Vaccination, Coronavaccine, Cowinapp, Coronavirus, Corona Cases İn İndia, Corona News, Coronavirus İndia, Coronavirus Vaccine, Coronavirus News İndia, Coronavirus Cases, Corona Vaccine, Corona İn İndia, Corona Cases İn İndia Today, Ladengecoronase, Covishield Vaccine, Covaxin, Cowin App, Cowin. Gov. İn

Vaccination, Coronavaccine

सावधान: टीकाकरण के पंजीकरण के लिए आ रहे फर्जी संदेशों से यूजर्स के फोन में सेंध

कोरोना का टीका जरूर लगवाएं, मगर इसके लिए पंजीकरण सरकारी पोर्टल कोविन पर ही कराएं। टीकाकरण के लिए फर्जी संदेशों पर दिए

11-05-2021 03:14:00

सावधान: टीकाकरण के पंजीकरण के लिए आ रहे फर्जी संदेशों से यूजर्स के फोन में सेंध Vaccination Coronavaccine CowinApp PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI

कोरोना का टीका जरूर लगवाएं, मगर इसके लिए पंजीकरण सरकारी पोर्टल कोविन पर ही कराएं। टीकाकरण के लिए फर्जी संदेशों पर दिए

संघीय साइबर सुरक्षा एजेंसी ने आगाह किया है कि फर्जी कोविड-19 टीका पंजीकरण एसएमएस भेज उपयोगकर्ता के फोन में सेंध लगाई जा रही है। ऐसे नुकसानदेह एसएमएस के पांच प्रकारों का पता चला है। इनसे बचा जाना चाहिए।इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी) ने आम लोगों को जारी एडवाइजरी में कहा, खबर मिली है कि फर्जी एसएमएस संदेश भेजकर गलत तरीके से दावा किया जा रहा है कि उनके द्वारा प्रस्तुत ऐप से भारत में कोविड-19 टीके के लिए पंजीकरण कराया जा सकता है।

पीएम मोदी से फोन कॉल के बाद कोच ने कहा - कांस्य पदक के लिए डटकर खेलेंगी भारतीय शेरनियां - BBC Hindi MP: बाढ़ में फंसे लोगों की मदद करने गए मंत्री नरोत्तम मिश्रा खुद फंसे, करना पड़ा एयरलिफ्ट, देखें VIDEO VIDEO: बाढ़ पीड़ितों की मदद करने गए MP के मंत्री खुद ही फंस गए! हेलिकॉप्टर बुलाकर किया गया एयरलिफ्ट

इसमें कहा गया है कि एसएमएस के साथ एक लिंक आता है जिस पर क्लिक करने से एंड्रॉयड फोन में संदिग्ध एप इंस्टॉल हो जाता है। यूजर्स को सावधान रहना चाहिए, ताकि फर्जी नाम, ई-मेल या मेसेज से आपके डाटा पर हैकर का कब्जा न हो सके।गौरतलब है कि सीईआरटी संघीय तकनीकी इकाई है जो साइबर हमलों से मुकाबला करने के साथ-साथ भारतीय साइबर मंच की रक्षा जासूसी, हैकिंग और अन्य इसी तरह के ऑनलाइन हमलों की पड़ताल करती है।

संदिग्ध एप इंस्टॉल होने के बाद यूजर्स के फोन में दर्ज दूसरे नंबरों पर भेजते हैं एसएमएससीईआरटी ने कहा कि संदिग्ध एप इंस्टॉल होने के बाद अपने आप ही पीड़ित के फोन में दर्ज दूसरे फोन नंबरों पर भी यही जानकारी एसएमएस के जरिये प्रसारित हो जाती है। यह एप अनावश्यक रूप से मंजूरी हासिल करता है, जिससे साइबर हमलावर उपयोगकर्ता के डाटा जैसे फोन कॉल पर कब्जा कर सकते हैं। headtopics.com

इन पांच फर्जी लिंक की पहचान की गईएडवाइजरी में कहा गया है कि कुछ लिंक की पहचान की गई है, जो फर्जी हैं और जिन पर क्लिक करने से बचा जाना चाहिए। ये हैं- Covid19.apk, Vaci__Regis.apk, MyVaccin_v2.apk, Cov-Regis.apk and Vccin-Apply.apk। केवल सरकारी पोर्टल http://cowin.gov.in. पर ही रजिस्ट्रेशन कराएं।

