Supremecourt, Affidavit, Media, Covid 19, Covid 19, Supreme Court, Center Government, Epidemic, Epidemic Management, Coronavirus, Corona Cases İn İndia, Corona News, Coronavirus İndia, Coronavirus Vaccine, Coronavirus News İndia, Coronavirus Cases, Corona Vaccine, Corona İn İndia, Corona Cases İn İndia Today, Ladengecoronase, Covishield Vaccine, Covaxin

Supremecourt, Affidavit

सुप्रीम कोर्ट : हमने तो अखबार पढ़कर जाना कि हलफनामे में क्या है, जजों से पहले मीडिया तक पहुंच गया

कोविड-19 महामारी प्रबंधन व इससे संबंधित अन्य मामलों में केंद्र सरकार का हलफनामा मीडिया में लीक होने पर सुप्रीम कोर्ट

11-05-2021 04:33:00

सुप्रीम कोर्ट : हमने तो अखबार पढ़कर जाना कि हलफनामे में क्या है, जजों से पहले मीडिया तक पहुंच गया SupremeCourt Affidavit Media Covid19 MoHFW_INDIA PMOIndia

कोविड-19 महामारी प्रबंधन व इससे संबंधित अन्य मामलों में केंद्र सरकार का हलफनामा मीडिया में लीक होने पर सुप्रीम कोर्ट

उन्होंने कहा कि जजों तक हलफनामा पहुंचने से पहले मीडिया तक पहुंच गया। इस पर केंद्र की ओर से सॉलिसिटर जनरल ने इस पर सफाई दी कि हमने राज्यों को हलफनामा दिया था, इसलिए ऐसा संभव हुआ हो। तकनीकी खामियों की वजह से सुनवाई नहीं हो सकी। अगली सुनवाई बृहस्पतिवार को होगी।

किसानों के लिए 'मवाली' शब्द इस्तेमाल कर पीछे हटीं बीजेपी नेता मीनाक्षी लेखी - BBC Hindi दैनिक भास्कर पर IT रेड के खिलाफ भड़का जनाक्रोश: विपक्षी दलों ने सरकार पर बोला हमला- कहा लोकतंत्र की हत्या हो रही; आम लोगों ने कहा- मैं भी भास्कर हूं आंदोलनकारी किसानों को 'मवाली' कहा केंद्रीय मंत्री ने, क्या बोले इस पर किसान - BBC Hindi

दरअसल, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड, जस्टिस एल नागेश्वर राव और जस्टिस एस रवींद्र भट की पीठ के समक्ष वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कोविड-19 प्रबंधन, टीकों की कीमतों, दिल्ली की सीमाओं पर बैठे किसानों को हटाने सहित कोविड से जुडे़ 21 अलग-अलग याचिकाओं पर सुनवाई होनी थी। सुनवाई सुबह 11 बजे से शुरू होनी थी, लेकिन तकनीकी खामियों की वजह से तीनों जजों को भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जोड़ने में वक्त लगा।

कॉन्फ्रेंस से जुड़ने के बाद जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा, केंद्र सरकार ने रविवार देर रात हलफनामा सुप्रीम कोर्ट पहुंचाया, जिस वजह से हम उसे पढ़ नहीं सकें। हमारे साथी जजों को सोमवार सुबह मिला, लेकिन मीडिया के पास ये रात में ही पहुंच गया था।इस बीच, मनिंदर सिंह सहित कई वरिष्ठ वकील भी इस वीडियो कॉन्फ्रेंस से जुड़ने के लिए कंट्रोल रूम से आग्रह करते रहे। करीब 40 मिनट तक खामियों को दूर करने की कोशिश की गई, लेकिन वह असफल रही। बाद में तीनों जज भी डिस्कनेक्ट हो गए। headtopics.com

कुछ देर बाद जस्टिस भट स्क्रीन पर नजर आए। उन्होंने वकीलों को बताया कि आज सर्वर में दिक्कत है। जस्टिस भट ने कहा, हम सभी ने निर्णय लिया है कि हलफनामा पढ़ने के बाद इस पर सुनवाई की जाए। अब हम बृहस्पतिवार को सुनवाई करेंगे।वर्चुअल कोर्ट में एक वक्त में 200 लोग ही

