विकास दुबे 'मुठभेड़': उत्तर प्रदेश पुलिस की 'ठोक देंगे' परंपरा में क़ानून की जगह कहाँ है?

विकास दुबे मुठभेड़: उत्तर प्रदेश पुलिस की 'ठोक देंगे' परंपरा में क़ानून की जगह कहाँ है?

10-07-2020 13:02:00

विकास दुबे मुठभेड़: उत्तर प्रदेश पुलिस की 'ठोक देंगे' परंपरा में क़ानून की जगह कहाँ है?

कानपुर में आठ पुलिसवालों की मौत के मुख्य अभियुक्त विकास दुबे की मौत ने पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाए हैं. क्या कहते हैं जानकार और वकील.

घटनास्थल की तस्वीरउनके मुताबिक़ देश में हर राज्य की पुलिस रो रही है कि हमें सुधार चाहिए. लेकिन राजनीतिक और सरकारी महकमे इसकी इजाज़त नहीं दे रहे. 2005 से प्रकाश सिंह पुलिस सुधार क़ानून के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं. यशोवर्धन आज़ाद कहते हैं कि पुलिस के पास थर्ड ग्रेड की सुविधाएँ हैं, फोर्थ ग्रेड की प्रोसिक्यूशन की सुविधा है, और छठे दर्ज़े की फोरेंसिक सुविधाएँ है. इतना ही नहीं रही सही कसर पुलिस की पुराने ट्रेनिंग के तरीक़े पूरी कर देते हैं. कई पुलिस वाले तो ऐसे होंगे जिन्होंने सालों से फायरिंग ही नहीं की होगी.

खबरदार: वायुसेना प्रमुख ने Mig-21 में भरी उड़ान, चीन-पाकिस्तान को दिया कड़ा संदेश नेपाल अब भारतीय विजिटर्स से मांगेगा आईकार्ड, फैसले के लिए कोरोना का बनाया बहाना Flipkart से होगी Realme C15, C12 की बिक्री, 18 को है लॉन्चिंग

वो आगे कहते हैं,"चाहे राज्य का गृह विभाग हो या केंद्र सरकार का पुलिस विभाग, ये सही तरीक़े से चलाना अपने आप में गंभीर मामला है. किसी को सिक्योरिटी देने या छीनने के अलावा, सिफारिश पर तबादले करना ही इस विभाग का काम नहीं होना चाहिए, इस विभाग को चलाने के लिए एक तरह की एक्सपर्टिज़ चाहिए और एक इच्छाशक्ति की ज़रूरत होती है."

यशोवर्धन बताते हैं कि सुप्रीम कोर्ट ने आदेश पारित किया था कि पुलिस कमिश्नरों को कम से कम दो साल का टेन्योर दीजिए. लेकिन वो कभी लागू ही नहीं हुआ. सुप्रीम कोर्ट ने कहा थानेदारों की पोस्टिंग के लिए पुलिस एस्टेबलिश्मेंट बोर्ड बनाए जाए, वो भी नहीं. जब तक पुरानी व्यवस्था नहीं बदलेगी, हम इन्हीं बिंदुओं पर बात करते ही रहेंगे.

मुठभेड़ परक़ानूनक्या कहता है?ऐसे में सवाल उठता है कि क्या मुठभेड़ पर देश में कोई क़ानून नहीं है?वरिष्ठ वकील वृंदा ग्रोवर के मुताबिक़ मुठभेड़ के मुद्दे पर देश में क़ानून है. पर पूरे सिस्टम को नेताओं और पुलिस की सांठ-गांठ ने उसे तोड़ मरोड़ कर रख दिया है. नेताओं के पास कोई राजनीतिक इच्छाशक्ति नहीं है. वृंदा इसे एक्स्ट्रा जुडिशल किलिंग करार देती हैं.

सुप्रीम कोर्ट की एक जजमेंट है, जो आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट के फुल बेंच के जजमेंट को सही करार देती है. उसमें साफ़ लिखा है कि ऐसे एनकाउंटर के मामले में एक एफ़आईआर दर्ज़ होनी चाहिए. उस पर पुलिस जाँच होनी चाहिए, जिसमें ये पता लगाया जाए की असल में हुआ क्या था.

लेकिन ऐसे एनकाउंटर की जाँच एनकाउंटर में शामिल पुलिस नहीं कर सकती. वो अलग लोग होंगे. ऐसी सूरत में मामले की वीडियग्राफी होनी ज़रूरी होती है. एफ़आईआर में पुलिस वालों को अभियुक्त बनाया जाना चाहिए और आईपीसी की धारा 302 लगाना चाहिए, यानी व्यक्ति की मौत हुई है. जाँच में ये बात साबित करने की ज़रूरत होती है कि आत्मरक्षा में गोली चलाई गई.

इमेज कॉपीरइटImage captionघटनास्थल की तस्वीरवृंदा कहती हैं कि आम तौर पर ऐसा होता नहीं. इस मामले में जो एफआईआर दर्ज होगी उसमें अभियुक्त होगा विकास दुबे और आईपीसी की धारा 302 के बजाए 307 लगाया जाएगा. यहीं नहीं होता है.सीधे शब्दों में समझें, तो आईपीसी की धारा 302 किसी के मरने के बाद अभियुक्त पर लगाई जाती है लेकिन आईपीसी की धारा 307, जान से मारने की कोशिश जैसे घिनौना अपराध में लगाया जाता है.

सुशांत सिंह राजपूत के लिए 15 अगस्त को ग्लोबल प्रेयर, बहन श्वेता ने की जुड़ने की अपील सुशांत केस: 10 ऐसे सवाल जिसमें एक्टर की मौत की गुत्थी उलझी है राफेल के अभ्यास से घबराया चीन, होतान एयरबेस पर उतारे 36 बमवर्षक विमान - trending clicks AajTak

वो आगे कहती हैं, ऐसे एनकाउंटर सही नहीं है ये साबित करने का सारा ज़िम्मा, मारे गए व्यक्ति के परिवार पर पड़ता है और इसलिए कोई मामले को आगे नहीं बढ़ाता.इशरत जहां एनकाउंटर में उनकी माँ ने ऐसी कोशिश की थी. गुजरात हाईकोर्ट गई. स्पेशल टीम बनाई, कोर्ट ने मॉनिटर किया. फिर सीबीआई को मामला सौंपा गया. सभी पुलिस वालों के ख़िलाफ़ सीबीआई ने चार्जशीट दायर की. आगे की कहानी हम सब जानते हैं.

