Irregular Employees, 7Th Pay Commission, 8Th Pay Commission, समान काम के लिए समान वेतन, Equal Pay For Equal Work, Central Employee, Pay Commission, Khush Khabar, Khushkhabar, खुशखबर

Irregular Employees, 7Th Pay Commission

समान काम के लिए समान वेतन का आदेश जारी, केंद्र के 10 लाख अनियमित कर्मचारियों को होगा लाभ

ब सभी अनियमित कर्मचारियों को आठ घंटे काम करने पर उसी पद पर काम करने वाले नियमित कर्मचारियों के वेतनमान के न्यूनतम मूल

12-09-2019 03:45:00

समान काम के लिए समान वेतन का आदेश जारी, केंद्र के 10 लाख अनियमित कर्मचारियों को होगा लाभ PMOIndia narendramodi HRDMinistry DrRPNishank DoPTGoI

ब सभी अनियमित कर्मचारियों को आठ घंटे काम करने पर उसी पद पर काम करने वाले नियमित कर्मचारियों के वेतनमान के न्यूनतम मूल

फिलहाल इन कर्मचारियों को संबंधित राज्य सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम वेतन मिल रहा था। दिल्ली सरकार ने अकुशल श्रमिकों के लिए 14,000 रुपये महीने का वेतन तय किया है, लेकिन इस आदेश के बाद उन्हें ग्रुप डी के वेतनमान में न्यूनतम वेतन यानी 30,000 रुपये महीने की दर से भुगतान होगा। यानी एक ही बार में उनकी आमदनी दोगुनी हो जाएगी।

बिहार चुनाव: राम मंदिर, कश्मीर, आतंकवाद, विकास! देखें क्या-क्या बोले योगी IPL 2020: धवन की पारी पर भारी पंजाब पावर, दिल्ली की हार - BBC News हिंदी Jehanabad: नीतीश कुमार बोले, पति-पत्नी के राज में दिनदहाड़े मार दी जाती थी गोली

आदेश में यह भी स्पष्ट किया गया है कि यदि किसी अनियमित कर्मचारी का काम नियमित कर्मचारी के काम से अलग है तो उसे राज्य सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम वेतन के आधार पर ही भुगतान किया जाएगा। सभी मंत्रालयों और विभागों को भेजा डीओपीटी का यह आदेश ‘समान कार्य के लिए समान वेतन’ के आधार पर दिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आया है।

सरकार के स्पष्ट आदेश के बावजूद ट्रेड यूनियन नेता इसके लागू हो पाने को लेकर शंका जता रहे हैं। देश की सबसे बड़ी ट्रेड यूनियन भारतीय मजदूर संघ के पूर्व अध्यक्ष बैजनाथ राय का कहना है कि इस तरह के कई आदेश पहले भी जारी हुए लेकिन लागू नहीं किए गए।चूंकि अब सरकार ने ग्रुप सी और डी की अधिकतर नौकरियां निजी ठेकेदारों को आउटसोर्स कर दी हैं, ऐसे में आदेश को लागू करा पाना सबसे बड़ी चुनौती है। सीटू नेता तपन रॉय का कहना है कि यह केवल केंद्रीय कर्मचारियों के लिए है, इसीलिए डीओपीटी द्वारा जारी किया गया है। यदि श्रम मंत्रालय ने जारी किया होता तो सभी कर्मचारियों के लिए होता। उन्होंने भी इसके लागू होने पर संदेह प्रकट किया।

खास बातेंकार्मिक और प्रशिक्षण विभाग ने जारी किया आदेशहालांकि नियमित रोजगार पाने का नहीं होगा हकजितने दिन काम करेंगे, उतने दिनों का भुगतान होगाकेंद्र सरकार ने अपने अंतर्गत आने वाले विभिन्न विभागों में काम कर रहे दस लाख अनियमित (कैजुअल) कर्मचारियों के लिए समय से पहले ही दीवाली मनाने का प्रबंध कर दिया है। इन सभी को अब नियमित कर्मचारियों के बराबर वेतन मिलेगा। प्रधानमंत्री कार्यालय के अधीन कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग ने बुधवार को इस संदर्भ में आदेश जारी किया।

विज्ञापनआदेश के अनुसार, अ वेतन और महंगाई भत्ते के बराबर ही भुगतान होगा। वे जितने दिन काम करेंगे, उन्हें उतने दिनों का भुगतान होगा। हालांकि आदेश संख्या 49014/1/2017 के अनुसार उन्हें नियमित रोजगार पाने का हक नहीं होगा।फिलहाल इन कर्मचारियों को संबंधित राज्य सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम वेतन मिल रहा था। दिल्ली सरकार ने अकुशल श्रमिकों के लिए 14,000 रुपये महीने का वेतन तय किया है, लेकिन इस आदेश के बाद उन्हें ग्रुप डी के वेतनमान में न्यूनतम वेतन यानी 30,000 रुपये महीने की दर से भुगतान होगा। यानी एक ही बार में उनकी आमदनी दोगुनी हो जाएगी।

आदेश में यह भी स्पष्ट किया गया है कि यदि किसी अनियमित कर्मचारी का काम नियमित कर्मचारी के काम से अलग है तो उसे राज्य सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम वेतन के आधार पर ही भुगतान किया जाएगा। सभी मंत्रालयों और विभागों को भेजा डीओपीटी का यह आदेश ‘समान कार्य के लिए समान वेतन’ के आधार पर दिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आया है।

