Taliban, Pakistan, Imrankhan, Imran Khan, Pakistan Pm İmran Khan News, Taliban, Afghanistan News, Us Troops İn Afghanistan 2021, World News İn Hindi, World News İn Hindi, World Hindi News

Taliban, Pakistan

शर्मनाक: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बोले- तालिबानी आम नागरिक, अमेरिका ने वहां सब बर्बाद कर दिया

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने तालिबानियों को सामान्य नागरिक बताया है। इतना ही नहीं उन्होंने अफगानिस्तान

29-07-2021 06:47:00

शर्मनाक: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बोले- तालिबानी आम नागरिक, अमेरिका ने वहां सब बर्बाद कर दिया Taliban Pakistan ImranKhan

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने तालिबानियों को सामान्य नागरिक बताया है। इतना ही नहीं उन्होंने अफगानिस्तान

ख़बर सुनेंपाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने तालिबानी आंतकियों को सामान्य नागरिक बताया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अमेरिका ने अफगानिस्तान में घुसकर सब गड़बड़ कर दिया। दरअसल, प्रधानमंत्री से पूछा गया कि एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि करीब 10, 000 पाकिस्तानी लड़ाकू सीमा पार कर तालिबान की मदद करने गए हैं? इसपर इमरान खान नाराज हो गए और बोले कि यह बिल्कुल गलत बात है, वो हमें इस बात का सबूत क्यों नहीं देते हैं? प्रधानमंत्री ने कहा कि अफगानिस्तान की समस्या का समाधान युद्ध नहीं बल्कि राजनीतिक समझौते से संभव है।

यूपी में पुलिस ने 'चोरों को लूटा', चार पुलिसवाले गए जेल - BBC News हिंदी एनसीपी नेता नवाब मलिक ने NCB अधिकारी समीर वानखेड़े पर लगाए गंभीर आरोप - BBC Hindi भारत को टी-20 वर्ल्ड कप में कौन मान रहे हैं ख़िताब का प्रबल दावेदार - BBC News हिंदी

इमरान खान ने बताया कि पाकिस्तान में तीन मिलियन अफगानी रिफ्यूजी रहते हैं, जिसमें पश्तूनी लोगों की संख्या सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा कि अगर युद्ध ऐसे ही चलता रहा तो अफगानिस्तान से और रिफ्यूजी पाकिस्तान आएंगे। तालिबानी सेना मजबूत है, वो सामान्य नागरिक हैं। अगर इन शिविरों में कुछ सामान्य नागरिक रहते हैं तो कैसे पाकिस्तान इन लोगों को खोज कर उन्हें मार सकता है?

अमेरिका ने अफगानिस्तान में चीजें अस्त-व्यस्त कर दीपाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक इंटरव्यू में कहा कि अमेरिका ने अफगानिस्तान में चीजें अस्त-व्यस्त कर दी हैं। उन्होंने कहा कि यह सच है कि तालिबान ने 1996 से 2001 तक अफगानिस्तान पर क्रूर शासन किया था। इसके बाद अमेरिका के चलते उसे सत्ता छोड़ना पड़ा था, लेकिन 2001 के बाद अमेरिका यहां डेरा डाल दिया, जिसके बाद यहां पर सब चीज़ें बर्बाद हो गई। headtopics.com

राष्ट्रपति के एलान के बाद अफगान से लौट रही अमेरिकी सेनाबता दें कि 11 सितंबर 2001 को अमेरिका पर आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में करीब तीन हजार लोगों की मौत हुई थी । अलकायदा के आतंकियों ने इस हमले को अंजाम दिया था। तालिबान द्वारा अल-कायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को सौंपने से इनकार करने के बाद अक्टूबर, 2001 में अमेरिका ने अफगानिस्तान पर हमला किया था। हालांकि, हाल ही में राष्ट्रपति जो बाइडेन के एलान के बाद अमेरिकी सेना धीरे-धीरे अफगानिस्तान से लौटने लगी है।

विस्तारपाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने तालिबानी आंतकियों को सामान्य नागरिक बताया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अमेरिका ने अफगानिस्तान में घुसकर सब गड़बड़ कर दिया। दरअसल, प्रधानमंत्री से पूछा गया कि एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि करीब 10, 000 पाकिस्तानी लड़ाकू सीमा पार कर तालिबान की मदद करने गए हैं? इसपर इमरान खान नाराज हो गए और बोले कि यह बिल्कुल गलत बात है, वो हमें इस बात का सबूत क्यों नहीं देते हैं? प्रधानमंत्री ने कहा कि अफगानिस्तान की समस्या का समाधान युद्ध नहीं बल्कि राजनीतिक समझौते से संभव है।

विज्ञापनइमरान खान ने बताया कि पाकिस्तान में तीन मिलियन अफगानी रिफ्यूजी रहते हैं, जिसमें पश्तूनी लोगों की संख्या सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा कि अगर युद्ध ऐसे ही चलता रहा तो अफगानिस्तान से और रिफ्यूजी पाकिस्तान आएंगे। तालिबानी सेना मजबूत है, वो सामान्य नागरिक हैं। अगर इन शिविरों में कुछ सामान्य नागरिक रहते हैं तो कैसे पाकिस्तान इन लोगों को खोज कर उन्हें मार सकता है?