वृंदा की मानें तो एनकाउंटर में न्याय प्रक्रिया ने अच्छा काम काम किया है. उसके कई अच्छे उदाहरण हैं. पिछले साल हैदराबाद में डॉक्टर रेप केस में भी वर्तमान चीफ जस्टिस बोबडे ने रिटायर्ड जज के अंतर्गत कमिशन ऑफ इंक्वायरी गठित की है. वृंदा ये भी जोड़ती हैं,"मैं ये नहीं कह रही कि पुलिस झूठ बोल रही है. हो सकता है विकास दुबे सच में भागा हो. मुझे सच नहीं मालूम. लेकिन मैं सच उसकी ज़ुबानी नहीं मान सकती, जिसने गोली चलाई है. ये आत्मरक्षा का सच अदालत में प्रूव किया जाना चाहिए. यही क़ानून कहता है."

योगी राज में एनकाउंटरउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2017 में राज्य की कमान संभाली थी. 2019 के जनवरी में उन्होंने अपनी पीठ थपथपाते हुए एक प्रेस रिलीज़ जारी की थी. इसमें कहा गया कि तकरीबन दो साल में 67 से ज़्यादा पुलिस एनकाउंटर की बात कही गई थी.

इनमें से कई के फ़र्ज़ी होने के आरोप सरकार पर लगे थे. ताबड़तोड़ होने वाली मुठभेड़ों पर न सिर्फ़ विधानसभा और संसद में हंगामा मचा, बल्कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने भी सवाल उठाए.उसके बाद बीबीसी संवाददाता नितिन श्रीवास्तव को दिए इंटरव्यू में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फ़र्ज़ी एनकाउंटर के आरोपों को ग़लत बताते हुए कहा,"हम किसी भी फ़र्ज़ी काम में यक़ीन नहीं रखते. हम लोग जनता की सेवा करने आए हैं और मेरा मानना है कि मेरी सरकार में एक भी एनकाउंटर फ़र्ज़ी नहीं हुआ है. उत्तर प्रदेश पुलिस को सुप्रीम कोर्ट और मानवाधिकार आयोग द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करने के आदेश हैं."

हालाँकि इसके बाद योगी आदित्यनाथ ने ये भी कहा कि,"लेकिन अगर कोई पुलिस पर जबरन फ़ायर कर रहा है तो मुझे लगता है आप पुलिस को फ़ायर करने से रोक नहीं सकते."जाने माने मानवाधिकार कार्यकर्ता आकार पटेल कहते है कि विकास दुबे मुठभेड़ पर उनके मन में कोई सवाल ही नहीं है. वो इसके लिए सीधे तौर पर 'हत्या' शब्द का इस्तेमाल करते हैं. उनके मुताबिक़ ये सिलसिला 1984 से चला आ रहा है, इसमें कोई नई बात नहीं है.

इमेज कॉपीरइटMP POLICEबीबीसी से बातचीत में उन्होंने कहा,"फोरेन्सिक साक्ष्य जमा कर मज़बूत केस तैयार करना मुश्किल काम है और ये रास्ता आसान होता है. इसलिए ये रास्ता चुना जाता है. मुद्दा ये है कि ऐसी चीज़ों को हमारे समाज ने इजाज़त दे दी है. कहीं और ऐसा नहीं होता. दूसरे जगहों पर ऐसा हो तो लोगों की नौकरी जाती है, लोग जेल भेजे जाते हैं इसके लिए."

गहलोत और पायलट ने म‍िलाए हाथ, विक्ट्री साइन बनाकर संदेश द‍िया- ऑल इज वेल अगले 2 घंटे में दिल्ली और आसपास के कई इलाकों में बारिश की संभावना: मौसम विभाग US: चुनावी व्यस्तता के बीच कमला हैरिस ने मां को किया याद, शेयर की बचपन की तस्वीर

आकार की मानें, तो ये एक अहम वजह है इस आसान रास्ते को चुनने की.वो इसके पीछे कुछ और वजहें भी गिनाते हैं. उनकी मानें तो पुलिस में सरकार ने ( केंद्र और राज्य) निवेश ही नहीं किया. फोरेंसिक एविडेंस कैसे लिए जाते हैं हमारे देश में ठीक से होता ही नहीं है. चाहे डीएनए टेस्टिंग का मामला हो या फिर फिज़िकल क्राइम या दूसरे तरह के साइबर अपराध.

देश में इस मामले में कोई एक्सपर्ट नहीं है और ना सरकार की मंशा इसमें कुछ पैसा लगाने की है. भारत में पुलिस को डंडेबाज़ी का काम मान लिया है. जबकि जाँच और फोरेंसिक साक्ष्य जमा करना पुलिस कार्रवाई का महत्वपूर्ण हिस्सा है. आकार के मुताबिक़ ये पूरी सिस्टम की नाकामी है.

राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था एक ऐसी संस्था बन कर रह गई है जहाँ 10 साल के लिए रिटायरमेंट के बाद किसी अधिकारी को गाड़ी और बंगले की ज़रूरत हो उसे ये पोस्ट दे दो. उसके पास कोई अधिकार ही नहीं है. भारत को चाहिए कि ऐसी संस्थाओं को और मज़बूती दें ताकि सवाल पूछे सके और ठोस क़दम उठा सकें.

और पढो: BBC News Hindi »

When 8 police men killed where is the humanity , they must bi encountered मुझे जो भी Follow करेगा मैं उसे 10 Second के अंदर Follow Back करता हूँ !! अगर नहीं किया तो मुझे Unfollow कर लेना । RajuRanjanJi Gunde toh marenge hi जो भी हुआ ठीक हुआ योगी जी की जय हो पाप का अंत होना ही था. जय हिंद JO LOG KANOON KE HAWALA DETE HUE IS ENCOUNTER KO GALAT KARAAR DE RAHE HEIN UNHE KYA MALOOM NAHIN KI HUMARA KANOON HI HEI JIS KE BADOULAT WOH ITNE APRAADH KARNE KE BAAD BHI AZAD GHUM RAHA THA AUR THODE DINON KE BAAD WEISA HI KARTA RAHTA. TO 8 POLICEWALON KE LIYE KAB ROYENGE

ठोक देना। उड़ा देना। इस भाषा का इस्तेमाल गुन्डे मवाली करते है। हा याद आया योगी भी पुराना मुलजिम रह चुका है। अपराधियों के साथ यही होना चाहिए अपनी बचाकर रखना ठुंक न जाए कदी। फ़र्ज़ी news 'कानून' कौन सा कानून. वही कानून जो विकास दुबे को 30 से अपराध करने से नही रोक सका। योगी महाराज ने तो 2 साल पहले चेतावनी भी दे दी थी कि यूपी के गुंडे बदमाशो सुधर जाओ...सुधर जाओ वरना..........

