संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: भारत बढ़ेगा तो दुनिया बढ़ेगी... - BBC Hindi

संयुक्त राष्ट्र महासभा में पीएम मोदी बोले, 'विकास, सर्वसमावेशी हो, सर्व-पोषक हो, सर्व-स्पर्शी हो, सर्व-व्यापी हो, ये हमारी प्राथमिकता है'

25-09-2021 16:14:00

संयुक्त राष्ट्र महासभा में पीएम मोदी बोले, 'विकास, सर्वसमावेशी हो, सर्व-पोषक हो, सर्व-स्पर्शी हो, सर्व-व्यापी हो, ये हमारी प्राथमिकता है'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र की महासभा को संबोधित करते हुए कहा कि विकास, सर्वसमावेशी हो, सर्व-पोषक हो, सर्व-स्पर्शी हो, सर्व-व्यापी हो, ये हमारी प्राथमिकता है.

'दुनिया जहान' में इस सप्ताह हमारा सवाल है कि अफ़ग़ानिस्तान में अमेरिकी सैन्य अभियान की नाकामी के लिए कौन सा अमेरिकी राष्ट्रपति सबसे ज़्यादा ज़िम्मेदार है?भूपेंद्र पटेल होंगे गुजरात के नए मुख्यमंत्री, विधायक दल के नेता चुने गएभूपेंद्र पटेल गुजरात के नए मुख्यमंत्री होंगे. उन्हें आम सहमति से विधायक दल का नेता चुन लिया गया है. केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर इसकी जानकारी दी.

समीर वानखेड़े के पिता दलित थे और मां मुस्लिम, फर्जी सर्टिफिकेट से पाई नौकरी : नवाब मलिक Petrol, Diesel Price Today : कहीं 116 तो कहीं 113 रुपये बिक रहा पेट्रोल, चेक कर लें आपके शहर में क्या है रेट समीर वानखेड़े की पत्नी बोलीं- उगाही की होती तो महलों में रहते, अभी ही क्यों बना रहे निशाना?

'बबीता जी' ने 'टप्पू' के साथ रिश्ते की ख़बरों पर कहा- ख़ुद को भारत की बेटी कहने में शर्म आती हैलोकप्रिय टीवी सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा में बबीता जी का किरदार निभाने वाली मुनमुन दत्ता ने एक भावुक पोस्ट में लिखा है कि लोगों की भद्दी टिप्पणियों ने उनकी गरिमा नष्ट कर दी.

नरेंद्र मोदी के बाद गुजरात में कोई मुख्यमंत्री आख़िर टिक क्यों नहीं पाता है?विजय रुपाणी के इस्तीफ़े के बाद से यह सवाल एक बार फिर उठने लगा है. नरेंद्र मोदी के केंद्र में पहुंचने के बाद से गुजरात की राजनीति में अस्थिरता क्यों बनी हुई है?यूपी के बिजनौर में खो-खो खिलाड़ी की बर्बर हत्या, एक गिरफ़्तार headtopics.com

बिजनौर रेलवे स्टेशन पर बीते शुक्रवार खो-खो खिलाड़ी बबली रानी का शव मिला था. पुलिस ने मंगलवार को इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है.बीजेपी ख़ामोशी से कैसे हटा देती है मुख्यमंत्री और कहीं चर्चा भी नहीं होती?बीते कुछ महीनों में बीजेपी ने कर्नाटक, उत्तराखंड और गुजरात के मुख्यमंत्रियों को पद से हटाया है. यह अचानक लिए गए फ़ैसले हैं या इन पर पहले से रणनीति बनी हुई थी.

केंद्र और राज्यों में बदलाव करके बीजेपी क्या मैसेज देना चाहती है?उत्तराखंड, कर्नाटक के बाद अब गुजरात के मुख्यमंत्री ने इस्तीफ़ा दे दिया है. इससे पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल में भी फेरबदल किए गए थे. आख़िर ये सब बीजेपी क्यों कर रही है?9/11 हमले की सुनवाई में 20 साल बाद ग्वांतानामो बे में क्या चल रहा है?

दो दशकों के बाद आख़िर 9/11 हमले के उन पाँच अभियुक्तों के ख़िलाफ़ एक बार फिर प्री-ट्रायल शुरू हुआ जिन पर उस साज़िश को रचने का आरोप है.विजय रुपाणी का इस्तीफ़ा अचानक नहीं है, क्या है सबसे बड़ी वजह?सियासी गलियारे में इस बात की चर्चा शुरू हो चुकी थी कि भारतीय जनता पार्टी गुजरात में समय से पहले उत्तर प्रदेश विधानसभा के साथ चुनाव करा सकती है.

