Coronavirus, Covid_19 İndia, Lockdown, Migrantlabourers, Indianeconomy, Pm Modi, One Year Complete, 2Nd Tenure Of Modi Government, Coronavirus, Lockdown İn India, Year Of Great Change

Coronavirus, Covid_19 İndia

विराट परिवर्तन का वर्ष: गंभीर चुनौती को अवसरों में बदला जा सकता है, यह क्षमता पीएम मोदी ने दिखाई

किसी गंभीर चुनौती को अवसरों में भी बदला जा सकता है यह क्षमता मोदी जी ने दिखाई है। जिनका प्रभाव आने वाले दशकों तक दिखाई पड़ेगा।

30-05-2020 04:10:00

Analysis - विराट परिवर्तन का वर्ष: गंभीर चुनौती को अवसरों में बदला जा सकता है, यह क्षमता पीएम मोदी ने दिखाई rajnathsingh Coronavirus Covid_19india Lockdown MigrantLabourers IndianEconomy

किसी गंभीर चुनौती को अवसरों में भी बदला जा सकता है यह क्षमता मोदी जी ने दिखाई है। जिनका प्रभाव आने वाले दशकों तक दिखाई पड़ेगा।

किसी भी देश के इतिहास में बहुत कम अवसर ऐसे आते हैं जब विराट परिवर्तन देखने को मिलता है। 2014 का वर्ष भारत के राजनीतिक इतिहास में ऐसे ही विराट परिवर्तन का वर्ष था। उस समय देश की जनता अक्षम और भ्रष्ट प्रशासन से निजात पाना चाहती थी। उसने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा को बदलाव के लिए जनादेश दिया।

सचिन पायलट BJP के संपर्क में, 30 MLA भी छोड़ सकते हैं कांग्रेस का दामन LIVE: खतरे में गहलोत सरकार, पायलट खेमे के विधायक आज देर रात दे सकते हैं इस्तीफा सचिन पायलट थाम सकते हैं BJP का हाथ, 30 विधायकों के भी कांग्रेस छोड़ने के कयास

पंडित नेहरू के बाद नरेंद्र मोदी दूसरे नेता बने जिन्हेंं जनता ने लगातार दो बार जनादेश दियाएक बार जनादेश पाने के बाद बहुत कम ऐसा होता है जब जनता पुन: जनादेश दे, परंतु पंडित नेहरू के बाद नरेंद्र मोदी दूसरे नेता बने जिन्हेंं जनता ने लगातार दो बार जनादेश दिया और वह भी पिछली बार से अधिक मतों के साथ। 2014 का जनादेश परिवर्तन के लिए था तो 2019 का परिवर्तन की उस प्रक्रिया में विश्वास के लिए। जनता जब किसी पर विश्वास करती है तो राजनीतिक व्यक्ति के लिए उस विश्वास को धारण करना एक बड़ी चुनौती होती है। आज राजनीति में विश्वसनीयता एक चुनौती बनी हुई है।

यह भी पढ़ेंपीएम मोदी ने कई ऐसे फैसले लिए जो साहस और दृढ़ता के साथ मुकाम तक पहुंचायामोदी जी के नेतृत्व में जब 2019 में दोबारा हमारी सरकार बनी तो अनेक ऐसे निर्णय लिए गए जो भाजपा के वैचारिक अधिष्ठान के आधार थे। मोदी जी ने उन्हेंं साहस और दृढ़ता के साथ मुकाम तक पहुंचाया। भाजपा के लिए जनसंघ के समय से आज तक विश्वसनीयता एक कसौटी है। बीते एक वर्ष में मोदी जी इस कसौटी पर सौ फीसद खरे उतरे। उन्होंने आम जनमानस में अपनी एवं पार्टी की विश्वसनीयता को बढ़ाया है। ईमानदारी से देखें तो भारत की राजनीति में विश्वसनीयता की दृष्टि से पिछला एक वर्ष मील का पत्थर है। हमारे राजनीतिक विचार चाहे कितने भी भिन्न क्यों न हों, पर कम से कम इस विषय पर संपूर्ण राजनीतिक बिरादरी को नरेंद्र मोदी के योगदान को स्वीकार करना चाहिए।