जानकारी के मुताबिक, एक वर्चुअल कोर्ट में एक वक्त में 200 लोग ही रह सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट सर्वर की क्षमता 200 की है। वकीलों का कहना है कि सर्वर की क्षमता को बढ़ाया जाना चाहिए।...जब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान सुनाई दिया सोनिया का भाषणकोविड प्रबंधन से जुडे़ मामले की ऑनलाइन सुनवाई के दौरान उस वक्त अजीबोगरीब स्थिति पैदा हो गई जब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का भाषण सुनाई देने लगा। दरअसल, सुनवाई शुरू होने से थोड़ी देर पहले सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कंट्रोल रूम से वरिष्ठ वकील व कांग्रेस नेता पी चिदंबरम की आवाज बंद करने का आग्रह किया।

चिदंबरम ने मेहता के माध्यम से कंट्रोल रूम तक यह बात पहुंचाने के लिए कही थी। जैसे ही कंट्रोल रूम की ओर से चिदंबरम की आवाज बंद की गई, वहां से सोनिया गांधी का कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक का संबोधन सुनाई देने लगा। जिनके बाद वर्चुअल कोर्ट रूम के मौजूद वकील हंस पडे़।

वर्चुअल कोर्ट रूम में मौजूद दूसरे कांग्रेस नेता व वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल को अपने साथी चिदंबरम से कहना पड़ा, इसे बंद करें। सिब्बल कुछ समय पहले से ही वर्चुअल कोर्ट रूम में मौजूद थे। हालांकि उनके बैकग्राउंड से सोनिया का भाषण सुनाई नहीं दे रहा था।विस्तार headtopics.com

जासूसी मामले में नया खुलासा: पेगासस स्पायवेयर की लिस्ट में अनिल अंबानी और पूर्व CBI प्रमुख आलोक वर्मा के भी नाम दैनिक भास्कर पर इनकम टैक्स छापों की निंदा: हरियाणा-पंजाब के नेताओं ने कहा-यह प्रेस की आजादी पर हमला, कोरोनाकाल में जनता की आवाज उठाने से डर गई सरकार IT रेड पर वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष बोले: दैनिक भास्कर ने निर्भीक पत्रकारिता की है, सरकार उसकी आवाज दबाना चाहती है; यह हमारे डेमोक्रेसी की आत्मा पर हमला है

ने सोमवार को जमकर खिंचाई की। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने तंज कसते हुए कि हमने तो एक अखबार से पढ़कर जान लिया कि हलफनामे में क्या है।विज्ञापनउन्होंने कहा कि जजों तक हलफनामा पहुंचने से पहले मीडिया तक पहुंच गया। इस पर केंद्र की ओर से सॉलिसिटर जनरल ने इस पर सफाई दी कि हमने राज्यों को हलफनामा दिया था, इसलिए ऐसा संभव हुआ हो। तकनीकी खामियों की वजह से सुनवाई नहीं हो सकी। अगली सुनवाई बृहस्पतिवार को होगी।

दरअसल, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड, जस्टिस एल नागेश्वर राव और जस्टिस एस रवींद्र भट की पीठ के समक्ष वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कोविड-19 प्रबंधन, टीकों की कीमतों, दिल्ली की सीमाओं पर बैठे किसानों को हटाने सहित कोविड से जुडे़ 21 अलग-अलग याचिकाओं पर सुनवाई होनी थी। सुनवाई सुबह 11 बजे से शुरू होनी थी, लेकिन तकनीकी खामियों की वजह से तीनों जजों को भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जोड़ने में वक्त लगा।

कॉन्फ्रेंस से जुड़ने के बाद जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा, केंद्र सरकार ने रविवार देर रात हलफनामा सुप्रीम कोर्ट पहुंचाया, जिस वजह से हम उसे पढ़ नहीं सकें। हमारे साथी जजों को सोमवार सुबह मिला, लेकिन मीडिया के पास ये रात में ही पहुंच गया था।इस बीच, मनिंदर सिंह सहित कई वरिष्ठ वकील भी इस वीडियो कॉन्फ्रेंस से जुड़ने के लिए कंट्रोल रूम से आग्रह करते रहे। करीब 40 मिनट तक खामियों को दूर करने की कोशिश की गई, लेकिन वह असफल रही। बाद में तीनों जज भी डिस्कनेक्ट हो गए।

