पर होने वाली सुनवाई का इंतजार करने की बात कही है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने एजीआर बकाये के लिए 23 जनवरी की समयसीमा तय की थी। वहीं जियो ने समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) की मद में दूरसंचार विभाग को गुरुवार को 195 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया। यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने दी है। दूरसंचार विभाग के फॉर्मूले के अनुसार रिलायंस जियो को 23 जनवरी तक बकाया के रूप में 177 करोड़ रुपये का भुगतान करना था। आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि अब जियो ने 31 जनवरी 2020 तक के लिए सभी प्रकार के बकाया का भुगतान कर दिया है। दोनों कंपनियों ने डॉट से सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई के नतीजों के आधार पर भुगतान के उन्हें समय देने का अनुरोध किया है। उधर तीन साल पहले बाजार में आगाज करने वाली रिलायंस जियो ने संभवत: अपनी 195 करोड़ रुपये का एजीआर बकाया चुका दिया है। रिलायंस जियो ने एक बयान में कहा कि उसने 31 जनवरी, 2020 तक के लिए 195 करोड़ रुपये के बकाये का भुगतान डॉट को कर दिया है। हालांकि, कंपनी ने अदालत के आदेश के क्रम में 177 करोड़ रुपये का प्रावधान किया था। एक सूत्र ने कहा, ‘वोडाफोन आइडिया और भारती एयरटेल ने डॉट को भेजे संदेश में पहले सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई का इंतजार करने की बात कही है।’ दूरसंचार कंपनियों को सांविधिक बकायों के रूप में सरकार को लगभग 1.47 लाख करोड़ रुपये चुकाने हैं। वहीं सरकार की 26.12 फीसदी हिस्सेदारी वाली टाटा कम्युनिकेशंस ने भी डॉट की 6,633 करोड़ रुपये की एजीआर मांग के लिए कोई प्रावधान नहीं किया है, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने उसकी याचिका को सुनवाई के लिए शामिल नहीं किया है। कंपनी ने कहा कि उसने सितंबर तिमाही में डॉट से मिले मांग नोटिस का जवाब दे दिया है, लेकिन विभाग की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। दूसंचार कंपनियों को लाइसेंस शुल्क के 92,642 करोड़ रुपये, स्पेक्ट्रम शुल्क के 55,054 करोड़ रुपये सरकार को चुकाने हैं। सुप्रीम कोर्ट ने अक्तूबर में कहा था कि गैर दूरसंचार राजस्व के आधार पर सांविधिक बकायों यानी एजीआर की गणना की जानी चाहिए। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के 24 अक्तूबर के आदेश के क्रम में लाइसेंसी कंपनियों से बकाया वसूलने के निर्देश दिए थे। दूरसंचार कंपनियों पर कार्रवाई नहीं करेगा डॉट डॉट की लाइसेंसिंग फाइनेंस पॉलिसी विंग ने कहा कि सभी संबंधित विभागों को सुप्रीम कोर्ट के अग्रिम आदेश तक एजीआर का भुगतान नहीं करने वाली कंपनियों पर कार्रवाई नहीं करने के निर्देश दिए गए हैं। एक आधिकारिक सूत्र ने बताया, ‘लाइसेंसिंग विंग के निदेशक ने इस संबंध में सभी विभागों को निर्देश दे दिए हैं।’ सदस्य (वित्त) की मंजूरी के बाद ही यह निर्देश जारी किया गया है, जो राजस्व से जुड़े डॉट के विभागों के प्रमुख हैं। संवाद की कमी से डॉट ने पीएसयू से मांगे 3 लाख करोड़: प्रधान तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि ‘संवाद की कमी’ के चलते डॉट ने गेल, ऑयल इंडिया और पावरग्रिड जैसी गैर दूरसंचार कंपनियों से लगभग 3 लाख करोड़ रुपये की मांग की है। इन कंपनियों के ऊपर ऐसी किसी धनराशि की देनदारी नहीं बनती है। डॉट गेल इंडिया से 1.72 लाख करोड़ रुपये, ऑयल इंडिया से 48 हजार करोड़ रुपये, पावरग्रिड से 40 हजार करोड़ रुपये और रेल व एक अन्य सरकारी कंपनी से ऐसी ही मांग कर रहा है। डॉट की यह मांग सरकारी कंपनियों की कुल नेटवर्थ से काफी ज्यादा है। प्रधान ने कहा, ‘हम दूरसंचार मंत्रालय से बातचीत कर रहे हैं। हमने मांग पर अपना जवाब दे दिया था। संभवत: संवाद की कमी के चलते भारत सरकार का एक विभाग, दूसरे विभाग के अंतर्गत आने वाली पीएसयू से ऐसी मांग कर रहा है।’ सार 23 जनवरी की समयसीमा बीती, जियो ने चुकाए 195 करोड़ रुपये 88,624 करोड़ रुपये चुकाने हैं वोडा आइडिया और एयरटेल को विस्तार इससे पहले भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने दूरसंचार विभाग (डॉट) को सूचित कर दिया कि वे 88,624 करोड़ रुपये का एजीआर बकाया नहीं चुकाएंगी। सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए कहा कि दोनों कंपनियों ने अगले सप्ताह सुप्रीम कोर्ट में संशोधन याचिका पर होने वाली सुनवाई का इंतजार करने की बात कही है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने एजीआर बकाये के लिए 23 जनवरी की समयसीमा तय की थी। विज्ञापन वहीं जियो ने समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) की मद में दूरसंचार विभाग को गुरुवार को 195 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया। यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने दी है। दूरसंचार विभाग के फॉर्मूले के अनुसार रिलायंस जियो को 23 जनवरी तक बकाया के रूप में 177 करोड़ रुपये का भुगतान करना था। आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि अब जियो ने 31 जनवरी 2020 तक के लिए सभी प्रकार के बकाया का भुगतान कर दिया है। दोनों कंपनियों ने डॉट से सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई के नतीजों के आधार पर भुगतान के उन्हें समय देने का अनुरोध किया है। उधर तीन साल पहले बाजार में आगाज करने वाली रिलायंस जियो ने संभवत: अपनी 195 करोड़ रुपये का एजीआर बकाया चुका दिया है। रिलायंस जियो ने एक बयान में कहा कि उसने 31 जनवरी, 2020 तक के लिए 195 करोड़ रुपये के बकाये का भुगतान डॉट को कर दिया है। हालांकि, कंपनी ने अदालत के आदेश के क्रम में 177 करोड़ रुपये का प्रावधान किया था। एक सूत्र ने कहा, ‘वोडाफोन आइडिया और भारती एयरटेल ने डॉट को भेजे संदेश में पहले सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई का इंतजार करने की बात कही है।’ दूरसंचार कंपनियों को सांविधिक बकायों के रूप में सरकार को लगभग 1.47 लाख करोड़ रुपये चुकाने हैं। वहीं सरकार की 26.12 फीसदी हिस्सेदारी वाली टाटा कम्युनिकेशंस ने भी डॉट की 6,633 करोड़ रुपये की एजीआर मांग के लिए कोई प्रावधान नहीं किया है, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने उसकी याचिका को सुनवाई के लिए शामिल नहीं किया है। कंपनी ने कहा कि उसने सितंबर तिमाही में डॉट से मिले मांग नोटिस का जवाब दे दिया है, लेकिन विभाग की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। दूसंचार कंपनियों को लाइसेंस शुल्क के 92,642 करोड़ रुपये, स्पेक्ट्रम शुल्क के 55,054 करोड़ रुपये सरकार को चुकाने हैं। सुप्रीम कोर्ट ने अक्तूबर में कहा था कि गैर दूरसंचार राजस्व के आधार पर सांविधिक बकायों यानी एजीआर की गणना की जानी चाहिए। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के 24 अक्तूबर के आदेश के क्रम में लाइसेंसी कंपनियों से बकाया वसूलने के निर्देश दिए थे। दूरसंचार कंपनियों पर कार्रवाई नहीं करेगा डॉट डॉट की लाइसेंसिंग फाइनेंस पॉलिसी विंग ने कहा कि सभी संबंधित विभागों को सुप्रीम कोर्ट के अग्रिम आदेश तक एजीआर का भुगतान नहीं करने वाली कंपनियों पर कार्रवाई नहीं करने के निर्देश दिए गए हैं। एक आधिकारिक सूत्र ने बताया, ‘लाइसेंसिंग विंग के निदेशक ने इस संबंध में सभी विभागों को निर्देश दे दिए हैं।’ सदस्य (वित्त) की मंजूरी के बाद ही यह निर्देश जारी किया गया है, जो राजस्व से जुड़े डॉट के विभागों के प्रमुख हैं। संवाद की कमी से डॉट ने पीएसयू से मांगे 3 लाख करोड़: प्रधान तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि ‘संवाद की कमी’ के चलते डॉट ने गेल, ऑयल इंडिया और पावरग्रिड जैसी गैर दूरसंचार कंपनियों से लगभग 3 लाख करोड़ रुपये की मांग की है। इन कंपनियों के ऊपर ऐसी किसी धनराशि की देनदारी नहीं बनती है। डॉट गेल इंडिया से 1.72 लाख करोड़ रुपये, ऑयल इंडिया से 48 हजार करोड़ रुपये, पावरग्रिड से 40 हजार करोड़ रुपये और रेल व एक अन्य सरकारी कंपनी से ऐसी ही मांग कर रहा है। डॉट की यह मांग सरकारी कंपनियों की कुल नेटवर्थ से काफी ज्यादा है। प्रधान ने कहा, ‘हम दूरसंचार मंत्रालय से बातचीत कर रहे हैं। हमने मांग पर अपना जवाब दे दिया था। संभवत: संवाद की कमी के चलते भारत सरकार का एक विभाग, दूसरे विभाग के अंतर्गत आने वाली पीएसयू से ऐसी मांग कर रहा है।’ और पढो: Amar Ujala

