शाहीन बाग पर बोले आरिफ खान- सड़क पर बैठकर विचार थोपना भी एक तरह का आतंकवाद

Anti Caa Protest, Kerala, Governor Arif Mohammad Khan, Terrorism, Shaheen Bagh Protest, Delhi News

Anti Caa Protest, Kerala

2/21/2020

यह पहली बार नहीं है, जब केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने CAA के मसले पर मोदी सरकार का समर्थन किया है

नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ शाहीन बाग में जारी प्रदर्शन के बीच केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ सड़क पर जिद करके बैठने को भी आतंकवाद करार दिया है. आरिफ मोहम्मद खान ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा, 'संसद से पास किसी कानून या सरकार की किसी भी पॉलिसी पर मतभेद जताने का सबको अधिकार है और इस मतभेद के अधिकार का सम्मान भी किया जाना चाहिए. इसकी कोई दिक्कत नहीं हैं, लेकिन अगर पांच लोग दिल्ली के विज्ञान भवन में बैठ जाएं और कहें कि जब तक संसद हमारे मुताबिक कोई प्रस्ताव पारित नहीं करती है, तब तक हम नहीं उठेंगे, तो यह ठीक नहीं हैं. यह एक दूसरी तरह का आतंकवाद है.' Kerala Governor Arif Mohammad Khan, in Delhi:..but five people sit outside Vigyan Bhavan, and say 'we shall not move from here unless Parliament adopts a resolution which we like them to adopt', this is not the way. This is another form of terrorism.(2/2) https://t.co/L67ZvRrjtw — ANI (@ANI) February 21, 2020 यह पहली बार नहीं है, जब केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के मसले पर मोदी सरकार का समर्थन किया है. इससे पहले जब केरल सरकार ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव पारित किया था, तो आरिफ मोहम्मद खान ने इसका विरोध किया था. पढ़ें: शाहीन बाग में प्रदर्शनकारी महिलाएं बोलीं- हटने का सवाल नहीं उन्होंने कहा था कि नागरिकता केंद्रीय सूची का विषय है. लिहाजा नागरिकता को लेकर सिर्फ संसद ही कानून बना सकती है. राज्यों को नागरिकता से संबंधित कानून बनाने का कोई अधिकार ही नहीं हैं. केरल विधानसभा में नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करना असंवैधानिक है. आरिफ मोहम्मद खान ने यह भी कहा था कि संसद के बनाए गए कानून को लागू करने के लिए राज्य सरकारें बाध्य हैं. इससे राज्य सरकारें इनकार नहीं कर सकती हैं. इसके अलावा जब केरल सरकार ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ अखबारों में विज्ञापन दिया, तो भी आरिफ खान ने राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला. आपको बता दें कि नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ करीब 70 दिन से धरना प्रदर्शन हो रहा है. प्रदर्शनकारियों ने शाहीन बाग में कालिंदी कुंज सड़क भी बंद कर दिया है. इसके चलते लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. तीसरे दिन भी खाली हाथ लौटे वार्ताकार, नहीं खुला रास्ता इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिकाएं भी लगाई गई हैं. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने और रास्ता खुलवाने के लिए वार्ताकारों को भेजा है. वार्ताकार सीनियर एडवोकेट संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन ने तीन दिन तक रोजाना शाहीन बाग पहुंचकर प्रदर्शनकारियों से बातचीत की. हालांकि प्रदर्शनकारी रास्ता खोलने को तैयार नहीं हुए. शुक्रवार को प्रदर्शनकारियों ने कहा कि अगर दिल्ली पुलिस सुरक्षा का आश्वासन दे, तो हम दूसरा रास्ता खोल सकते हैं. इस पर दिल्ली पुलिस के एसएचओ ने फौरन कह दिया कि हम सुरक्षा का पूरा आश्वासन देते हैं. इसके बाद प्रदर्शनकारी कहने लगे कि दिल्ली पुलिस लिखित में सुरक्षा का आश्वासन दे, तभी हम दूसरा रास्ता खोलेंगे. पढ़ें: चुपचाप पीछे बैठे थे संजय हेगड़े, शाहीन बाग मामले में कोर्ट की निगाह में कैसे आए? प्रदर्शनकारियों का यह भी कहना है कि मोदी सरकार जब तक नागरिकता संशोधन अधिनियम को वापस नहीं ले लेती है, तब तक धरना प्रदर्शन खत्म नहीं किया जाएगा. उनका आरोप है कि यह कानून धर्म के आधार पर भेदभाव करता है. हालांकि मोदी सरकार का कहना है कि नागरिकता संशोधन अधिनियम का हिंदुस्तान के मुसलमानों से कोई लेना-देना नहीं है. यह कानून पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के हिंदू, सिख, जैन, पारसी, बौद्ध और ईसाई समुदाय के लोगों को नागरिकता देने के लिए लाया गया है. यह किसी की नागरिकता छीनने वाला कानून नहीं हैं. और पढो: आज तक

कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली



तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की

अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया



मरकज से क्वारैंटाइन सेंटर लाए गए लोगों ने डॉक्टरों और स्टाफ पर थूका, गालियां दीं; एक ने खुदकुशी की कोशिश की

कोरोना वायरसः ममता बनर्जी ने PM मोदी को लिखा पत्र, मांगा 25000 करोड़ का पैकेज



डीएम के बाद नोएडा के CMO अनुराग भार्गव पर भी गिरी गाज, हुआ तबादला

दि‍ल्ली के मरकज में शामिल जमाती डर के मारे नहीं आ रहे सामने:नुसरत जहां



Great Arif Mohd. Khan MC arif khan ch**t**a ہمارے مذہب میں صرف نام سے مسلمان نہیں ہوتے بلکہ دل کے جذبات سے مسلمان ہو تو اس کو مسلمان کہا جاتا ہےلہٰذا عارف محمد خان نے اگر سی اے اےکی حمایت کی ہے تو اس کا دل مسلمان نہیں جیسا کہ نھتوگوڈسے نے بھی عبدالرحمن نام رکھ لیا تھا آج تک چینل والوں کے لئے یہ پوسٹ ہےکیونکہ وہ لوگ وارث پٹھان اور اکبر دین اویسی کی اسپیچ کو لےکربہت اچھلنے لگتے ہیں اس کےاوپر بھی کچھ ڈیبیٹ کی جائےبحث کی جائے جیسا کہ ابھی اسد دین اویسی کےاسٹیج پر ابھی جو ہوااس کےاوپر تم لوگ بہت چرچاکر رہےہواور راجہ سنگھکےڈائیلاگ پربھی بحث کرو۔

गलत बोल रहे है राज्यपाल जी । Bachpan me jab cricket khelte the tab 2-3 Bachhe ko rakhte the naali me se ball utha kr lane ke liye wahi haal aaj Arif Mohammed Khan aur shahanwaz aur naqwi ka roal hai bjp me राष्ट्रवादी लोग कर रहें है CAA का समर्थन । देश द्रोही कर रहे है CAA का विरोध। इस देश का हर पढ़ा-लिखा मुसलमान यह बात जानता है लेकिन कुछ अनपढ़ गवार नेतागिरी के चक्कर में फंसे हुए

यह मुस्लिम जनसंख्या के लिए जयचंद है 👞👞👎👎👎👞👞👞 बहुत सुंदर बात कही है आपने राज्यपाल महोदय.... ये जो व्यक्ति बड़बोले पन में बोलते हैं ना, इनके भाई भी शाहीन बाग protest में जाते हैं, इसे तो इनके भाई आतंकवादी हो गए, सरकार के तलवे चाटने में कुछ भी

शाहीन बाग़ में मीडिया के सामने मध्यस्थता पर विवाद क्यों?शाहीन बाग़ में गतिरोध दूर करने पहुंचा वार्ताकार पैनल पहले ही दिन एक विवाद में फंस गया. क्या वक़्त आ गया हैं... जो खुदको को सबसे गरीब, फ़कीर, मज़दूर बताता है.. वो आज एक अमरीकी से गरीबी छुपा रहा है क्यो चाहिए मध्यस्थता क्या विरयानी खत्म हो गया ट्रंप ने कहा है कि वह भारत के साथ कोई व्यापारिक समझौता नहीं करेंगे यानी आर्थिक मंदी वाले भारत के पैसे से ही घूम के वापस चले जाएंगे ।

