Supremecourt, Kumbhmela 2021, Elections 2021, Supreme Cour, Covid Rules, Kumbh Mela, Elections, Coronavirus, Corona Cases İn İndia, Corona News, Coronavirus İndia, Coronavirus Vaccine, Coronavirus News İndia, Coronavirus Cases, Corona Vaccine, Corona İn İndia, Corona Cases İn İndia Today, Ladengecoronase, Covishield Vaccine, Covaxin

Supremecourt, Kumbhmela 2021

सुप्रीम कोर्ट: कुंभ मेले और चुनावों में कोविड नियम तोड़ने के मुद्दे पर सुनवाई आज

कई राज्यों में विधानसभा चुनावों और हरिद्वार में आयोजित किए गए कुंभ मेले के दौरान कोविड-19 महामारी प्रोटोकॉल का उल्लंघन

10-05-2021 02:49:00

सुप्रीम कोर्ट: कुंभ मेले और चुनावों में कोविड नियम तोड़ने के मुद्दे पर सुनवाई आज Supremecourt KumbhMela2021 Elections 2021

कई राज्यों में विधानसभा चुनावों और हरिद्वार में आयोजित किए गए कुंभ मेले के दौरान कोविड-19 महामारी प्रोटोकॉल का उल्लंघन

विज्ञापन- फोटो : पीटीआईपढ़ें अमर उजाला ई-पेपरकहीं भी, कभी भी।ख़बर सुनेंख़बर सुनेंसुप्रीम कोर्ट सोमवार को उस जनहित याचिका को सुनेगा, जिसमें नोएडा के एडवोकेट-ऑन-रिकॉर्ड संजय कुमार पाठक ने करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।साथ ही याचिका में प्रोटोकॉल को सब जगह सख्ती से लागू कराने के लिए सरकार को दिशानिर्देश जारी करने की गुहार भी शीर्ष अदालत से लगाई गई है। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता में जस्टिस नागेश्वर राव और जस्टिस रविंद्र भट्ट की मौजूदगी वाली तीन सदस्यीय पीठ इस याचिका पर सुनवाई करेगी। एडवोकेट पाठक ने यह याचिका 16 अप्रैल को दाखिल की थी।

Twitter के खिलाफ देश में हुई पहली FIR, जमकर बरसे ओवैसी, देखें स्पेशल रिपोर्ट रोजगार के वादे पर धोखा देने वाली राजनीति के खिलाफ देखें दस्तक बंगाल में घर वापसी: मुकुल रॉय BJP लीडर्स के संपर्क में, बेटे शुभ्रांग्शु बोले- 25 विधायक और 2 सांसद तृणमूल में आ सकते हैं

विस्तारसुप्रीम कोर्ट सोमवार को उस जनहित याचिका को सुनेगा, जिसमें नोएडा के एडवोकेट-ऑन-रिकॉर्ड संजय कुमार पाठक ने करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।विज्ञापनसाथ ही याचिका में प्रोटोकॉल को सब जगह सख्ती से लागू कराने के लिए सरकार को दिशानिर्देश जारी करने की गुहार भी शीर्ष अदालत से लगाई गई है। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता में जस्टिस नागेश्वर राव और जस्टिस रविंद्र भट्ट की मौजूदगी वाली तीन सदस्यीय पीठ इस याचिका पर सुनवाई करेगी। एडवोकेट पाठक ने यह याचिका 16 अप्रैल को दाखिल की थी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

दंगल: जानिए किन वजहों से Twitter पर लग रहा है IT नियमों की अनदेखी का आरोप

सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म ट्विटर और सरकार के रिश्तों में तल्खी बढ़ती जा रही है. ताजा मामला सरकार की उस नोटिस को लेकर है जिसमे ट्विटर से आईटी नियमों की अनदेखी पर जवाब मांगा गया है. इससे पहले उपराष्ट्रति वैंकेया नायडू और संघ प्रमुख समेत RSS के कई नेताओं के अकाउंट से भी ब्लूटिक लेकर भी विवाद हुआ. हालांकि बाद में सरकार की सख्ती के बाद ब्लू टिक को वापस कर दिया गया है. देखें दंगल.

मेरी समझ मे ये नही आ रहा बात बहुत मामूली से सी संक्रमण के लिए भीड़ अवसर है हमे हर उस फैसले को सख्ती से रोकना होगा किसी तरीके से बड़े बड़े धार्मिक आयोजन पॉलिटिसियन द्वारा भीड़ को बुलाकर संक्रमण को सुंदर मौका दिया सवाल 135 करोड़ का है संसाधनों की कमी है बेचारे इस देश अब तो मरकज वालों की बात करो वो झुंड के झुंड निकल रहे है

Bhadwe court ko sab nipat gaya uske bad yad aarhi samay suprim court ke juj nashe me the kyo yad nahi aya.

