Rahul Gandhi, Rss, Congress, Rss Worker, Defamation, राहुल गांधी, आरएसएस, कांग्रेस, आरएसएस कार्यकर्ता, मानहानि

Rahul Gandhi, Rss

संघ की मानहानि के मामले में आज मुंबई की अदालत में पेश हो सकते हैं राहुल

राहुल गांधी आरएसएस कार्यकर्ता द्वारा उनके खिलाफ दायर मानहानि मामले के संबंध में बृहस्पतिवार की सुबह यहां एक अदालत

03-07-2019 23:44:00

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बृहस्पतिवार की सुबह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ( आरएसएस ) की मानहानि से जुड़े एक मामले में अदालत में पेश हो सकते हैं। RahulGandhi INCIndia RSS org

राहुल गांधी आरएसएस कार्यकर्ता द्वारा उनके खिलाफ दायर मानहानि मामले के संबंध में बृहस्पतिवार की सुबह यहां एक अदालत

Updated Thu, 04 Jul 2019 02:07 AM ISTrahul gandhiख़बर सुनेंख़बर सुनेंकांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बृहस्पतिवार की सुबह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की मानहानि से जुड़े एक मामले में अदालत में पेश हो सकते हैं। पत्रकार गौरी लंकेश के हत्याकांड को भाजपा-आरएसएस की विचारधारा से जोड़ने वाली टिप्पणी करने के लिए राहुल के खिलाफ मानहानि का यह मामला एक संघ कार्यकर्ता ध्रुतिमान जोशी ने दर्ज कराया था। कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि राहुल इस मामले की सुनवाई में शामिल हो सकते हैं।

अस्पताल का बिल ना चुकाने पर मरीज़ की हत्या, क्या है पूरा मामला? सोनिया गांधी ने PM मोदी को फिर लिखा पत्र, OBC छात्रों के लिए लगाई गुहार चिदंबरम ने पूछा- क्या PM मोदी ने ट्रंप से बात में चीन का जिक्र किया था?

गौरी लंकेश की सितंबर, 2017 में बंगलूरू में उनके घर के बाहर कथित तौर पर दक्षिणपंथी विचारधारा वाले समूह के सदस्यों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। पेशे से वकील जोशी ने 2017 में ही राहुल गांधी, तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, माकपा और उसके महासचिव सीताराम येचुरी के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थी। जोशी ने आरोप लगाया था कि लंकेश की हत्या के 24 घंटे के अंदर राहुल गांधी ने मीडिया से इस घंटना के पीछे भाजपा और आरएसएस की विचारधारा से जुड़े लोगों का हाथ होने का आरोप लगाया था। शिकायत में येचुरी पर भी इसी तरह का बयान देने का आरोप लगाया गया था।

मझगांव की एक अदालत ने इस साल फरवरी में जोशी की शिकायत पर राहुल गांधी और माकपा नेता सीताराम येचुरी को समन जारी किया था। हालांकि अदालत ने सोनिया गांधी और माकपा को इस मामले में पक्ष मानने से इनकार कर दिया था। अदालत ने कहा था कि किसी की व्यक्तिगत टिप्पणी के लिए पार्टी जिम्मेदार नहीं हो सकती।

बता दें कि राहुल के खिलाफ एक अन्य आरएसएस कार्यकर्ता ने ठाणे जिले के भिवंडी में भी मानहानि का मामला दर्ज कराया हुआ है। यह मामला राहुल द्वारा महात्मा गांधी हत्याकांड के लिए कथित तौर पर संघ को आरोपी कहे जाने के खिलाफ है।विज्ञापनविज्ञापनकांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बृहस्पतिवार की सुबह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की मानहानि से जुड़े एक मामले में अदालत में पेश हो सकते हैं। पत्रकार गौरी लंकेश के हत्याकांड को भाजपा-आरएसएस की विचारधारा से जोड़ने वाली टिप्पणी करने के लिए राहुल के खिलाफ मानहानि का यह मामला एक संघ कार्यकर्ता ध्रुतिमान जोशी ने दर्ज कराया था। कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि राहुल इस मामले की सुनवाई में शामिल हो सकते हैं।

