सऊदी अरब के क्राऊन प्रिंस का यह लक्ष्य क्या भारत के बिना पूरा होगा? - BBC News हिंदी

सऊदी अरब के क्राऊन प्रिंस का यह लक्ष्य क्या भारत के बिना पूरा होगा?

24-10-2021 10:13:00

सऊदी अरब के क्राऊन प्रिंस का यह लक्ष्य क्या भारत के बिना पूरा होगा?

ऊर्जा निर्यात ही सऊदी अरब की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है. सऊदी अरब राजस्व की निर्भरता तेल से कम करने की कोशिश कर रहा है लेकिन ये अब भी दूर की कौड़ी है.

क्राउन प्रिंस ने कहा है कि साल 2030 तक सऊदी अरब में 45 करोड़ नए पेड़ लगाने का लक्ष्य रखा गया है. इसके साथ ही बंजर हुई ज़मीन को भी उर्वर बनाने की कोशिश की जाएगी. लैंडलॉक्ड शहर रियाद को हरा-भरा बनाने का भी लक्ष्य रखा गया है.सऊदी अरब के अलावा रूस और चीन ने भी 2060 तक ज़ीरो-नेट इमिशन का लक्ष्य रखे हैं. अमेरिका और यूरोपीय यूनियन के देशों ने साल 2050 तक ये लक्ष्य हासिल करने की बात कही है.

बिहार में मृत व्यक्ति ने जीता पंचायत चुनाव - BBC Hindi जम्मू और कश्मीर का विशेष दर्जा वापस दिलाने के लिए अंतिम सांस तक लड़ूंगा: उमर अब्दुल्लाह - BBC Hindi चीन और उत्तर कोरिया पर बोलते हुए जापान के पीएम ने क्यों कही हमला करने की बात - BBC Hindi

सऊदी अरब दुनिया के बड़े प्रदूषक देशों में से एक है. COP26 के अध्यक्ष आलोक शर्मा ने सऊदी की इस घोषणा का स्वागत किया है. आलोक शर्मा ने ट्वीट कर कहा है, ''मुझे उम्मीद है कि सऊदी अरब की इस घोषणा से बाक़ी देश भी प्रेरित होंगे.''विश्लेषकों का कहना है कि सऊदी अरब ने इस घोषणा से वैश्विक जलवायु परिवर्तन वार्ता में अपनी जगह सुरक्षित कर ली है. जीवाश्म ईंधन के इस्तेमाल को तत्काल रोकने की मांग को लेकर सऊदी अरब कहता रहा है कि अचानक ऐसा करने से महंगाई बढ़ जाएगी और ईंधन की कमी से जूझना पड़ेगा.

लीक दस्तावेज़ के अनुसार, सऊदी समेत अन्य देश COP26 समिट के रुख़ को अपने हिसाब से करने की कोशिश में लगे हैं. देश के भीतर कार्बन उत्सर्जन में कमी लाकर सऊदी भारत और चीन को तेल बेचने में कोई कमी नहीं लाएगा. चीन और भारत में आने वाले सालों में जीवाश्म ईंधन की माँग और बढ़ने वाली है. headtopics.com

सऊदी के ऊर्जा मंत्री प्रिंस अब्दुल अज़ीज बिन सलमान ने कहा है, ''सऊदी की आर्थिक वृद्धि दर ऊर्जा स्रोतों पर निर्भर है. यह कोई राज़ नहीं है.'' सऊदी अरब ने कहा है कि वो ज़ीरो-नेट का लक्ष्य कार्बन सर्कुलर इकॉनमी के ज़रिए हासिल करेगा. इसमें कार्बन उत्सर्जन में कटौती, फिर से इस्तेमाल और पुनर्चक्रण की बात कही गई है. हालाँकि पर्यावरण विशेषज्ञ इस फॉर्म्युला को अप्रभावी मानते हैं और कहते हैं कि जीवाश्म ईंधन का इस्तेमाल रोकना ही टिकाऊ उपाय है.