काम पड़े तो गले लगाओ,और काम निकल गया तो ठोक दो । Kanoon ke Rakhwale hi kanoon ke bhakshak ban Gaye hai.. कानून में ठोक देंगे भि कहा लिखा है कुछ काम ऐसे ही हो जाते हे कि पता नहीं चलता U.p. is the best state in India as I belong u.p. basically. Govt has recently proved that rule is rule and law is equal to all. Public confidence is at high level this time due to police action against criminals. Jai hind

प्रशासन के बताने के अनुसार दुबे पर 60+ केस दर्ज थे तो प्रशासन ने अब तक कोई कदम क्युॅ नही उठाया Ye corruption ki buniyaad to andha kanoon hi hai. बाबा को ठोक दो Isse pahle kanoon kidhar tha bey... answer pls जाकर, यूपी पुलिस से पूछो। सब बता देगी। વિકાસ દુબે એ પોલીસ ની ઉપર ફાયરીંગ કર્યુ એનુ છુ ? एक गैंगस्टर को तो मार गिराया, लेकिन हर rapist के साथ भी यही करना चाहिए

Achcha joke hai u p police ko story to kam se kam aisi banani chahiye jo thodi to orignal lage अपराधी था मर गया सवाल कियो जब पुलिस को मारा तब किया अपराधी का साथ देने वाले भी अपराधी सबसे खुशी की बात तो यह है कि भारत के सारे आतंकवादी जिहादी गद्दार मेंढक की तरह बाहर आ गए हैं। देख लो भाई यही हमारे देश के गद्दार हैं।

ऐसे ही एक दिन बुलडोजर ले जाकर के BBC के दफ्तर को तोड़कर भारत से भगा देना है ना भागे तो इनकाउंटर कर देना है। ना रहेगा BBC ना फैलेगा आतंकवाद। BBC ...bhaiya sudhar jao जैसे तुम्हें हर जगह जूते पड़ रहे है, फिंरंगी... .वैसे ही योगी सरकार में जो गंधगी फैलाएगा, उसे,'ठोक देंगे'.... Sab theek tha pr ager knoon ke rakhi wale hi knoon ki dhjiyan udae to dubhey kaise udae ge hi

File closed Sadhu sant desh chalye aur judgment encounter se .....dharm to raha nahi sab ek baraber Kuch kro to tujhe problem na kro to tujhe problem tu chahta kya hai be Jiski niv hamara samaj rakh raha hai isme nyayapalika ka koi sthan nahi hai ab hamara samaj jangal samaj ki taraf bad raha hai jiske jimmedar hum khud hoge

BBC विकास दुबे अपराधी था और जिसको उसके मरने का दुख है उसे भी मरना चाहिए। इसेको पाल कर क्या कर लेते कितने राज उगलवा लेते? राज को उगलवा कर किसी को सजा मिल पाती?कानून अगर प्रबल होता तो कोई भी कानून से खिलवाड़ करता? 20 सालों से ये कानून का खेल खेल रहा था आज मार गया तो दुख हो रहा है? फैसला तो योगी जी ही करेंगे 😅🙏

ये ऎसा अपराध जिसकी दूसरी सजा नहीं ।यही असली कानून है । अब किसके पास इतना समय की 20 साल न्यूज देखे सिर्फ इस लिए कि इसको फांसी कब होगी । अगर ऐसा नहीं करने से नेतालोग, पुलिसवाला फसजाते- हमारी न्याय पर्णाली भी तो ऐसा हि है कितने देश बिरोधी और असमाजिक तत्व खुला में घुम रह है। क्या करे क्या नकरे Desh ka kanoon kisi ko saja dene ke layak raha hi nahi hai....salo lag jate hai insaaf pane me...jo ho raha hai wohi achha hai....

हद हो गयी, जब विकास दुबे भाग गया तब बोल रहे थे कि मारा क्यों नहीं, वही मार देना चाहिए था, जब 8 दिन तक नहीं मिला तो पुलिस की नाकामी बता रहे थे और अब मार दिया तो सवाल उठाये जा रहे हैं। आखिर लोग चाहते क्या है। अति सुन्दर प्रदर्शन उत्तर प्रदेश पुलिस प्रशासन के द्वारा . कानून हैं कहा, गरीब उसी को ढूंढ रहा हैं।

कहीं नहीं। उत्तर प्रदेश में कानून Fir jab SP ki govt aayegi to ye parliament m Jake rota hai🤣🤣🤣 Ye raha halafnahi sabse imandar insan ka. Desh ko faisla karna hai Kya sahi Kya galat. Samvidhan aur kanoon ke upar koi nahi, police aur neta bhi nahi. Vikaas Dubey ki maut galat nahi lekin tarika galat. Apradhi aur Farzi encounter karnewale mein kya farak. New India

विकास दुबे यूपी से एमपी आ गया सरकारी तंत्र फेल हो गया, *एंडरसन भोपाल से अमेरिका चला गया यह सरकारी तंत्र की सफलता थी*.... 🤔🤔 वाह रे कांग्रेसी चमचो Ye hain Bahubali...salute Yogi ji ko qanun ka kuch aata pta nhi hai..aur nahi humanity ka... एक गुंडे को ठोक दिया तो इतना रण्डी रोना ? सीमा पर जवान वीरगति को प्राप्त होते हैं, तो एक भी आंसू नहीं बहाया जाता है ? तुम लोग हो कौन बे ? कहां से आए हो बे ?

Jb kanoon bika h to thokna h pdega BBC Jagah nahin hai.. no vacancy सर जी जब आप इतना ठोस विचार करते हैं तो मौलाना साथ अब तक क्यों नहीं पकड़ा गया पुलिस की 15 गाड़ियों में सिर्फ वही गाड़ी पलटी है जिसमें विकास दुबे था.🤔🤔 यह संयोग है या प्रयोग.? विकास दुबे को क्यों मारा गया अपने आप को बचाने के लिए मुख्यमंत्री और पुलिस की सांठगांठ से विकास दुबे की हत्या कर दी गई,, क्या ये लोग जज हैं या कानून हैं ये लोग कौन होते हैं फैसला करने वाले खुद अपराधी हो कर दूसरों का फैसला करेंगे क्या

पुलिस कार्यवाही नहीं करे तो समस्या.. पुलिस अपराधियों को मार गिराए तो समस्या!! कल तक जो चिल्ला रहे थे, कि कानून व्यवस्था लचर है अपराधी के हौसले बुलंद हैं और आज ऐसे रो रहे है जैसे सगा बाप मर गया हो ...!! 65 FIR और जमानत और फिर वहीं कहानी तो फिर क्या? सिंघम -आता माझी सटक ली sahmad7860 It was like a filmy shot.... It has shocked all no one can imagine such a fake encounter could be happen in real life but today we have seen the hypocrisy of Uppolice and BJP govt. Shame on you?