अज्ञात स्रोत से इंस्टॉल होने वाले एप का डिसएबल करेंसीईआरटी ने यह भी सलाह दी है कि यूजर्स अपने फोन की सेटिंग में जाकर किसी अज्ञात स्रोत से इंस्टॉल होने वाले एप को डिसएबल की सुविधा इस्तेमाल करें। इसके अलावा भरोसेमंद एंटी वायरस और इंटरनेट फायरवाल जैसे तरीकों का इस्तेमाल करें।

विस्तार गए लिंक का इस्तेमाल न करें। दरअसल, इस समय फर्जी कोविड-19 टीका पंजीकरण एसएमएस भेजकर उपयोगकर्ता के एंड्रॉयड फोन में सेंध लगाई जा रही है और यूजर्स के डाटा तक पहुंच बनाई जा रही है।विज्ञापनसंघीय साइबर सुरक्षा एजेंसी ने आगाह किया है कि फर्जी कोविड-19 टीका पंजीकरण एसएमएस भेज उपयोगकर्ता के फोन में सेंध लगाई जा रही है। ऐसे नुकसानदेह एसएमएस के पांच प्रकारों का पता चला है। इनसे बचा जाना चाहिए।

इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी) ने आम लोगों को जारी एडवाइजरी में कहा, खबर मिली है कि फर्जी एसएमएस संदेश भेजकर गलत तरीके से दावा किया जा रहा है कि उनके द्वारा प्रस्तुत ऐप से भारत में कोविड-19 टीके के लिए पंजीकरण कराया जा सकता है।इसमें कहा गया है कि एसएमएस के साथ एक लिंक आता है जिस पर क्लिक करने से एंड्रॉयड फोन में संदिग्ध एप इंस्टॉल हो जाता है। यूजर्स को सावधान रहना चाहिए, ताकि फर्जी नाम, ई-मेल या मेसेज से आपके डाटा पर हैकर का कब्जा न हो सके। headtopics.com

टोक्यो ओलंपिक: हॉकी में क्या 41 साल बाद मिल पाएगा मेडल? - BBC News हिंदी Delhi Rape Case: राहुल गांधी, केजरीवाल और आदेश गुप्ता का हुआ 'हाय-हाय' से सामना कोरोना को लेकर CM की चेतावनी: गहलोत ने कहा- दूसरी लहर अभी पूरी तरह खत्म नहीं, लेकिन इसका प्रभाव राजस्थान में अब सबसे कम, हमें तीसरी लहर को रोकना है

गौरतलब है कि सीईआरटी संघीय तकनीकी इकाई है जो साइबर हमलों से मुकाबला करने के साथ-साथ भारतीय साइबर मंच की रक्षा जासूसी, हैकिंग और अन्य इसी तरह के ऑनलाइन हमलों की पड़ताल करती है।संदिग्ध एप इंस्टॉल होने के बाद यूजर्स के फोन में दर्ज दूसरे नंबरों पर भेजते हैं एसएमएस

सीईआरटी ने कहा कि संदिग्ध एप इंस्टॉल होने के बाद अपने आप ही पीड़ित के फोन में दर्ज दूसरे फोन नंबरों पर भी यही जानकारी एसएमएस के जरिये प्रसारित हो जाती है। यह एप अनावश्यक रूप से मंजूरी हासिल करता है, जिससे साइबर हमलावर उपयोगकर्ता के डाटा जैसे फोन कॉल पर कब्जा कर सकते हैं।

इन पांच फर्जी लिंक की पहचान की गईएडवाइजरी में कहा गया है कि कुछ लिंक की पहचान की गई है, जो फर्जी हैं और जिन पर क्लिक करने से बचा जाना चाहिए। ये हैं- Covid19.apk, Vaci__Regis.apk, MyVaccin_v2.apk, Cov-Regis.apk and Vccin-Apply.apk। केवल सरकारी पोर्टल http://cowin.gov.in. पर ही रजिस्ट्रेशन कराएं।

