शाहीन बाग़ में मीडिया के सामने मध्यस्थता पर विवाद क्यों?

शाहीन बाग़ में मीडिया के सामने मध्यस्थता पर विवाद क्यों?

2/20/2020

शाहीन बाग़ में मीडिया के सामने मध्यस्थता पर विवाद क्यों?

शाहीन बाग़ में गतिरोध दूर करने पहुंचा वार्ताकार पैनल पहले ही दिन एक विवाद में फंस गया.

ये एक्सटर्नल लिंक हैं जो एक नए विंडो में खुलेंगे शेयर पैनल को बंद करें इमेज कॉपीरइट Getty Images सुप्रीम कोर्ट की ओर से शाहीन बाग़ में प्रशासन और प्रदर्शनकारियों के बीच जारी गतिरोध को ख़त्म करने के लिए नियुक्त वार्ताकार पैनल बुधवार को शाहीन बाग़ पहुंचा. वार्ताकार पैनल के दो सदस्यों संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन ने प्रदर्शनकारियों से बात की. दोनों वार्ताकारों ने बुधवार को यह स्पष्ट किया कि 'उनके पास कुछ ही दिन का समय है और वे इस मामले में कोई फ़ैसला सुनाने शाहीन बाग़ नहीं पहुंचे हैं बल्कि बातचीत के ज़रिये चीज़ों को सामान्य करने का प्रयास कर रहे हैं.' रामचंद्रन ने लोगों को अपने आने की वजह और उद्देश्य बताए लेकिन उन्होंने मीडिया से प्रदर्शनस्थल से चले जाने की अपील भी की. रामचंद्रन की इस बात का शाहीन बाग़ में मौजूद कुछ प्रदर्शनकारियों ने विरोध किया. इस सब के बाद बुधवार का दिन बिना किसी नतीजे के ख़त्म हो गया मगर हेगड़े और रामचंद्रन ने जाते-जाते कहा कि वे कल फिर आएंगे ताकि बातचीत को आगे बढ़ाया जा सके. इमेज कॉपीरइट EPA मीडिया को लेकर विवाद क्यों? शाहीन बाग़ में मीडिया की मौजूदगी पिछले कुछ समय से कई बार विवाद का विषय बनी है. शाहीन बाग़ में कुछ पत्रकारों के साथ हाथापाई जैसी ख़बरें भी सामने आई हैं. इन मुद्दों पर पत्रकारों के बीच अलग-अलग राय भी देखने को मिली है. फिर बुधवार को जब वार्ताकारों ने मीडिया से जाने के लिए कहा तो यह सवाल उठने लगा कि इस तरह की संवेदनशील बातचीत के दौरान मीडिया को मौजूद रहना चाहिए या नहीं. इमेज कॉपीरइट मीडिया की मौजूदगी सार्थक या निरर्थक ? बीबीसी ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए कई मामलों में मध्यस्थ की भूमिका निभा चुके स्वामी अग्निवेश से बात की. स्वामी अग्निवेश मानते हैं कि ऐसी प्रक्रिया में मीडिया की मौजूदगी एक सार्थक रोल निभाती है. वह कहते हैं,"हमें ये समझना चाहिए कि ये एक काफ़ी अहम प्रक्रिया है. ऐसे में इसमें किसी तरह के भ्रम की गुंजाइश नहीं है. इसलिए बातचीत की प्रक्रिया में मीडिया की मौजूदगी काफ़ी अहम है." इस कारण बताते हुए अग्निवेश कहते हैं,"यह इसलिए अहम है क्योंकि मीडिया की मौजूदगी की वजह से किसी तरह के भ्रम की स्थिति पैदा नहीं होती है. बयानों को तोड़मरोड़ कर पेश नहीं किया जा सकता