इमेज स्रोत,Reutersसऊदी ने जिन तरीक़ों से कार्बन उत्सर्जन कम करने की बात कही है, वो बहुत टिकाऊ नहीं माना जा रहा है. विशेषज्ञों का कहना है कि वैश्विक स्तर पर कार्बन उत्सर्जन में सीधे कटौती करने की ज़रूरत है.विशेषज्ञों का कहना है कि बिना सीधी कटौती के वैश्विक तापमान में 1.5 डिग्री की कमी लाना संभव नहीं है. सऊदी अरब के पास एक अनुमान के मुताबिक़ 17 फ़ीसदी पुष्ट पेट्रोलियम रिज़र्व है और वैश्विक तेल मांग की 10 फ़ीसदी आपूर्ति करता है.

ऊर्जा बाज़ार और तेल उत्पादक देशों के संगठन ओपेक में सऊदी अरब का दबदबा है. कहा जा रहा है कि सऊदी अरब बाक़ी तेल उत्पादक देशों पर दबाव डाल सकता है.सऊदी अरब ने पिछले साल क़ीमतों को कंट्रोल करने के लिए ऐसा किया था और इसका असर भी दिखा था. सऊदी अरब का कहना है कि वैश्विक ऊर्जा मार्केट में स्थिरता और सुरक्षा के साथ ही वो कार्बन उत्सर्जन में कटौती का काम करेगा.

खाड़ी के देशों का कहना है कि जीवाश्म ईंधन के इस्तेमाल को रोकने से कम आय वाले देश और वहां की आबादी बुरी तरह से प्रभावित होंगे.इस महीने की शुरुआत में खाड़ी के एक और बड़ा ऊर्जा उत्पादक देश संयुक्त अरब अमीरात ने 2050 तक नेट-ज़ीरो इमिशन का लक्ष्य रखा था. इस इलाक़े में यूएई एकमात्र देश है, जहाँ परमाणु बिजली संयत्र है. यूएई ने लक्ष्य तो रख दिया है, लेकिन कार्बन का उत्सर्जन कैसे रोकेगा, इसके बारे में कुछ नहीं बताया है. headtopics.com

बागपत में बोले अनुराग ठाकुर – अखिलेश भाई, तुम दंगे करवाते हो, हम दंगल कराते हैं - BBC Hindi बीजेपी के मंत्रियों, नेताओं ने ये तस्वीर पोस्ट की और मच गया सोशल मीडिया पर हंगामा? - BBC News हिंदी RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले- 'भारत को भारत रहना है तो भारत को हिंदू रहना ही पड़ेगा' और पढो: BBC News Hindi »

शंखनाद: Samajwadi Party की साइकिल पर बैठेंगी कितनी सवारी?

जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, उत्तर प्रदेश का रण धारदार होता जा रहा है, सत्ता पक्ष और विपक्ष अपने-अपने दल को बढ़ाने में लगे हुए हैं, गठबंधनों का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस की बागी नेता अदिति सिंह आज बीजेपी में शामिल हुईं तो दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. साथ ही कृष्णा पटेल वाली अपना दल पार्टी ने भी समाजवादी का दामन थाम लिया. यूं समझिए कि गठबंधन वाली राजनीति बहुत तेजी से विस्तारित हो गई है, ताकि पार्टियां अपने विरोधियों को मात दे सकें. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

Sab sanghi Hindu log muslim country ko boycott karo koe nhi saman ya wha jaega muslim country Muslim aur jo shi Hindu bhai ye sab chor kar Sirf Nafrati ko. M

'कटोरा' लेकर सऊदी अरब पहुंचे इमरान खान, दिवालियेपन की कगार पर पाकिस्तान की अर्थव्यवस्थाPakistan: पाकिस्तान को जून 2018 में ग्रे सूची में डाला था। अक्टूबर 2018, 2019, 2020 और अप्रैल 2021 में हुए रिव्यू में भी पाक को राहत नहीं मिली थी। पाक एफएटीएफ की सिफारिशों पर काम करने में विफल रहा है। इसकी वजह इंटरनैशनल मॉनिटरिंग फंड (आईएमएफ), विश्व बैंक और यूरोपीय संघ से आर्थिक मदद मिलना मुश्किल है। ऑक्सीजन कहां से आया था भारत? भुकमरी में पाकिस्तान से आगे है भारत, संघ की पट्टी अपनी आँखों से हटाओ नज़र आ जाएगा Apne desh ki soacho. Pakke besharm ho tum log