अब्दुल्ला और मुफ़्ती की रिहाई की दुआ करता हूं: राजनाथ सिंह



सीएए विरोधी जनांदोलन से पैदा हो रहे गीत और कविताएं प्रतिरोध की नई इबारत लिख रहे हैं

जाफराबाद पर कपिल मिश्रा का ट्वीट- 'जब तक आपके दरवाजे तक ना आ जाएं, चुप रहिए'



सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे अयोध्या, आरोग्य मेला का उद्घाटन करने के बाद महंत नृत्यगोपाल दास से मिलेंगे

अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं मोदी सरकार, मुसलमान जिगर का टुकड़ा: राजनाथ सिंह



Hunar Haat manages to become one of biggest events to celebrate legacy of traditional arts & crafts

दुश्मन की नहीं खैर, आ रहा 'कॉकरोच' ड्रोन, बंकर में छिपे दुश्मन को खोज निकालेगा



reliancejio airtelindia VodafoneIN Idea

कोरोनावायरस के प्रकोप के बीच चीन के वुहान में स्थानीय लोगों के यात्रा करने पर प्रतिबंधकोरोनावायरस के प्रकोप के बीच चीन के वुहान में स्थानीय लोगों के यात्रा करने पर प्रतिबंध coronavirus China WuhanCoronavirus Wuhan