उस ड्राइवर को मेरा धन्यवाद जिसने अपनी जान पर खेलकर गाङी पलटा दी 🤣🤣 जब विकास दुबे ने उसके स्कूल का प्रिंसिपल, रिश्तेदारों और न जाने कितनों की हत्या की तत्काल में 8 पुलिस के लोगों की तब मीडिया की परंपरा कहा गई कि 60 से अधिक केस वाला कानून से कैसा खिलवाड़ करता रहा है। ये क्यों नही छापा कि कानून की धज्जियां उड़ाता विकास दुबे।

myogiadityanath Uppolice UPGovt Kuddos to Yogi govt....these monster should indeed killed like worms....well done UP police department. Lawlessness prevails जो मुद्दा था उसको मुर्दा बना दिया और गंजेड़ी बाबा ने कई राज छुपा लिए। Pahle to yogi ko hi thok dena chahiye ispe to khud kai gambhir charge laga hua tha jise withraw kiya gya

kalpeshravals 60 से ऊपर FIR, 8 पुलिस कर्मियों के हत्या फिर भी जजमेंट डे का आशा अलग से । जजमेंट के लायक व्यक्ति को जजमेंट मिलने चाहिए । कानून और न्याय उन लोगों का भी अधिकार है जिनके प्रियजन इस दुर्दांत अपराधी के हाथों मारे गए. अखिलेश_यादव जैसे भ्रस्ट और अपराधियों के समर्थक नेता का आज विकास_दुबे के लिए सहानुभूति और उसके मानव अधिकार की दुहाई दिखाता आज क्रिमनल्स् और राजनेताओं मे कितना बड़ा गठजोड़ है.

Ab to BBC mein jarurat hai Is tarah sawal kiya karo tab tum reporter khelaoge Kanoon ko thehnga hai up sarkar ka सब कुछ ठीक वैसे ही हुआ जैसा कि अनुमान था .... सत्ता की संलिप्तता का गहरा राज भी ख़त्म आतंकी विकास दुबे के ख़त्म होने के साथ Terrorist_Vikas_Dubey सरकार ने गाड़ी पलटकर अपने को तो बचा लिया लेकिन जनता सरकार को जरूर पलट देगी

शहीदों के कुछ परिजन खुश हैं तो कुछ सवाल उठा रहे हैं। जो खुश हैं मेरा उनसे बस एक सवाल है! क्या आप नहीं जानना चाहते आपके बेटे,पति, भाई की मौत के पीछे उसका और कौन साथी था? वो कौन नेता था? कौन था जो आपकी पीठ पर छुरा भोंकता रहा! कौन था जो आपकी नाक के नीचे विश्वासघात करता रहा? दर्जनों क्रूर हत्याओं, सैकड़ों अपराधों और कई सौ करोड़ की संपत्ति के मालिक को मालिक विकास को आज क्या मिला। जलालत की लाश में लिपटा पांच मीटर कपडा और ज़िंदगी खाक। चेहरा ना पिता ने देखा और ना मां ने। तरक्की में शॉर्टकट का रास्ता अकाल मौत या मात पर ही खत्म होता है VikasDubay Kanpur

Just to protect some hiprofile politicians , he was murdered in fake encounter कानून की कमजोरी की उपज है ठोकना। कास कानून अपना काम सही कर सके। Dr Kafeel Khan is a Doctor Activist Protestor Social Worker But not a criminal.... Karim4khn DrKafeelWantsJustice DrKafeelWantsJustice DrKafeelWantsJustice DrKafeelWantsJustice Please follow me

Kanoon ki jagha yha h👇 akr dekh 😉 Who is BBC ? Why this foreigner channel interference in Bharat matter. Boycott this looteri channel. برباد گلستاں کرنے کو بس ایک ہی الو کافی تھا ہر شاخ پہ الو بیٹھا ہے انجام گلستاں کیا ہوگا Jo usne thoka uska kya... Ita wild wild west guys... So chill... मैंने तो पहले ही कहा था कि यह सब हद से गन्दी राजनीति है , और ऐसे काम कोन करता है यह सब को मालूम है । जो भी देश कि हालात है और लोग प्राशन कार रहे है उनसे बचने कि लिए यह सब किया और जब विकास से ख़तरा लगा तो उसे भी हटवा दिया। यह फ़िल्मी राजनीति है और कोन करता है सब को मालूम है ।

BBC walo tumhari bi fatti na fatti na😂😂😂😂 Yogi Again and again जब क्या मनाने गए थे जब 8 पुलिस वालों को मार दिया था जब कानून नहीं दिखाई दे रहा था तुम्हें अब मरवाने आ गए हो सालों NO FIR NO REPORT.....FAISLA ON THE SPOT ...,😀😀😀 गुंडों के लिए इतनी हमदर्दी जरा विचार कीजिएगा तो फिर अच्छे लोगों के लिए क्या करना चाहिए

ॐ अगर पुलिस विभाग चाहे तो न्यायालय की जरूरत ही नहीं । सब को न्याय मिलेगा अगर वो ठान लें तो किसी के घर के बाहर से एक चप्पल भी चोरी नहीं हो सकती। धन्यवाद पुलिस। बीबीसी वालो रोना बन्द कर दो, ये चैप्टर अब क्लोज्ड हो गया हैं। विकास दुबे हत्यारा था, इसलिए उसको भी ऐसी ही मौत नसीब थी। न्याय व्यवस्था की चींटी चाल के कारण ये सब हो रहा है । जब न्यायालय एक सीधे केस का फैसला करने में 20 साल लगा देगा तो वो न्याय कहाँ कहलायेगा ?