है और इससे मध्यस्थता की प्रक्रिया में एक पारदर्शिता आती है जो ऐसी प्रक्रियाओं के लिए बेहद ख़ास है." अग्निवेश इससे पहले यूपीए 2 के दौरान अन्ना आंदोलन और माओवादियों के साथ वार्ता के लिए मध्यस्थ की भूमिका निभा चुके हैं. वह कहते हैं,"मेरा अनुभव तो यही कहता है कि मीडिया की मौजूदगी इस प्रक्रिया में एक सार्थक भूमिका अदा करती है. इसका उदाहरण अन्ना आंदोलन है. उस दौरान मध्यस्थता की प्रक्रिया में मीडिया कवरेज़ से पारदर्शिता आई थी और समस्या सुलझ गई. वहीं, माओवादियों के साथ मध्यस्थता के दौरान मीडिया कवरेज़ नहीं होने से सार्थक परिणाम सामने नहीं आए." इमेज कॉपीरइट Getty Images बुधवार की शाम संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन की ओर से एक वीडियो मेसेज भी जारी किया गया. रामचंद्रन ने इस वीडियो मेसेज में कहा है,"आज हमारी प्रदर्शनकारियों के साथ काफ़ी अच्छी मुलाक़ात हुई. वहां हम कई सारे लोगों से मिले जिन्हें अपने भारतीय होने पर गर्व है. इन लोगों को अपनी संवैधानिक संस्थाओं पर पक्का भरोसा है." वीडियो मेसेज़ के अंत में संजय हेगड़े ने कहा है,"हम कल (गुरुवार) को एक नई उम्मीद के साथ वापस शाहीन बाग़ जाएंगे ताकि एक ऐसा हल निकल सके जो सभी को स्वीकार हो." लेकिन उनकी ओर से अभी स्पष्ट नहीं किया गया है कि आने वाले दिनों में मीडिया को मौजूद रहने की इजाज़त दी जाएगी या नहीं. इमेज कॉपीरइट ANI क्या है मामला? बीते साल संसद में नागरिकता संशोधन विधेयक पेश होने और उसके बाद क़ानून में परिवर्तित होने के बाद से देश भर में इसके ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन जारी हैं.शुरुआत में इसके ख़िलाफ़ हुए विरोध प्रदर्शनों ने हिंसक रूप लिया जिनमें कई लोगों की जानें गईं. लेकिन इसके बाद शाहीन बाग़ समेत देश भर में महिलाओं ने इसके ख़िलाफ़ विरोध शुरू किया.शाहीन बाग़ विरोध प्रदर्शन की वजह से दिल्ली और नोयडा को जोड़ने वाला रास्ता बंद है. इस वजह से लोग हर रोज़ जाम की समस्या का सामना कर रहे हैं.इन समस्याओं के चलते पहले ये मामला पहले दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचा था और अब सुप्रीम कोर्ट में है.सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले के समाधान के लिए साधना रामचंद्रन, संजय हेगड़े और वजाहत हबीबुल्लाह समेत तीन लोगों का वार्ताकार पैनल बनाया है.अदालत ने इन लोगों को शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारियों के साथ बातचीत करके इस गतिरोध को ख़त्म करने की कोशिश करने के लिए कहा है और चार दिन का समय दिया है. (बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप और पढो: BBC News Hindi