अब भी शंकासरकार के स्पष्ट आदेश के बावजूद ट्रेड यूनियन नेता इसके लागू हो पाने को लेकर शंका जता रहे हैं। देश की सबसे बड़ी ट्रेड यूनियन भारतीय मजदूर संघ के पूर्व अध्यक्ष बैजनाथ राय का कहना है कि इस तरह के कई आदेश पहले भी जारी हुए लेकिन लागू नहीं किए गए।चूंकि अब सरकार ने ग्रुप सी और डी की अधिकतर नौकरियां निजी ठेकेदारों को आउटसोर्स कर दी हैं, ऐसे में आदेश को लागू करा पाना सबसे बड़ी चुनौती है। सीटू नेता तपन रॉय का कहना है कि यह केवल केंद्रीय कर्मचारियों के लिए है, इसीलिए डीओपीटी द्वारा जारी किया गया है। यदि श्रम मंत्रालय ने जारी किया होता तो सभी कर्मचारियों के लिए होता। उन्होंने भी इसके लागू होने पर संदेह प्रकट किया।

पाक संसद ने माना, हिंदुओं का कराया जा रहा जबरन धर्मातरण वाराणसी: बच्चों की कुश्ती के लिए नहीं थी कोई जगह, इस शख्स ने खेत गिरवी रखकर बनवाया अखाड़ा बिहार: पिता दिग्विजय की नीतीश कुमार से थी राजनीतिक तकरार, आज श्रेयसी हैं BJP उम्मीदवार और पढो: Amar Ujala »

UK से लौटकर 50 हजार रुपए से तांबे के बर्तनों का बिजनेस शुरू किया, अब सालाना 30 लाख कमाते हैं

अलीगढ़ के अदनान अली खान का टर्नओवर 75 से 80 लाख रु का है, हाल ही में 4 शहरों से ही 18 लाख रु का आर्डर भी मिल चुका है,देश के 7 राज्यों में बिजनेस है, 4 से 5 देशों में सामान सप्लाई होता है, सिर्फ अलीगढ़ में 20 लोगों को रोजगार दे रखा है | Business Idea found during studies in UK, starts from 50 thousand, now earn 3 million a year by supplying copper utensils

PMOIndia narendramodi HRDMinistry DrRPNishank DoPTGoI Bahut sahi yahi hona bhi chahiye

7th Pay Commission: हिमाचल प्रदेश के 18,000 कर्मचारियों के डीए में 4 प्रतिशत का इजाफा7th Pay Commission, 7th CPC Latest News Today: हिमाचल प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों के लिए यह खबर इसलिए खास है, क्योंकि केंद्र सरकार के कर्मचारी जुलाई 2019 से अब तक 5 प्रतिशत डीए बढ़ने का इंतजार कर रहे हैं।

ईडी के समन के बाद दिल्ली के लिए रवाना हुईं डीके शिवकुमार की बेटीमनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार की बेटी ऐश्वर्या से आज प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पूछताछ करेगी. इस पूछताछ के लिए ऐश्वर्या दिल्ली के लिए रवाना हो गई हैं. दरअसल, ईडी को शिवकुमार के वित्तीय सौदों की जांच करते हुए उनकी बेटी द्वारा संभाले गए एक ट्रस्ट से संबंधित कुछ दस्तावेज मिले थे. इन दस्तावेजों के बारे में पूछताछ के लिए ऐश्वर्या को ईडी ने समन भेजा था. नए ट्रैफिक नियमों में एक नियम रिश्वतखोर पुलिस, ट्रैफिक पुलिस एवं RTO की सजा तुरन्त निलम्बन एवम उम्र कैद निर्धारित की जाए।😠😠 अरे आजतक इसकी कुल संपत्ति का आंकड़ा तो बता दे ।।।। चक्कर खा कर गिर जायेगा ।।।

काम की खबर: प्लास्टिक की बोतल फेंके नहीं, ऐसे करें मोबाइल रिचार्ज के लिए इस्तेमालकाम की खबर: प्लास्टिक की बोतल फेंके नहीं, ऐसे करें मोबाइल रिचार्ज के लिए इस्तेमाल plasticpollution RailwaySeva RailMinIndia SayNoToPlastic

SAMSUNG ने दिव्यांग लोगों के लिए लॉन्च किए Good Vibes, रेलुमिनो App, जानिए कैसे करेंगे कामकंपनी ने दिल्ली के राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ (नैब) के साथ साझेदारी की है। वह नैब को गियर वीआर (वर्चुअल रियल्टी हैडसेट) और गैलेक्सी नोट9 फोन उपलब्ध कराएगी। नैब इनका उपयोग कक्षाओं में दृष्टिबाधित छात्रों के साथ करेगी जहां वह इसकी मदद से बेहतर तरीके से देखक सकेंगे।

इसरो के ऑफिस में कैसा है काम करने का माहौल और कितनी है सैलरीwork-culture of isro and salary of new scientist। news18hindi। इसरो के ऑफिस में कैसा है काम करने का माहौल और कितनी है सेलरी। दुनिया की टॉप फाइव स्पेस एजेंसियों में एक है भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान यानि इसरो. अब इसरो का एक बड़ा ढांचा देशभऱ में काम कर रहा है. युवा वैज्ञानिक कैसा महूसस करते हैं यहां के कामकाजी माहौल को | knowledge News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी Salary Last Year Jitni Thi us se Kam hai because Gobhi ji NE unka Bhi kaat Dia hai Hutiya Now Chant BMKJ 🚩

गाने सुनने के हैं शौकीन तो जानिए किस तरह काम करता है आपका मस्तिष्कअमेरिका की जॉन होपकिंस यूनिवर्सिटी और चीन की शिन्हुआ यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने महिला पुरुष दोनों के दिमाग की विद्युत गतिविधि का अध्ययन किया है।