Biharelections 2020

Biharelections 2020

शाहपुर विधानसभा सीट: पिछले चुनाव में RJD ने बिगाड़ा था बीजेपी खेल, इस बार वापसी पर नजर

जानिए क्या कहता है इस सीट का राजनीतिक इतिहास @mohitgroverAT | #BiharElections2020

26-09-2020 14:06:00

जानिए क्या कहता है इस सीट का राजनीतिक इतिहास mohitgroverAT | BiharElections2020

यहां की शाहपुर विधानसभा सीट पर पिछले कुछ चुनाव में राष्ट्रीय जनता दल का दबदबा दिखा है लेकिन कांटे का मुकाबला भी होता रहा है.

मोहित ग्रोवरनई दिल्ली,(अपडेटेड 26 सितंबर 2020, 3:01 PM IST)स्टोरी हाइलाइट्सबिहार में तीन चरण में होंगे चुनावदस नवंबर को आएंगे चुनावी नतीजेबिहार में विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, सियासी पारा बढ़ता जा रहा है. भोजपुर जिले में भी राजनीतिक दलों की हलचल दिख रही है. ऐसे में इस बार यहां किसके माथे पर जीत का सेहरा बंधता है इसपर नज़र रहेगी.

'लोकतंत्र सबसे कठिन दौर में', सोनिया गांधी का मोदी सरकार पर बड़ा हमला भारत में सितंबर में आ चुका कोरोना का पीक, फरवरी तक मिल सकती है मुक्ति: समिति बिहार चुनाव में सुरीला सियासी संग्राम, मनोज तिवारी ने लॉन्च किया गाना

क्या कहता है राजनीतिक इतिहास?आरा लोकसभा के अंतर्गत आने वाले शाहपुर में पहला चुनाव 1951 में ही हुआ था. तब सोशलिस्ट पार्टी ने जीत का खाता खोला था. 1972 में कांग्रेस को यहां जीत का स्वाद मिला, लेकिन अगले ही चुनाव में जनता पार्टी ने उसका खेल बिगाड़ दिया.1990 के चुनाव के बाद दो बार यहां से जनता दल ही चुनाव जीता. लेकिन पिछले तीन चुनाव में दो बार भारतीय जनता पार्टी को जीत मिली है. ऐसे में अब बीजेपी की नजर सीट पर वापसी से है. शाहपुर को मंदिरों का शहर भी कहा जाता है.

कैसा है सामाजिक तानाबाना?इस इलाके को वोटरों के हिसाब से ब्राह्मण बहुल माना जाता रहा है, यही कारण है कि राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों में भी उसकी झलक दिखती है. हालांकि, दो बार धर्मपाल सिंह ने भी यहां पर अपना खाता खोला है. इस सीट पर तीन लाख के करीब वोटर हैं, जिनमें से 1.49 लाख से अधिक पुरुष वोटर हैं.

पिछले विधानसभा चुनाव में क्या थे नतीजे?2015 के विधानसभा चुनाव में यहां से राष्ट्रीय जनता दल के राहुल तिवारी ने जीत दर्ज की थी. राहुल तिवारी को 69,315 वोट मिले थे तो भाजपा के विश्वेश्वर ओझा को 54,745 वोट प्राप्त हुए थे. वहीं, तीसरे स्थान पर जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के कृष्ण बिहारी सिंह रहे थे, उन्हें 3680 वोट मिले थे.

स्थानीय विधायक के बारे में?इस सीट से विधायक राहुल तिवारी को राजनीति विरासत में मिली. राजद के बड़े नेता रहे शिवानंद तिवारी उनके पिता हैं, खुद शिवानंद भी इस सीट से विधायक रह चुके हैं. शिवानंद तिवारी मूल रूप से भोजपुर के ही हैं. यही कारण रहा कि उन्हें वोटरों का दिल जीतने में मुश्किल नहीं हुई. हालांकि, इस बार जब जदयू-भाजपा का गठबंधन फिर साथ है तो उनके लिए राह आसान नहीं होगी.

और पढो: आज तक »

खबरदार: पाकिस्तान के सामने थरूर ने देश को निचा दिखाया?