देश तक: CAA पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?नागरिकता संशोधन कानून (CAA) पर रोक लगाने से फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने इंकार कर दिया है. लेकिन शाहीनबाग में इस कानून के खिलाफ धरना जारी है. जिसपर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी ने एक जोरदार तंज मारा है. वहीं छोटे ओवैसी ने मुगलराज पर अपना ज्ञान देकर एक नई बहस छेड़ दी है. साथ ही दिखाएंगे मुंबई में महाराष्ट्र विकास अघाड़ी के 100 दिन पूरे होने पर उद्धव ठाकरे रामलला के दर्शन करने अयोध्या जाएंगें. देशभर की सभी अहम खबरों के लिए देखिए देश तक. chitraaum मतलब नेतगन मस्त और जनता त्रस्त, इस लिए NPR NRC CAA जैंसे कानून लाकर आम जनता को रखना है व्यस्त सलाम_महिला_शक्ति_शाहीनबाग WeReject_CAA_NPR_NRC IndiaAgainstCAA_NPR_NRC IndiaRejectsCAA_NRC_NPR IndiaDoesNotSupportCAA_NPR_NRC chitraaum It is really wonderful to expect Concord in Courts after dividing 2.7 acres of Ram by a Court. Truth is not clear clear to Angels of Heaven but Sons of God declare to have perfect knowledge about Him by messages of Heaven. chitraaum 💐वाह! क्या हेडलाइंस दिया है👌 इसे कहते हैं.... चौथा स्तंभ👍

CAA: 131 याचिकाएं कानून के खिलाफ दायर, सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को होगी सुनवाईनागरिकता संशोधन कानून (CAA) पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के लिए कुल 133 याचिकाएं लिस्टेड हैं. कल सारी याचिकाएँ सुप्रीम कोर्ट कूड़ेदान में फेंक देगा।क्योंकि ये कानून पार्लियामेंट में पास हुवा है।ये bjp दफ्तर में पास नही हुआ है दायर करने वाले ही देश के लिए घातक है। सबको रदद् कर दो, अराजकता फैलाने वालों की भद्द कर दो, खामोश!

सीएए की सुनवाई से पहले सुप्रीम कोर्ट के बाहर धरने पर बैठीं महिलाएंनागरिकता संशोधन कानून पर सुनवाई से पहले मंगलवार रात को सुप्रीम कोर्ट के बाहर करीब 20 महिलाएं बच्‍चों के साथ धरने पर बैठ गईं। Kya bakloli hai ye 😂😂😂 Sabke miyan bangladeshi!!!? I will support caa

CAA : 144 याचिकाओं पर 'सुप्रीम' सुनवाई आज, कोर्ट के बाहर से महिलाओं और बच्चों को खदेड़ाCAA : 144 याचिकाओं पर 'सुप्रीम' सुनवाई आज, कोर्ट के बाहर से महिलाओं और बच्चों को खदेड़ा DelhiPolice AmitShahOffice AmitShah CAAProtest ShaheenBaghProtest CAA_NRCProtests DelhiPolice AmitShahOffice AmitShah तुम जितने शाइनबाग बनाओगे, हम उतने योगी लायेगे | पतीला , खाना ,बोरिया - बिस्तर, कम्बल ,तम्बू भी ले जायेगे | फिर भी न माने तो शौचालय भी बन्द करवायेगे | दंगा फैलाया तो जुर्माना भी वसूलवायेगे | लेकिन CAA किसी कीमत पर वापस नही होने देगे | DelhiPolice AmitShahOffice AmitShah Salute police DelhiPolice AmitShahOffice AmitShah tana sahi sarkar

CAA के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट पहुंची बलूचिस्तान हिन्दू पंचायत, सुनवाई में पक्षकार बनने की मांगCAA पर सुप्रीम कोर्ट में बलूचिस्तान हिन्दू पंचायत ने दी अर्जी, सुनवाई में पक्षकार बनने की मांग CAAHearing CAA_NPR_Protest CAAProtest baluchestan



डोनल्ड ट्रंप के लिए भारत में 'धार्मिक आज़ादी' एक अहम मुद्दा

ट्रंप के दौरे के खर्च पर क्यों भिड़ीं कांग्रेस और बीजेपी

दिल्ली के जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास 200 से ज्यादा महिलाओं ने जाम की सड़क, भीम आर्मी के 'भारत बंद' का दिया हवाला

मुलाकात के बाद बोले उद्धव ठाकरे, PM ने पूरे देश में NRC लागू नहीं करने का दिया आश्वासन