कोरोना को ग़रीबों ने नहीं, अमीरों ने फैलाया



लॉकडाउन: UP बॉर्डर पर फंसे लोगों की मदद के लिए आगे आई योगी सरकार, 1000 बसें भेजी गईं

नीतीश कुमार ने NDTV से कहा- लोगों को बसों में भेजना एक गलत कदम, बीमारी फैलने से रोकना मुश्किल हो जाएगा



नीतीश कुमार बोले- लोगों को स्पेशल बसों से भेजना गलत, पीएम का लॉकडाउन फेल हो जाएगा

लॉकडाउन: शहर में मॉल के पास सैर करते द‍िखा ये जंगली जानवर, देखें वीडियो



राम-सीता का रोल करने वाले एक्टर बोले- पहले चूक गए थे, अब पूरे परिवार के साथ देखेंगे 'रामायण'

कोरोना वायरस से सबसे ज़्यादा मौतें इटली में ही क्यों?



ये भी तो हो सकता है कि कोर्ट ने कहा हो की आप मान जाओ नहीं तो पुलिस को ऑर्डर देना पड़ेगा Sabke samne baatcheet honi chahiye..wo bhi live..aur judges ko bhi online monitoring karni chahiye Ab kya naya bakheda ho gaya😏 जब दिलो में कुछ ओर, और ज़ुबा पर कुछ और हो प्रायोजक और प्रायोजकर्ता की सोचसमझ में अंतर हो तो मिडिया को सामने नहीं होती, बातचीत नहीं तो गज़वा ए हिन्द ज़िंदाबाद पाकिस्तान ज़िंदाबाद शरिया ज़िंदाबाद जिहाद ज़िंदाबाद उम्माह के नाम मौलवी, का फमान ज़िंदाबाद मुँह से निकल ने का डर होता है

Waja Sach ko jhut भोसड़ी के बीबीसी... शाहीन बाग के देशद्रोही मुसलमान तो तुझ जैसे देशद्रोही मीडिया चैनल को ही गाली दे रहे हैं कुछ समझा दोगले ... 😂😂😂😂😂😂 Inko puchho...Sach me inhe pta hai CAA ke bare me...or just nautanki chal rha hai...kyonki free me biryani Jo mil rha hai...bas kuchh din baad ye v khatam ho jayega😂😂😂

दो महीने से ज्यादा हो गाया है न्याय व्यवस्था पुलिस कोर्ट भी तारीख पे तारीख औऱ जिम्मदारी को एक दुसरे मे डाल रही है एक सवाल क्या किसी अन्य समुदाय वाले भी इतने दिनो तक रोड ब्लाक करते तो सभी का व्यवहार ऐसा ही होता ? VIP कलचर वाला तुष्टीकरण कब तक चलेगा? जवाब दो जवाब दो मध्यस्थता आखिर क्यों? जो देश का है उन्हें nrc caa से डर कैसा?

सामने वाला जितना झुकता है उतना ही झुकाते हैं सरकार और प्रदर्शनकारी अपनी जगह अडीग

शाहीन बाग: रास्ता खोलने पर प्रदर्शनकारियों और वार्ताकारों में बन सकती है सहमति, एजेंडा तैयारशाहीन बाग: रास्ता खोलने पर प्रदर्शनकारियों और वार्ताकारों में बन सकती है सहमति, एजेंडा तैयार ShaheenBaghProtest ShaheenBagh कायर है शाहीन बाग वाले 😂😂 नौटंकी कर रहे हैं बहाना ढूंढ रहे हैं हटने का!😢

जो काम को ईमानदारी से करना चाहिए उस जगह पर कैमरा नहीं बल्कि पाक साफ कमरा चाहिए। ट्रंप ने कहा है कि वह भारत के साथ कोई व्यापारिक समझौता नहीं करेंगे यानी आर्थिक मंदी वाले भारत के पैसे से ही घूम के वापस चले जाएंगे । क्यो चाहिए मध्यस्थता क्या विरयानी खत्म हो गया क्या वक़्त आ गया हैं... जो खुदको को सबसे गरीब, फ़कीर, मज़दूर बताता है.. वो आज एक अमरीकी से गरीबी छुपा रहा है

शाहीन बाग में आज खुल सकता है सुलह का रास्ता, प्रदर्शनकारियों से मिलने जाएंगे वार्ताकारसुप्रीम कोर्ट की तरफ से नियुक्त वार्ताकार वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े, साधना रामचंद्रन और वजाहत हबीवुल्लाह आज शाहीन बाग पहुंचेगे. उम्मीद है कि मध्यस्थता के जरिये शाहीन बाग के मसले पर सर्वमान्य हल निकाला जा सकेगा. मोदी और अमित शाह का शाहीन बाग ना जाने का एक मुख्य कारण यह भी हो सकता है कि 80% बुरखे वाली प्रेग्नेंट है, कहीं गले ना पड़ जाए। कोई रास्ता नहीं निकलेगा क्यों की जो वार्ताकार कोर्ट ने नियुक्त किये है वो भी इनकी ही प्रवत्ति के है मेरी बात पर यकीन ना हो तो 4 घण्टे बाद मेरे इस टिविट को फिर से देख लेना कोई नतीजा नहीं निकलेगा Anjana ji abi aap live chal Raha tha dekha maine apka report Esme baithe Jo log hai unme se 40 percent ko pata hi nahi ki kanoon hai kya? Aor aisi hi dusre ke behkawe me baithe hai kya tamasa banya hai

