शरद पवार क्या नरेंद्र मोदी के सामने किसी तरह का ‘मोर्चा’ खड़ा कर सकते हैं - BBC News हिंदी

शरद पवार क्या नरेंद्र मोदी के सामने किसी तरह का ‘मोर्चा’ खड़ा कर सकते हैं

24-06-2021 18:48:00

शरद पवार क्या नरेंद्र मोदी के सामने किसी तरह का ‘मोर्चा’ खड़ा कर सकते हैं

क्या ममता बनर्जी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाकर मोदी का सामना कर सकता है विपक्ष?

?इस बैठक में कांग्रेस पार्टी को औपचारिक रूप से न्योता नहीं दिया गया जबकि कांग्रेस के साथ एनसीपी महाराष्ट्र के साथ गठबंधन में है.इस पूरे घटनाक्रम ने एक बड़ा सवाल खड़ा किया है कि क्या मौजूदा राजनीति में कांग्रेस पार्टी को शामिल किए बग़ैर कोई कारगर तीसरा मोर्चा बनाया जा सकता है.

ओलंपिक में गईं पाकिस्तानी खिलाड़ी महूर शहज़ाद को पठानों से मांगनी पड़ी माफ़ी - BBC News हिंदी 'हमारे साथी को TMC MP ने कहा बिहारी गुंडा, माफी मांगें ममता बनर्जी', NDTV से बोले सुशील मोदी पेगासस जासूसी कांड पर संसद में बात क्यों नहीं करना चाहती सरकार : अभिषेक मनु सिंघवी

लगभग तीन दशकों से राष्ट्रीय राजनीति को देख रहे वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश मानते हैं कि कांग्रेस चाहे अपने सबसे ख़राब स्वरूप में है लेकिन उसके बिना तीसरा मोर्चा संभव नहीं दिखता है.वे कहते हैं, “मैं कांग्रेस की इस मुद्दे पर भरसक आलोचना करता हूं कि किस तरह वह एक निष्क्रिय विपक्ष बनी हुई है. लेकिन इसके बावजूद मेरा मानना है कि कांग्रेस विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी है. उसकी पहुंच राष्ट्रव्यापी है. कई राज्यों जैसे राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश आदि में विपक्ष के रूप में कांग्रेस पुरजोर ढंग से मौजूद है. ऐसे में कांग्रेस के बिना किसी तरह के तीसरे मोर्चे की बात करना बेमानी है.”

इमेज स्रोत,SANJAY DAS/BBCइस मीटिंग में जावेद अख़्तर समेत सिविल सोसाइटी के तमाम लोग शामिल हुए. इसके साथ ही कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी और विवेक तन्खा जैसे कुछ कांग्रेस नेताओं को भी बुलाया गया था. लेकिन औपचारिक रूप से कांग्रेस पार्टी को न्योता नहीं दिया गया. headtopics.com

उर्मिलेश मीटिंग में बुलाए गए लोगों के चुनाव पर कहते हैं कि “ये जो लोग प्रशांत किशोर के निर्देशन में अपनी राजनीति कर रहे हैं, वे अपनी राजनीति की मट्टीपलीद कर रहे हैं क्योंकि प्रशांत किशोर एक चुनाव रणनीतिकार हो सकते हैं लेकिन वो ये नहीं बता सकते हैं कि मोर्चा किस तरह बनना चाहिए.”

राष्ट्रीय राजनीति को गहरायी से समझने वालीं वरिष्ठ पत्रकार राधिका रामाशेषन मानती हैं कि कांग्रेस को अलग रखकर किसी भी तरह का मोर्चा बनाने के बारे में नहीं सोचा जा सकता.वे कहती हैं, “इस मीटिंग में कांग्रेस के जिन नेताओं को बुलाया गया था, उनमें से तीन सदस्य उसी जी23 समूह के सदस्य थे जिसने सोनिया गाँधी को नेतृत्व में परिवर्तन को लेकर पत्र लिखा था. लेकिन कांग्रेस को नहीं बुलाया गया. इस समय कांग्रेस का हाल जो भी है. लेकिन बीजेपी को छोड़कर सिर्फ एक पार्टी है जिसकी मौजूदगी सभी जगहों पर है. और उसके बिना कोई भी तीसरा मोर्चा बनाने की बात अजीब लगती है.”

राधिका अपने इस तर्क के पीछे की वजह को बताते हुए कहती हैं कि किसी भी मोर्चे को खड़ा करने में संसाधन और मानव श्रम लगता है.जनता पार्टी और जनता दल के दिनों को याद करते हुए वे कहती हैं, “भारतीय राजनीति के इतिहास में दो बार ऐसे मौके आए हैं जब क्षेत्रीय दलों ने एक कामयाब विकल्प तैयार किया है. पहला मौका जनता पार्टी और दूसरा मौका जनता दल के समय का है. इन दोनों ही मौकों पर जनता पार्टी और जनता दल के रूप में क्षेत्रीय दलों और कांग्रेस से टूटकर अलग हुए विरोधियों ने कामयाबी हासिल थी.

और पढो: BBC News Hindi »

इन राज्यों में राहत की बारिश बनी भारी आफत? देखें तस्वीरें

बारिश ने पहाड़ों से लेकर मैदानी इलाकों के लोगों के सामने लिए बड़ी मुश्किलें लाकर खड़ी कर दी. एक तरफ जहां पहाड़ों पर लोग भूस्खलन से जान गंवा रहे हैं तो दूसरी तरफ मैदानी इलाकों में बाढ़ ने कहर मचा रखा है. दरभंगा में बाढ़ के पानी से कुशेश्वरस्थान के लोग परेशान तो मध्य प्रदेश के कई जिले भी बाढ़ से त्रस्त हैं. सबसे बुरी हालात में महाराष्ट्र है जहां बारिश और बाढ़ से अबतक तकरीबन 112 लोग जान गंवा चुके हैं. इन सबके अलावा कर्नाटक से लेकर तेलंगाना तक में मौसम ने अपना कहर बरपा रखा है. देखें वीडियो.

ये सच है कि कोशिश करने वालों की हार नहीं होती लेकिन यह भी सच है कि वह जीत भी तो नहीं पाता। Pawar means power then who ever its he will shake hands with any one not a reliable politicians he is very opurtunist मतलब मोदी जी के सामने खड़े होने के लिए भी मोर्चा बनाना पड़ेगा, Bat karte to dhang se banta nahi hai

शरद पवार की यह नौटंकी पिछले 7 साल से चल रही है।अबतक तो कुछ नही कर पाए।शायद अब ऊपर जाकर ही कोई चमत्कार करें। Phle khud to khde ho jaaye dangh se, phir morcha khda krne ki soche 🤣🤣🤣🤣 ModiHaiTohMumkinHai He is unable to stand in front of Modi Sure ,why not, He is a great think tank. Only Gandhi family must understand his efficiency.

Kuch nehi hoga ...again bjp aega सरद पवार के ओकात के बाहर है कि वो मोर्चा खोले। दुनिया का सबसे करप्ट आदमी है ये सर दर्द पवार। अभी भी कुद को किंग मेकर समझता है, वो दिन गए अब। अभी तो खुद शरद पवार के खड़े होने की बस की नही है,मोर्चा क्या खड़ा करेंगे

Jio Phone Next: दुुनिया का सबसे सस्ता स्मार्टफोन, क्या-क्या हैं इसके फीचर्स, सबकुछ जानेंJio Phone Next: कैसा है जियो का नया स्मार्टफोन, क्या-क्या हैं इसके फीचर्स, सबकुछ जानें JioPhone JioPhoneNext MukeshAmbani RILAGM2021 RelianceAGM2021 इतनी अधिक जानकारी तो जिओ के पास भी नही है अभी तक!

खत्म हुए दिन उस डाली के जिस पर तेरा बसेरा था | No, but he is obstructing Cong way and indirectly favouring BJP to remain in power in UP further. Pawar is no where. However, he has got some place in Maharashtra only. He had sometime back met modi in Delhi & as per d secret plan of BJP he is destabilizing Govt. of Maharashtra.

चाहे कितने भी मजबूत मोर्चा बनाओ! जबतक EVM मसीन है कोही परिवर्तन नहीं होगा ! दगे हुए कारतूस है सब by experience of his national politics and state only sarad pawar ji a man who can unite opposition leaders and parties against bjp govt. विपक्षी दलों में सभी के वरिष्ठ नेता प्रधानमंत्री के दावेदार हैं और सबसे बड़ी बात कि ये सब मुद्दा विहीन है।

नहीं। Kar sakte hain ,,koshish main lage hue hain

707 दिन पहले अटकी कश्मीरी नेताओं की सूई, क्या रास आएगा मोदी का फ्यूचर प्लान?पीएम मोदी जम्मू-कश्मीर के 8 दलों के 14 नेताओं के साथ सीधे संवाद करेंगे. इस बैठक में मुख्य रूप से जम्मू-कश्मीर के उन्हीं नेताओं को आमंत्रित किया है, जिनको काफी समय तक नजरबंद रखा गया था. ऐसे में केंद्र की मोदी सरकार और कश्मीरी नेताओं के रिश्तों में जमी बर्फ पीएम आवास पर होने वाली बैठक के बाद पिघलेगी?

Haa जो इंसान जिस पार्टी के संविधान के विरुद्ध पार्टी बनाया उसके तलवे चाटने लगे तो वह दूसरा क्या मोर्चा खड़ा करेगा आज का दिन काला दिवस मनाया जाएगा पूरे भारत में क्योंकि आज आपातकाल कांग्रेस पर शरद पवार के लोगों ने मिलकर भारत को दिया था Ye to kisi se seedhe mooh baat bhi nahi karte hain 😁 Tum khade ho jao Imran k sath

मुंगेरीलाल के हसीन सपने अब इन के रिटायरमण्ट के दिन है घर में आराम करिए सर Yh nhi suderne wale Third front has very poor history jise upar jane ki tayari karni chahiye mala me bhagwan me man lagana chahiye wo insan ab bhi sansar ke jhute jhamelo me pad kar apna janam kharab karne me or desh ka beda gark karne me laga hai, bhagwan ise sadbudhi dewe

मोदी का मिशन कश्मीर 2.0 LIVE: कश्मीरी नेताओं संग जारी है पीएम का मंथनप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में जम्मू-कश्मीर को लेकर अहम बैठक हो रही है. अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के करीब दो साल के बाद केंद्र सरकार की ओर से राज्य के नेताओं के साथ बातचीत की जा रही है.

Ha ha ha इनकी हालत तो देखो भगवान ने सारे कर्म कर दिए फिर भी अक्ल नहीं आई कब्र में पैर है मगर देश पर शासन करने में जान चौड़े दे रहे है पहले स्वयम तो खड़े हों जावो कांग्रेस के बिना मुश्किल।ही नहीं असंभव है। संभव ही नहीं Bcci se pesa ekattha kiya he kuchh bhi kar sakta he Why not इनके वस का कुछ नहीं । Nahi ,bina congress ke nahi ...

शरद पवार का मुक्त होने का समय आ गया है

Aadhaar card में घर बैठे अपडेट कर सकते हैं ये 4 जानकारियां, जानिए क्या है प्रॉसेसAadhaar card updates सेल्फ सर्विस अपडेट पोर्टल के जरिए आधार कार्ड में नाम पता जन्मतिथि व लिंग की जानकारी अपडेट करना निशुल्क नहीं है। इस सुविधा के लिए शुल्क लगता है। यूआईडीएआई ग्राहक से प्रत्येक अपडेट रिक्वेस्ट के लिए 50 रुपये शुल्क लेता है।

बिना हिंदुत्ववाद के नामुमकिन मोर्चा के जितने भी नेता हैं वो अपने राज्य के भीतर ही ज्यादा प्रभाव रखते हैं। देश व्यापी प्रभाव अभी तक कोई भी ऐसा नेता नही जो पूरे देश की जनता के अंदर अपनी जगह बनाया हो। इसलिए वर्तमान परिस्थिति में भी नरेंद्र मोदी जीके सामने कोई टिकने वाला नही। This is retired, thukest, phussi bomb... group

मोदी भी इंसान है उसे कोई अमरत्व का वरदान नही मिला है जाते जाते पवार साहबको सलाम! मोरचा लगा है, विरोधी मोर्चा कहां खड़ा करेंगे। कर सकते है, भाई क्यों नहीं खद्दर वाले इधर उधर हो जाते है। Never कब्र में लटक रहा है,,,,,,,,, खुद खड़ा रहे वहीं खूब है 😀😃 लुटेरों को जनता जान चुकी है,जिस पार्टी के वरिष्ठतम नेता डीसीपी स्तर के अधिकारी से 100प्रति माह जनता से लूट कर लाने का आदेश दे सकता है, जब केन्द्रीय सरकार में होंगे, कल्पना कर रूह ही कांप जाती है।

COVID-19 की तीसरी लहर को रोकने लिए क्या कर सकते हैं राज्य - ग्राफिक्स में समझिएहम NDTV के वैक्सीनेशन ट्रैकर के आंकड़ों के सहारे एक बार नजर डाल रहे हैं कि देश के अलग-अलग राज्यों ने वैक्सीनेशन के मामलों में कैसा प्रदर्शन किया है और अगर कोरोना की तीसरी लहर से पूरी तरह बचना है तो उन्हें अभी आगे और क्या करना पड़ेगा. ndtv Please support cancel the GSEB class 12th Private/Compartment student exam. 6lackh student Attending the Exam Next month 15th july. Please not Playing the students life. Cancel GSEB EXAM 😭😭🙏🙏😭😭😭😢 ndmaindia Please support cancel the GSEB class 12th Private/Compartment student exam. 6lackh student Attending the Exam Next month 15th july. Please not Playing the students life. Cancel GSEB EXAM 😭😭🙏🙏😭😭😭😢 टिंडा उगाओ

Never No Yeh BJP ki B team ki tarah kaam Karega...modi fir power mei ayenge

'CM Yogi ही होंगे बीजेपी का चेहरा', देखें और क्या बोले Arun Singhयूपी के चुनाव को लेकर जो सस्पेंस बना हुआ था वो अब साफ हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने कहा है कि बीजेपी ये चुनाव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के चेहरे पर ही लड़ेगी. आजतक से एक्सक्लूसिव बातचीत में अरुण सिंह ने केशव प्रसाद मौर्य के उस बयान को भी खारिज कर दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि यूपी सीएम का चेहरा दिल्ली से तय होगा. वहीं बीजेपी के एक और महासचिव बीएल संतोष जो लखनऊ में हैं उन्होंने ट्वीट कर यूपी में तेज वैक्सीनेशन पर मुख्यमंत्री योगी की पीठ थपथपाई है. देखें एक और एक ग्यारह का ये एपिसोड.