कुछ देर बाद जस्टिस भट स्क्रीन पर नजर आए। उन्होंने वकीलों को बताया कि आज सर्वर में दिक्कत है। जस्टिस भट ने कहा, हम सभी ने निर्णय लिया है कि हलफनामा पढ़ने के बाद इस पर सुनवाई की जाए। अब हम बृहस्पतिवार को सुनवाई करेंगे।वर्चुअल कोर्ट में एक वक्त में 200 लोग ही headtopics.com

जानकारी के मुताबिक, एक वर्चुअल कोर्ट में एक वक्त में 200 लोग ही रह सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट सर्वर की क्षमता 200 की है। वकीलों का कहना है कि सर्वर की क्षमता को बढ़ाया जाना चाहिए।...जब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान सुनाई दिया सोनिया का भाषणकोविड प्रबंधन से जुडे़ मामले की ऑनलाइन सुनवाई के दौरान उस वक्त अजीबोगरीब स्थिति पैदा हो गई जब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का भाषण सुनाई देने लगा। दरअसल, सुनवाई शुरू होने से थोड़ी देर पहले सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कंट्रोल रूम से वरिष्ठ वकील व कांग्रेस नेता पी चिदंबरम की आवाज बंद करने का आग्रह किया।

चिदंबरम ने मेहता के माध्यम से कंट्रोल रूम तक यह बात पहुंचाने के लिए कही थी। जैसे ही कंट्रोल रूम की ओर से चिदंबरम की आवाज बंद की गई, वहां से सोनिया गांधी का कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक का संबोधन सुनाई देने लगा। जिनके बाद वर्चुअल कोर्ट रूम के मौजूद वकील हंस पडे़।

दैनिक भास्कर पर आयकर विभाग के छापे, अख़बार ने कहा- सच्ची पत्रकारिता से डरी सरकार - BBC News हिंदी दैनिक भास्कर पर IT रेड: सवाल पूछने पर भड़के केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, कहा- इस पर जवाब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट देगा, सरकार नहीं डाटा प्रोटेक्शन बिल को रोकने की साजिश है पेगासस विवाद : भाजपा

वर्चुअल कोर्ट रूम में मौजूद दूसरे कांग्रेस नेता व वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल को अपने साथी चिदंबरम से कहना पड़ा, इसे बंद करें। सिब्बल कुछ समय पहले से ही वर्चुअल कोर्ट रूम में मौजूद थे। हालांकि उनके बैकग्राउंड से सोनिया का भाषण सुनाई नहीं दे रहा था।आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

जानिए UP Cabinet Expansion में किन-किन समीकरणों का रखा जा सकता है ध्यान? देखें शंखनाद

संगठन की ओर से 25,26 और 30 जुलाई की तारीख का प्रस्ताव भी दिया गया है. जिस पर योगी आदित्यनाथ फैसला करेंगे .जाहिर सी बात है कि मंत्रिमंडल विस्तार में उन सारे समीकरण को ध्यान में रखा जाएगा, जिसे साधकर यूपी में जीत की राह आसान हो सके. संजय निषाद के सांसद बेटे प्रवीण निषाद को मोदी कैबिनेट में शामिल किए जाने की चर्चा थी,लेकिन उन्हें जगह नहीं मिली तो अब निषाद वोटों को जोड़े रखने के लिए संजय निषाद कैबिनेट में शामिल किए जा सकते हैं. निषाद समाज के अलावा राजभर समाज पर भी योगी सरकार की नजर है, जिसका पूर्वांचल में काफी दबदबा है. देखें वीडियो.

MoHFW_INDIA PMOIndia नेता सो रहे हैं अभिनेता रो रहे हैं आम जनता को मरने के लिए छोड़ दिया है कितनी निकम्मी सरकार हो चुकी है भारत देश की न्यायपालिका जग रही है सख्त से सख्त कार्रवाई करे न्यायपालिका सरकारें हाथ खड़ी कर चुकी है सिर्फ न्यायपालिका या परमपिता परमात्मा ही रक्षा करें प्राणी मात्र की MoHFW_INDIA PMOIndia मगर ये तो जानते थे कि आक्सीजन की तादाद तय करना एक्सपर्ट कमेटी का काम है।