गौरी लंकेश की सितंबर, 2017 में बंगलूरू में उनके घर के बाहर कथित तौर पर दक्षिणपंथी विचारधारा वाले समूह के सदस्यों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। पेशे से वकील जोशी ने 2017 में ही राहुल गांधी, तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, माकपा और उसके महासचिव सीताराम येचुरी के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थी। जोशी ने आरोप लगाया था कि लंकेश की हत्या के 24 घंटे के अंदर राहुल गांधी ने मीडिया से इस घंटना के पीछे भाजपा और आरएसएस की विचारधारा से जुड़े लोगों का हाथ होने का आरोप लगाया था। शिकायत में येचुरी पर भी इसी तरह का बयान देने का आरोप लगाया गया था।

मझगांव की एक अदालत ने इस साल फरवरी में जोशी की शिकायत पर राहुल गांधी और माकपा नेता सीताराम येचुरी को समन जारी किया था। हालांकि अदालत ने सोनिया गांधी और माकपा को इस मामले में पक्ष मानने से इनकार कर दिया था। अदालत ने कहा था कि किसी की व्यक्तिगत टिप्पणी के लिए पार्टी जिम्मेदार नहीं हो सकती।

बता दें कि राहुल के खिलाफ एक अन्य आरएसएस कार्यकर्ता ने ठाणे जिले के भिवंडी में भी मानहानि का मामला दर्ज कराया हुआ है। यह मामला राहुल द्वारा महात्मा गांधी हत्याकांड के लिए कथित तौर पर संघ को आरोपी कहे जाने के खिलाफ है। और पढो: Amar Ujala »

Why Mumbai is Facing such Problem in Every Monsoon? - रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क़ुदरत के निशाने पर आ गई है मुंबई, बारिश और चक्रवात का ख़तरा वीडियो - हिन्दी न्यूज़ वीडियो एनडीटीवी ख़बररवीश कुमार का प्राइम टाइम : क़ुदरत के निशाने पर आ गई है मुंबई, बारिश और चक्रवात का ख़तरा हिन्दी न्यूज़ वीडियो। एनडीटीवी खबर पर देखें समाचार वीडियो रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क़ुदरत के निशाने पर आ गई है मुंबई, बारिश और चक्रवात का ख़तरा अगले 48 घंटे में मुंबई और महाराष्ट्र में भारी से भारी बारिश होने की आशंका जताई गई है. मंगलवार को मुंबई, पुणे सहित महाराष्ट्र भर में दीवार गिरने से 31 लोगों की मौत हो गई. पुणे में पिछले हफ्ते दीवार गिरने से 17 लोगों की मौत हो गई थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बारिश के कारण महाराष्ट्र भर में दीवार गिरने से 46 लोगों की मौत हुई है. मुंबई में ही बारिश के कारण अलग-अलग दुर्घटनाओं में 25 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. पुराना अनुभव अब काम नहीं आएंगे. मुंबई की बारिश कभी भी धोखा दे सकती है. मुंबई में समंदर के अलावा नदियों और दलदली ज़मीन का अपना एक सिस्टम बना हुआ था. हम धीरे-धीरे उन पर कब्ज़ा करते चले गए. ये प्राकृतिक सिस्टम महानगर की सुरक्षा के उपकरण थे. अपने आस पास देखिए. प्राकृतिक आपदाओं का स्केल बड़ा होता जा रहा है. बीएमसी की तैयारी तबाही के असर को कुछ कम कर सकती है मगर तबाही नहीं टाल सकेगी. जिन लोगों की बनाई नीतियों के ये परिणाम हैं उन पर बीएमसी का ज़ोर नहीं चलेगा. अब देखिएगा. यहां से भाषा बदलेगी. उस भाषा को ग़ौर से नोट कीजिए. जब आप पूछेंगे कि इस तबाही का ज़िम्मेदार कौन है, कैसे इस तबाही से बचें तो जवाब आएगा हम सबको मिलकर सामूहिक रूप से जिम्मेदारी उठानी होगी. जब भी लापरवाही का स्तर हद से ज्यादा हो जाता है, लापरवाही सामूहिक बताई जाने लगती है और उन्हें बचा लिया जाता है जो कुर्सी पर बैठते हैं. बजट पास करते हैं, योजनाएं बनाते हैं. आम लोग ज़िम्मेदार हो जाते हैं. दुःखद सब ज्यादा हो रहा है मरने वालों की संख्या मोदीराज में ही क्यों