Sakib_tyagi Ek nazar idhar bhi - कृपया आधुनिक भारत में कानून का मतलब बदल गया है Highest custodian death in U.P. Where is law Dunia ke her criminal ko apne aap ko adalat ke samne paish hone ka haq hai.phir adalat saboot ki bunyad pe law ka palan kare. उस पुलिस इंस्पेक्टर को भी ठोको जो विकास का मुखबीर था। जिसकी मुखबीरी की वजह से 8 पुलिस जाँबाजों की जाने गयी।

BBC हिंदी वालों, एक बार इस पत्रकार के नाम तों बता दे। हम भी देखें यह कौन सा खेत की उगाही है? 20 saal se BJP MLA ka murder karke Azad ghoom raha tha ..ye kanoon us se kafi achcha hai. कोर्ट कचहरी का मतलब नहीं रह जाएगा याद रहे ये ...ठायं ठायं ठायं वाली सरकार है। Vikas Dube Jaise durdant Gangstero ko ISI Tarah Se a encounter Karke Khatam kar dena chahie Varna yah Lok Sabha Vidhan Sabha mein Jaenge to Janata ko Pareshan Karenge.

एनकाउंटर से पहले विकासदुबे एक टोल प्लाजा के कैमरे कैद हुआ, जिसमें वह टाटा सफारी में था. जो गाड़ी पलटी, जिसमें विकास दुबे के होने की बात कही जा रही है, वह महिंद्रा TUV 300 है. पुलिस ने अपना गेम प्लान छुपाने की भी कोशिश नहीं की. हद है! Yaha मीडिया - विपक्ष सवाल कर रहा है. मैं - तुम क्या कर रहे हो? मीडिया - राष्ट्रवादी रामराज का समर्थन मैं - तुम्हारा काम क्या है? मीडिया - सच बताना,जनहित में सवाल करना. मैं - तुम कर क्या रहे हो? मीडिया - बीजेपी सरकार का प्रचार मैं - तो सवाल कौन करेगा? मीडिया - विपक्ष विपक्ष = पत्रकार

नये यूपी में अब उसकी जगह नही है Kanoon h kha aap ne dekha aam janta ko to Kanoon dikhta hi nahi ITNA ACHHA TO GANGSTER KE ENCOUNTER PR NAHI LAGA JITNA ACHHA UJJAIN MAIN POLICE WALEY NE 2 THAPPAD JAD DIYEY TO KALEZEY KO THAND PAD GAI. PROUD OF POLICE Teri bhi jaali naa सारे राज्य में योगी जैसा सी म हना चाहिए था 👈👈👈 जय श्री राम

आतंकवादियों और अपराधियों की दलाली करने वाले भी अब कानून की दुहाई देने लगे! Valid question संजय दत्त की एक मशहूर फिल्म देखी थी नाम 'वास्तव' था संजय हिस्ट्रीशीटर था, पॉलिटिकल हत्याएं करता फ़िल्म के अंत मे संजय दत्त जिस मंत्री के लिए काम करता था वही मंत्री सरेंडर करने कहता है, लेकिन अपने फायदे के लिए चुपके से पुलिस को एनकाउंटर का ऑर्डर दे देता है।

विकास दुबे ने 8 पुलिस वालो को मारा तो क्या वो सही था? newwcomerr ये कानून को ही ठोक चुके हैं तो कानून की जगह ही नहीं बचती। Yogi ji good work. BBC America me kya ho raha hai. China ke baare me bolo. Himmat nahi hai time. Darpok आपकी प्रोपगंडा वाली परंपरा का क्या होगा? यह इंग्लैंड से कार्टून है आपके लिए Police ही कानून है।

Raj to khulenge ek saathi bhi pakada Gaya mujrim ka honest police ki to jitne bhi vikaas ke saathi mare esa Lagta Jaan ke mara koi sabut na ho,daal mai kuch Kala Nahi Puri daal kaali h,iski jaanch Kisi videsh ki badi agency se karao बिल्कुल Ram raj hi thakur raj he birhaman wad khatam aaj desh mei sirf do kanoon hai, Modi law and Yogi law. baki sab tareekh pe taareekh.

अपनी अय्याशी और गलत कारी को छुपाने के लिए नIजायज बाप, अपनी नIजायज औलाद का ऐसे ही गर्भपIत करवा देता है? Troll_Ziddi हर जगह कानून से मसले नहीं सुलझते दरअसल कई को ' बचना ' था और कई को ' बचाना ' था इसीलिऐ ये सब हुआ है......वरना कोई लंगड़ा बंदा पिस्टल छीन कर भागने लगे, ऐसा तो हमने हॉलीवुड में भी नही देखा ।।

अदालतों में लगी भीड़, भ्र्ष्टाचार ने न्याय की उम्मीद को ध्वस्त कर दिया है l दुनिया को ग़ुलाम बना कर तुम्हारे देश ने बड़े क़ानून के झंडे गाड़े है जब कानून व्यवस्था पुलिस वालों के हाथों में ही दे दिया है तो जो हाई कोर्ट और सुप्रीमकोर्ट को बंद करवा दो, अब न्याय पुलिस वालों से ही करवाना विकास दुबे को मार डाला गया. वैसा ही हुआ जैसा सबने सोचा था. अगर वह जिंदा रहता तो सत्ताधारी दल के आधे मंत्री उसके साथ जेल जाते.

RT तलाश? Ye sawal tab uthate jb protest krne wali Ko goliyon se mara gya tb to maza lekr news chalate the to Kanoon bachta.ek din sab pe aayega जिस पर अभ तक अत्याचार हुआ है उनके घर जाके पूछो श्री_प्रकाश_शुक्ला के एनकाउंटर के बाद कल्याण_सिंह दुबारा कभी मुख्यमंत्री नही बन सकें ! 🤫 सोचा याद दिला दूँ He is a dmn beast criminal bu the worring factor for common man is misrule of law,made an iraq and syriya once an world acclaimed democracy.

जो कानून किताबों में छटपटा कर रह जाए, जो हाई कोर्ट व सुप्रीम कोर्ट के भी हाथ बांध दे वो रसूखदार अपराधियों के सामने कमजोर दिखती हैं! This is the darkest period for India's judiciary. Looks like our country is being run by Kim Jong Un. If the Supreme Court does not take suo moto cognizance of this extrajudicial killing, that means our top judges along with the central government are complicit.

सारे आतंकी BBC वालो के बाप ही क्यो निकलते है 8 policeman ki shahadat sab bhul gaye, Gundo ki raksha me sab lag gaye, theek waise haise terrorist marta hai to human right ki yadd aati hai अतिक अहमद,मुख़तार अंसारी जैसे अपराधियों की जेब में वो डरा हुआ था भाग रहा था, ये डरे हुए थे उडा दिया,अब आप सोचो इनके डर से पर्दे के पीछे कोन डरा हुआ था वो आप सोचो

बीबीसी सच का दूसरा नाम होता था पर अब यह बी सरकार की चाटुकार तो नही बन गई उत्तर प्रदेश में कानून नाम की कोई चीज नहीं अपराधी जब सत्ता में होते हैं तो अपराधी फैलता है ये बलात्कारियों के लिए तिरंगा यात्रा निकालते हैं. शंभू रैगर जैसे हैवान के लिए रामनवमी झांकी निकालते हैं. आतंकियों के साथी देवेंद्र सिंह को बचाते हैं. ठग गैंग.

