शाहीन बाग मार्केट, Shaheen Bagh Market Opens After 5 Months, Lockdon 4 Latest Updates, Caa Protest Site, 5 महीने के लॉकडाउन के बाद खुली शाहीन बाग मार्केट, İndia Latest News

शाहीन बाग मार्केट, Shaheen Bagh Market Opens After 5 Months

शाहीन बाग में 5 महीने के लॉकडाउन के बाद खुली दुकानें, क्या है मार्केट का हाल?

शाहीन बाग में 5 महीने के लॉकडाउन के बाद खुली दुकानें, क्या है मार्केट का हाल? via @NavbharatTimes

23-05-2020 10:09:00

शाहीन बाग में 5 महीने के लॉकडाउन के बाद खुली दुकानें, क्या है मार्केट का हाल? via NavbharatTimes

India News: कोरोना लॉकडाउन (corona lockdown) के कारण देश में करीब दो महीने मार्केट बंद रहे, वहीं नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों का केंद्र रहे शाहीन बाग में 5 महीने तक लॉकडाउन रहा। लॉकडाउन-4 में मिली छूट के कारण शाहीन बाग मार्केट भी खुल गई है। जानिए क्या है वहां का हाल।

एसोसिएशन के सेक्रटरी रोहित सांख्यायन ने कहा, ‘मार्केट में करीब 200 दुकानें पिछले 5 महीने से बंद हैं। व्यापारियों को कम से कम 200 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है। देश के कारोबारियों ने तो दो महीने के लॉकडाउन में ही उम्मीद छोड़ दी है।’कई दिन चला था धरना

नेपाल बोला- एक तिहाई क्षेत्र भारत से हम पहले ही हार गए थे पहली बार फ्लाइट से मजदूरों की वापसी, 177 प्रवासियों को ला रही झारखंड सरकार कोरोना महामारी के दौर में चीन ने नाप दिया माउंट एवरेस्ट

जामिया में हुई हिंसा के खिलाफ कुछ महिलाएं सड़क पर बैठ गई थीं जिससे सीएए के खिलाफ नेतृत्वहीन आंदोलन चला। बाद में सैकड़ों की संख्या में महिलाएं और बाहरी लोग भी इससे जुड़ गए और वहां दिनरात धरना शुरू हो गया। इससे प्रेरित होकर देश में और कई शहरों में भी ऐसे धरने प्रदर्शन शुरू हो गए थे। मामला इतना बढ़ गया कि सुप्रीम कोर्ट को भी इसमें हस्तक्षेप करना पड़ा। कोर्ट ने विशेष वार्ताकारों को नियुक्त किया ताकि दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाली इस रोड को खाली कराया जा सके। लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला।

देश में कोरोना का प्रकोप बढ़ने से शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों की संख्या में कमी आई और अंतिम दिनों में केवल 5 महिलाएं ही धरना स्थल पर रह गई थीं। लॉकडाउन लगने के बाद पुलिस ने सभी प्रदर्शनकारियों को वहां से हटा दिया। इसके बाद यहां से प्रदर्शन का नामोनिशान करीब-करीब मिटा दिया गया है। नारे लिखी दीवारों को पोत दिया गया है और बैनर हटा दिया गए हैं। केवल एक दीवार पर बुजुर्ग महिलाओं के मूरल बाकी हैं।

ग्राहकों का टोटालेकिन लगता है कि शाहीन बाग मार्केट में समय ठहर गया है। यहां इक्का दुक्का ग्राहक हैं। अधिकांश दुकानों में अब भी विंटर कलेक्शन दिख रहा है। प्रदशनों के कारण ये दुकानें दिसंबर के मध्य में बंद हो गई थीं और जिसके कारण उनका माल नहीं बिक पाया। सांख्यायन ने कहा कि दिल्ली सरकार ने लॉकडाउन-4 में दुकानों को ऑड-ईवन आधार पर खोलने का आदेश दिया है। उसी के मुताबिक शाहीन बाग में दुकानें खुल रही हैं। दुकानें खोलने से पहले हमने उनमें दवा का छिड़काव किया था। हर दुकानदार और सेल्समैन को मास्क और सैनिटाइजर बांटे गए हैं। लेकिन बाजार में कोई खरीदार नहीं है।

उम्मीद कायमलेकिन दुकानदारों ने उम्मीद नहीं छोड़ी है। महिलाओं परिधानों की दुकान चलाने वाले वसीम खान ने कहा, ‘हमें करीब 30 लाख रुपये का नुकसान हुआ है क्योंकि सर्दियों के कपड़े नहीं बेच पाए। हमारे पास इस कलेक्शन को रखने के लिए भी कोई जगह नहीं है, इसलिए हमें उन्हें डंप करना पड़ेगा।’ उन्हें लगता है कि शाहीन बाग के बारे में दुष्प्रचार चल रहा है जिससे लोग यहां खरीदारी से कतरा रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘लेकिन हम अपना काम जारी रखेंगे।’

दूसरे दुकानदारों का कहना है कि राज्यों के बीच आवाजाही पर लगी पाबंदी खत्म होने से उनके लिए चीजें बेहतर होंगी। एक अन्य दुकानदार दानिश ने कहा, ‘हमारे कई खरीदार नोएडा से आते हैं। चूंकि लोगों के आनेजाने पर पाबंदी है, इसलिए पहले की तुलना में 10 फीसदी ग्राहक भी नहीं आ रहे हैं।’

Web Titleshaheen bagh market opens after 5 months lockdown और पढो: NBT Hindi News »