क्राउन प्रिंस सलमान ने इमरान ख़ान को सऊदी अरब क्यों बुलाया - BBC Hindiपाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान आज सऊदी अरब के तीन दिवसीय दौरे पर जाने वाले हैं. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस ने बुलाया है. भिखारी देश सुधर जाय... आदमखोरी छोड़ दे और कौम का नाम बम फोडने से नही शांति से कैसे बनाया जाय यही सिख देने के लिये बुलावा है बुलाया दिखाने कैसे बढ़े समझाने। बुर्ज पर खड़े कर काम करने की इच्छा जगाने🧬 अब कही सऊदी अरब के तलवे चाटने वाले अब्बू के प्रकाण्ड अंध भक्तो ,हिंदुत्ववादियों की छाती में सांप न लौटने लगे।

वार : असद्दुदीन ओवैसी बोले- सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद केंद्र ने टीका की नीति बदलीवार : असद्दुदीन ओवैसी बोले- सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद केंद्र ने टीका की नीति बदली LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine asadowaisi RahulGandhi asadowaisi RahulGandhi ओवैसी के बाप का क्या जाता है, जो मुंह में आया सो बक दिया, परिवार में भी जो जिम्मेदारी निभाता है, उसके खिलाफ सबसे अधिक नुक्ता-चीनी करने वाले गैर-जिम्मेदार ही होते हैं! asadowaisi RahulGandhi save_our_job_in_hp

बाबा के दरबार में CM योगी ने लगाई हाजिरी, मंत्रों के बीच की पूजा-अर्चनामुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ शनिवार को वाराणसी में थे। यहां उन्‍होंने सबसे पहले काशी विश्‍वनाथ के मंदिर में हाजिरी लगाई। पुजारियों के मंत्रोच्‍चार के बीच उन्‍होंने अर्चना की। इसके बाद बीजेपी पदाधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक से निकलने के बाद मुख्यमंत्री सास्कृतिक संकुल का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान सर्किट हाउस अंडर ग्राउंड पार्किंग स्‍थल का हाल भी जाना। फिर शहर में भ्रमण करते हुए मुख्‍यमंत्री ने नगरीय व्‍यवस्‍थाओं का हाल अपनी आंखों से देखा। सीएम के आगमन को देखते हुए शहर भर में सुरक्षा व्‍यवस्‍था काफी कड़ी कर दी गई थी। narendramodi जी के दौरे की तैयारी का जायजा भी तो लेना है अंधविश्वास पाखण्ड फैलाना ही बाबाजी कामुख्य कार्य है क्योंकि वोट उसीसे मिलता है

IND vs PAK: महामुकाबले के लिए पाकिस्तान ने टीम की घोषणा की, बाबर-रिजवान करेंगे ओपनिंगIND vs PAK: भारत के खिलाफ महामुकाबले के लिए पाकिस्तान की प्लेइंग-XI की घोषणा, बाबर-रिजवान करेंगे ओपनिंग INDvPAK T20WorldCupsquad T20WorldCup2021 PakistanCricket indiaVsPakistan

'कृषि नीति पर पुनर्चिंतन की जरूरत' : किसान के फसल जलाने के VIDEO पर बोले वरुण गांधीवरूण गांधी ने शनिवार को एक किसान का वीडियो ट्वीट किया. जिसमें किसान ने 15 दिन तक भी धान की फसल नहीं खरीदे जाने पर उसमें आग लगा दी. आपका पत्ता साफ करने पर चिंतन और मंथन सब हो रहा है 😂 मोदी भक्त अब इन्हें गद्दार और देशद्रोही करार दे देंगे! इन का आवाज उठाने और किसान का साथ देने के लिए धन्यवाद! FarmersProtest_Martyrs PetrolDieselPriceHike lakhimpur_farmer_massacre कृषि नीति पर पुनर्चिंतन आज की सबसे बड़ी ज़रूरत है.