Yogi h beta💪 अभी तो ठुकाई शुरू हुई है👍 गैंगस्टर लोगों का काउंटडाउन शुरू👍 गुंडो_का_काल_योगीजी 👍 कानून का राज़ ही तो स्थपित है ! बीबीसी के पेट में दर्द क्यो? पूरे मीडिया का ध्यान विकास दुबे पर... ऐसा महसूस करवा दिया की करोना से भी ज़्यादा ख़तरनाक.. इसलिए लगता हे, इसका vaccine जल्द त्यार हो गया.... आयरलैंड में

हिटलर शाही सरकारो को (जो लोकतंत्र व संविधान की हत्या कर रही) हटाने का वक्त आ गया ऐसी दमनकारी सरकारो सत्ता से उतार फेको। We don't want want BBC opinion on this In logon ko thokna chahiye . Yahan kanun dekhne keliye time nei hey . Kanun dekhte to Sala jail mein beith ke biryani khata . Kabhi kabhi kanun se Bahar nikalna padta hey

ठोक नहीं देंगे तो Congress पार्टी की तरह पाल के रखेंगे जेल में- बिरयानी खिलाएँगे। सरकार का पैसा आतंकवादी ओर क्रिमिनल पर लुटाएँगे। बलात्कारी ओर आतंकवादी की सज़ा - केवल मौत Authority of judiciary have finished . No need of judiciary anymore सच कहु तो जब मे ईन्डियन न्युज च्यानल देख्ता हु तो बेहद मनोरञ्जन होता हे बिस्वास तो बिलकुल नहि कर्ता ! हर बक्त चीनके विरुद्ध प्रोपोगन्डा 😂uff ऐसा लग्ता हे कि world war 3 हो रहा हो और भारत जित गया. Insane लेकिन indian लोग क्या सोच्ते हे क्या वो लोग इत्ने arrogant aur ignorant हे?

जो कानून सिर्फ अपराधियों को बचाने के लिए हो, वह कानून आम जनता के लिए बेकार है Thok toh diya विकास_दूबे का एनकाउंटर इसलिए नही हुआ कि सरकार खतरे मे आ जाती बल्कि इसलिए हुआ की भाग रहा था, उसके राजदार खाकी और खादी वाले उसे बचाने मे लग जाते और सरकार पर दवाव बनाते रहते। जो हुआ अच्छा हुआ। अपराधी की यही सजा है।

जो करेगा वो भरेगा हर घंटे मे । हर 4-6माह में होती उतर प्रदेश में कहानी न पहली न आखरी! अलग-अलग तरहसे!! केवल सवर्ण संघर्ष को ताकि भाजपा में मोदी की टक्कर को कोई न दिखाई दे! ये भी सप्ताह भर डरामा BSK तेरी गाNd में मिर्चा लग गया FakeEncounter कहीं नहीं। जो आतंकवादी सात पुलिसकर्मियों को मार चुका था उसे इतनी बेजवाबदारी से ले जाया जा रहा था की पिस्तौल छीनकर भागा? बात कुछ हजम नही हुई।

Kanoon hi h jisne itna sare apradh aur murders k bad b Vikash dubey ko bail diya. Jo hua accha hua आतंकी विकास दुबे अगर कोर्ट में पेश होता तो नारंगी_नाथ की कुर्सी और गर्दन दोनों खतरे में पड़ जाती इनकाउंटर_तो_बहाना_है_नारंगी_नाथ_को_बचाना_है क्रिमिनल ही राजा है BBC जी कानून अपनी जगह है ..😂🤣🤣🤣🤣 No where

यहाॅ तो कुछ Fake सा लग रहा What is Kanoon तुम्हारी जगह पता है ना....….....बक बक चेनल...... कुछ दिनों में अदालतें बंद हो जाएंगी Netao bade adhikari ki poll na khol de vikas esliye encounter kiya us ka कानून में गुनहगार के बचने की व्यवस्था का नतीजा है Shootout at Lokhandwala मे अमिताभ बच्चन कहते है....दो तरफ बंदुक लेकर लोग खडे है एक तरफ पुलिस है और दुसरी तरफ माया डोलस जेसे लोग खडे है तो आप किस तरफ खुद्द को सुरक्षित पाऍंगे!

BBC zaheel hy yaad hy cartoon Hamne tume ger liya hy Same to you अबे BBC वाले जब आठ पुलिस वालों को गोली मारी गई थी तब तुम्हारा सहानुभूति उन पुलिस वालों के लिए क्यों नहीं थी | अब जब अपराधी विकास दूबे मारा गया तब तुम कानून का हवाला दे रहे हो | Kanoon nahi hai issiliye ye 'Thok Denge' ki Sarkar elect Hui.

BBC vaalo tum bhi thukva lo up police se apni g**nd,, mauka he😂😂 अब न्यायपालिका और कानून से ऊपर है बाबाजी की सरकार। विकास दुबे के सहारे पूरे महकमे को बचाया जा रहा है। Badmasho sahi ilaaz kar rahe hain myogiadityanath ji Jogi raj mai sab gunda der ho jayega ya delhi ki sarn me aap party ke pash jayga Nahi chahiye, ese hi nyay hoga or RahulGandhi ji bhi Nyay launch karne k paksh me h

एक मछली को मरवा कर, बड़े-बड़े मगरमच्छ बच गए।। ठोक दो अगर इतने ही ठोकने वालों हो तो,, राजा भैय्या ,, मुख्तार अंसारी,,, आदि मैं Vकास दुबे हूं कानपुर वाला 'मैं योगी आदित्यनाथ हूं गोरखपुर वाला.!! इस हमाम में सब नंगे हैं । पर्दा ही रहने दो वरना बात बहुत दूर तक जाएगी । राधे राधे फर्जी समाचार चलाने वाले अपराधी ज्ञान बांट रहे कार्यवाही होनी चालू होगी तो पहले नपोगे !!

यूपी पुलिस के समर्थन में सामने आए एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा, बोले- '8 पुलिसकर्मी शहीद हुए तब कोई एक्टिविस्ट क्यों सामने नहीं आया' विकास दूबे के एनकाउंटर से अपराधी मर गया लेकिन अपराध ज़िंदा है , सबको पता है की सरकार ने प्लान करके एनकाउंटर किया है, एक अपराधी की आड़ में अपराध में शामिल कई लोग पकड़े जाते , नेता और अधिकारियों का अपराध भी बाहर आता, जिन्होंने मदद की, लेकिन जब सरकार ही साथ हो तो क्या करे कोई....