dead body stuck in tower gap: 130 फीट ऊपर टावरों के बीच फंसा था महिला का शव, दीवार काटकर निकाला गया - woman found in tower gap was maid in the society, rescue operation took 2.5 hours | Navbharat Timesनोएडा न्यूज़: नोए़डा के सेक्टर 76 की एक सोसायटी में दो टावरों के गैप के बीच जो महिला फंसी थी, वह उसी सोसायटी में मेड का काम करती थी। उसे काफी मशक्कत से निकाला गया। डी टावर के 1802 नंबर फ्लैट में रहने वाले जयप्रकाश ने शवगृह में जाकर मृतका की पहचान अपने घर में काम करने वाली 18-19 साल की मेड सोनामुनी के रूप में की।

रूस में गहरे पानी के अंदर पनडुब्बी में लगी आग, 14 नाविकों की मौतरूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि गहरे पानी के भीतर एक पनडुब्बी में आग लगने से 14 नाविकों की मौत हो गई।

इस साल बजट में जल शक्ति मंत्रालय के फोकस में रहने की संभावनाजलशक्ति मंत्रालय का गठन पहले के दो मंत्रालयों को मिलाकर किया गया है. सूत्रों के मुताबिक़ बजट में इस मंत्रालय से जुड़ी चार अहम योजनाओं पर काफ़ी ज़ोर दिया जाएगा. अब मैं यह तो नहीं कहना चाहूंगा कि कांग्रेस अगर जल संचयन और संरक्षण पर ध्यान देती तो पानी की इतनी गंभीर समस्या न उत्पन्न होती पर बीजेपी से उम्मीद है कि इस समस्या का समाधान वो समय रहते के दे।

अशोक गहलोत ने राहुल गांधी के सामने इस्तीफे की पेशकश की!– News18 हिंदीRajasthan CM Ashok Gehlot offer to resign from party amid dilemma over Rahul Gandhi quitting अखबार ने राहुल गांधी से कांग्रेस शासित मुख्यमंत्रियों की मुलाकात को लेकर सूत्रों के हवाले से लिखा है कि बैठक में गहलोत और कमलनाथ दोनों ने राहुल के सामने इस्तीफे की पेशकश की है. कांग्रेस पार्टी की चुनाव आयोग को मान्यता ही रद्द कर देनी चाहिये! ड्रामेबाज कांग्रेसी!! राहुल चाहता ही ये है जिस दिन इन दोनों ने इस्तीफा दे दिया पूरा ड्रामा ही ख़त्म हो जायेगा। दिया क्यूँ नहीं 🤣🤣

राहुल गांधी के इस्तीफे से नाराज कार्यकर्ता ने कांग्रेस दफ्तर के बाहर की आत्महत्या की कोशिशअपने पद से इस्तीफा देने की जिद पर अड़े कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को मनाने के लिए आज एक कांग्रेस कार्यकर्ता ने पार्टी INCIndia 😛😛😛 कैसे कैसे अंधे भक्त है... 😝😝😝 INCIndia INCIndia Marne do sale ko

कानपुर: मुठभेड़ में डीएसपी समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत सरोज ख़ानः मशहूर कोरियोग्राफ़र का मुंबई में निधन भारत-चीन तनाव के बीच अचानक लेह पहुँचे प्रधानमंत्री मोदी भारत चीन सीमा विवाद: क्या टूट जाएगा भारत का 5G का सपना? कांग्रेस का फिर हमला, पूछा- मजबूत भारत के PM को चीन का नाम लेने से गुरेज क्यों? तेजस्वी यादव ने बिहार में आरजेडी के 15 साल के शासन के लिए मांगी माफी अब रूस के व्लादिवोस्तोक शहर पर चीन का दावा, कहा-1860 से पहले हमारा था लखनऊ: सीएए हिंसा के 5 आरोपियों से 1 करोड़ 54 लाख की रिकवरी, दुकानों की हुई कुर्की सौरभ गांगुली क्या आईसीसी के नए चेयरमैन बन सकते हैं? व्लादिमीर पुतिनः रूस पर सबसे लंबे समय तक राज करने की ओर बढ़ते क़दम फर्जी शिक्षकों की अब खैर नहीं, सीएम योगी का बड़ा फैसला, 900 करोड़ वसूलेगी यूपी सरकार