'साँच को आंच क्या' Achha! Aapko aazadi isi Tarah baith Kar hi Mili hai. Jyada age ho Gayi hai, inki. जिस को मुफ्त में राज्यपाल की नौकरी दी हो वह तो करेगा ही । मुस्लिम को पसन्द ना आने लोग- दारा शिकोह, अब्दुल कलाम, आरिफ खान, तारिक़ फतेह, वसीम रिजवी । इनको छोड़ो इनका स्टैंड साफ है। इनको जल्द रवाना करेंगे। दिक्कत तो दोगले हिन्दू में है जो खुद को भांड intellectual समझते है। मेरी अपील है सबसे कुपोषित हिन्दू को विकसित करने में मदद करें

Road block is not a solution but on the other side ruling party should talk to them and try to end the deadlock. सेक्युलर हिन्दू ध्यान दें । आप के कारनामे जल्द ही आपके रंग लाएगी । आपकी रंग सूरते-हाल-बिगड़ ही चुकी है। जल्द ही आपका धार्मिक रंग हरा होने वाला है। मुझे यकीन है की आप सहजता से इसे स्वीकार करेंगे। है ना?😊

समर्थन करके सही ही तो किया है भविष्य मे राष्ट्रपति पद के प्रबल दावेदार हैँ मजबूती से अपनी बात रखते हैँ राष्ट्र प्रथम के सिद्धाँत पर चलते हैँ आरिफ साहब.. इस चर्चा में काफी मुसलमानों ने राज्य पाल का विरोध किया है किस नाते भारत को आपना देश मानते हैं तुम्हारा मतलब है ये समर्थन ना करे क्या

शाहीन बाग: हंगामे पर भड़कीं वार्ताकार साधना रामचंद्रन, प्रदर्शनकारियों को दी सख्त चेतावनीशाहीन बाग में दूसरे दिन गुरुवार को वार्ताकार सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वार्ताकार वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन प्रदर्शकारियों से बातचीत करने पहुंचे लेकिन कोई हल नहीं निकला. वैसे भी भैस के आगे चाहे जितनी बीन बजाओ 😂 उनको तो केवल पगुरना है सही Lath maro

Ho gye ye bhi Sanghi...jai ho🚩 आज तक वालो हमरी तुमरी बंद करो, इन्होने सरकार का नहीं संविधान का समर्थन किया है । Shi bat ko support krne me kya burayi h ....well done sir केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खां साहब ने मोदी सरकार का समर्थन किया हो या न किया हो लेकिन उन्होंने जो बात कही है वह सही है। Ak no.. Hai

आरिफ मो, संघीयो आतंकवादी है का जो बकचोदी कर रहा है। वाभी राष्ट्रपती के ऊमीदवार भावी राष्ट्रपती RSSorg smrat59228 🙏🙏🙏 ye governor hai

दंगल: शाहीन बाग पर बीच का रास्ता क्या है?दिल्ली के शाहीन बाग में आज दूसरे दिन सुप्रीम कोर्ट के नियुक्त वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन पहुंचे. आज भी बातचीत में मीडिया की मौजूदगी नहीं है लेकिन संवाद शुरू करने से पहले मीडिया के कैमरों के सामने दोनों वार्ताकारों ने कल की बात फिर दोहरायी कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि आपका हक धरना देने का है तो दूसरे का हक रास्ते के इस्तेमाल का भी है. विरोध के अधिकार का मतलब लंबे समय तक सड़क छेकने का अधिकार नहीं है, इस सीधी सी बात पर शाहीन बाग का पूरा मामला टिका हुआ है, इसीलिए सरकार के मंत्री भी कह रहे हैं कि दोष शाहीन बाग का नहीं, वहां बैठे लोगों को भड़काने वालों का है. आज दंगल में पूछेंगे शाहीन बाग के लिए क्या है बीच का रास्ता? sardanarohit यह दाढ़ी वाला एक नंबर का चुतिय है , कसम से 😅😝 sardanarohit sardanarohit मारो सालों को ...

