Cag, Governmentschool, Toilet, Student, School, Cag, Cag Report, Government Schools, İndian Government School, Swachh Bharat Abhiyan, Pm Modi

Cag, Governmentschool

सरकारी स्कूल बने गंदगी के ढेर, 75 फीसदी में टॉयलेट की नहीं होती सफाई : कैग

देश के बचपन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘स्वच्छ भारत अभियान’ का पाठ पढ़ाने की जिम्मेदारी रखने वाले सरकारी स्कूल

24-09-2020 01:30:00

सरकारी स्कूल बने गंदगी के ढेर, 75 फीसदी में टॉयलेट की नहीं होती सफाई : कैग CAG GovernmentSchool Toilet Student School Minister_Edu EduMinOfIndia

देश के बचपन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘स्वच्छ भारत अभियान’ का पाठ पढ़ाने की जिम्मेदारी रखने वाले सरकारी स्कूल

इतना ही नहीं केंद्रीय सरकारी कंपनियों (पीएसयू) की तरफ से स्कूलों में बनवाए गए 11 फीसदी टायलेट अपनी जगह से ‘गायब’ मिले हैं यानी इनका निर्माण केवल कागजों में ही कर दिया गया, जबकि 30 फीसदी टॉयलेट संचालित ही नहीं किए जा रहे।कैग ने दरअसल 15 राज्यों के 2048 स्कूलों के उन 2695 टॉयलेट का ऑडिट किया है। ये टॉयलेट 2014 में शिक्षा मंत्रालय की अपील पर चार मंत्रालयों की सरकारी कंपनियों की तरफ से निर्मित कराए गए 1,30,703 टॉयलेट में से एक थे। इन टॉयलेट का निर्माण 2162 करोड़ रुपये की लागत से कराया गया था।

बिहार चुनाव: बीजेपी-जदयू को कितनी चुनौती दे पाएंगे कांग्रेस,आरजेडी और वामदल - BBC News हिंदी बिहार चुनाव: मोदी से राहुल फिर ने पूछा, चीनी सेना को कब खदेड़ेगी सरकार - BBC News हिंदी मोदी की रैली में टूटा सोशल डिस्टेंसिंग का दायरा, मास्क उतार कर लगाते रहे मोदी के नारे

रिपोर्ट के मुताबिक, सर्वे के दौरान 2326 स्कूली टॉयलेट में से 1812 बुरी तरह गंदे पाए गए। दिन में कम से कम एक बार सफाई के मानक के विपरीत इन 1812 में से 715 टॉयलेट बिल्कुल भी साफ नहीं किए जाते, जबकि 1097 टॉयलेट में सप्ताह में दो बार से लेकर महीने में एक बार तक सफाई की जा रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक, 200 टॉयलेट महज कागजों में ही बना दिए गए, जबकि 86 का आंशिक निर्माण किया गया। ऐसे 83 टॉयलेट मिले, जिनका निर्माण पहले ही किसी अन्य योजना में हो चुका था।लड़के-लड़की का अलग टॉयलेट अब भी नहींयह निर्माण अभियान लड़के और लड़कियों के लिए अलग-अलग टॉयलेट के लक्ष्य के तहत चलाया गया था। लेकिन कैग रिपोर्ट के मुताबिक, 99 स्कूलों में कोई टॉयलेट नहीं चल रहा तो 436 स्कूल में एक ही टॉयलेट का उपयोग हो रहा है यानी 27 फीसदी स्कूलों में अब भी लड़के-लड़कियों के अलग-अलग टॉयलेट नहीं हैं।

सर्वे में 72 फीसदी यानी 1679 स्कूलों में टॉयलेट जाने के बाद सफाई के लिए पानी की सुविधा ही मौजूद नहीं मिली, जबकि 55 फीसदी यानी 1279 स्कूलों में हाथ धोने के लिए साबुन या अलग से पानी नहीं मिलता। खुद ही गंदगी का ढेर बने हुए हैं। 15 राज्यों के 75 फीसदी सरकारी स्कूलों के टायलेट में साफ-सफाई के पर्याप्त इंतजाम नहीं होने की बात नियंत्रक व महालेखा परीक्षक (कैग) ने बुधवार को संसद में पेश की गई ऑडिट रिपोर्ट में कही है।

विज्ञापनइतना ही नहीं केंद्रीय सरकारी कंपनियों (पीएसयू) की तरफ से स्कूलों में बनवाए गए 11 फीसदी टायलेट अपनी जगह से ‘गायब’ मिले हैं यानी इनका निर्माण केवल कागजों में ही कर दिया गया, जबकि 30 फीसदी टॉयलेट संचालित ही नहीं किए जा रहे।कैग ने दरअसल 15 राज्यों के 2048 स्कूलों के उन 2695 टॉयलेट का ऑडिट किया है। ये टॉयलेट 2014 में शिक्षा मंत्रालय की अपील पर चार मंत्रालयों की सरकारी कंपनियों की तरफ से निर्मित कराए गए 1,30,703 टॉयलेट में से एक थे। इन टॉयलेट का निर्माण 2162 करोड़ रुपये की लागत से कराया गया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, सर्वे के दौरान 2326 स्कूली टॉयलेट में से 1812 बुरी तरह गंदे पाए गए। दिन में कम से कम एक बार सफाई के मानक के विपरीत इन 1812 में से 715 टॉयलेट बिल्कुल भी साफ नहीं किए जाते, जबकि 1097 टॉयलेट में सप्ताह में दो बार से लेकर महीने में एक बार तक सफाई की जा रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक, 200 टॉयलेट महज कागजों में ही बना दिए गए, जबकि 86 का आंशिक निर्माण किया गया। ऐसे 83 टॉयलेट मिले, जिनका निर्माण पहले ही किसी अन्य योजना में हो चुका था।लड़के-लड़की का अलग टॉयलेट अब भी नहींयह निर्माण अभियान लड़के और लड़कियों के लिए अलग-अलग टॉयलेट के लक्ष्य के तहत चलाया गया था। लेकिन कैग रिपोर्ट के मुताबिक, 99 स्कूलों में कोई टॉयलेट नहीं चल रहा तो 436 स्कूल में एक ही टॉयलेट का उपयोग हो रहा है यानी 27 फीसदी स्कूलों में अब भी लड़के-लड़कियों के अलग-अलग टॉयलेट नहीं हैं।