MoHFW_INDIA PMOIndia अगर चोर को देखकर कुत्ता ना भोंके तो समझ जाना चाहिये कि कुत्ते को हड्डी डाल दी गई है !! मिडिया MoHFW_INDIA PMOIndia जनता का दुश्मन कौन है ? जनता ने जिसको वोट नही दिया वही जनता का दुश्मन है और हो सकता है कि वो अपनी दुश्मनी निभा रहा है । कोरोना क्या है वायरस है या तरंग है जो सांस के रास्ते शरीर के भीतर जाकर नुकसान कर रही है.. गली गली जो टावर लगे है इसकी जाँच हो तरंग तो टॉवर से निकलती PMOIndia

सुप्रीम कोर्ट: कुंभ मेले और चुनावों में कोविड नियम तोड़ने के मुद्दे पर सुनवाई आजसुप्रीम कोर्ट: कुंभ मेले और चुनावों में कोविड नियम तोड़ने के मुद्दे पर सुनवाई आज Supremecourt KumbhMela2021 Elections2021 Bhadwe court ko sab nipat gaya uske bad yad aarhi samay suprim court ke juj nashe me the kyo yad nahi aya. अब तो मरकज वालों की बात करो वो झुंड के झुंड निकल रहे है मेरी समझ मे ये नही आ रहा बात बहुत मामूली से सी संक्रमण के लिए भीड़ अवसर है हमे हर उस फैसले को सख्ती से रोकना होगा किसी तरीके से बड़े बड़े धार्मिक आयोजन पॉलिटिसियन द्वारा भीड़ को बुलाकर संक्रमण को सुंदर मौका दिया सवाल 135 करोड़ का है संसाधनों की कमी है बेचारे इस देश

दिल्ली की सीमा से प्रदर्शनकारियों को हटाने की मांग, सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई याचिकासुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल हुई है जिसमें कोरोना महामारी को देखते हुए दिल्ली और दिल्ली की सीमा पर प्रदर्शन और धरना दे रहे लोगों को हटाए जाने की मांग की गई है। इस याचिका पर सोमवार को सुनवाई होनी थी जो अब गुरुवार तक टल गई है। अभी हटे नही क्या योगेन्द्र और टिकैत तो वेक्सीन लगाकर भग लिये होंगे।। किसानो को इन दोनो से ठग लिया।। जय जवान जय किसान

जवाबदेही: आज मेडिकल उपकरणों के वितरण पर घिरेगी सरकार, सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरूजवाबदेही: आज मेडिकल उपकरणों के वितरण पर घिरेगी सरकार, सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू SupremeCourt ModiGovernment CoronaSecondWave Coronavirus Pandemic declare_chsl18_result

सुप्रीम कोर्ट में वैक्सीन पर सुनवाई के दौरान जब सुनाई देने लगी सोनिया गांधी की आवाजकांग्रेस अध्यक्ष की आवाज सुनते ही सब हंस पड़े. दरअसल सुप्रीम कोर्ट में वैक्सीन आदि को लेकर सुनवाई शुरू होनी थी, तभी कपिल सिब्बल ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता को फोन कर कंट्रोल रूम को उन्हें अनम्यूट करने को कहा.  इसके बाद पी चिदंबरम ने भी आग्रह किया तो तुषार मेहता ने उनको भी अनम्यूट करने के लिए कहा.  तभी सोनिया गांधी की आवाज सुनाई देने लगी जो कि कोविड पर ही बोल रही थीं.  तब सब हंसने लगे और कपिल सिब्बल ने कहा कि इसे बंद कीजिए. 😄😄😄 That was perhaps the voice of conscience! Hope the judges heard it! declare_chsl18_result

Corona: 24 घंटे में Maharashtra में 53 हजार और Delhi में 17 हजार से ज्यादा मामलेमहाराष्ट्र में कोरोना के 53 हजार 605 नए केस आए हैं, जबकि कोरोना के चलते 864 लोगों की मौत हुई है. उधर, राजधानी मुंबई में कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है. एक दिन में मुंबई में कोरोना के 2678 नए केस आए जबकि 36 सौ से ज्यादा मरीज ठीक हुए. वहीं राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आ रही है. बीते 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 17 हजार 364 नए केस सामने आ हैं ,जबकि 332 मरीजों की मौत हुई है. देखें वीडियो.

अमेरिका: फीनिक्स में होटल में गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत, सात घायलअमेरिका के फीनिक्स में एक होटल में रविवार को कहासुनी के बाद हुई गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई और सात अन्य घायल