Sharjeelımam, Delhi News, Anti Caa Protest, Saket Court, Jnu Student Sharjeel İmam, Sharjeel İmam, Jnu, Delhi Ncr News İn Hindi, Latest Delhi Ncr News İn Hindi, Delhi Ncr Hindi Samachar

Sharjeelımam, Delhi News

सीएए विरोधी प्रदर्शन: साकेत कोर्ट ने रद्द की जेएनयू छात्र शरजील इमाम की जमानत याचिका

सीएए विरोधी प्रदर्शन: साकेत कोर्ट ने रद्द की जेएनयू छात्र शरजील इमाम की जमानत याचिका #SharjeelImam

22-10-2021 11:31:00

सीएए विरोधी प्रदर्शन: साकेत कोर्ट ने रद्द की जेएनयू छात्र शरजील इमाम की जमानत याचिका SharjeelImam

सीएए-एनआरसी के विरोध में हुए प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जेल में बंद जेएनयू छात्र शरजील इमाम की

पिछली सुनवाई में शरजील ने कहा था- वह कोई आतंकी नहीं हैंदेशद्रोह और अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत आरोपी जेएनयू छात्र शरजील इमाम ने कहा कि वह कोई आतंकी नहीं है और उसके खिलाफ मुकदमा स्थापित कानून के अनुरूप नहीं बल्कि किसी सम्राट के चाबुक की तरह है। यह तर्क शरजील ने मामले में जमानत देने और आरोपमुक्त किए जाने की मांग करते हुए रखा।

लखनऊ में बेरोजगारी के मुद्दे पर छात्र संगठनों ने निकाला मार्च, पुलिस ने NDTV के कैमरे को बंद करने के लिए कहा पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था का संकट और गहराया - BBC Hindi रूस ने अगर यूक्रेन पर हमला किया तो हम चुप नहीं बैठेंगे: अमेरिका - BBC Hindi

दिल्ली पुलिस ने शरजील इमाम को सीएए-एनआरसी के विरोध के दौरान कथित भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जनवरी 2020 में गिरफ्तार किया था। उसके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल हो चुका है। आरोप है कि उसने 2019 में अपने भाषणों में कथित रूप से असम और पूर्वोत्तर के अन्य हिस्सों को देश से अलग करने की धमकी दी थी।

ये कथित भाषण उसने जामिया में 13 दिसंबर 2019 और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में 16 दिसंबर 2019 को दिए थे। वह जनवरी 2020 से न्यायिक हिरासत में है।विस्तार जमानत याचिका को अदालत ने खारिज कर दिया। शुक्रवार को शरजील की जमानत याचिका की सुनवाई करते हुए दिल्ली की साकेत अदालत ने उनकी जमानत याचिका रद्द कर दी। headtopics.com

विज्ञापनपिछली सुनवाई में शरजील ने कहा था- वह कोई आतंकी नहीं हैंदेशद्रोह और अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत आरोपी जेएनयू छात्र शरजील इमाम ने कहा कि वह कोई आतंकी नहीं है और उसके खिलाफ मुकदमा स्थापित कानून के अनुरूप नहीं बल्कि किसी सम्राट के चाबुक की तरह है। यह तर्क शरजील ने मामले में जमानत देने और आरोपमुक्त किए जाने की मांग करते हुए रखा।

दिल्ली पुलिस ने शरजील इमाम को सीएए-एनआरसी के विरोध के दौरान कथित भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जनवरी 2020 में गिरफ्तार किया था। उसके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल हो चुका है। आरोप है कि उसने 2019 में अपने भाषणों में कथित रूप से असम और पूर्वोत्तर के अन्य हिस्सों को देश से अलग करने की धमकी दी थी।

ये कथित भाषण उसने जामिया में 13 दिसंबर 2019 और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में 16 दिसंबर 2019 को दिए थे। वह जनवरी 2020 से न्यायिक हिरासत में है।आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

दंगल: क्या अब्बाजान और चिलमजीवी ही यूपी चुनाव के मुद्दे हैं?

उत्तर प्रदेश में चुनाव का माहौल जैसे-जैसे गर्माता जा रहा है, नेताओं की जुबान तीखी होती जा रही है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार को एक बार फिर चिलमजीवी कह के घेरा है. अखिलेश अक्सर चिलम फूंकने का आरोप लगाकर योगी आदित्यनाथ को घेरते रहे हैं. लेकिन चिलम के नाम पर अखिलेश को जवाब संत समाज की ओर से मिला है. कुछ साधु संतों ने इसे संतों का अपमान बताकर अखिलेश से माफी की मांग की है. आज दंगल में देखें क्या चिलम वाले बयान पर अखिलेश ने संतों की नाराजगी मोल ले ली है? और क्या 2022 के चुनाव में इसका असर पड़ेगा? देखें वीडियो.

