सचिन पायलट की याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई टली

सचिन पायलट पहुँचे हाईकोर्ट, स्पीकर के नोटिस को दी चुनौती

16-07-2020 12:56:00

सचिन पायलट पहुँचे हाईकोर्ट, स्पीकर के नोटिस को दी चुनौती

सचिन पायलट ने राजस्थान विधान सभा स्पीकर के नोटिस को अदालत में चुनौती दी है.

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटGetty Imagesराजस्थान हाईकोर्ट में सचिन पायलट की याचिका पर सुनवाई टल गई है.राजस्थान में कांग्रेस का सियासी संकट अब राजस्थान हाईकोर्ट पहुँच गया है.सचिन पायलट को राजस्थान के उप-मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाए जाने के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने सचिन के समर्थक विधायकों के ख़िलाफ़ कार्रवाई शुरू कर दी है.

बेरूत धमाके के बाद लेबनान के प्रधानमंत्री दे रहे हैं इस्तीफ़ा? अयोध्या में अस्पताल बने, मस्जिद के लिए मेरे पिता दे देंगे जमीन: सुमैया राना दिल्ली: वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, कुछ ही देर पहले हुई सफल ब्रेन सर्जरी

स्पीकर सीपी जोशी ने सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों को नाटिस जारी किया है.अशोक गहलोत ने लगातार दो दिन विधायकों की बैठक बुलाई थी और व्हिप जारी करते हुए सभी विधायकों को उसमें शामिल होने के निर्देश दिए गए थे.सचिन पायलट ख़ुद तो दिल्ली में थे लेकिन उनके समर्थक विधायक हरियाणा के एक होटल में रह रहे हैं और उन्होंने इसमें हिस्सा नहीं लिया.

सचिन पायलट का तर्क था कि विधानसभा का सेशन नहीं चल रहा है इसलिए विधायकों की अनिवार्य हाज़िरी के लिए व्हिप नहीं जारी की जा सकती है.लेकिन पार्टी के चीफ़ व्हिप महेश जोशी ने इन विधायकों पर व्हिप का उल्लंघन करने और पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाते हुए स्पीकर से इनके ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की अपील की थी.

उनकी शिकायत के बाद स्पीकर ने नोटिस जारी करके बाग़ी विधायकों से पूछा है कि आपकी सदस्यता क्यों न ख़त्म कर दी जाए.सचिन के समर्थक विधायकों को 17 जुलाई दोपहर 1 बजे तक जवाब देने का समय दिया गया है.लेकिन उससे पहले ही गुरुवार को सचिन पायलट ने स्पीकर के नोटिस को राजस्थान हाईकोर्ट में चुनौती दे दी.

Petition filed in Rajasthan High Court on behalf of Sachin Pilot camp over disqualification notice from Assembly speaker— Press Trust of India (@PTI_News)16 जुलाई 2020पोस्ट ट्विटर समाप्त @PTI_News और पढो: BBC News Hindi »

राजस्थान के रण में ना गहलोत की जीत, ना पायलट की हार!

कांग्रेस नेतृत्व ने राजस्थान में उप मुख्यमंत्री पद से हटाए गए बागी नेता सचिन पायलट की नाराजगी दूर कर ली. वो अभी अभी राहुल गांधी से मिलने अपने समर्थक विधायकों के साथ पहुंचे हैं. पायलट खेमे के एक विधायक भंवरलाल शर्मा ने जाकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात भी कर ली है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी गहलोत और पायलट के बीच संतुलन साधने के लिए एक तीन सदस्यीय कमेटी बना रही हैं. साथ ही बड़ी खबर ये है कि राजस्थान में कांग्रसे के प्रभारी महासचिव अविनाश पांडे हटाए जा सकते हैं. मौजूदा फॉर्मूला से साफ है कि ना तो ये गहलोत की जीत है, ना पायलट की हार. बल्कि पिछले एक महीने से हिल रही गहलोत सरकार को एक जीवनदान मिला है. देखें वीडियो.

ESA CX अब कहीं भी जाओ क्या फर्क पड़ता है। हाईकोर्ट में तो अंग्रेज़ी ही जीतेगी, राम राम सा राजनीति में समर्पित एवं निष्ठावान कार्यकर्ता का ही वलि होता है। पायलट न इधर के न उधर के बीच मे लटक गए है हाँ शायद आपने सही फैसला लिया है India Ke Liye Aayi Bahut Hi Achchhi News - 🤣🤣 SachinPilot पर कार्रवाई कांग्रेस के ताबूत में आखिरी क़िल 📌

हड़बड़ी में गड़बड़ी हो गई जोश तो था होश खो बैठे ना राम मिला ना माया अब न्याय कि दर पर दुखड़ा रोने पहुँच गये हाई कोर्ट ना जाकर अपने घर आते तो बची खुची इज्जत रह जाती आपके एमएले खिसक रहे हैं इनकी सदस्यता तुरंत रद्द होनी चाहिए । ashokgehlot51 YashMeghwal FOUNDERofMMES KapilSibal rssurjewala Whether now this Politician will get CM seat ,When CM's ( BJP) seat in Rajasthan already reserved. Then What benefit to this Politician & Now will get same seat of DyCM after excercise. Whether 17yrs success is not sufficient & Opportunistic behaviour like Sh AjitSingh & finish.

