Corona Virus, Varanasi, Negligence, Dead Bodies, Medical Staff

Corona Virus, Varanasi

वाराणसी: कोरोना मरीज के शव के साथ लापरवाही, बगैर कवर के छोड़कर भागे स्वास्थ्यकर्मी

वाराणसी में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई

01-07-2020 19:48:00

वाराणसी में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई

परिजनों ने भी लापरवाही का परिचय देते हुए पीपीई किट को उतारकर मृतक के शव को खुद ही छूकर बांस की सीढि़यों में बांधकर शवदाह गृह के अंदर घसिटते हुए ले जाने लगे. वहीं, मामला बढ़ता देख स्वास्थ विभाग ने कमान तो संभाली, लेकिन वे एक दूसरे के ऊपर दोष मढ़ने लगे.

परिजनों ने भी लापरवाही का परिचय देते हुए पीपीई किट को उतारकर मृतक के शव को खुद ही छूकर बांस की सीढ़ियों में बांधकर शवदाह गृह के अंदर घसीटते हुए ले जाने लगे. वहीं, मामला बढ़ता देख स्वास्थ विभाग ने कमान तो संभाली, लेकिन वे एक दूसरे के ऊपर दोष मढ़ने लगे.

उत्तर प्रदेश में भगवान परशुराम की मूर्ति के बहाने ब्राह्मणों को लुभाने की होड़! देश में बेरोजगारी, हिंसा, कोरोना सब रिकॉर्ड स्तर पर, नाकामियों के इस शासन का अंत जरूरी: शशि थरूर जब अयोध्या से पीएम मोदी ने पड़ोसियों को दिया संदेश- भय बिनु होय न प्रीति

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कोरोना मरीजों की संख्या 500 के भी पार हो चुकी है, जिसमें से 20 की मौत भी हो चुकी है. वहीं, 300 से ज्यादा लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. लेकिन लापरवाही की सारी हदें तब पार हो गईं जब हरिश्चंद्र श्मशान घाट पर ही बने प्राकृतिक शवदाह गृह के प्लांट के बाहर बीएचयू के कोविड अस्पताल से शव वाहिनी में लाए गए शव को बगैर बैग के ही स्वास्थकर्मी परिजनों के हवाले छोड़कर भाग निकले. जिसके बाद परिजन भी मनमानी करते हुए अपना पीपीई किट उतारकर शव को छूने और बांस की सीढ़ियों में बांधकर प्राकृतिक शवदाह गृह में ले जाने लगे.

इस बारे में मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया कि बीएचयू अस्पताल से शव को बगैर कवर किए ही शव वाहन से लाकर प्राकृतिक शवदाह गृह के बाहर लोग छोड़कर चले गए. जिसके बाद शव को अपने हाथ से बांस की साढ़ियों से बांधना पड़ा. उन्होंने बताया कि ये प्रशासन की लापरवाही है. उन्हें शव को पूरी तरह पैक करके देना चाहिए था.

वहीं एक अन्य परिजन राजेंद्र त्रिवेदी ने बताया कि मृतक न केवल पेशे से वकील थे, बल्कि पूर्व छात्र नेता भी रह चुके हैं. जब एक जाने-माने व्यक्ति के साथ ऐसा बर्ताव हो रहा है तो आम लोगों के शवों के साथ प्रशासन के व्यवहार का अंदाजा लगाया जा सकता है.उन्होंने बताया कि मरीज को कुछ दिनों पहले वाराणसी के डीडीयू अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया था. फिर वहां से 21 जून को उनको बीएचयू के कोविड अस्पताल रेफर कर दिया गया. उनको वेंटीलेटर पर रख दिया गया. अब मौत हो जाने के बाद शव को श्मशान पर फेंककर शव वाहन का ड्राइवर चला गया, जबकि शव पूरी तरह से खुला हुआ था.

वहीं, आम शवों का दाह संस्कार करने वाले पवन चौधरी ने बताया कि पहले भी जो कोरोना शव आया करते थे, उनके कवर भी फट जाया करते थे. लेकिन अब तो बगैर कवर के ही शवों को भेज दे रहे हैं. उन्होंने आगे बताया कि ऐसे ही लापरवाही होती रही तो पूरे इलाके में कोरोना फैल जाएगा. उन्होंने बताया कि शव वाहन में लाने वाले जब भाग गए तो मृतक के परिवार के दो बुजुर्ग ही शव को बांस की सीढ़ियों में बांधकर खुद से घसीटकर मजबूरी में शवदाह गृह तक ले जाने लगे.

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने भी पकड़ी लापरवाहीवहीं शिकायत होने पर पहुंचे स्वास्थ विभाग के आलाधिकारी ने भी लापरवाही पकड़ी. सहायक मलेरिया अधिकारी केके राय ने बताया कि कोरोना शवों के साथ प्रोटोकॉल के मुताबिक पूरी तरह से कवर और रैप करके ही भेजा जाता है और यह शव भी बीएचयू अस्पताल से आया है. शव के साथ परिवार वाले भी होते हैं जो पीपीई किट से प्रोटेक्ट होते हैं.

और पढो: आज तक »

6 साल बाद भी कायम है पीएम मोदी का जलवा, लोगों ने माना बेस्ट पीएम!