100% write आरिफ मोहम्मद खान एक दायित्ववान राज्यपाल के साथ-साथ एक देशभक्त नागरिक भी हैं उन्होंने जो कुछ भी कहा है सच कहा है । तो क्या मोदी सरकार का आज तक की तरह विरोध करने पर ही बुद्धि जीवी और सेकुलर होने की निशानी माना जाए Yai Banda esi raftar sai agar chaplusi karta rha to agla president jarur bnega. सच्चा देशभक्त हमेशा राजनीति से ऊपर उठकर देशहित के लिए सोचता है और बोलता है समझे न्यूज वालो

AnnieBesant:there's no place in a civilized land4who believe their religion teaches2murder,rob,rape,burn,drive away who refuse2convert.Thugs believed particular form ofGod commanded2strangle travelersWithMoney.Such'Laws ofGod'can't be allowed2override d laws of a civilizedCountry 1947 me jab desh ka batwara dharm ke aadhar par hua jo 20% log islam ko na manane wale waha pe rah gaye the,pakistan aur waha ke log oon logo ka patan karna chalu kar diye aaj 1.5% bache hai ab vo log jaye kaha kaun oon logo ko saran de ga

केरल के राज्यपाल को मोदी का समर्थन तो करना ही पड़ेगा क्योंकि फिर राज्यपाल की कुर्सी चली जाएगी भाई , इस ने भी आरएसएस के हेडक्वार्टर से पढ़ाई की है तभी मुसलमानो के लिए आलतू फालतू बयान देता हैं सब देते हैं तू भी दे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि मुस्लिम नाम से ही तुमहारी दुकान चलती है मेरा मानना है अगर शाहीनबाग की भीड़ ने 10 मिनट भी आरिफ मुहम्मद खान को ध्यान से सुन लिया तो 1 घण्टे में शाहीनबाग खाली कर देंगे।

😂🤣🤣

दिल्ली चुनाव पर RSS का मंथन, ‘शाहीन बाग का AAP ने किया सही इस्तेमाल’दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा को सिर्फ 8 सीटें मिल पाईं तो वहीं आम आदमी पार्टी ने लगातार दूसरी बार प्रचंड जीत हासिल की. AAP को इस बार 62 सीटें मिली हैं. MASTER MIND OF SHAHINBAG.

Rajaypal Hai Yah BJP Agent. Podium pe khade hoke bichar thopna v terrorism hona chaiye fir to? Sare neta or jaggi jaise guru v wahi hue fir. 👍 चापलूसी कम करो थोड़ा जब वहां बैठ कर नहीं सुन रहे तो दूसरी जगह बैठने से तो आँख ही बंद कर लेंगे ऐसे तो,आफिस में बैठकर विचार थोपना भी गलत है ।संविधान ने तुझे आफिस में पहुचाया उसी को नुकसान पहुंचा रहा है

सही ठोका इन कुत्तों को Chup budav.. राष्ट्रपति बनने की तैयारी चालू कर दिया 'मीर जाफरों' ने He is right bcz as a Constitutional Head , he will protect, support & do wht evr reqd for any law dat is passed in Parliament by both houses.There shld not b any controversy or debates. JAI HIND बिल्कुल सही,इसे द - एस यानि इस्लामिक आतंकी समूह।

हैदराबाद विश्वविद्यालय में शाहीन बाग नाइट का आयोजन करने वाले छात्रों पर लगाया जुर्मानाहैदराबाद विश्वविद्यालय में सीएए के खिलाफ कैंपस में रात नौ बजे के बाद शाहीन बाग नाइट कार्यक्रम आयोजित करने पर तीन छात्रों के 5-5 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। To gud शाहीनबाग नाइटमे रोजाना एक हजार कोन्डम बिक रहे हैं 🤣🤣🤣

