Decline, Heinous Crimes, Delhi, G. Kishan Reddy, Rajya Sabha, Delhi

Decline, Heinous Crimes

संसद में बोली मोदी सरकार- दिल्ली में जघन्य अपराधों में 7.7% की गिरावट

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने संसद में एक सवाल के जवाब में कहा कि दिल्ली में जघन्य अपराधों में गिरावट दर्ज की गई है.

4.12.2019

दिल्ली पुलिस की रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 में दिल्ली में 5014 जघन्य अपराध के मामले दर्ज किए थे. इसके मुकाबले 15 नवंबर 2019 तक इस श्रेणी के 4628 मामले दर्ज किए गए हैं

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने संसद में एक सवाल के जवाब में कहा कि दिल्ली में जघन्य अपराधों में गिरावट दर्ज की गई है.

मंत्री ने सदन को बताया कि दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी में अपराध रोकने और अपराध के मामलों को निपटाने में तेजी लाने के लिए कई उपाय किए हैं. इन उपायों में कुछ प्रमुख हैं: संगठित अपराध के खिलाफ कार्रवाई, कुख्यात अपराधियों की गिरफ्तारी/सर्विलांस, संवेदनशील इलाकों में सामूहिक पेट्रोलिंग, पुलिस कंट्रोल रूम वैन की तैनाती, इमरजेंसी रेस्पॉन्स व्हिकल, अपराधियों पर सर्विलांस. इसके अलावा दिल्ली पुलिस जनता में विश्वास पैदा करने के लिए जनसंपर्क करती है और लोगों से संपर्क बनाए रखने वाले कार्यक्रम भी करती है.

इधर, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बुधवार को राज्यसभा को सूचित करते हुए कहा कि विशेष रूप से भीड़ हिंसा (मॉब लिंचिंग) के लिए नहीं, बल्कि केंद्र ने राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) में संभावित संशोधन के लिए पत्र लिखा है. ऊपरी सदन में एक सवाल का जवाब देते हुए, मंत्री ने कहा कि उन्होंने खुद से ही मुख्यमंत्रियों, उपराज्यपालों, राज्यपालों को अनुभवी जांचकर्ताओं और सरकारी वकीलों से परामर्श लेकर के उनके सुझाव भेजने के लिए पत्र लिखा है.

और पढो: आज तक

Thodi to sharm honi chahiye!! शर्म आनी चाहिए नेताओं को 7.7% क्या है आंकड़ा जघन्य अपराध कम होने का? देश की राजधानी है जिसकी आप बात कर रहे है जहा एक चिड़िया तक आजादी से खुले में सांस तक नहीं ले पा रहे और ना कोई बहन अपनी इज्जत लूटते बचा पा रही है यही है देश की राजधानी? ४५ दिन का रिपोर्ट आना अभी बाकी है और जुमले-आजम अपना ढोल बजाने लगे

I think you have your own statista report coming from BJP aahhhh... Lier Yah chaukidar ka digital India आपकी बात सही है। अभी भी बहुत कुछ करना बाकी है। शर्म नही आती 😳🙏

संसद Live: एसपीजी संशोधन बिल आज राज्यसभा में होगा पेश, रणनीति बनाने में जुटी भाजपासंसद के शीतकालीन सत्र के दौरान मंगलवार को एसपीजी संशोधन बिल आज राज्यसभा में पेश होगा। यह बिल लोकसभा में पारित हो चुका

स्कूली शिक्षा से संसद में हिस्सेदारी तक, जानिए देश में कैसी है महिलाओं की हालतहैदराबाद में हुई बलात्कार की जघन्य घटना पर संसद के दोनों सदनों में कड़ी निंदा की गई. आइए दुनिया की तुलना में जानते हैं कि भारत में महिलाओं की हालत कैसी है? data shows how does indian society treat women | नॉलेज - News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए BJP में शुरू हुई टिकट की रेस, नेता पुत्र कतार मेंrohitmishra812 rohitmishra812 Arvind kejriwal ki betide aur bibi bhi davedari jar sakti hain , ok rohitmishra812 कोई फायदा नहीं, जमानते जब्त होंगी इस बार | KejriwalFirSe

दिल्ली में डेंगू के 1700 से अधिक मामले दर्ज, नगर निकाय की रिपोर्ट में खुलासाराष्ट्रीय राजधानी में इस साल अब तक डेंगू के मामलों की कुल संख्या 1700 से अधिक हो गई है. सोमवार को जारी हुई नगर निकाय की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई. रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में 30 नवंबर तक मलेरिया के मामलों की संख्या 685 तक पहुंच गयी. निकाय अधिकारियों के अनुसार 18 नवंबर तक शहर में डेंगू के कुल 1474 मामले दर्ज हुए थे. अब तक डेंगू के कुल मामलों को मिलाकर यह संख्या 1786 तक पहुंच गई है. निकाय अधिकारियों के अनुसार इस साल नवंबर माह में डेंगू के 717 नए मामले दर्ज किए गए. Kya mast timing pe release ki hai report 😂😂 Phir bhi BJP haregi 😂😂🤣

दिल्ली: संसद से पास हुआ अवैध कॉलोनियों से जुड़ा बिल, 40 लाख लोगों को होगा फायदाबिल पेश करने के बाद इस पर विस्तृत चर्चा हुई. चर्चा के दौरान काफी हंगामा भी हुआ. हालांकि हंगामे के बीच सरकार बिल पास कराने में सफल रही. बता दें कि ये बिल लोकसभा से 28 नवंबर को पहले ही पास हो चुका है.

दुष्कर्म मामले में भारत में आक्रोश, जानें- विदेशों में दुष्कर्मियों को क्या सजा मिलती हैदुष्कर्म मामले में भारत में आक्रोश, जानें- विदेशों में दुष्कर्मियों को क्या सजा मिलती है rapecase doctormurderedcase Media ? What for only to promote themselves by showing such pictures, Have they ever debated on Death Punishment for Rapists so far with Government and Judiciary, why not debate with Judiciary Justice and Judges

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

05 दिसम्बर 2019, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

शादी समारोह में ताबड़तोड़ फायरिंग, जान बचाने को इधर-उधर भागे लोग, चाचा-भतीजे की मौत

अगली खबर

स्पेशल रिपोर्ट: नागरिकता संशोधन बिल पर क्यों है बवाल?