सत्ता के समांतर विरोध की लहर चलती है लेकिन सत्ता के पक्ष में कोई लहर चले और उसकी रफ्तार दिन पर दिन तेज होती जाए, ऐसा होना एक अनहोनी है. लेकिन इस अनहोनी को होनी में बदल देते हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. इंडिया टुडे के सर्वे मुड ऑफ द नेशन में इस देश के लोगों ने जिस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अपना विश्वास जताया है, उसमें सारे पूर्व प्रधानमंत्रियों पर पीएम मोदी का कद काफी बड़ा दिखता है. अगर आज चुनाव हो जाए तो प्रधानमंत्री के विजयरथ को रोकने वाला कोई नहीं दिखता. देखिए स्पेशल शो.

यंहा का जन प्रतिनिधि सांसद कँहा छुप कर सरेंडर कर रहा है। Any FIR like Scroll Sharma on you be eligible for talking about Varanasi, Modi's constituency? नेहरू गलती कर गये क्यों थक गए है ये लोग भी, छोटी छोटी बातों को नजरंदाज करने की जरुरत है।

सरकार के बैन के बाद TikTok के CEO ने भारत में अपने कर्मचारियों को लिखा पत्र..पत्र में कहा गया है, टिकटोक में, हमारे प्रयासों को इंटरनेट का लोकतंत्रीकरण करने की हमारी प्रतिबद्धता द्वारा निर्देशित किया जाता है. हम मानते हैं कि काफी हद तक हम इस प्रयास में सफल रहे हैं ... हालांकि, हम अपने मिशन के लिए संकल्पबद्ध और प्रतिबद्ध हैं और हितधारकों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. Hamne bhi kya badla liya hai China ne hamare 20 fogi mar diye or hamne 59 apps banned kar diye wah modi ji wah Why are you so concerned about this aap...we can clearly see you are so desperate to make a narrative of emotinal angle..stop this it is not a big deal..please show some good thing,,improve your rating a bit..you are also a job creators dont destroy your channel and urs emplys. Ban kana h china ko apps band kar ke public ko kayse murkh bana rahi h Sarkar

कोरोना से मृत लोगों के शव गढ्डे में फेंकने के वीडियो पर कर्नाटक में बवालवीडियो में नजर आ रहा है कि एक-एक कर एम्बुलेंस से शवों को निकाला गया और बेदर्दी से गड्ढे में किसी कूड़े की तरह फेंक दिया गया. वीडियो में पीपीई सूट पहने कर्मचारी गड्ढे में शव डालते दिख रहे हैं.

पीएम मोदी ने किया त्योहारों का जिक्र, कार्ति चिदंबरम ने पूछा- साउथ के त्योहार कहां हैं?Hindi Samachar: Karti chidambaram tweet on modi: कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने पीएम मोदी के संबोधन (PM Narendra modi bhashan) के बाद सवाल उठाए हैं कि दक्षिण भारत के त्योहारों का जिक्र क्यों नहीं किया गया। ओ मेरे चिदम्बरम जी... साउथ में झूला झुलाया तो था जिनपिंग चाचा को। अब क्या🤣😂😂 ओ चिदंबरम बाबू पूरे देश का त्योहार गिनने नही आये थे जो योजना गरीब परिवार के लिए चलनी थी उसकी जानकारी देने आए थे बेटा साउथ के त्यौहार तो तुम जेल में मनाना

PM Modi highlights of the speech: पीएम मोदी बोले- अनलॉक के बाद बढ़ती जा रही लापरवाहीPM Narendra Modi Speech Highlights: कोरोना संकट पर बोलते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब से देश में अनलॉक-वन हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढती ही चली जा रही. पहले हम मास्क को लेकर, दो गज की दूरी को लेकर, 20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने को लेकर बहुत सतर्क थे. MadeInIndia MadeInIndia chaina prodects app not allowed india

भारत-चीन के बीच जारी तनाव के बावजूद रूस ने भारत का साथ दियाकूटनीतिक आयाम: विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक भारत की कोशिश है कि रूस के साथ संबंधों में रक्षा सौदों से आगे बढ़कर नए आयाम लाए जाएं। हिंद-प्रशांत रणनीति को लेकर भारत से ज्यादा चीन और रूस करीब हैं। ऐसे में भारत और रूस में बातचीत बेहद जरूरी है। भारत चाहेगा कि रूस चीन पर थोड़ा दबाव बनाए कि लद्दाख में चीन शांत रहे। \nमॉस्को में तैनात भारतीय राजदूत ने रूस के सामने भारत की चिंताएं कुछ वक्त पहले रखी थीं और रूस ने भरोसा दिया था कि चीन के साथ भारत का विवाद यदि बढ़ता है तो उसे शांतिपूर्ण ढंग से हल करने की तमाम कोशिशें की जाएंगी।\n

पीएम मोदी ने Weibo को कहा अलविदा, प्रतिबंध लगने के 24 घंटे के अंदर लिया फैसलापीएम मोदी ने WEIBO को कहा अलविदा, प्रतिबंध लगने के 24 घंटे के अंदर लिया फैसला narendramodi PMOIndia 59AppsBanned ChineseAppBlocked narendramodi PMOIndia narendramodi PMOIndia जितने भी राष्ट्रवादी हिंदूवादी लोग हैं देश को सपोर्ट करते हैं और जो न्याय इंसाफ पानाचाहते हैं दीदी कंगना राणावत जी हमारे लिए अपने देश के लिए लड़ाई लड़ रही हैं छोटे बड़े जो भी लोग है उनको न्याय दिला रही हैं दीदी कंगना राणावत और हिंदुस्तानी भाऊ को फॉलो कीजिए kangana_ranautt narendramodi PMOIndia अबे लिच्छड़ , हमने तो TikTok_IN पर प्रतिबंध के बाद 10 मिनट में अपना एकाउंट हटा दिया था