सचिन पायलट की बर्खास्तगी के बाद गहलोत सरकार की हुई पहली कैबिनेट बैठक खत्मराजस्थान में सचिन पायलट की डिप्टी सीएम पद से बर्खास्तगी के बाद राज्य मंत्रिमंडल की सीएम आवास पर पहली बैठक हुई. AnkurWadhawan खाने में क्या क्या था ? 😂 AnkurWadhawan milinddeora JhaSanjay PriyaDutt_INC JitinPrasada पायलट का समर्थन करने वाले कांग्रेस के कद्दावर नेताओं पर कार्रवाई हुई तेज संजय झा को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है अभी मिलिंद देवड़ा, जितिन प्रसाद, और प्रिया दत्त के भी नाम आ रहे हैं सामने, जल्द हो सकती है कार्यवाही AnkurWadhawan किसी भी भाई बहन को कोई तकलीफ हो जरूर बताए मेरी कोशिश रहेगी उसकी मदद करने की हिन्दू,मुस्लिम, सिख,ईसाई मदद सबकी की जाएगी

राजस्थान में सियासी संकट के बीच सचिन पायलट का BJP में शामिल होने से इनकारRajasthan Government Crisis Today News Live Updates: सचिन पायलट के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद कांग्रेस के पाली जिलाध्यक्ष चुन्नीलाल चडवास ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। वहीं, कांग्रेस की राजनीतिक सियासत के बीच प्रदेश पार्टी प्रवक्ता ने इच्छा मृत्यु की मांग की है।

सचिन पायलट को 'महत्वाकांक्षा की उड़ान' कहाँ लेकर जाएगीराजस्थान में ताज़ा राजनीतिक घटनाक्रमों ने सचिन पायलट के अगले क़दम को लेकर चर्चा शुरू कर दी है. बीजेपी में, Omar Abdullah ke paas भाजपा मुख्यालय के गेट पे चौकीदारी करेगा

सचिन पायलट के समर्थन में उतरीं प्रिया दत्त, बोलीं- पार्टी से एक और दोस्त चला गयाप्रिया दत्त ने कहा कि एक और दोस्त ने पार्टी छोड़ दी. साचिन और ज्योतिरादित्य सहकर्मी और अच्छे दोस्त थे. दुर्भाग्य से हमारी पार्टी ने 2 दिग्गज युवा नेताओं को खो दिया है. Yes, Abhi or bhi jane wale hai . एक परिवार की गुलामगिरी करने से अच्छा हैं, की स्वाभिमान से जीना.. सरकार की जगह विपक्ष से सवाल पूछने वाले पत्रकार देशद्रोही हैं, अलोकतांत्रिक हैं, चाटुकार हैं और गद्दार हैं।

सचिन पायलट बोले- मैं बीजेपी में शामिल होने नहीं जा रहाकांग्रेस के बाग़ी नेता सचिन पायलट ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा है कि वो बीजेपी में नहीं जाएंगे. kv berojgari or mahgayi pr v bat kr liya karo desh barbad ho rha hai jiska jimmedar Media hai av tym hai sudhar jao ni to bahiskar hoga ap sabka Nice फैसला Chokidar bano ya Aatmanirbhar. ''Lutiya to doob chuki ab''.🖕

सचिन पायलट ने बीजेपी में जाने से किया इनकार लेकिन स्पीकर ने थमाया नोटिससचिन पायलट ने कहा कि राजस्थान में कुछ नेता उनके बीजेपी में शामिल होने की अफ़वाह उड़ा रहे हैं लेकिन वो ऐसा नहीं करने जा रहे. चुनावी समर में छोकरा दिखाया छोकरे नेमेहनत भी बहुत किया फिर जीतने के पश्चात चाटुकार चापलूस डोकरा को बैठा दिखा यह तो खानदानी परंपरा सरदार पटेल भी 14 वोट और नेहरु को दो वोट फिर भी गांधी ने pm नेहरु को बनाया मेहनत करो ना करो पर चापलूसी में महारत हासिल होना चाहिये तभी सत्ता मिलेगी जैसे हर नदी गंगा में नहीं मिलती, देश के लिए जो कि अच्छा भी है, वैसे ही, ज़रूरी नहीं कि हर प्रभावशाली राजनेता बीजेपी में ही जा के समाए, लोकतंत्र के लिए संभवत: ये अच्छा भी हो। पता नही कुछ लोगों को क्यों लगता है कि कोई व्यक्ति पार्टी के लिए महत्वपूर्ण नही है जबकि सच्चाई यह है कि पार्टी व्यक्ति से बनता है SachinPilot