यह भी पढ़ेंअनुच्छेद 370, तीन तलाक, राम मंदिर जैसे फैसले इस वर्ष को युगांतकारी वर्ष बनाता हैअनुच्छेद 370, तीन तलाक, आतंकवाद विरोधी अधिनियम में परिवर्तन और श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त होना भारत के सामाजिक, राजनीतिक और संवैधानिक इतिहास में इस वर्ष को युगांतकारी वर्ष बनाता है। मुस्लिम महिलाओं की जान जिस तलाक-ए-बिद्दत के कारण सांसत में होती थी उससे निजात की मुद्दत पिछले एक बरस में ही आई। यह महिलाओं के आत्म-सम्मान का विषय है। श्रीराम जन्मभूमि पर सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के बाद संपूर्ण देश में जिस प्रकार शांति, सामंजस्य और सांप्रदायिक सौहार्द बना रहा वह मोदी सरकार की अत्यंत महत्वपूर्ण उपलब्धि है। हम तो भगवान राम के रामराज्य के उस आदर्श को अपना राजनीतिक दर्शन मानते हैं जो यह कहता है कि सभी अपने-अपने धर्मों के अनुसार आचारण करते हुए प्रेमपूर्वक रहें।

यह भी पढ़ेंमोदी ने राजनीति में विश्वसनीयता के संकट को कम करने का प्रयास कियामोदी जी ने राजनीति में विश्वसनीयता के संकट को कम करने का प्रयास किया, परंतु विपक्ष ने नागरिकता संशोधन अधिनियम पर वितंडावाद उत्पन्न किया। भारत दक्षिण एशिया का एकमेव पंथनिरपेक्ष राष्ट्र है। चूंकि अब हम एक वैश्विक शक्ति हैं इसलिए इस क्षेत्र में मजहबी जुल्म के शिकार लोगों की मदद करना एक पंथनिरपेक्ष देश के रूप में हमारी संवैधानिक प्रतिबद्धता थी।

यह भी पढ़ेंमोदी ने सीएए के द्वारा प्रताड़ित अल्पसंख्यकों के लिए जो किया वह अभूतपूर्व कदम हैमोदी जी ने नागरिकता संशोधन कानून के द्वारा धार्मिक आधार पर प्रताड़ित अल्पसंख्यकों के लिए जो किया वह एक अभूतपूर्व कदम है। निहित राजनीतिक कारणों से मुस्लिम समुदाय के मन में इस विषय को लेकर एक निराधार भ्रम पैदा करने का जो प्रयास किया गया वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण था। कार्यकाल की शुरुआत किसानों को सम्मान निधि देने और साथ ही मजदूरों, छोटे दुकानदारों एवं अन्य र्किमयों के लिए बेहतर कार्य की व्यवस्थाएं और वृद्ध हो जाने पर पेंशन की सुविधाएं सुनिश्चित करने के साथ हुई।

यह भी पढ़ेंदेश की सभी सेनाओं के मध्य बेहतर समन्वय के लिए सीडीएस की व्यवस्था को मूर्त रूप प्रदान किया और पढो: Dainik jagran »

rajnathsingh ये आपदा (कोरोना) हमें धोनी ही होगी 😊😊

न्यूजीलैंड में कोरोना का केवल एक सक्रिय मामला, अन्य देशों में स्थिति गंभीरन्यूजीलैंड में कोरोना वायरस का लगभग उन्मूलन हो गया है और 50 लाख की आबादी वाले इस देश में आज की तारीख में महामारी का केवल

न्यूजीलैंड में Corona का केवल एक सक्रिय मामला, अन्य देशों में स्थिति गंभीरवेलिंगटन। न्यूजीलैंड में कोरोना वायरस (Corona virus) कोविड-19 का लगभग उन्मूलन हो गया है और 50 लाख की आबादी वाले इस देश में आज की तारीख में महामारी का केवल एकमात्र सक्रिय मामला बचा है, लेकिन दुनिया के अन्य देशों में स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है और पाकिस्तान में इस विषाणु के कहर से बड़ी संख्या में मौत होने की खबर है।