Pre-planned encounter for save politician AWSANR क़ानून जो पिछले पच्चीस वर्ष में न कर सका,UP police ने बिलकुल ठीक न्याय कर दीया...ऐसे दुर्दांत अपराधियों और आतंकवादियों के साथ यही होना चाहिए..जैसे वो निर्दोष लोगों के साथ करते हैं,और यह इनके साथ होना बिलकुल उचित है... fake encounter hai bhai tera bhi number aayega bbc wale....tension na le...

यहा पर सब ज्ञान दे रहे है की उसको मार के गलत किया मुझे तो सक है अयेसा बोल्ने वालों मे 80% लोग कहीं मुजरिम तो नहीं है या माफिया है या उन्के चाहने वाले तो नहीं जिन्को अब अपना या अपने खाश का डर सताने लगा है कही योगी बाबा सफाई अभियान फिर ना सुरु कर्दे इस लिए यहा ज्ञान दे रहे हैं परम्परा नहीं है तो_बनाना पड़ेगा।

कानून तो निर्भया केस में ओर दिल्ली सिख हत्याकांड में देख चुके अगर कानून बड़ा होता तो थाने में हत्या करने के जुर्म में फांसी होनी चाहिए थी यहाँ कानून का मजाक नेता और वकील उड़ाते है अपराधी को बेल दिलाकर गवाहों की हत्या करवाने की का ठेका लेते है पटाखे जलाने का समय निर्धारित करने के लिए। It is possible that Uppolice & politicians including JihadiNaxals yadavakhilesh Mayawati priyankagandhi were afraid of exposures. A big chunk of UP Police owes allegiance to RahulGandhi juhiesingh JitinPrasada SinghRPN ZubairKhan_INC jayantrld RajeevRai DushyantNagar

BBC की हिंदी सर्विस को शायद पाकिस्तानी और चीनी लोग चला रहे हैं। केवल भारत की ख़िलाफ़त करते हैं । पैसे कमाने के और भी तरीक़े होंगे उन्हें इस्तेमाल कीजिए कसाब को पूरी प्रक्रिया से फांसी और विकास दूबे का एनकाउंटर! क्या ये कसाब से भी बड़ा आतंकवादी था। UP hv been a den of dreaded Goons & Dons... Encounter is only a solution...

Congratulations to those who were raising vikas Gupta fake_encounter Thokne ki jagah mein बेचारे के सर पे सिर्फ 160 केस, 60 क्रिमिनल केस, 55 हत्या और 40+ हत्या का केस था बेचारे के सर जिन्दा या मुर्दा बस 5 लाख का इनाम था और प्रेम इतना की 23 पुलिस वाले अपनी फॅमिली के दबाव में आ गए और गवाही से मुकर गए क़ानूनी बाबा तो तब भी थे ही

Bbc का भी encounter जरुरी हो गया है... Sarkar ne jaanbujh Kar encounter karwaya h. अपराधियों को ठोकना तो पड़ेगा ही,नहीं तो वो हमें ठोक देंगे। Brahmins have no idea about the Power of Yogi. Leave the all Brahmin and Will send the Pakistan. क़ानून तो है - योगी कानून आर कोर्ट /अदालत - मोदी कोर्ट। Kanoon ka raj khtm

अपराधियों के लिए कोई कानून नहीं है सिवाएं ठोक देने के BBC Hindi....aapka desh UK, Turkey ke saath foi big trade agreement sign karne ki soch raha hai.Turkey to ajkal terrorism ki support karta hai.Kya kehna ispe?Baki India ko aata hai desh chalana.Apne desh ki fikr karo BREXIT. Vikash Dubey Pahla Gunda Jise Bhagte Samay Sine Me Goli Lagi Ho

ये बीबीसी भी चमचो की लिस्ट में आता ह क्या? मुठभेड़ ओर मुठमार में क्या अंतर है 😁😁😁😁 Tum apne England ki Dhyan rakho.hamare yahan kya ho Raha he kya nahi ye ham tai karenge ,angrej nahin. जब अपराध की सजा फर्जी एनकाउंटर ही है तो अदालतों का क्या काम? आजकल तो योगी पुलिस भी एक चलती फिरती अदालत ही लगती है वही है जहाँ 60 गम्भीर मामले होने के बावजूद भी खुला घूम रहा था ,,,थाने में घुस के राज्यमंत्री की हत्या कर देता है ,,और छूट जाता है ,,,,,,,कानून वही है बस देखने की जरूरत है।

उ.प्र. पुलिस प्रशासन का गुंडाराज चलता है वहां। कानून जगह वही है जहाँ दुबे ने पुलिस वालों की हत्या करते समय रखी थी ।। याने की तुम्हारे पिछवाड़े में एक दिन बीबीसी को भी ठोक दिया जाएगा बहुत रंडापे करते हो ना बीबीसी वालो विकास दुबे एनकाउंटर से यह तो सिद्ध है कि सरकार को न्याय व्यवस्था पर भरोसा नहीं इसलिए स्वयं ही न्याय कर दिया जबकि यह न्याय नहीं देश के 135 करोड़ की जनता के भरोसे को कम कर दिया जहां सरकार सक्षम होते हुए न्याय की प्रतीक्षा नहीं कर सकती अप्रत्यक्ष रूप से देश के लिए एक गलत संदेश है

Teri Gand me sale bhadvo yha turant insaaf hota h हर fake एनकाउंटर मे कानून की बालादसती की मौत होती है। Yaha h😂 सहीं पकड़ें हैं। तानाशाह का आदेश था, ठोक दो। लोकतंत्र खत्म और जंगलराज की पराकाष्ठा। Tm bi UP na ana verna thok diye jaoge. helpline_BP कुछ सिखिये उत्तर प्रदेश से, माेदि हे ताे , याेगि हे ताे अपराधीक भारत मुमकिन हे ना ।।।godi media

बीबीसी वालो को भी सावधान हो जाना चाहिए, ऐ नया भारत है. विकास_दुबे भाग रहा था लेकिन गोली सीने पर लगी विकास_दुबे लगडा था वो भाग गया विकास_दुबे की टांगों पर कीचड़ नहीं VikasDubey कीचड़ में पैरो के निशान नहीं विकास की गाड़ी स्लिप मारी पर रोड पर निशान नहीं विकास_दुबे_मारा_गया विकास_दुबे_फर्जी_एनकाउंटर

अभी इसकी जरूरत नहीं है जानवर को मारने के लिए जानवर बनना पड़ता है. BJP4India DrKafeelWantsJustice ab in jaiso ke liye b kanoon chahiye Not in favor of any Political Party ! Follow Me Get Follow Back Acha baat toh aise bol rahe ho pehle ki saare sarkare bada kanoon ka palan karti thi. Aur aisa kanoon ka palan karti thu ki desh ke nagrik pareshaan huye baithe rehte the, darr ke rehte the. Parantu yogi sarkar mai seena chauda karke ghum toh sakte hai nidar. Common sense hai?