Muzaffarpur: नीतीश कुमार की जनसभा में जनसैलाब, सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर उड़ीं धज्जियां कंगना ने आमिर को टैग कर पूछा- इन्टॉलरेंस गैंग ने इस देश में कितने कष्ट सहे? कोरोना पर पीएम मोदी के चार दावों का फ़ैक्ट चेक - BBC News हिंदी और पढो: Amar Ujala »

बलिया गोली कांड: 50 हजार का इनाम, 8 नामजद, 25 अज्ञात, पुलिस के हाथ आए सिर्फ 7

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह अबतक फरार है. यूपी पुलिस ने सभी आरोपियों के ऊपर 50-50 हजार रुपये का इनाम रखा है. लेकिन अब तक 8 नामजद और करीब 25 अज्ञात आरोपियों में से सिर्फ़ 7 की गिरफ्तारी हुई हैं और इनमें भी सिर्फ़ दो ही नामजद हैं. बाकी नामजद आरोपियों का कोई पता ठिकाना नहीं है. साथ ही अब सभी आरोपियों पर NSA और गैंग्स्टर एक्ट के तहत केस चलेगा. देखिए ये रिपोर्ट.

बैंक डिफॉल्टर्स की व्यक्तिगत गारंटी: सरकारी बैंकों पर कार्रवाई की मांग वाली याचिका खारिजबैंक डिफॉल्टर्स की व्यक्तिगत गारंटी: सरकारी बैंकों पर कार्रवाई की मांग वाली याचिका खारिज Banking BankLoan SupremeCourt SupremeCourtOfIndia Banks loandefaulter

ग्लोबल टाइम्स के बिगड़े बोल, ताइवान की राष्ट्रपति को दी जान से मारने की धमकीग्लोबल टाइम्स के बिगड़े बोल, ताइवान की राष्ट्रपति को दी जान से मारने की धमकी China Taiwan ChinaVsTaiwan GlobalTimes

चीन की सेना के प्रॉपेगैंडा वीडियो की खुली पोल - BBC News हिंदीचीनी सेना के वीडियो में परमाणु हथियारों से लैस एच-6 बॉम्बर्स को पैसिफिक आईलैंड गुआम के अमरीकी सैन्य ठिकाने पर नक़ली हमला करते दिखाया गया है. चीनी सेना अब केवल एक मजाक बन कर रह गई है इसे जायदा महत्त्व नहीं देना चाहिए चीन जैसे घटिया देश के पास अपना ओरिजनल क्या है ? कुछ भी नहीं। A Pirated Most Wicked Country. सभी जगह दोनों ही नेताओं के एक ही हालात हैं!!

एनआईए की विशेष अदालत ने अलकायदा के छह आतंकियों को चार दिन की रिमांड पर भेजाएनआईए की विशेष अदालत ने मंगलवार को अलकायदा के छह संदिग्ध आतंकियों को चार दिनों की रिमांड पर भेज दिया है।

रिलायंस के शेयर में 2 फीसदी की बढ़त, निवेश की खबर का मिला फायदारिलायंस रिटेल को एक और निवेश मिला है. इस वजह से रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में 2 फीसदी बढ़त दर्ज की गई. HPCL रिफाइनरी राजस्थान में रेल ओवरब्रिज मेरे शहर दशक से लम्बित और सालों से रहे बन IOC गुजरात में और लाई~17000 करोड़ रिफाइनरी ले BPCL 6माह 53 %बढा बता बताया! नहीं बताया BPCL प्रतिस्पर्धी रिलायंस राईट की राशि के ब्याज से ऐकसाईज भर रहा? कुछ माह में ~400%+

TIME ने जारी की दुनिया के सबसे प्रभावशाली नेताओं की लिस्ट, PM मोदी भी शामिलप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टाइम्स मैग्जीन ने अपने सबसे प्रभावशाली नेताओं की लिस्ट में शामिल किया है. इसमें डोनाल्ड ट्रंप, जो बिडेन और कमला हैरिस जैसे नाम भी शामिल हैं. आप लिख सकते हैं तो लिखें और अगर नहीं लिख सकते तो लाइक नहीं सिर्फ रीट्वीट ही करते जाएं। GRd7281 प्रार्थना है आपसे👉 BegusaraiWantsDinkarUniversity BegusaraiWantsDinkarUniversity BegusaraiWantsDinkarUniversity BegusaraiWantsDinkarUniversity BegusaraiWantsDinkarUniversity Nice to hear it☺️ narendramodi मैं परेशान हूँ क्योंकि 2040 स्पष्ट दिख रहा है यदि जनसंख्या नियंत्रण, धर्मांतरण नियंत्रण और घुसपैठ नियंत्रण कानून तत्काल नहीं बनाया गया तो 2040 में समता समानता समरसता समान अवसर राष्ट्रवाद समाजवाद सेकुलरिज्म ही नहीं बल्कि संविधान और लोकतंत्र भी नहीं बचेगा PMOIndia narendramodi