Corona: 24 घंटे में Maharashtra में 53 हजार और Delhi में 17 हजार से ज्यादा मामलेमहाराष्ट्र में कोरोना के 53 हजार 605 नए केस आए हैं, जबकि कोरोना के चलते 864 लोगों की मौत हुई है. उधर, राजधानी मुंबई में कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है. एक दिन में मुंबई में कोरोना के 2678 नए केस आए जबकि 36 सौ से ज्यादा मरीज ठीक हुए. वहीं राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आ रही है. बीते 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 17 हजार 364 नए केस सामने आ हैं ,जबकि 332 मरीजों की मौत हुई है. देखें वीडियो.

गिरावट : डॉलर का दुनिया में और घटा रुतबा, यूरो-येन और युवान को फायदा2020 लगातार पांचवां साल रहा, जब दुनिया भर के देशों के विदेशी मुद्रा भंडार में डॉलर का हिस्सा घटा। बीते साल उसका हिस्सा यूपी_मांगे_बसपा_सरकार यूपी_मांगे_बसपा_सरकार यूपी_मांगे_बसपा_सरकार यूपी_मांगे_बसपा_सरकार यूपी_मांगे_बसपा_सरकार यूपी_मांगे_बसपा_सरकार यूपी_मांगे_बसपा_सरकार यूपी_मांगे_बसपा_सरकार यूपी_मांगे_बसपा_सरकार यूपी_मांगे_बसपा_सरकार भारतीय मुद्रा की क्या स्थिति है Indian currency ka bhi bta diya kro... Apne desh pr zyada dhyan do.. Yaha ki sacchai likhte hue darte ho... Shame

पंजाब में भाखड़ा में बहते मिले रेमडेसिविर और सैफोप्रोजोन वायल के तार यूपी से जुड़ेपंजाब में भाखड़ा नहर में रेमडेसिविर और सैफोप्रोजोन वायल भाखड़ा में बहते मिले थे। मामले में पुलिस जांच कर रही है। जांच में इसके तार यूपी से जुड़ रहे हैं। हालांकि अभी पुलिस यह नहीं बता रही कि आरोपित यूपी के किस जिले का है।

'Corona काल में मनोबल तोड़ने में लगी है Congress', देखें और क्या बोले JP Naddaकोरोना काल में भी बीजेपी और कांग्रेस के बीच सियासी जंग थमने का नाम नहीं ले रही. अब बीजेपी अध्यक्ष, जेपी नड्डा ने कांग्रेस नेता सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर आरोपों का जवाब दिया है. जेपी नड्डा ने चिट्ठी में लिखा कि कोरोना काल में कांग्रेस का इस तरह का बर्ताव खल रहा है. जेपी नड्डा ने कहा कि कांग्रेस मनोबल तोड़ने का काम कर रही है. कल सोनिया गांधी ने कोरोना वैक्सीन और ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर सरकार पर निशाना साधा था. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो. सही का आप ने आप क्या कर रहे हो बिहार में क्या है सब बहर रहे हैं ये क्या है जेपी नड्डा महामारी के इस युद्ध में हिंदुस्तान की आवाम के साथ पूरी दुनिया लगी है हिंदुस्तान के लोगों को बचाने के लिए लेकिन हुकूमत हिंदुस्तान के लोगों का खून चूसने लगी है लेकिन मोदी सरकार सिलेंडर डीजल पेट्रोल के दाम बढ़ाने में लग रही है मन की भङास - अगर आपको,कही से,कोई भी रेमडेसिवर और ऑक्सीजन ब्लैक मे बेचने की कोशिश कर रहा है तो उसकी जानकारी सरकारी एजेंसियों से सांझा कीजिए,आपको तमाम मेडिकल सुविधाऐं पुरस्कार स्वरूप फ्री मे दी जाएंगी। शायद ऐसी घोषणा से नकली दवा कारोबार और कालाबाजारी पर तुरंत रोक लग जाऐ।

बिहार-यूपी में नदियों में तैरतीं अधजली लाशें और दुर्गंध से बेहाल लोग - BBC News हिंदीबिहार के साथ-साथ अब उत्तर प्रदेश में भी नदियों से अधजली लाशें मिलने का मामला सामने आया है. अगर यही लाशें बंगाल में मिलती तो मीडिया अब तक घुंघरू तोड़ चुकी होती नाच नाच के और बंगाल में राष्ट्रपति शासन लग जाता मोदी जी के अदूरदर्शिता के कारण तथा उनकी गलत आर्थिक नीतियों के कारण देश की जनता इतनी गरीब हो गई है कि उनके पास अपने परिजनों के न तो सही इलाज कराने के पैसे हैं और न ही शव को हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार अंतिम संस्कार करने का भी पैसा हैं। क्या यही अच्छे दिन है मोदी जी?