Dgca, Planes, Aviationsecurity, Mumbaidelhiflight, Flightpilots, Directorate General Of Civil Aviation, Dgca, Aviation Security, Mumbai Delhi Flight, Delhi Mumbai Flight From Vistara, Flight Pilots, Action İn Pilots, विमानन सुरक्षा, Dgca हुआ शख्त

Dgca, Planes

विमानन सुरक्षा को लेकर DGCA हुआ शख्त, दिल्ली-मुंबई फ्लाइट के पायलटों को ड्यूटी से हटाया

विमानन सुरक्षा को लेकर #DGCA हुआ शख्त, दिल्ली-मुंबई फ्लाइट के पायलटों को ड्यूटी से हटाया #Planes #aviationsecurity #MumbaiDelhiflight #FlightPilots

17.7.2019

विमानन सुरक्षा को लेकर DGCA हुआ शख्त, दिल्ली-मुंबई फ्लाइट के पायलटों को ड्यूटी से हटाया Planes aviationsecurity MumbaiDelhiflight FlightPilots

विस्तारा की यूके 944 फ्लाइट उड़ा रहे पायलटों को विमान में पर्याप्त ईधन होने के बावजूद लखनऊ में विमान उतारने के लिए ईधन खत्म होने की चेतावनी देने की सजा दी गई है।

इन सभी पायलटों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। इनमें एक मामले में 30 जून को स्पाइसजेट का भोपाल से आया विमान सूरत एयरपोर्ट पर रनवे से छिटककर खेत में चला गया था। जबकि दूसरे मामले में 1 जुलाई को स्पाइसजेट का जयपुर से आया विमान मुंबई एयरपोर्ट के रनवे पर फिसल गया था।

एयर इंडिया एक्सप्रेस के दो मामलों में एक 30 जून को हुआ था। इसमें मंगलूर एयरपोर्ट पर विमान फिसल कर जमीन पर चला गया था। दो जुलाई को इसी एयरलाइन की दम्मम से कालीकट फ्लाइट का पिछला हिस्सा लैंडिंग के वक्त रनवे से टकरा गया था। गो एयर का मामला भी 30 जून का ही है। उसमें बंगलूर से रांची उतरी फ्लाइट का पिछला हिस्सा भी रनवे पर रगड़ खा गया था। इन घटनाओं के बाद DGCA ने सभी एयरलाइनों को सुरक्षा प्रक्रियाओं का पालन करने वरना दंडित होने के लिए तैयार रहने की चेतावनी जारी की थी।

और पढो: Dainik jagran

आतंकवाद की जांच करने वाली एजेंसी NIA संशोधन बिल में ऐसा क्या है जिस पर अमित शाह और ओवैसी में हुई तीखी नोंकझोंक, 10 बातेंसोमवार को लोकसभा में एनआईए (NIA)यानी राष्ट्रीय जांच एजेंसी संशोधन बिल पास हो गया है. इस विधेयक में दिए गए प्रावधानों के मुताबिक अब आतंकवाद मामलों की जांच करने वाली देश की सबसे बड़ी एजेंसी एनआईए भारत के बाहर किसी भी गंभीर अपराध के मामले में केस रजिस्टर और जांच का निर्देश दे सकती है. अब इस बिल को राज्यसभा में लाया जाएगा जहां इसको पास करना सरकार के सामने चुनौती होगी.इस बिल पर चर्चा के दौरान एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी और गृहमंत्री अमित शाह के बीच तीखी नोंकझोंक भी हुई. पहले विधेयक को विचार करने के लिए सदन में रखे जाने के मुद्दे पर एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी ने मत-विभाजन की मांग की. गृह मंत्री अमित शाह ने भी कहा कि इस पर मत-विभाजन जरूर होना चाहिए. इसकी हम भी मांग करते हैं ताकि पता चल जाए कि कौन आतंकवाद के साथ है और कौन नहीं. मत विभाजन में सदन ने 6 के मुकाबले 278 मतों से विधेयक को पारित किये जाने के लिये विचार करने के वास्ते रखने की अनुमति दे दी. Sadakon par bhi aisi ladai nhi dikhti ओवैसी देशद्रोही है अमित शाह से देशद्रोही है। ये देश को तोड़ने का काम कर रहा है।

मां के दुलार के साथ पिता की निगरानी भी बच्चों के लिए जरूरी : हाईकोर्टमां बच्चे की सबसे पहले देखभाल करती है तो, वहीं उसका पिता बच्चे को प्यार व निगरानी रखकर उसका भविष्य संवारता है।