सबसे पहले गवर्मेंट को एक कानून लाना चाहिए जिसमे 1 से 2 साल की सज़ा हो जो भी चाहे कोई भी हो जो भी रोड़ जाम करे या या ऐसा कोई धरना दे जिससे आम जनता को परेशानी हो ऐसे रोड़ जाम करने वालो को जेल मै डाले ✋

पहली बीवी लॉकडाउन में मायके में फंसी तो कर लिया दूसरा निकाह, दर्ज हुई एफआईआरबरेली न्यूज़: यूपी के बरेली में एक शख्स की बीवी लॉकडाउन के चलते मायके में फंस गई थी। शख्स ने इसी दौरान दूसरा निकाह कर लिया। अब उसकी पहली पत्नी ने एफआईआर दर्ज करवा दी है। इन लोगों को 4 शादी करने की आज़ादी है, और इन्हे दुसरी लडकी भी तुरंत मील जाती है, इनके पूर्वजो ने ही 900 साल राज किया था। 😆😆😆😉 Eid ka intezar to kar liya hota.

देश में 78 हजार से अधिक लोगों की जिंदगी बचाने में सफल रहा लॉकडाउन, जानिए कैसेसरकार के अनुसार यदि लॉकडाउन लागू नहीं होता तो 15 मई तक देश में कोरोना मरीजों की संख्या 30 लाख को पार कर जाती और इससे मरने वालों का आंकड़ा 81 हजार से अधिक होता। India will acheav top situation What kind of rule is this, Who comes from outside/abroad He has followed the quarantine for 14 days. But healthy people who are living in the containment zone, they are being closed for 28 days. Whether they loose their job or they go in depression. कोरोना ने पूरे तीन महीने भारत को चेतावनी दिया तब भारत मे आया। हम कोरोना के कहर से बच सकते थे ,बस समझदार नेतृत्व की जरूरत थी।

कोरोना: अमेरिकी कंपनी के ट्रायल के बाद में चीन में सफल टेस्टिंग का दावाCoronavirus Outbreak: द न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट में शुरुआती चरण की टेस्टिंग का हवाला देते हुए बताया गया कि जिन लोगों को वैक्सीन की एक खुराक दी गई उनमें दो सप्ताह के भीतर कुछ प्रतिरक्षा कोशिकाओं का उत्पादन हुआ, जिन्हें टी सेल कहा जाता है।

कोरोना संकट और लॉकडाउन: ये किस देश-प्रदेश के आदमी हैं?जब भविष्य में कुछ दिखाई न दे, तो वर्तमान बुरा और निरर्थक दिखाई देने लगता है। आशा के बिना कोई खिड़की, कोई दरवाजा, कोई फूल, yv_post Digital India yv_post हमारे देश में हर जंग मे इन गरीब लोगों को ही क्यों कष्ट झेलना पड़ता है। तो इन लोगों की कदर नहीं हो पाती, जबकि जितने भी बड़े व्यापार चलते हैं इन गरीब लोगों के सहारे ही चलते हैं फिर भी इन लोगों के साथ पलायन जैसी स्थिति आ जाती है। yv_post अगर हमारे देश की गरीब लोग बड़े व्यापार में काम नहीं करेंगे तो क्या बड़े व्यापार चल पाएंगे।

कोरोना संकट: लॉकडाउन के दौरान मुसलमान समझ कर वकील की पिटाईमध्य प्रदेश में एक वकील की पुलिसवालों ने इसलिए पिटाई कर दी गई क्योंकि वो मुसलमान जैसा दिखते थे. वाह इंडिया फेक न्यूज Police bhi andhbhakt ban gaye yar.

Choked Review: लॉकडाउन की ट्रेजेडी में अनुराग कश्यप लेकर आए नोटबंदी के दिनों की ब्लैक कॉमेडीChoked Review: लॉकडाउन की ट्रेजेडी में अनुराग कश्यप लेकर आए नोटबंदी के दिनों की ब्लैक कॉमेडी anuragkashyap72 Choked ChokedPaisaBoltaHai NetflixIndia anuragkashyap72 NetflixIndia Aundhe muh giregi yeh movie, log jayenge hi nahi dekhne ke liye 😉😜 anuragkashyap72 NetflixIndia Kabhi papu par bhi film banalo you...anuragkashyap72 anuragkashyap72 NetflixIndia Looking forward for another motion picture treat from the master maker.

राहुल गांधी का वार- पीएम ने पहले फ्रंटफुट पर खेला, लेकिन अब बैकफुट पर हैं '2021 की शुरुआत में मिलेगा कोविड-19 का टीका', राहुल गांधी से चर्चा में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर का दावा - BBC Hindi कोरोना अपटडेटः भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या डेढ़ लाख के क़रीब, अकेले महाराष्ट्र में 52 हज़ार से ज़्यादा मामले - BBC Hindi ‘कोरोना आपदा को बदला लेने का अवसर मान रही मोदी सरकार’: छात्र नेताओं ने लगाया आरोप युद्ध की तैयारी में चीन! राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को तैयार रहने के दिए आदेश संकट में प्रवासी मजदूर: भूख-प्यास से बेहाल मां की स्टेशन पर ही मौत, जगाने की कोशिश करता रहा बच्चा 'नरेंद्र मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता', राहुल पर बीजेपी का पलटवार ट्विटर ने पहली बार राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट को झूठा बताया कांग्रेस का आरोप- यूपी में दलितों-पिछड़ों को निशाना बना रही योगी सरकार यूपी, बिहार में क्यों घंटों की देरी से पहुंच रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनें? कोविड-19: तीन ख़तरनाक चरमपंथी संगठनों पर कितना असर?