Prashantkanojiya, Supremecourt, Supreme Court, Prashant Kanojia, Tweet, Yogi Adityanath, Up Police, Objectionable Video, Freelance Journalist, Arrest, सुप्रीम कोर्ट, प्रशांत कनोजिया, ट्वीट, योगी आदित्यनाथ, गिरफ्तारी

Prashantkanojiya, Supremecourt

सुप्रीम कोर्ट का आदेश- किस आधार पर गिरफ्तार हुए थे प्रशांत, तुरंत रिहा करे यूपी पुलिस

उच्चम न्यायालय ने स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनोजिया की याचिका पर सुनवाई की। उन्हें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी

11.6.2019

सुप्रीम कोर्ट का आदेश- किस आधार पर गिरफ्तार हुए थे प्रशांत, तुरंत रिहा करे यूपी पुलिस PrashantKanojiya SupremeCourt

उच्चम न्यायालय ने स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनोजिया की याचिका पर सुनवाई की। उन्हें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी

उच्चम न्यायालय ने मंगलवार को स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनोजिया की याचिका पर सुनवाई की। उन्हें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी और वीडियो शेयर करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा कि मत भिन्न हो सकते हैं। प्रशांत को शायद उस ट्वीट को प्रकाशित या लिखना नहीं चाहिए था लेकिन किस आधार पर उसे गिरफ्तार किया गया। अदालत ने उत्तर प्रदेश सरकार से कहा है कि वह उदारता दिखाते हुए पत्रकार को तुरंत रिहा कर दे।

पत्नी का दावा सादे कपड़ों में आए लोगों ने किया गिरफ्तार

‘इश्क छुपता नहीं छुपाने से योगी जी’, यह टिप्पणी प्रशांत जगदीश कनौजिया ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से छह जून को पोस्ट की थी। उन्होंने इसके साथ एक युवती का वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें युवती यूपी सीएम के कार्यालय के बाहर खड़ी होकर खुद को योगीजी की प्रेमिका बता रही थी। साथ ही उनके लिए लव लेटर लेकर पहुंची थी। इस वीडियो को प्रशांत के प्रोफाइल से करीब 95 हजार दफा देखा गया तो वहीं इसे करीब चार हजार लाइक और 15 सौ से अधिक रीट्वीट्स भी मिले थे।

और पढो: Amar Ujala

सुप्रीम कोर्ट के आदेश की सरहना होनी चाहिए। जांच होगी तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। सुप्रीम कोर्ट को एक सीमा से अधिक हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। बंगाल और केरल में जब हिंसा होती है तो सुप्रीम कोर्ट मौन हो जाता है। सुप्रीम कोर्ट भेदभाव और पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाया करता है। अलीगढ़ के लिए कुछ बोल देते सुप्रीम कोर्ट वाले राम मन्दिर के लिए कुछ बोल देते सुप्रीम कोर्ट वाले

कैसे कैसे कुत्ते लोग पत्रकारिता में आ गए हैं रेपिस्ट को कुछ नहीं बोलते एक बेहतरीन नेता जो की सिएम है उसको अपशब्द बोलते हैं | थूह है ऐसे दलाल मीडिया पर We come the order of honbl SC but if law court police society donot rein free liberty of man to write read any thing an anarchy like situtation may arise in country I still remember how a lady even dared to implicate CJI in molesting case She got all highly paid lawyers My view

सड़क पर नमाज़ तो नही पढ़ रहा था ये जज्बातो में बहक गया था 😂😂😂😃 सुप्रीम कोर्ट तो सो रहा था राम जन्म भूमि को लेकर , कब जगा ? Finally, SC has come into pic..... esko to bhrr peetna chayai