Kahi bhi nahi...... Jagal raj hai जगह तो हैदराबाद में भी नहीं थी पर हुआ वहां भी ना? law de pe अगर कार नहीं पलटती तो सरकार पलट जाती अगर विकास ना डूबता तो पता नहीं कितनौ को डुबाता। VikasDubey fake_encounter vikasDubeyEncounter RahulGandhi PriyankaGandhi विकास_दुबे_मारा_गया एनकाउंटर Tum galat karoge, hum rokenge ... tum gunaah karoge, hum thokenge ... It is as simple as that ...

pure yogi kabhi aise ungli dikhayege? Oh my god don hai to mumkin hai

'मैं हूँ विकास दुबे कानपुर वाला', पढ़िए विकास दुबे की गिरफ़्तारी की कहानीकानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के अभियुक्त विकास दुबे की मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ़्तारी हुई है. कैसे हुई ये गिरफ़्तारी जानिए. आतंकी खुद बता रहा है के वहीं आतंकी है वो भी मंदिर में जाके। अगर ये ब्राह्मण नहीं होता तो क्या ये इतनी आसानी से मंदिर में जाके अपने आप को इतनी आसानी से खुद का समर्पण करता। Koi arrest hoga to media kese pahuchi...media walo se pocho tunko inform kisne kiya tha ujjen me..saale media wale khud harami dogle paidaish hote hai

पुलिस-नेताओं से सांठगांठ का कमाल, ऐसे हुआ जुर्म की दुनिया में विकास दुबे का 'विकास'यूपी की सत्ता में बैठे चाहे वो नेता हों, आईएएस अफसर, आईपीएस, लोकल पुलिस हर जगह विकास दुबे की घुसपैठ है. बदनसीबी देखिए कि यूपी की जिस स्पेशल टास्ट फोर्स यानी एसटीएफ को अब विकास दुबे को पकड़ने की जिम्मेदारी दी गई है, उस एसटीएफ तक में विकास दुबे के हमदर्द बैठे हैं. ShamsTahirKhan 6 साल से विकास ढूंढ रहे थे, एक दिन मिला और फिर गायब हो गया। 🤣🤣 ShamsTahirKhan दिल्ली दंगो के मास्टर माइंड _ताहिर_हुसैन के मकान पर कभी _कानपुर के आरोपी विकास_दुबे की तरह ताबड़तोड़ कार्यवाही होगी?, क्या उसके घर पर भी कभी बुलडोजर चलेगा? ShamsTahirKhan मर्दानगी है तो जैसे जैसे नाच नाच के मौलाना को खोज रहे थे न ,वैसे ही विकास को खोजो मिल जाएगा .

गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर की कहानी, पुलिस की जुबानी, देखें VIDEOVikas Dubey Encounter: कानपुर पश्चिम के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अभियुक्त विकास दुबे को जब लाया जा रहा था तो रास्ते में गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ और गाड़ी पलट गई. गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे ने घायल पुलिसकर्मियों की पिस्टल छीन कर भागने की कोशिश की. पुलिस पार्टी ने उसको चारों तरफ से घेरकर आत्मसमर्पण कराने की कोशिश की. जिसमें उसने पुलिस पर फायरिंग की, जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने आत्मरक्षा में गोलियां चलाई. चुतिया बनाओ स्किम। Jaise laden ko America ne Banaya waise hi vikas dubey ko POLICE OR netao ne inna bada banaya tha.. jabtak use aya usko rehne dia ab kab pol khulne wali thi to.. 👏🤦‍♂️🤞🤭. सुप्रीम कोर्ट की निगरानी मे इस सारे षडयंत्र की जांच होनी चाहिए ईमानदारी से अपना कार्य करने वाले पुलिस कर्मियों का मनोबल गिराने ओर डराने का षडयंत्र है ये 8 पुलिस अधिकारी कर्मचारीयो की हत्या का षडयंत्र किसने रचा? डीएसपी महोदय के पत्र लिखने के बावजूद कार्यवाही किसने नहीं की ?

कानपुर मुठभेड़, विकास दुबे और पुलिस की कार्रवाई | DW | 08.07.2020कानपुर के बिकरू गांव में मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या मामले के मुख्य अभियुक्त विकास दुबे की तलाश जारी है लेकिन पुरस्कार राशि ढाई लाख रुपये करने और नेपाल सीमा सील करने के बावजूद पुलिस को उसका सुराग नहीं मिला है. सच में मार दिया गया है । मेरे ही जिला में मारा गया है। जय हिन्द 🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

यूपी पुलिस को सौंपा जाएगा विकास दुबे, CM शिवराज ने की योगी से बातअब योगी जी अच्छे से खबर लेंगे उसके गां... में बम बाध कर उड़ा दो साले को yogi ji Strategical drama?

UP के मोस्टवांटेड विकास दुबे को हमने गिरफ्तार किया, 8 घंटे की पूछताछ: उज्जैन पुलिसउज्जैन के एसपी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मोस्टवांटेड अपराधी विकास दुबे को हमने गिरफ्तार किया है. विकास दुबे कानपुर का रहने वाला है. विकास दुबे को लेकर पूरे देश में अलर्ट था. और दो दिन पहले मैंने पुलिस कंट्रोल रुम में बैठकर सबको अलर्ट किया था. पूछताछ key saath saath thukai kee, kee nahin? नेशनल ओबीसी कमीशन 69000 भर्ती पर बेसिक शिक्षा विभाग को आरक्षण की गड़बड़ियों पर नोटिस भेजता है, सुनवाई की तारीख तय करता हैं लेकिन अफसर जवाब तक नहीं देते। भाजपा सरकार में संवैधानिक आयोगों की यही हैसियत है? पिछडों का हक़ मार कर हितैषी होने के ढोंग रच रही myogiadityanath सरकार। और इसी के साथ यूपी में 3 दिन का लॉक डाउन कर दिया।