शीना बोरा हत्याकांड : मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया पर अहमद जावेद का पलटवार

Rakeshmaria, Sheena Bora Murder Case, Former Mumbai Police Commissioner Ahmed Javed, Counterattack, Mumbai Terror Attack, Rakesh Maria, 26/11 Attack, Issue, Isi, Lashkar, Maharashtra, शीना बोरा हत्याकांड, मुंबई, पूर्व पुलिस कमिश्नर अहमद जावेद, किताब पर विवाद, पीटर मुखर्जी, मुंबई आतंकी हमला, राकेश मारिया, मुंबई पुलिस, 26/11 आतंकी हमला, लश्कर-ए-तैयबा, आईएसआई, हिंदू आतंकवाद, कसाब, हिंदू आतंकी

शीना बोरा हत्याकांड : मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया पर अहमद जावेद का पलटवार #RakeshMaria

Rakeshmaria, Sheena Bora Murder Case

2/19/2020

शीना बोरा हत्याकांड : मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया पर अहमद जावेद का पलटवार RakeshMaria

मुंबई पुलिस के पूर्व पुलिस आयुक्त राकेश मारिया की किताब पर विवाद ों का सिलसिला अभी थमा नहीं है. देवेन भारती के बाद अहमद जावेद ने भी राकेश मारिया पर पलटवार किया है. मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त राकेश मारिया की किताब में शीना बोरा हत्याकांड से जुड़े खुलासों पर अब मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त अहमद जावेद ने हमला बोला है. एनडीटीवी को भेजे अपने बयान में उन्होंने राकेश मारिया पर तथ्यविहीन बातें लिखने का आरोप लगाया है. उन्होंने यह भी कहा है कि इतने बड़े अफसर को पहले सही जानकारी जुटा लेनी चाहिए थी.