सुप्रीम कोर्ट ने पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी पर उठाए सवाल, रिहा करने को कहानौजिया की पत्नी जगीशा अरोड़ा ने अपने पति की गिरफ्तारी को गैरकानूनी बताते हुए बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका लगाई थी, जिसमें कोर्ट के समक्ष अपने पति को पेश कराने की मांग की है. प्रशांत कनोजिया का सोशल अकाउंट जातिवादी मानसिकता , समाज विरोधी सोच से भरा हुआ है , ऐसे में यदि समाज में कोई अराजकता फैलती है तो क्या जज जिम्मेदार होंगे ? अब तो खेल खत्म भी हो गया अब इससे पूछना की जज्बातो में बहकना कितना महंगा पड़ता है 😂😂😂😆😃 very good ......नेता सब तो कुछ भी बोल देते है .....सोसल media पर अभद्र बाते करते है.....कोई महिला को मार देता है.....इन्हे तो कुछ भी नही होता.......

प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी पर SC की योगी सरकार को फटकार, रिहा करने का दिया निर्देशकोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि ट्वीट के लिए गिरफ्तार करने की क्या जरुरत थी। सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि नागरिक अधिकारों का हनन नहीं किया जा सकता।

देखिए कठुआ रेप-मर्डर केस पर कोर्ट का पूरा फैसलाजम्मू-कश्मीर के कठुआ में साल 2018 में हुई रेप के बाद हत्या पर सोमवार को कोर्ट ने फैसला सुनाया है. कठुआ में 8 साल की बच्ची के साथ बलात्कार करने वाले कुल सात में से 6 आरोपियों को कोर्ट ने दोषी करार दिया है. इनमें से तीन को उम्रकैद और बाकी तीन को 5-5 साल की सजा सुनाई गई है. किन दोषियों को कितनी और क्या सजा मिली और कौन हुआ बरी, देखिए इस वीडियो में. लोकतंत्र ने हमारे हाथ में मोमबत्ती थमा दी वरना देश एक नारी के लिए महाभारत और रामायण भी देख चुका है Every Media Should learn From Zee News how to reporting in such type of cases because media is not just means business it's Responsibility towards nation and peoples. Thanks to sudhirchaudhary dna kisi nirdos ko saja nahi hui....Republic_Bharat republic आज एक बार फिर धर्म देखकर बलात्कारियों को सजा सुनाई गई 😔😔 आसिफा हो या ट्विंकल बलात्कारियों को बस फाँसी दो

क्ले कोर्ट पर फिर नडाल की बादशाहत, जीता अपना रिकॉर्ड 12वां फ्रेंच ओपन खिताब– News18 हिंदीFrenchOpen2019 राफेल नडाल ने अपने करियर का 18वां ग्रैंड स्लैम जीता KingofClay Nadal He is one true heir to the throne of the second grand slam! KingOfClay

Top News 11 मई 2019: देश-दुनिया की इन बड़ी खबरों पर रहेगी हमारी नजर-Navbharat TimesIndia News: सुप्रीम कोर्ट में आज गिरफ्तार पत्रकार प्रशांत कनौजिया की रिहाई याचिका पर सुनवाई होगी। इसके अलावा खेल जगत में भी बड़ी हलचल है। वर्ल्ड कप में आज बांग्लादेश और श्रीलंका का मुकाबला है। देश-दुनिया की हर बड़ी खबर पर रहेगी हमारी नजर।

साध्वी पर शरद का निशाना- बम धमाकों के आरोपियों को टिकट देना लोकतंत्र पर हमला जैसाशरद पवार ने कहा कि वे इस बात पर विश्वास नहीं कर सकते कि एक मुस्लिम 'जुमा' पर धमाका कर सकता है क्योंकि इस समुदाय के लिए यह एक पवित्र दिन माना गया है।

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

11 जून 2019, मंगलवार समाचार

पिछली खबर

युवराज के संन्यास पर रोहित शर्मा ने उठाए सवाल, इशारों-इशारों में BCCI पर साधा निशाना

अगली खबर

गुजरात की तरफ बढ़ रहा है चक्रवाती तूफान 'वायु', मुंबई भी होगा प्रभावित