कांग्रेस के सांसद और वरिष्ठ नेता शशि थरूर के लाहौर थिंक फेस्टिवल में दिए गए बयान से विवाद खड़ा हो गया है. शशि थरूर ने सरकार की आलोचना की, विपक्ष का काम भी यही है. लेकिन इस विरोध में देश का मज़ाक उड़ाने वाली बातें किसी दूसरे देश के मंच पर कैसे की जा सकती हैं. और वो भी जब मंच किसी दुश्मन देश का हो. पाकिस्तान के मंच पर शशि थरूर ने यही किया. उन्होंने क्या कहा और कैसे उनके बयानों से बीजेपी ने राहुल गांधी पर हमला बोल दिया, देखें खबरदार में.

mohitgroverAT Bihar me jatiwad ke wajah se Lalu jaise anpadh naetao ne etne dino tak raj kia hai. AbNahi

तरारी विधानसभा सीट: जहां पिछले चुनाव में सिर्फ 272 वोटों ने बदल दिया था नतीजाभोजपुर जिले की तरारी विधानसभा सीट पर अभी लेफ्ट पार्टी का कब्ज़ा है, लेकिन कभी यहां जदयू ने भी जीत दर्ज की थी mohitgroverAT | BiharElections

अगिआंव विधानसभा सीट: पिछले चुनाव में भाजपा-जदयू में था मुकाबला, अब बदली तस्वीरभोजपुर जिले की एक मात्र अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित सीट अगिआंव आरा लोकसभा क्षेत्र में आती है. 2008 में बिहार में परिसीमन हुआ था, जिसके बाद ये सीट बनी थी. mohitgroverAT बिल्कुल तश्वीर बदल चुकी है भाजपा कहीं इर्द गिर्द भी नहीं है बाकी पार्टियाँ चाहे कोई भी हों। mohitgroverAT नई जानना, टाइम नई है, mohitgroverAT दो चोंचलेबाज

सूर्यगढ़ा विधानसभा सीट: बीजेपी की नजर वापसी पर, 2015 की हार का लेगी बदला!सूर्यगढ़ा में विधानसभा का पहला चुनाव साल 1957 में हुआ था. यहां पर तब सीपीआई को जीत मिली थी. हालांकि, अगले चुनाव में यहां पर कांग्रेस विजयी होती है. Huge Drugs Demand and Supply in Bollywood. तेज रफ्तार तेजस्वी सरकार जय श्री राम

हथुआ विधानसभा सीट: क्या जेडीयू बरकरार रख पाएगी अपनी जीत का सिलसिला?साल 2015 के विधानसभा चुनाव में रामसेवक सिंह ने बड़े अंतर से इस सीट पर जीत हासिल की थी. रामसेवक सिंह ने 22984 वोटों से हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के महाचंद्र प्रसाद सिंह को चुनावी शिकस्त दी थी. रोज़गार_नहीं_तो_सरकार_नहीं No Yogiraj me samuhik rape me BAAD jibh kat Di gayi. Shameful media

राजनगर विधानसभा सीटः क्या दूसरी बार बीजेपी लहराएगी जीत का परचम?राजनगर विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के नेता रामप्रीत पासवान विधायक हैं. 2015 के चुनाव में बीजेपी के रामप्रीत पासवान ने आरजेडी प्रत्याशी रामावतार पासवान को हराया था. अखबार के साथ दबे पांव चली आती थीं // टीवी ने खबरों को शोर मचाना सिखा दिया..!! सुप्रभात 17000_मानदेय_कोर्ट_आदेश_मानो_सरकार 17000_मानदेय_कोर्ट_आदेश_मानो_सरकार 17000_मानदेय_कोर्ट_आदेश_मानो_सरकार Live_Gyan navalkant avanindra43 unnaoabhay Live_Gyan PragyaLive VivekshuklaLive ranvijaylive shinning_shreya ManishPandeyLKW manishsNBT रोज़गार_नहीं_तो_वोट_नहीं BiharRejectsNitish

गुरूआ विधानसभा सीट: बीजेपी लगाएगी जीत की हैट्रिक या RJD की होगी वापसी?2015 के चुनाव जेडीयू के रामचंद्र प्रसाद को हराकर बीजेपी के राजीव नंदन ने जीत हासिल की थी. 2015 का चुनाव जेडीयू, कांग्रेस और आरजेडी ने मिलकर लड़ा था, लेकिन इस बार का समीकरण बदल चुका है. जेडीयू ने महागठबंधन का साथ छोड़ दिया है.