Bahot salo se koi bomb nai fata to aatankwaad ko kiss kr rahe sb. Har cheez me aatankwaad ghusa rahe अबे सुतली बम कितना चाटेगा। ? CAA का विरोध करेगा तो एक दिन भी राज्यपाल पद रह सकता है क्या ? सड़क रोक कर दबाव डालना, विचार थोपना, लोगों को मानसिक शारीरिक प्रताड़ना पहुंचाना, आर्थिक हानि पहुंचाना, जानबूझ कर बाधा उत्पन्न कर जनसुविधाओं से वंचित करना भी एक तरह का आतंकवाद है।

Namak halali kar rahe ho ya Namak harami? Buddha pagal ho gya h... अंध भक्त और दलालो की कमी नही है इण्डिया में Nahin bhi ACC ka samarthan karta hun Rajypal ek kathputli hota h aur kuch nhi और सरकार मे बैठ कर लोगो पर तानाशाही तरीक़े से कानुन थोपना आतंकवाद नही है कया ?

शाहीन बाग: प्रदर्शनकारी जिद छोड़ने को तैयार नहीं, तीसरे दिन वार्ताकार पहुंचे लेकिन नतीजा सिफरशाहीन बाग से बड़ी खबर ये भी है कि बातचीत करने या करने को लेकर शाहीन बांग में 'बंटवारा' हो गया है. यानी प्रदर्शनकारियों में बातचीत को लेकर मतभेद हैं. Gpl do salo ko ek din mai uth jaybge waha ke log hinjade hai jo inn logo ko sahan kar rahe hao अरे इन दोगलों को छोङ दो कब तक करेंगे नाटक प्रदर्शनकारियों का एजेंडा कुछ अलग ही है।

He's Wasim Rizvi-2 nobody except fools consider him to be a Muslim Arif Sharma, Sab kuch yaad rakkha jaiga.. tumhara Feku ke talve chaatna bhi. तो तुम क्या चाहते हो.. समर्थन करे ही नहीं....! 🤔 संसद में बैठकर बिचार थोपना भी आतंकवाद है Rss ka dalla ye kahna chahta he ki Gandhi g me Jo angrejo ke sath Kiya tha asahyog andolan wo ek atankvad tha ?

Jay Ho Modi ji Jay Hind Jay Ho I Love my India मैं CAA समर्थन करता हूं JagratiGupta3 narendramodi AmitShah ANI BJP4India BJP4Gujarat rsprasad sudhirchaudhary chitraaum sardanarohit ZeeNewsHindi अब ये गृह मंत्री बनकर ही मानेगा😆😆 गिरिराज सिंह सही बोला था कि इन सारो को 1947 में ही पाकिस्तान भेज देना था

संविधान को मानने वाला हर व्यक्ति नागरिकता संशोधन कानून का स्वागत करेगा। भारत में अभी भी ऐसे ऐसे लोग हैं तभी तो देश महान है, इनसे देश के गद्दार लोगों को सिख लेने चाहिए। हिन्दू हो या मुस्लिम।

Is CAA complete without NRC? Is NPR needed if Gov is planning for NRC? Arif can support CAA , but can't criticize the protestors of ShaheenBagh negatively. The ShaheenBagh protector is literate and educated, they know their extent... आरिफ मोहम्मद खान की बातों पर यदि अगर मुस्लिम वर्ग अगर विश्वास कर ले तो देश में कोई समस्या नहो होगी परन्तु कुछ लोग अपनी राजनीति को चमकाने के कारण देश में हिन्दू मुस्लिम के बीच दीवार खड़ी कर रहे हैं।

और communal awards जो हम दलितों के हित मे था पाकिस्तान उसी संधि से अलग देश बन गया हमे अधिकारिक हितों से बंचित करने के लिए आमरण अनशन हिंसा नहीं थी बड़े लोगों षडयंत्रों से बाज आयो आरिफ खान साहब सच बोल रहे हैं सड़कों में बैठ के ये सारे आपना विचार थोप रहे हैैं। Samarthan karenge q nhi rajypal Ka pad Jo Mila hy unhi ke dawara

kiya 100 crore ko dhamkiya denai walle log kehi ghushpethi to nehi pahelai inka kagaz cheack karlo 500 rupiya biriyani ke liye bibio ko sadak pe bithane walle dhami hum ko derahehai oukat to dekhlo unka जय हो जय हो हर हर महादेव। 🇮🇳🙏🌍🇮🇳🙏🌍🇮🇳🙏🌍 जय हिंद I Love my India Sahi kaha, anjanaomkashyap ki Tarah biryani khane nhi jaana chahiye