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान की नई सरकार पर अब ईरान ने ऐसा क्यों कहा? और पढो: BBC News Hindi »

वारदात: अब जेल में ही कटेगी Ram Rahim की सारी जिंदगी, तीसरी बार उम्र कैद

25 अगस्त 2017, दो साध्वियों से यौन शोषण में राम रहीम को पहली उम्र क़ैद. 17 जनवरी 2019, पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के क़त्ल में राम रहीम को दूसरी उम्र क़ैद. और अब 18 अक्टूबर 2021, मैनेजर रंजीत सिंह के मर्डर में राम रहीम को तीसरी उम्र क़ैद. बीस साल वाली पहली उम्र क़ैद को छोड़ दें, तो बाक़ी उम्र क़ैद उम्र भर की है. 60 से ऊपर के हो चुके गुरमीत राम रहीम की बची कुची उम्र क़ायदे से अब जेल की चारदिवारी के अंदर ही गुज़रेगी. राम रहीम की सज़ाओं की फेहरिसत में नई फेहरिस्त सोमवार को जुड़ी, पंचकूला सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा के पूर्व मैनेजर रंजीत सिंह के क़त्ल के इल्ज़ाम में राम रहीम को उम्र कैद की सज़ा दी है. देखिए वारदात का ये एपिसोड.

मोदी की प्राथमिकता अडाणी और अम्बानी है तभी तो देश में बढ़ रही महगांई है,बात बोल देने से हर बात थोड़े हो जाता है ये सब बातें एक आम आदमी भी बोल सकता है आजतक किसानों का समस्या का समाधान न ये व्यक्ति क्या न किसानों से मिलने उनके पास गया किसान क्या करे धर्म के आड़ में सिर्फ नफरत बाटा विकास पूंजीपतियों को होना चाहिए और पार्टी का फंड नोटों से लबालब भरा होना चाहिए

प्राथमिकता तो डाल अपनी... सर्व-धर्म समभाव हो। ये इंक्लूड किया था? Sacchar. Report. Rangnath misra report. kab lagu hoga .PM sahab. Tab ja kar hoga. sab ka vikas. sab ka viswas. Sab ka sath. Modi In UN. विकास का तो पता नही मगर भाजपा के राज में आम जन का विनाश जरूर दिख रहा है⬇️⬇️ ये फेचू यहां काम फेकता था जो वहा भी वही कर रहा है 😥 हे भगवान ये कब सुधरेगा :विकास की मम्मी ajitanjum VinodVerma0941 news24tvchannel

Phir tukbandi वाह! क्या शब्दों का चयन किया हैं narendramodi जी ने।

गुल खिलाएगा ‘जौनपुर पैटर्न’, बीएमसी के चुनाव में अहम हो सकती है हिंदीभाषी मतदाताओं की भूमिकाMaharashtra Politics अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य एवं मुंबई भाजपा के पूर्व महासचिव विश्वबंधु राय मानते हैं कि मुंबई में हिंदीभाषी वोटबैंक कांग्रेस की बड़ी ताकत रहा है लेकिन अब राज्य की सरकार में शिवसेना के साथ गठबंधन का खामियाजा कांग्रेस को भी भुगतना पड़ेगा।

😄😆😅

बॉलीवुड: आज तक रिलीज नहीं हो पाईं सलमान खान की ये फिल्में, कोई बजट तो कोई मतभेद के चलते हो गई बंदबॉलीवुड: आज तक रिलीज नहीं हो पाईं सलमान खान की ये फिल्में, कोई बजट तो कोई मतभेद के चलते हो गई बंद BeingSalmanKhan SalmanKhanMovies SalmanKhan BeingSalmanKhan अब किसी खान की मूवी नही चलेगी

Edible Oil हो सकता है सस्ता, बहुत तेजी से गिरावट की संभावना कमसन फ्लावर ऑयल के उत्पादन में तेज वृद्धि से पाम ऑयल पर प्रीमियम इस साल 250 डॉलर प्रति टन से नीचे 100 डॉलर प्रति टन नीचे आ सकता है। सूरजमुखी तेल सोया तेल के मुकाबले छूट पर कारोबार कर सकता है और भारत जैसे खरीदारों को आकर्षित कर सकता है।

गर्लफ्रेंड ने इतनी जोर से मोबाइल फेंक कर मारा कि युवक की हो गई मौतमोबाइल की चोट से युवक को पहले तो सिरदर्द और बेचैनी हुई और उसे अस्पताल ले जाया गया. जहां उसके सिर का ऑपरेशन हुआ था, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका. इलाज के दौरान उसने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

जांच के इंतजाम नहीं, ताक पर सुरक्षा; अदालत परिसरों में पहले भी हो चुकी है गोलीबारीसाल 2015 में कड़कड़डूमा कोर्ट परिसर में शातिर बदमाश इरफान उर्फ छेनू पहलवान पर इसी तरह से चार बदमाशों ने जानलेवा हमला किया गया था। इसमें अमरोहा में हुई तिहरे हत्याकांड का बदला लेना मुख्य कारण माना जा रहा था। फरवरी 2014 में छेनू पहलवान के गैंग ने दिल्ली के तीन युवकों की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

कैप्टन बोल्ड नहीं, हिट विकेट हो गएपंजाब में बीते करीब दो सालों से कैप्टन अमरिंदर के खिलाफ बिगुल फूंकने वाले नवजोत सिंह सिद्धू उन्हें सीएम पद से हटाने में तो सफल दिखे हैं, लेकिन अपनी रणनीति में उतने कामयाब नजर नहीं आते। कहा जाता है कि बीते दिनों कैप्टन अमरिंदर सिंह से मतभेदों के बीच उन्हें डिप्टी सीएम पद का भी ऑफर दिया गया था, जिसे उन्होंने खारिज कर दिया था। इससे साफ संकेत मिलता है कि उनकी महत्वाकांक्षा सीएम पद की रही है।