अज्ञात स्रोत से इंस्टॉल होने वाले एप का डिसएबल करेंसीईआरटी ने यह भी सलाह दी है कि यूजर्स अपने फोन की सेटिंग में जाकर किसी अज्ञात स्रोत से इंस्टॉल होने वाले एप को डिसएबल की सुविधा इस्तेमाल करें। इसके अलावा भरोसेमंद एंटी वायरस और इंटरनेट फायरवाल जैसे तरीकों का इस्तेमाल करें। headtopics.com

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

झारखंड में जज की हत्या का आरोपी गिरफ्तार: ऑटो चालक ने गुनाह कबूला, केस की जांच SIT करेगी; हाईकोर्ट ने कहा- कोताही हुई तो केस CBI को सौंपेंगे

झारखंड के धनबाद में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद की हत्या की मामले में 2 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस का कहना है कि इनमें से एक ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। झारखंड पुलिस के प्रवक्ता अमोल बी होमकर ने बताया कि ऑटो चालक लखन वर्मा और उसके सहयोगी राहुल वर्मा को गिरफ्तार किया गया है। लखन ने स्वीकार किया है कि उसने ऑटो से जज को धक्का मारा था। | Jharkhand Judge Murder CCTV Footage | Uttam Anand Dies After Being Hit By Auto In Dhanbad

PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI वेक्सीन के लिए जो भीड़ है उसको बाटने के लिए ज्यादा से ज्यादा कैम्प की जरुरत है, जनसंख्या बहुत है। स्कूल, कॉलेज, में भी केम्प लग सकता है वेक्सीन का। PMOIndia myogiadityanath myogioffice dmgbnagar dm_ghaziabad AmitShah RSSorg BJP4India BjornLomborg MoHFW_INDIA aajtak

गुजरात: तीन दिन के लिए रोका गया 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरणगुजरात: तीन दिन के लिए रोका गया 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण Gujarat LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI vijayrupanibjp

'जिंदगी' के लिए दांव पर जिंदगी, चेन्नई के नेहरू स्टेडियम में रेमडिसिविर के लिए उमड़ी भीड़चेन्नई। अस्पताल में कोरोनावायरस ( Coronavirus ) से संक्रमित भर्ती अपने परिजनों की जिंदगी बचाने के लिए लोग अपनी जिंदगी भी दांव पर लगाने में नहीं चूक रहे हैं। रेमडिसिविर इंजेक्शन के लिए चेन्नई के नेहरू स्टेडियम में इतनी भीड़ जुट गई कि सोशल डिस्टेंसिंग की ही धज्जियां उड़ गईं।

जानें- टीकाकरण के लिए नई सूची में कौन-कौन से जोड़े गए दस्तावेज? Coronavirus Vaccination Expanded Document list for Uttar Pradesh: एडिश्नल चीफ सेक्रेट्री (हेल्थ) अमित मोहन प्रसाद ने बताया, 'टीकाकरण में यूपी के लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी, पर प्रदेश में आकर बसे प्रवासियों को छोड़ा नहीं जाएगा।'

झारखंड सरकार बोली- टीकाकरण की सुस्त रफ्तार के लिए 'CoWin' जिम्मेदार, SC से की ये अपीलसरकार की तरफ से दावा किया गया है कि कोविन ऐप की वजह से झारखंड में टीकाकरण अभियान को गति नहीं मिल पा रही है. कोर्ट को बताया गया है कि झारखंड एक पिछड़ा राज्य है और यहां पर सभी के पास स्मॉर्टफोन नहीं है. satyajeetAT Bakwas news channel satyajeetAT बिहार सरकार ने 5 दिनों मे 584 परिवारों किया बेरोजगार । CoronaWarriors cctns_project satyajeetAT Congress sarkar ko questions krne to ate h bs .iske alwva kuch nhi ata . Pta nhi hota kb kha or kaise bolna chiye B's modi ji k upar questions utha do . Itni knowledge h rahul gandhi ji ko to aap log unse puch lo. Hm logo ko miilkr logo ki help krni chiye but nhi question puchne

जबलपुर: जिंदगी बचाने के लिए लगाए 'मौत के इंजेक्शन', अस्पताल के निदेशक समेत चार गिरफ्तारजबलपुर: जिंदगी बचाने के लिए लगाए 'मौत के इंजेक्शन', अस्पताल के निदेशक समेत चार गिरफ्तार Jabalpur MadhyaPradesh VHPLeader दोषियों पर विधिवत कार्यवाही होनी नितांत आवश्यक है