अमेरिका ने अफगानिस्तान में चीजें अस्त-व्यस्त कर दीपाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक इंटरव्यू में कहा कि अमेरिका ने अफगानिस्तान में चीजें अस्त-व्यस्त कर दी हैं। उन्होंने कहा कि यह सच है कि तालिबान ने 1996 से 2001 तक अफगानिस्तान पर क्रूर शासन किया था। इसके बाद अमेरिका के चलते उसे सत्ता छोड़ना पड़ा था, लेकिन 2001 के बाद अमेरिका यहां डेरा डाल दिया, जिसके बाद यहां पर सब चीज़ें बर्बाद हो गई। headtopics.com

भारत से मैच से पहले अपनों के ही निशाने पर आई पाकिस्तानी टीम - BBC News हिंदी क्रूज ड्रग्स केस : दो घंटे की पूछताछ के बाद अनन्या पांडे NCB दफ्तर से निकलीं SC ने कहा किसानों को प्रदर्शन का अधिकार, अनिश्चितकाल के लिए सड़क रोकने का नहीं - BBC Hindi

राष्ट्रपति के एलान के बाद अफगान से लौट रही अमेरिकी सेनाबता दें कि 11 सितंबर 2001 को अमेरिका पर आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में करीब तीन हजार लोगों की मौत हुई थी । अलकायदा के आतंकियों ने इस हमले को अंजाम दिया था। तालिबान द्वारा अल-कायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को सौंपने से इनकार करने के बाद अक्टूबर, 2001 में अमेरिका ने अफगानिस्तान पर हमला किया था। हालांकि, हाल ही में राष्ट्रपति जो बाइडेन के एलान के बाद अमेरिकी सेना धीरे-धीरे अफगानिस्तान से लौटने लगी है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

झूठ के सहारे सावरकर का महिमामंडन क्यों? | Arfa Khanum SHerwani | Savarakar | The Wire Video LIVE

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि विनयाक दामोदर सावरकर के 'दया याचिका' दायर करने को एक ख़ास वर्ग ने ग़लत तरीक़े से फैलाया. उन्होंने दावा किया कि सावरकर न...

अफगानिस्तान और जम्मू कश्मीर पर कब्जा करने के लिए पाकिस्तान ने आतंकवादियों की फैक्ट्री लगा कर ऐसा काम किया है तो यह किसी और के नहीं सारे आतंकवादी संगठन पाकिस्तान के हैं अफगानिस्तान पर कब्जा करने के लिए आतंकवादियों को ट्रेनिंग दी थी दुनिया के तमाम देश जानते हैं!

नूर मुक़द्दम के क़त्ल की दास्तान जिससे दहल गया है पाकिस्तान - BBC News हिंदीएक पूर्व राजनयिक की बेटी की बेरहम हत्या ने पाकिस्तान में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर फिर सवाल खड़े कर दिए हैं. These things are normal in Pakistan……it’s not a news…..to be given a headline….. पता नहीं क्यों हमें पाकिस्तान की इतनी चिंता हैं..? जबकि हमारे खुद के मसले ही अंतहीन हैं। 2018/19 के आँकड़ों को देखें तो नब्बे कत्ल और अस्सी बलात्कार रोजमर्रे की बात हैं हिंदुस्तान में.. ऐसा नेशनल क्राइम ब्यूरो कहती हैं वैसे खबरों की उत्सुकता तो जायज़ हैं लेकिन पाकिस्तान ..

जम्मू-कश्मीर : अमरनाथ गुफा के पास फटा बादल, किसी तरह के नुकसान की सूचना नहींअमरनाथ गुफा के पास बुधवार को बादल फटने की सूचना है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक इस घटना में किसी तरह का कोई नुकसान नहीं

ओमप्रकाश चौटाला के साथ हुई घटना से मिला सबक, किसी के नहीं होते अराजक आंदोलनकारीजींद के खटकड़ा टोल पर सतबीर पहलवान का एक बयान आता है कि चौटाला ने उसके पैर में डोगा (छड़ी) मारी। इस घटनाक्रम का कोई न तो आडियो है और न ही वीडियो है। अगले दिन सतबीर की कुछ राजनीतिज्ञों के साथ मंच साझा करते हुए फोटो वायरल होती है। Aisi koe baat nhi party ke hote Apne pe gujari to pedal hue Public pe gujare to chutmut hinsa

राकेश अस्थाना: गुजरात कैडर के IPS, जो मोदी-शाह के रहे 'भरोसेमंद' - BBC News हिंदीराकेश अस्थाना की सिर्फ़ तीन सालों के अंतराल में पाँच अलग-अलग पदों पर नियुक्ति की गई है. तू भी अब संभल

सुविधा प्रबंधन के क्षेत्र में बढ़ रहे रोजगार के मौकेजब भी आप किसी बड़े संस्थान, परिसर या बड़े दफ्तर को देखते होंगे तो यह जरूर सोचते होंगे कि इस दफ्तर में जो सब कुछ सुचारु रूप से चल रहा है, उसके पीछे कौन है?

निगरानी सूची में जेट एयरवेज़, स्पाइसजेट समेत सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के अफसरों के नाम शामिलपेगासस प्रोजेक्ट: लीक हुए दस्तावेज़ दर्शाते हैं कि पेगासस के ज़रिये संभावित निगरानी के दायरे में रिलायंस की दो कंपनियों, अडाणी समूह के अधिकारी, गेल इंडिया के पूर्व प्रमुख, म्युचुअल फंड से जुड़े लोगों और एयरसेल के प्रमोटर सी. शिवशंकरन के नंबर भी शामिल थे. SC So Moto Cognizance kyon Nahi le raha? PegasusSnoopgate pe 🤔