खास बातेंमुंबई: दअरसल राकेश मारिया ने अपनी किताब में शीना बोरा हत्याकांड की जांच का जिक्र करते हुए लिखा है कि क्या उस समय मेरी जगह मुंबई पुलिस आयुक्त बनाए गए अहमद जावेद पीटर मुखर्जी को सोशियली जानते थे, और ईद पार्टी में पीटर को निमंत्रित भी किया था? क्या ये बात तब के मुख्यमंत्री और गृहविभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव को पता थी? मारिया ने आगे यह भी लिखा है कि क्या अहमद जावेद ने ये बातें मुख्यमंत्री को बताई थीं? अगर हां तो क्यों उन्हें भरोसे में नहीं लिया गया? और अगर नहीं तो उन्होंने इसे गम्भीर मुद्दा क्यों नहीं माना? मारिया आगे लिखते हैं कि राहुल मुखर्जी ने जब शीना बोरा के लापता होने की शिकायत दर्ज कराने की कोशिश की थी तब देवेन भारती मुंबई क्राइम ब्रांच में एडिशनल सीपी थे और अहमद जावेद महाराष्ट्र के एडिशनल डीजी लॉ एंड आर्डर. इस पद के अधीन राज्य की सभी जिला पुलिस आती है. शीना के शव का कंकाल रायगढ़ जिले के गागोडे जंगल में मिला था. उस समय जिला पुलिस की भूमिका पर जांच का आदेश दिया गया था कि कहीं सबूत नष्ट करने की कोशिश तो नहीं हुई थी? उस जांच का क्या हुआ? मुंबई आतंकी हमला : मारिया के दावे को बीजेपी ने बनाया मुद्दा, कांग्रेस नेताओं की जांच कराने की मांग उन्होंने लिखा है कि क्या इससे यह साबित नहीं होता कि जिन पुलिस अफसरों ने कठिन जांच कर जघन्य अपराध का खुलासा किया उन्हें ही कटघरे में खड़ा किया गया और जबकि मामले में संदिग्ध भूमिका रखने वाले अफसरों को बचाने की कोशिश की गई? मारिया ने लिखा है कि जब मीडिया ने नए सीपी और पीटर मुखर्जी की दोस्ती का खुलासा किया तब अचानक से मामले की जांच सीबीआई को दे दी गई. फिर बाहर निकला शीना बोरा हत्याकांड का जिन्‍न, आत्मकथा में पूर्व मुंबई पुलिस आयुक्त राकेश मारिया ने किया खुलासा दअरसल राकेश मारिया का मानना है कि उन्होंने जमीन में दफन एक हाई प्रोफाइल हत्याकांड का खुलासा कर बड़ा काम किया था लेकिन उन्हें सिर्फ इसलिए मुंबई सीपी पद से हटा दिया गया क्योंकि सरकार को यह शक था कि वे आरोपी पीटर मुखर्जी को पहले से जानते हैं और उसे बचा रहे हैं. जबकि तब के मुंबई पुलिस के ज्वाइंट सीपी लॉ एंड ऑर्डर देवेन भारती और एडिशनल डीजी अहमद जावेद पहले से पीटर को जानते थे. दोनों ने ये बात सरकार से छिपाई थी. इसके बावजूद उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई. कसाब से ‘भारत माता की जय‘ के जयकारे लगवाए, पूर्व मुंबई पुलिस आयुक्त ने किताब में किया खुलासा किताब में मारिया के इस सवाल पर अब अहमद जावेद खुलकर सामने आ गए हैं. कैमरे पर तो उन्होंने बात नहीं की लेकिन एनडीटीवी को भेजे अपने लिखित बयान में उन्होंने उलटे राकेश मारिया के ज्ञान, मंसा और कार्यशैली पर ही सवाल उठाया है. किताब में उठाए गए सवालों के सिलसिलेवार जवाब देते हुए अहमद जावेद ने लिखा है.. 1. मेरे एडीजी लॉ एंड आर्डर रहते हुए शीना बोरा के शव की बरामदगी पर - ये गलत, झूठ और आक्षेप से ज्यादा कुछ नही है. पूरी तरह से गलत और भ्रमित करने वाला है. वैसे भी यह जानकारी पब्लिक रिकॉर्ड में है और आसानी से पताया लगाया जा सकता है कि उस वक्त एडीजी लॉ एंड ऑर्डर कौन था. कम से कम मूल तथ्य तो सही होने चाहिए थे. लेकिन उनसे और उम्मीद ही क्या की जा सकती है. 2. रायगढ़ पुलिस की जांच रिपोर्ट पर - क्या उन्हें पता नहीं कि ये जानकारी किसी अधिकारी या दफ़्तर से ली जा सकती है. 3. हितों के टकराव पर - उस वक्त ठीक इसके विपरीत की स्थिति को स्पष्ट कर दिया गया था. इस बात को और पुष्ट करने के लिए केस की जांच एक स्वतंत्र एजेंसी को सौंप दी गई थी. 4. क्या अथॉरिटी को जानकारी दी गई थी? उस समय जो जरूरी था वो किया गया था. लेकिन इसके पहले उन्हें कम से कम संबंधित व्यक्ति से बात कर लेनी चाहिए थी. 5. मुखर्जी से नजदीकी वाली बात पर - शब्दों का खराब चयन, बहुत गलत तरीके से लिखा गया, किसी तरह का कोई सच नहीं, शायद ये उनकी कार्यशैली का प्रतिबिंब है. किताब में खुलासे के बाद पहले देवेन भारती का मारिया पर पलटवार और अब अहमद जावेद का हमला. अब राकेश मारिया के जवाब का इंतजार है. VIDEO : शीना बोरा मर्डर केस की जांच कर रहे राकेश मारिया को सीपी के पद से हटाया टिप्पणियां और पढो: NDTVIndia

वार पलटवार आम बात है राकेश मारिया ने राष्ट्र के खिलाफ हो रहे षड़यंत्र को उजागर न करके राष्ट्रद्रोह का अपराध किया है, राजनीति में उतरने का विचार हैं क्या. जो साथसाथ रहते सबसे अच्छे दोस्त थे, आज जरा सी दूरी ने उन्हें दुश्मन बना डाला। ~आज़ाद

फैक्ट चेक: यूपी पुलिस की दबंगई का वीडियो राजस्थान पुलिस के नाम से वायरलवीडियो में एक युवक कैमरे पर एक पर्चा दिखाते हुए कुछ बताता नजर आ रहा है, तभी अचानक बगल में बैठा पुलिसकर्मी खड़े होकर युवक की कॉलर पकड़ कर उसे गिरा देता है और बदतमीजी करने लगता है. arjundeodia WE HAVE PROUD OF UP POLICE . arjundeodia sir aapka 10 pm vala programe hamesa modiji ke Ya yogiji ke khilap hi kyo hota he arjundeodia मैडम_मीडिया की औलादों।

राकेश मारिया का खुलासा- कसाब को समीर के रूप में मारने की थी लश्कर की योजना मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया ने अपनी आत्मकथा में दावा किया कि लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) ने 26/11 के मुंबई आतंकी हमले के आरोपी अजमल कसाब को हिंदू आतंकी साबित करने की थी और इस हमले को हिंदू आतंकवाद करार देने की मंशा थी. लश्कर + कांग्रेस । पूरी बात लिखो दल्लो। दिग्विजय सिंह ने तो किताब तक लॉन्च कर दी थी।। वो तो पाकिस्तान की साज़िश थी लेकिन यह दिग्विजय और महेश भट्ट ने क्यू इसे आरएसएस की साज़िश कहा था ? क्या इन दोनों की पाकिस्तान से पहले ही बातचीत हो गई थी ? ये जांच कराई जानी चाहिए HMOIndia NIA_India