चौतरफा विरोध के बाद झुके वारिस पठान, 15 करोड़ मुसलमान वाले बयान पर मांगी माफी

भारत के उग्रवादी विचार के निर्माण के लिए राष्‍ट्रवाद, 'भारत माता की जय' नारे का हो रहा है गलत इस्‍तेमाल : मनमोहन सिंह

नागपुर में चंद्रशेखर बोले- RSS पर लगना चाहिए बैन, तभी खत्म होगा मनुवाद

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

23 जनवरी 2020, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

राज ठाकरे ने भी बेटे को उतारा सियासत में

अगली खबर

दावोस में क्यों भड़के इमरान, बोले- बंद कर दिया टीवी देखना और अखबार पढ़ना - trending clicks AajTak
अब्दुल्ला और मुफ़्ती की रिहाई की दुआ करता हूं: राजनाथ सिंह सीएए विरोधी जनांदोलन से पैदा हो रहे गीत और कविताएं प्रतिरोध की नई इबारत लिख रहे हैं जाफराबाद पर कपिल मिश्रा का ट्वीट- 'जब तक आपके दरवाजे तक ना आ जाएं, चुप रहिए' सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे अयोध्या, आरोग्य मेला का उद्घाटन करने के बाद महंत नृत्यगोपाल दास से मिलेंगे अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं मोदी सरकार, मुसलमान जिगर का टुकड़ा: राजनाथ सिंह Hunar Haat manages to become one of biggest events to celebrate legacy of traditional arts & crafts दुश्मन की नहीं खैर, आ रहा 'कॉकरोच' ड्रोन, बंकर में छिपे दुश्मन को खोज निकालेगा एक और शाहीन बाग बनता जाफराबाद, CAA के खिलाफ सड़क रोककर धरने पर बैठीं महिलाएं असम सरकार का ऐलान, सरकारी स्कूलों से हटेगा अरबी शब्द 'मकतब' दिल्ली के जाफ़राबाद इलाके में भारी सुरक्षा बल तैनात नीतीश कुमार का दावा- बिहार चुनाव में 200 से भी ज्यादा सीटों पर होगी NDA की जीत PMO में जगह चाहते थे प्रशांत किशोर, नरेंद्र मोदी से कारोबारी ने कराई थी मुलाकात- रिपोर्ट
डोनल्ड ट्रंप के लिए भारत में 'धार्मिक आज़ादी' एक अहम मुद्दा ट्रंप के दौरे के खर्च पर क्यों भिड़ीं कांग्रेस और बीजेपी दिल्ली के जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास 200 से ज्यादा महिलाओं ने जाम की सड़क, भीम आर्मी के 'भारत बंद' का दिया हवाला मुलाकात के बाद बोले उद्धव ठाकरे, PM ने पूरे देश में NRC लागू नहीं करने का दिया आश्वासन चौतरफा विरोध के बाद झुके वारिस पठान, 15 करोड़ मुसलमान वाले बयान पर मांगी माफी भारत के उग्रवादी विचार के निर्माण के लिए राष्‍ट्रवाद, 'भारत माता की जय' नारे का हो रहा है गलत इस्‍तेमाल : मनमोहन सिंह नागपुर में चंद्रशेखर बोले- RSS पर लगना चाहिए बैन, तभी खत्म होगा मनुवाद #IndiaKaArth: गृह मंत्री अमित शाह ने की ZEE NEWS के एडिटर-इन-चीफ सुधीर चौधरी की तारीफ ट्रंप की भारत यात्रा से पहले व्हाइट हाउस ने दी जानकारी, पीएम मोदी के सामने अमेरिकी राष्ट्रपति उठाएंगे धार्मिक स्वतंत्रता का मुद्दा डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के खर्च पर विवाद, प्रियंका गांधी ने पूछा- सरकार ने कितना पैसा दिया? सोनभद्र में सोने का भंडार मिलने पर बोले यूपी के डिप्टी CM- ये राम जी की कृपा अब्दुल्ला, मुफ्ती की जल्द रिहाई के लिए प्रार्थना करता हूं : राजनाथ सिंह