गौतम गंभीर के पिता की SUV चोरी, घर के बाहर खड़ी थी गाड़ी, CCTV खंगाल रही पुलिसबेखौफ हुए बदमाश...सांसद के पिता तक की कार नहीं छोड़ी...जानिए कब का है पूरा मामला? GautamGmabhirDad DeepakGambhir DelhiPolice GautamGambhir DelhiPolice GautamGambhir ArvindKejriwal must resign. 😬 DelhiPolice GautamGambhir Delhi police DelhiPolice GautamGambhir ये बङे लोग हैइनका कार चोरी हो गया तो नेशनल न्यूज बना दिया गया और बिहार मे नरसंहार सरकार के संरक्षित कुख्यात बिधायक द्बारा किया गया तो उसको न्यूज चैनलो ने जातियता का रुप देकर दबाने मे लगा हुआ हैलेकिन याद रहे अपराधी सिर्फ-अपराधी होता है नीतीशकुमार_शर्म_करो नीतीशकुमार_शर्म_करो

श्रमिक ट्रेनों में मौत पर रेल मंत्री की अपील- गंभीर बीमारी वाले जरूरी होने पर ही यात्रा करेंकेंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को ट्वीट कर अपील की है कि जो लोग गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं, वो रेल यात्रा करने से बचें. और बेहद जरूरी होने पर ही यात्रा करें. PiyushGoyal सावधानी हटी... दुर्घटना घटी 🤔 PiyushGoyal अरे pagal इंसान 20 घंटे के जगह 100 घंटे भूखे प्यासे ट्रेन में मजदूर को रखेगा तो मौत नहीं होगा तो क्या होगा? ट्रेन में खाना नहीं मिल रहा है? PiyushGoyal मजदूर मर नहीं रहा है केंद्र सरकार मार रही है. किसी को कोई doubt है क्या इसमे?

विनायक सावरकर की जयंती आज, पीएम मोदी ने ट्वीट कर दी श्रद्धांजलिमौजूदा दौर में भी भारतीय राजनीति में चर्चा का विषय बने रहने वाले विनायक दामोदर सावरकर की आज जयंती है, इस अवसर पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. Mujhe maf kr do ohh.. Aur aap logon ne chatukarita karte hue Modi Jee ki is harkat ka prachar bhi kiya ? Sach kehne se kyun darte ho aap log? Sawarkar BRITISH AGENT tha ! Aur hamesha rahega ! Sawarkar ANTINATIONAL tha ! Aur hamesha rahega ! VerySorryWorker GodiMedia बहाया खून,कटाया सर,। मुस्कुराकर कर जान लुटाई है ।। ये आजादी तब हमने । बड़ी मुश्किल से पाई है ।। सावरकर ,गोडसे ,मुझको । बरगालाने की कोशिश मत कर।। मुझे दुनिया की समझ हमे । गांधी,अम्बेडकर से अाई है ।। माफिवीर_सावरकर_जयंती । गद्दार

Rising India: जादुई कोटिंग से आपके कपड़े बन जाएंगे 'कोरोना रोधी कवच'वैज्ञानिकों ने नैनो प्रौद्योगिकी के सहारे पॉलीमेरिक सुपर हाइड्रोफोबिक कोटिंग तैयार की है। इस तकनीक में कोरोना वायरस जैसे सूक्ष्मजीवों को नष्ट करने की क्षमता है।

PM CARES फंड की जांच नहीं करेगी लोक लेखा समिति, BJP ने रोका रास्ता राहुल गांधी का हमला, कहा- PM मोदी के रहते भारत की जमीन को चीन ने कैसे छीन लिया कांग्रेस सांसदों की बैठक में फिर उठी राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने की मांग अमिताभ हुए कोरोना पॉजिटि‍व, सेहत के लिए दुआ मांग रहे नेता-अभिनेता विकास दुबे: 'मुठभेड़' में इतने इत्तेफ़ाक़! ऐसा कैसे? CISCE रिजल्ट: अखिलेश यादव की बेटी ने 12वीं में हासिल किए 98 प्रतिशत अंक मोदी के खिलाफ बोलने वाले राहुल का समर्थन नहीं कर सकते तो कांग्रेस छोड़ें: दिग्विजय सिंह कर्फ्यू के दौरान बिना मास्क घूम रहे थे मंत्री के समर्थक, रोकने वाली पुलिसकर्मी ने दिया इस्तीफा सचिन पायलट के साथ माने जा रहे तीन विधायकों का U-टर्न, कहा- 'हम कांग्रेस के सच्चे सिपाही' Amitabh Bachchan Covid 19 Positive: अमिताभ बच्चन को कोरोना, मुंबई के नानावटी अस्पताल में किया गया एडमिट अनुपम खेर के परिवार को भी कोरोना, मां और भाई समेत 4 लोग पॉजिटिव