बड़ी जल्दी दो वर्ष बीत गये।🤣🤣🤣🤣 Urdu naam hai इन जैसा देशद्रोहियो की जगह जेल ही है । इन्होने हमारे ईमानदार टैक्स देने वाले नागरिको के पैसो पर कालेज मैं पढाई के नाम पर खूब ऐश कर ली । अब जेल ही होगा इनका ठिकाना ।

CBSE परीक्षा मोड में बदलाव की मांग, छात्र बोले- दोनों ही मोड में हो परीक्षानई दिल्ली। सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2022 टर्म-1 का आयोजन ऑफलाइन होने वाला है, लेकिन छात्रों का एक समूह यह मांग कर रहा है कि परीक्षा का आयोजन ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों मोड में हो। हालांकि सीबीएसई ने केवल ऑफलाइन मोड में परीक्षा आयोजित करने की घोषणा की है। वहीं दूसरी ओर 10वीं और 12वीं कक्षाओं के उन छात्रों को अगले महीने से शुरू हो रही बोर्ड परीक्षा के टर्म-1 के लिए शहर के परीक्षा केंद्र में बदलाव के लिए अनुरोध करने की अनुमति होगी, जो उन शहरों में नहीं हैं, जहां उन्होंने दाखिला लिया था।

कर्नाटक हाईकोर्ट की टिप्पणी: मुस्लिम निकाह एक अनुबंध है, हिंदू विवाह की तरह संस्कार नहींकर्नाटक हाईकोर्ट की टिप्पणी: मुस्लिम निकाह एक अनुबंध है, हिंदू विवाह की तरह संस्कार नहीं karnatakahighcourt जय हिन्द🇮🇳😂बेतुकी बातें कर रहे है कोर्ट विश्व भर में अनेको प्रकार से विवाह संस्कार है इस तरह किसी पर उगली उठा देना अच्छी मानसिकता व समझ नहीं है तलाक़ जैसी समस्याएँ व अन्य पारिवारिक समस्याएँ भी सभी विवाह संस्कारों में पायी जाती है रीति रिवाज विधि विधान एक समान नहीं हो सकते😂😂😂 Divorce legally process se hona chahiye so that maintenance charge utna mil jaye jitne me achhe se guzara kiya ja sake. Court bhi wohi boli bol raha hai jo bjp aur dusre bhagwa dal chahte hai. Har dharam ke apne riti riwaj hai. Court hota kaun hai kisi ke riti riwajo ko galat ya sahi kehne wala.

पंजाब कांग्रेस विधायक ने की युवक की पिटाई, युवक ने पूछा था यह सवाल...सोशल मीडिया पर पंजाब कांग्रेस के एक विधायक का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें विधायक और उनके सुरक्षा गार्ड एक युवक के सवाल करने से नाराज होकर उसकी पिटाई करते दिखाई पड़ रहे हैं। कांग्रेस विधायक की इस हरकत पर उनकी पार्टी के लोग भी काफी नाराज हैं।

धनबाद जज डेथ केसः CBI ने दाखिल की मामले की पहली चार्जशीट, ऑटोरिक्शा ड्राइवर पर आरोप28 जुलाई को हुई हत्या के बाद जज उत्तम आनंद की पत्नी ने हत्या का मामला दर्ज कराया था. बाद में इस मामले को सीबीआई ने अपने हाथ में ले लिया. MunishPandeyy MunishPandeyy उप्र के सभीनगरोंमेंवर्षोंसे प्रतिदिन१से५ घण्टों कीअघोषितविद्युतकटौती होरहीहै। लखनऊमेंप्रतिदिन, ५/१० मिनटकरके कुल १से२ घण्टोंकीकटौती प्रतिदिनहोरहीहै। क्या इसका लक्ष्य invertors की बिक्री बढ़ाना है? narendramodi PMOIndia AmitShah CMyogiUPLKO DrMohanBhagwat NITIAayog HMOIndia

बांग्लादेश में 'इस्लाम नहीं रहेगा राष्ट्र धर्म', सेकुलर संविधान की वापसी की तैयारी - BBC News हिंदीपिछले दिनों हिंदुओं के ख़िलाफ़ हुई हिंसा में कई लोगों की मौत हुई है. देश में तनाव के माहौल के बीच सत्ताधारी पार्टी ने संविधान में बदलाव के संकेत दिए हैं. क्या ये आसान होगा. 😂🤣😂🤣😂🎉😂🤣 Fab India's advrt makes news is Washington Post, but Bangladesh Hindu genocide doesn't. बांग्लादेश की मदद की जानी चाहिए।।

सपनों का आशियाना: महंगे मकानों की बिक्री ज्यादा, किफायती मकानों की मांग में 24 फीसदी गिरावटसपनों का आशियाना: महंगे मकानों की बिक्री ज्यादा, किफायती मकानों की मांग में 24 फीसदी गिरावट Home House Sell RealEstate