CAA और शाहीन बाग पर बनी फिल्म में काम करेंगे आयुष्मान खुराना?बॉलीवुड एक्टर आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने CAA और शाहीन बाग प्रदर्शन (Shaheen Bagh Protest) जैसे मुद्दों पर फिल्में बनाने के सवाल पर खुलकर जवाब दिया है. | entertainment News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी अच्छा है 💯👌😂😂😂 अगर स्क्रिप्ट सही हो तो ही फिल्म करना नहीं तो देश का युवा जागृत है *Modiji* अगर पकिंस्तान, बाग्लादेश *भारत* में विलीन हो जाए तो CAA वापस ले लेना 👍👍👍👍👍

शाहीन बाग में बातचीत का पहला दिन, प्रदर्शनकारियों ने दिया ये संकेतनागरिकता संशोधन कानून(CAA), एनआरसी(NRC) और एनपीआर(NPR) के खिलाफ धरने के 67 दिनों के बाद आज शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से संवाद शुरू हो गया. सुप्रीम कोर्ट(Supreme Court) की तरफ से नियुक्त दो वार्ताकार बुधवार शाहीन बाग(Shaheen Bagh) पहुंचे और वहां धरने पर बैठे लोगों के साथ करीब दो घंटे तक बातचीत की. बातचीत में प्रदर्शनकारियों ने बगैर सीएए वापस लिए धरना खत्म ना करने का संकेत दिया. आज की बातचीत से कोई नतीजा नहीं निकला. गुरुवार वार्ताकारों ने फिर आने की बात कही. देशतक में देखें अब तक की बड़ी खबरें. chitraaum chitraum di chitraaum chitraaum anjanaomkashyap कमी थी, बाकी सब ठीक था chitraaum 💞💞💞💞💞

निकलेगा शाहीन बाग का रास्ता, अब बुलेटप्रूफ कॉटेज में रहेंगे रामलला - Jansatta

Shaheen Bagh | शाहीन बाग में आज दूसरे दिन मुलाकात करेंगे वार्ताकार, क्‍या आज खुलेगा रास्‍ता...नई दिल्ली। शाहीनबाग में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर चल रहे प्रदर्शन में लोगों से बातचीत के लिए उच्‍चतम न्‍यायालय की ओर से नियुक्‍त वार्ताकार आज दूसरे दिन प्रदर्शकारियों से मुलाकात करेंगे। सभी वार्ताकार आज दोपहर 3 बजे फिर से शाहीन बाग जाएंगे। वार्ताकारों ने प्रदर्शनकारियों से कल हुई मुलाकात को सकारात्‍मक बताया है।



कोरोना वायरस: ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन संक्रमित- LIVE - BBC Hindi

कोरोना से जंग: धोनी का योगदान 1 लाख, फैंस भड़के- ये कैसा दान?

Coronavirus In India And World Live Updates: India Lockdown Latest News In Hindi; कोरोना वायरस लाइव अपडेट: भारत लॉकडाउन लेटेस्ट न्यूज इन हिंदी - यूपी के बंदायूं में पुलिस की बर्बरता का एक विडियो सामने आया है जिसमें अपने घरों को लौट रहे लोगों को पुलिस ने लॉकडाउन के उल्लंघन के नाम पर कंधे पर बैग रखकर जमीन पर बिठाकर चलवाया। देखें...