जय मोदी



भारत में कोरोना वायरस के 'हॉटस्पॉट' कैसे बने ये 10 इलाक़े

कोरोना संकट: मोदी सरकार नहीं बच सकती इन सवालों से

कोरोना वायरस: तबलीग़ी जमात, पुलिस, दिल्ली सरकार और केंद्र पर उठते सवाल

कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन में तबलीगी जमात के क़रीब 1700 लोग जुटे थे- सत्येंद्र जैन- LIVE - BBC Hindi

कोरोना वायरस: भारतीय मीडिया के निशाने पर चीन क्यों?

#जीवनसंवाद : जिसके होने से फर्क पड़ता है!

कोरोना वायरस: सिर्फ़ 50 हज़ार में वेंटिलेटर बना रहे हैं युवा इंजीनियर्स

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

21 फरवरी 2020, शुक्रवार समाचार

पिछली खबर

सिसोदिया से मिले महाराष्ट्र के मंत्री, बोले- मिलकर बनाएंगे बेहतर शिक्षा मॉडल

अगली खबर

युवती संग लिव इन में रह रहा था शादीशुदा युवक, दोनों ने नहर में कूद दी जान
कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया मरकज से क्वारैंटाइन सेंटर लाए गए लोगों ने डॉक्टरों और स्टाफ पर थूका, गालियां दीं; एक ने खुदकुशी की कोशिश की कोरोना वायरसः ममता बनर्जी ने PM मोदी को लिखा पत्र, मांगा 25000 करोड़ का पैकेज डीएम के बाद नोएडा के CMO अनुराग भार्गव पर भी गिरी गाज, हुआ तबादला दि‍ल्ली के मरकज में शामिल जमाती डर के मारे नहीं आ रहे सामने:नुसरत जहां मुंबई: एशिया के सबसे बड़े स्लम धारावी में मिले Coronavirus संक्रमित मरीज की हुई मौत PPF जैसी स्कीमों पर ब्याज़ दरें घटीं तो क्या करना चाहिए? सोनिया का PM मोदी को खत, कहा- मनरेगा मजदूरों को मिले 21 दिन की एडवांस मजदूरी खाने की चीजों और दवाइयों की आपूर्ति के लिए कल से चलेंगे 2 लाख ट्रक क्यों धक्के खा-खाकर दिन-रात मेहनत कर रहे हैं? राघव चड्डा से बोले सरदाना
भारत में कोरोना वायरस के 'हॉटस्पॉट' कैसे बने ये 10 इलाक़े कोरोना संकट: मोदी सरकार नहीं बच सकती इन सवालों से कोरोना वायरस: तबलीग़ी जमात, पुलिस, दिल्ली सरकार और केंद्र पर उठते सवाल कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन में तबलीगी जमात के क़रीब 1700 लोग जुटे थे- सत्येंद्र जैन- LIVE - BBC Hindi कोरोना वायरस: भारतीय मीडिया के निशाने पर चीन क्यों? #जीवनसंवाद : जिसके होने से फर्क पड़ता है! कोरोना वायरस: सिर्फ़ 50 हज़ार में वेंटिलेटर बना रहे हैं युवा इंजीनियर्स कोरोना वायरस से बचना है तो खान-पान में यूं रहें सतर्क कोरोना वायरस: दुनियाभर में 42,000 से ज़्यादा मौतें, 8.5 लाख लोग संक्रमित - LIVE - BBC Hindi निजामुद्दीन मरकज मामला: बिजनौर की एक मस्जिद से मिले 8 इंडोनेशियाई नागरिक, बांग्लादेश के रास्ते पहुंचे थे दिल्ली कोरोना वायरस से भारत में कैसे ठीक हो रहे हैं लोग? दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल