Columnist

Columnist

विराग गुप्ता का कॉलम: अश्लीलता को नीति व कानून के नजरिए से सही नहीं ठहरा सकते, पोर्नोग्राफी के गैरकानूनी धंधे पर पूरी रोक लगे

विराग गुप्ता का कॉलम: अश्लीलता को नीति व कानून के नजरिए से सही नहीं ठहरा सकते, पोर्नोग्राफी के गैरकानूनी धंधे पर पूरी रोक लगे @viraggupta #columnist

29-07-2021 09:29:00

विराग गुप्ता का कॉलम: अश्लीलता को नीति व कानून के नजरिए से सही नहीं ठहरा सकते, पोर्नोग्राफी के गैरकानूनी धंधे पर पूरी रोक लगे viraggupta columnist

आमिर खान की ‘थ्री इडियट’ फिल्म का ‘चतुर’ टॉप करने के लिए हॉस्टल के अन्य छात्रों के कमरे में अश्लील तस्वीरों वाली मैगजीन डाल देता था। कुछ दशक पहले ऐसी अश्लील किताबों को लुगदी साहित्य कहते थे। उन्हें छापने, बांटने और पढ़ने के लिए लोगों को बहुत पापड़ बेलने पड़ते थे। लेकिन अब गूगल और एपल में उपलब्ध लाखों एप्स व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए पोर्नोग्राफी की महामारी को एक सेकंड में अरबों लोगों तक पंहुच... | Obscenity cannot be justified from the point of view of policy and law, there should be a complete ban on the illegal business of pornography

विराग गुप्ता का कॉलम:अश्लीलता को नीति व कानून के नजरिए से सही नहीं ठहरा सकते, पोर्नोग्राफी के गैरकानूनी धंधे पर पूरी रोक लगे7 घंटे पहलेकॉपी लिंकविराग गुप्ता, सुप्रीम कोर्ट के वकील और ‘अनमास्किंग वीआईपी’ पुस्तक के लेखकआमिर खान की ‘थ्री इडियट’ फिल्म का ‘चतुर’ टॉप करने के लिए हॉस्टल के अन्य छात्रों के कमरे में अश्लील तस्वीरों वाली मैगजीन डाल देता था। कुछ दशक पहले ऐसी अश्लील किताबों को लुगदी साहित्य कहते थे। उन्हें छापने, बांटने और पढ़ने के लिए लोगों को बहुत पापड़ बेलने पड़ते थे। लेकिन अब गूगल और एपल में उपलब्ध लाखों एप्स व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए पोर्नोग्राफी की महामारी को एक सेकंड में अरबों लोगों तक पंहुचाने की जुगत बन गई।

US दौरे पर PM मोदी, अब होगा आतंक पर वार! देखें हल्ला बोल आकाशवाणी के रामानुज प्रसाद सिंह का निधन, 86 साल की उम्र में ली आखिरी सांस मीडिया में उत्कृष्ट योगदान के लिए कली पुरी को AIMA का प्रतिष्ठित अवॉर्ड

भारत में 76 करोड़ स्मार्टफोन, 62 करोड़ इंटरनेट कनेक्शन और 21 करोड़ घरों में टीवी हैं। लॉकडाउन के दौरान मोबाइल व कंप्यूटर से ही पढ़ाई और अधिकांश कारोबार हो रहे हैं। एनसीपीसीआर की नई रिपोर्ट के अनुसार 10 साल के 37.8% बच्चे फेसबुक की गिरफ्त में हैं। जबकि 59.2% बच्चे चैटिंग के लिए स्मार्टफोन इस्तेमाल करते हैं।

मोबाइल में पोर्नोग्राफी की घुसपैठ पेगासस के हथियार से भी ज्यादा खतरनाक है। पोर्नोग्राफी की 40 अरब डालर की मंडी का बच्चे, बूढ़े और जवान सभी शिकार हो रहे हैं। लेकिन डिजिटल कंपनियां और सरकार पोर्नोग्राफी का वायरस रोकने के लिए ठोस कदम नहीं उठा रहीं। कुछ वर्ष पहले सुप्रीम कोर्ट ने पोर्नोग्राफी की कई वेबसाइट्स रोकने के लिए सख्त आदेश दिया था। जब तक आदेश का पालन हुआ, तब तक रक्तबीज की तरह पोर्नोग्राफी का वायरस पूरे भारत में पसर गया। headtopics.com

निर्भया रेप जैसे अनेक मामलों में जजों के आयोग की रिपोर्ट से जाहिर है कि महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध के लिए नशे और पोर्नोग्राफी की लत बड़े पैमाने पर जिम्मेदार है। प्रिंटेड पर्चे, किताब, अखबार, मैगज़ीन, फिल्म व टीवी के समय में नग्नता रोकने के लिए बनाए गए क़ानून और सेंसर बोर्ड अब पोर्नोग्राफी के डिजिटल दानव के आगे बौनेे दिखते हैं।

इंटरनेट और डिजिटल की तिलिस्मी दुनिया के सामने सरकारी अफसर व मंत्री भी आंखें मिचमिचा रहे हैं। इन उलझनों का फायदा उठाकार राज कुंद्रा जैसे कारोबारी पोर्नोग्राफी के गंदे धंधे से दिन दूनी, रात चौगुनी कमाई की जुगत भिड़ाने लगे। पोर्नोग्राफी की लॉबी बचाव में कह रही है कि नग्नता देखना या दिखाना संविधान के अनुच्छेद 19 के तहत लोगों का मौलिक अधिकार है।

यह धारणा पूरी तरह से गलत है। अश्लीलता और नग्नता को कलात्मकता का आवरण देकर कानूनी दायरे में लाने के यत्न हो सकते हैं। लेकिन पोर्नोग्राफी तो हैवानियत है, जिसे नीति व क़ानून दोनों नजरिए से सही नहीं ठहरा सकते। संविधान के अनुच्छेद 19(2) में अभिव्यक्ति की आज़ादी के कई अपवाद हैं।

इनके तहत पब्लिक ऑर्डर, शिष्टता, नैतिकता के खिलाफ कार्यों के साथ अन्य अपराधों को बढ़ाने वाले कार्य शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस वेंकटचलैया ने सन 1995 में खोडे डिस्टलरीज केस में अहम् फैसला दिया था। उसके अनुसार पोर्नोग्राफी जैसे आपराधिक व्यापार को करना, संविधान के अनुच्छेद 19 के तहत किसी का मौलिक अधिकार नहीं हो सकता। headtopics.com

IPL 2021 DC Vs SRH LIVE: दिल्ली के आगे घुटनों पर हैदराबाद, 10 ओवर में ही 4 विकेट गिरे IPL 2021, DC Vs SRH: चोट के बाद लौटे अय्यर का कमाल, Delhi को छक्का जड़ दिलाई जीत कार्टून: इस ड्रग्स में वो बॉलीवुड वाली बात कहाँ? - BBC News हिंदी

अंग्रेजों के समय से पनपी गुलामी की मानसिकता का भारत के कानून की दुनिया में दबदबा बरकरार है। परंपरागत समाज की छोटी-छोटी बातें गंभीर अपराध की श्रेणी में आती हैं। जबकि विदेशी बाजार और उद्यमियों के लिए अपराध की खुली छूट है। इसीलिये पोर्नोग्राफी जैसे अवैध कामों के लिए, विदेशों में कंपनी बनाने के साथ विदेशी नागरिकता हासिल करने का भारत में चलन बढ़ गया है। विदेशी कंपनियों और एप्स की आड़ में कुंद्रा का बचाव करते हुए कहा गया है कि ओटीटी प्लेटफॉर्म्स में अश्लीलता व पोर्नोग्राफी के खरबों वीडियो उपलब्ध हैं।

बचाव पक्ष के अनुसार वयस्कों के लिए इरॉटिक यानी उत्तेजक फ़िल्में बनाना गैर कानूनी नहीं है, तो फिर कुंद्रा के खिलाफ मामला चलाने का क्या तुक? पोर्नोग्राफी की मंडी में कई तरीके की गैरकानूनी गतिविधियां होती हैं। पहला बच्चों और महिलाओं को गलत तरीके से या ब्लैकमेल करके पोर्नोग्राफी के धंधे में ढकेलना। दूसरा पोर्नोग्राफी की पिक्चरों का निर्माण। तीसरा पोर्नोग्राफी की गैरकानूनी फिल्मों की मार्केटिंग व व्यापार।

इस सभी की आपराधिकता के बारे में आईपीसी, आईटी एक्ट और पाक्सो क़ानून में कई प्रावधान हैं। पोर्नोग्राफी जैसे गैरकानूनी धंधों से हुई नाजायज आमदनी के खिलाफ भी क़ानून हैं। लेकिन उलझन भरे क़ानून और लचर न्यायिक व्यवस्था की वजह से पोर्नोग्राफी का वीभत्स नाला बेरोकटोक पूरे समाज और देश को प्रदूषित कर रहा है। दूसरी तरफ कानून के पहरेदार और अदालतें अपसंस्कृति के परंपरागत झरोखों को ही बंद करने में व्यस्त हैं।

विदेशी बाजार को खुली छूटपरंपरागत समाज की छोटी-छोटी बातें गंभीर अपराध की श्रेणी में आ जाती हैं। जबकि विदेशी बाजार और उद्यमियों के लिए अपराध की खुली छूट है। इसीलिए पोर्नोग्राफी जैसे अवैध कामों के लिए, विदेशों में कंपनी बनाने के साथ विदेशी नागरिकता हासिल करने का भारत में चलन बढ़ गया है। headtopics.com

(ये लेखक के अपने विचार हैं) और पढो: Dainik Bhaskar »

धर्म के नाम पर धर्मांतरण का धंधा? देखें क्या है मौलाना कलीम सिद्दीकी का सच

धर्म एक ऐसा शब्द है जो लोगों के विश्वास से जुड़ा हुआ है, समाज के सौहार्द से जुड़ा हुआ है, इतिहास से जुड़ा हुआ है. बड़े-बड़े आंदोलनों को खड़ा करने के लिए धर्म का इस्तेमाल किया गया है. दुनियाभर में अपने-अपने धर्म को लेकर लोग बहुत संवेदनशील रहते हैं. आज उसी धर्मके नाम पर हुए अधर्म का खुलासा उत्तर प्रदेश में हुआ है. एक धर्मगुरु, जिसका काम नैतिक दायित्वों का प्रचार और प्रसार करना था, वही अनैतिक सोच के कृत्य में लिप्त हो गया. आज हम उसी मौलाना कलीम सिद्दीकी पर लगे आरोपों की पड़ताल करेंगे और मौलाना का सनसनीखेज टेप सुनवाएंगे. देखें

Tokyo Olympics: मीराबाई को भारतीय रेलवे का सलाम, दो करोड़ रुपये नकद के साथ मिला प्रमोशनTokyo Olympics: मीराबाई को भारतीय रेलवे का सलाम, दो करोड़ रुपये नकद के साथ मिला प्रमोशन RailMinIndia AshwiniVaishnaw mirabai_chanu ianuragthakur MirabaiChanu Tokyo2020 Olympics Silver RailMinIndia AshwiniVaishnaw mirabai_chanu ianuragthakur जनता के टैक्स का पैसा इसी तरह बर्बाद करते रहो। इन दो करोड़ रूपयो से गंदी बदबूदार रेलगाड़ियां साफ हो सकती थी।

पलटवार: राहुल गांधी पर पात्रा का आरोप, विपक्ष के एकजुट होने का नाटक समझती है जनतापलटवार: राहुल गांधी पर पात्रा का आरोप, विपक्ष के एकजुट होने का नाटक समझती है जनता pagasus sambitswaraj BJP4India RahulGandhi sambitswaraj BJP4India RahulGandhi देशवाशी एकजुट होनेमे क्या गैर है? बीजेपीको जासुसी करनेका मौका नही प्राप्त होगा बाकी तो कुछ नही होगा। sambitswaraj BJP4India RahulGandhi sambitswaraj BJP4India RahulGandhi Or Apki Nautanki ko bhe janta Janti hai.

अमेरिका के नेवाडा संक्रमण के मामले बेतहाशा बढ़े, मास्क पहनने का दिया आदेश | coronavirusलास वेगास (अमेरिका)। अमेरिका में नेवाडा राज्य के अधिकारी कोरोनावायरस को फैलने से रोकने की कवायद में शहरों में बंद जगहों के भीतर लोगों के मास्क पहनने को अनिवार्य बनाने वाला आदेश फिर से लागू कर रहे हैं। संक्रमण के मामले बेतहाशा बढ़ने और अस्पतालों में बड़ी संख्या में लोगों के भर्ती होने के बीच यह कदम उठाया गया है।

राजस्थानः कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष का वीडियो वायरल, कहा- मैं अब दो-चार दिन का मेहमानराजस्थान में सियासी संकट के बीच कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा का एक वीडियो वायरल हो गया है. जिसमें वह कह रहे हैं, 'सोमवार को आ जाओ. हम तुम्हारा काम कर देंगे. मैं 2-5 दिन का मेहमान हूं जो मेरे से कराना है करा लो.' School clzzz or coaching centre reopen krwa jaoo☹️☹️☹️ Congress ahead Municipal election

स्टीयरिंग व्हील को पकड़ने का सही तरीका जानकर ड्राइव को बना सकते हैं सुपर सेफस्टीयरिंग पकड़ने का सही स्टाइल ड्राइविंग के दौरान बेहद अहम भूमिका निभाता है और आप अगर स्टीयरिंग पकड़ने का सही तरीका जान लें तो ड्राइविंग को बेहद सुरक्षित बना सकते हैं। साथ ही आप की कार पूरी तरह से नियंत्रण में रहती है।

200 करोड़ रुपये के बैंक कर्ज़ धोखाधड़ी केस में गुरुग्राम के एम्बिएन्स मॉल का मालिक गिरफ्तारगहलोत पर 200 करोड़ रुपये के बैंक कर्ज की धोखाधड़ी का आरोप है. आरोप है कि राज सिंह ने रिहायशी जमीन पर मॉल का निर्माण कराया. उसे दिल्ली की ईडी कोर्ट में पेश किया जाएगा. जहां से ED आरोपी की रिमांड लेगी. मारो साले को।