शाहीन बाग के वार्ताकार से मिले दिल्ली पुलिस के अफसर, सड़क खुलवाने पर चर्चाकोर्ट ने कहा... लगी रहो.... मुल्ली बाई.. 😃😄🤣😂😃😄 कोर्ट ने दिशाहीनबाग में चल रहे मुल्लामुल्ली दोलन पर कहा विरोध का अधिकार है, पर सड़क रोककर लोगों को परेशान नहीं कर सकते। यानी ये जगह छोड़कर कहीं और जाकर विरोध करते रह सकते हैं🤔.. अंदोलन😜 बन्द करने की जरवत नी हे😁😄🤣 शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को केवल इलेक्ट्रॉनिक मीडिया खासकर रंडीटीवी भागतकएबीपी जैसे दलालभांड मीडिया के लोग भाव देते आ रहे हैं दादी दादा बुर्काढंकी मोटी औरतें जो चार पांच महीने के बच्चे कीहत्या के जिम्मेदार हैपूरी सड़कपूरे एरिया को इस अवैध प्रदर्शन से बंधक बनाए हुए हैं शर्मकरो मेरे पास एक तरीका है मारो सालों को गोली

गुजरात: पीएम मोदी के गृह राज्य में सेना के जवान के घोड़ी चढ़ने पर बवालआरोप है कि अन्य समुदाय के एक समूह ने दूल्हे के घोड़े पर सवार होने पर इतनी नाराजगी जाहिर की पूरी बारात को ही टारगेट किया गया।

फिर बाहर निकला शीना बोरा हत्याकांड का जिन्‍न, आत्मकथा में पूर्व मुंबई पुलिस आयुक्त राकेश मारिया ने किया खुलासासाल 2015 के सबसे चर्चित शीना बोरा हत्याकांड का खुलासा करने वाले तब के मुंबई पुलिस आयुक्त राकेश मारिया ने 5 साल बाद फिर से शीना बोरा हत्याकांड की जांच का जिक्र कर बोतल में बंद उस हत्याकांड के जिन्‍न को बाहर निकाल दिया है. kasab ko knu hindu aatankwadi banana chahatha isis aur congress kiya mumbai aatanki hamla congress isis ki milibhaghat he हमारे देश में यह सब चलता रहता है NDTV केवल वही खबर दिखाता है जो भा ज पा के विरुद्ध हो सकती है। मारिया ने 26/11 के लिए ओर भी तो कहा है उसे हजम कर गए।

मुंबई हमले को लेकर पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया के दावे से सहमत नहीं हैं खुफिया एजेंसियांखुफिया एजेंसियों का कहना है कि आईएसआई की साजिश मुंबई हमले को भारत में ही पनपे आतंकी संगठन डक्कन मुजाहिद्दीन (डीएम) के नाम गढ़ने की थी। था। CPMumbaiPolice MumbaiPolice OfficeofUT ImranKhanPTI MumbaiAttack CPMumbaiPolice MumbaiPolice OfficeofUT ImranKhanPTI इनको भी टिकट चाहिए। जैसे सत्यपाल को मिली थी CPMumbaiPolice MumbaiPolice OfficeofUT ImranKhanPTI Ab na bolega koi.....sabki g...d fat gayi CPMumbaiPolice MumbaiPolice OfficeofUT ImranKhanPTI मुबंई के लोकल ट्रेन में सफर कर रहा था..दो महिला रे रोड स्टेशन पे बाॅगी में चढ़ी तो एक चालीस का और एक बुज़ुर्ग इंसान अपनी सीट से खङे होकर उस महिला को बैठने को कहा। थोङी ही देर में उस बुजुर्ग इंसान को खङा देख एक लङका अपनी सीट से खङा हो गया।खत्म होते इस संस्कार को आज जीवित देखा।



टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

    समाचार

    19 फरवरी 2020, बुधवार समाचार

    पिछली खबर

    इस शख्स ने 93 साल की उम्र में हासिल की मास्टर्स की डिग्री, बने IGNOU के सबसे उम्रदराज स्टूडेंट

    अगली खबर

    CAA प्रदर्शनकारियों की मौत पर बोले CM योगी- 'अगर कोई मरने के लिए आ रहा है तो...'