कोरोना पर PM मोदी का प्रहार, पूरी दुनिया में हो रही वाहवाही, चीन बोला- भारत ये लड़ाई जल्द जीत लेगा

कोरोना वायरस: मोदी सरकार की घोषणाएं ऊंट के मुंह में ज़ीरे समान- नज़रिया

कोरोना वायरस: दक्षिण कोरिया ने जो किया वो दुनिया के लिए मिसाल

लॉकडाउन में फैंस को बड़ा तोहफा, फिर टेलीकास्ट होगी रामायण, जानें कब-कहां देख पाएंगे?

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

20 फरवरी 2020, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

लिट्टी-चोखा के बारे में वो बातें जो आपको जाननी चाहिए

अगली खबर

क्या शराब के सेवन से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है...जानिए सच...
कोरोना को ग़रीबों ने नहीं, अमीरों ने फैलाया लॉकडाउन: UP बॉर्डर पर फंसे लोगों की मदद के लिए आगे आई योगी सरकार, 1000 बसें भेजी गईं नीतीश कुमार ने NDTV से कहा- लोगों को बसों में भेजना एक गलत कदम, बीमारी फैलने से रोकना मुश्किल हो जाएगा नीतीश कुमार बोले- लोगों को स्पेशल बसों से भेजना गलत, पीएम का लॉकडाउन फेल हो जाएगा लॉकडाउन: शहर में मॉल के पास सैर करते द‍िखा ये जंगली जानवर, देखें वीडियो राम-सीता का रोल करने वाले एक्टर बोले- पहले चूक गए थे, अब पूरे परिवार के साथ देखेंगे 'रामायण' कोरोना वायरस से सबसे ज़्यादा मौतें इटली में ही क्यों? अनुष्का शर्मा ने पति विराट कोहली का किया हेयरकट, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो कोरोना: लॉकडाउन में लाठी-डंडे से नहीं, हाथ जोड़कर लोगों को समझा रही बिहार पुलिस माफ कीजिए कोरोना से कुछ लोग तो मरेंगे ही, हम फैक्टरी नहीं बंद कर सकते: ब्राजील के राष्ट्रपति राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 52, सबसे ज्यादा भीलवाड़ा में 22 यूपी के बॉर्डर पर फंसे मजूदर ना हों परेशान, योगी सरकार ने किए ये इंतजाम
कोरोना वायरस: ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन संक्रमित- LIVE - BBC Hindi कोरोना से जंग: धोनी का योगदान 1 लाख, फैंस भड़के- ये कैसा दान? Coronavirus In India And World Live Updates: India Lockdown Latest News In Hindi; कोरोना वायरस लाइव अपडेट: भारत लॉकडाउन लेटेस्ट न्यूज इन हिंदी - यूपी के बंदायूं में पुलिस की बर्बरता का एक विडियो सामने आया है जिसमें अपने घरों को लौट रहे लोगों को पुलिस ने लॉकडाउन के उल्लंघन के नाम पर कंधे पर बैग रखकर जमीन पर बिठाकर चलवाया। देखें... कोरोना पर PM मोदी का प्रहार, पूरी दुनिया में हो रही वाहवाही, चीन बोला- भारत ये लड़ाई जल्द जीत लेगा कोरोना वायरस: मोदी सरकार की घोषणाएं ऊंट के मुंह में ज़ीरे समान- नज़रिया कोरोना वायरस: दक्षिण कोरिया ने जो किया वो दुनिया के लिए मिसाल लॉकडाउन में फैंस को बड़ा तोहफा, फिर टेलीकास्ट होगी रामायण, जानें कब-कहां देख पाएंगे? अब तक 724 मामले: शिरडी के श्री साईबाबा संस्थान ट्रस्ट ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 करोड़ रुपए दान किए कोरोना: अमरीका में एक लाख से ज़्यादा मामले- LIVE - BBC Hindi Entertainment News: 'रामायण' शुरू, अब इस समय देखिए DD पर 'महाभारत' जल्‍द ही कोरोना का टीका विकसित कर लेगा भारत, NII के डायरेक्‍टर ने कही ये बात दिल्ली-एनसीआर से उत्तर प्रदेश आने वाले लोगों के लिए यूपी सरकार ने किया 200 बसों का इंतजाम