2014-15 में 24 हजार किसानों ने दी जान, बाद के आंकड़ों से सरकार अनजान!वर्ष 2016 के बाद से किसानों की आत्महत्या के आंकड़े सरकार के पास नहीं है. माना जा रहा है कि अगर मौजूदा वर्ष तक के आंकड़े जुटाए जाएं तो किसानों के जान देने की संख्या काफी ज्यादा होगी. क्यू सरकार सो रही थी क्या Ye ger jimamedarana Shashan ka Nmuna! MOJI Hei to Mumkin hei ! KumarVikrantS Sarkar apna time pura n kray,kaam kray

EXCLUSIVE: आखिर कंगना रनौत को मीडिया से नाराज़गी क्या है?– News18 Hindiबॉलीवुड की क्वीन कही जाने वाली एक्ट्रेस कंगना रनौत इन दिनों अपनी आगामी फिल्म जजमेंटल है क्या के प्रमोशन में व्यस्त हैं. वहीं हाल ही में फिल्म के सॉन्ग लॉन्च के दौरान कंगना की एक हॉट टॉक भी हुई जोकि काफी चर्चा में आ गई. इस हॉट टॉक के बाद मीडिया के तरफ कंगना को बैन कर देने की भी मांग उठी. जिसके बारे में न्यूज़ 18 ने कंगना से खास बातचीत की. कंगना ने कहा कि किसी के ऊपर अपने विचार थोपना, गलत है... मैंने पॉवरफुल लोगों के खिलाफ आवाज़ उठाई इसलिए मुझ पर बैन लगा...मूवी माफिया के प्रेशर के कारण बैन..मुझे मेंटल नहीं एक ज़ोम्बी की तरह दिखाया गया... बार-बार मुझे जो बोलने से रोका जाता था, मैं इस चीज़ से इतने दबाव में थी कि मैं खुश हूं कि मुझ पर ये बैन लगा. वहीं पत्रकारों के बारे में दिए बयान पर कंगना कहती हैं कि हर चीज़ पर प्राइस टैग है...पर्सनल एजेंडा से जो पत्रकारिता करते हैं सिर्फ उन्होंने इस प्रोफेशन को बदनाम कर रखा है. देखिए न्यूज़ 18 हिंदी के साथ कंगना रनौत का ये एक्सक्लूसिव इंटरव्यू... KanganaTeam sushantmohan Rangoli_A जब तक मीडिया मे anjanaomkashyap BDUTT ravishndtv ppbajpai etc जैसे पत्रकार पत्रकारिता करेंगें कंगना ही नही हर उस इन्सान को नाराजगी होगी जो भारतीय संस्कार को मानते है और अपने भारत माता से प्यार करते है ! KanganaTeam sushantmohan Rangoli_A मीडिया एक माफिया की तरह काम कर रहा है आजकल और पत्रकार ५०/-में बिक रहे हैं सही खबर को गलत और गलत खबर को सही दिखाने के लिए-- आदरणीय 'मणिकर्णिका' KanganaTeam sushantmohan Rangoli_A KanganaTeam को हि नही देश के हर उस नागरिक को जब तक नाराजगी रहे गे तब तक दलाल मिडीया इस देश मे गोदी मिडीया के तलवे चाटे गी तब तक नाराजगी कायम रहे गी..!!

karnataka political crisis news and live updates - कर्नाटक सीएम ने अपना जनादेश खो दिया है, जब कोई बहुमत नहीं है तो उन्हें कल इस्तीफा देना चाहिए। मैं सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करता हूं, यह संविधान और लोकतंत्र की जीत है, बागी विधायकों के लिए एक | Navbharat Timesकर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन के बागी विधायकों और स्पीकर की याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई पूरी हो चुकी है। कोर्ट आज सुबह 10:30 बजे इस मामले में फैसला सुनाएगा। बागी विधायकों की मांग है कि वह स्पीकर को उनके इस्तीफों को स्वीकार करने का निर्देश दे जबकि स्पीकर ने कोर्ट से यथास्थिति बरकरार रखने के आदेश को वापस लेने की मांग की थी। कर्नाटक संकट के पल-पल के अपडेट्स के लिए जुड़े रहें हमारे साथ...

हैदराबाद: तकनीकी खराबी के कारण स्पाइसजेट फ्लाइट की लैंडिंग, विमान में 40 यात्री थे सवारहैदराबाद से रेनीगुंटा जाने वाली स्पाइसजेट की फ्लाइट को रेनीगुंटा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर तकनीकी खामी आने के कारण Hallo

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

18 जुलाई 2019, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

सरकार मनरेगा को हमेशा चलाए रखने के पक्ष में नहीं: तोमर

अगली खबर

Kulbhushan Jadhav : जानिए- कुलभूषण पर ICJ का फैसला, पाक के लिए कितना बाध्यकारी