जनता दल (एस), Karnataka, H Vishwanath, Resigns, Jd(S), लोकसभा चुनाव 2019, Lok Sabha Elections 2019

जनता दल (एस), Karnataka

लोकसभा चुनाव के बाद कर्नाटक में इस बड़े नेता ने दिया इस्तीफा, बताई ये वजह

लोकसभा चुनाव के बाद कर्नाटक में इस बड़े नेता ने दिया इस्तीफा, बताई ये वजह

6/4/2019

लोकसभा चुनाव के बाद कर्नाटक में इस बड़े नेता ने दिया इस्तीफा, बताई ये वजह

लोकसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद राज्य में किसी बड़े नेता का यह पहला इस्तीफा है.

जनता दल (एस) की कर्नाटक इकाई के प्रमुख एच. विश्वनाथ ने लोकसभा चुनावों में पार्टी की करारी हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मंगलवार को अपने पद से त्यागपत्र दे दिया. राज्य की 28 लोकसभा सीटों पर पार्टी ने कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था पर उन्हें मात्र एक-एक सीट पर ही सफलता मिल पाई. भाजपा 25 सीटों पर कामयाब रही.जबकि भाजपा के समर्थन से निर्दलीय प्रत्याशी सुमालता अंबरीश ने मांड्या से जीत हासिल की.

जब उनसे पूछा गया कि इस पराजय के पीछे सिद्धरमैया का हाथ है तो उन्होंने कहा कि वह किसी का नाम नहीं लेगे. उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी से सहानुभूति रखते हैं कि वह खराब स्वास्थ्य और मित्रों के ‘अत्याचारों’ के बावजूद सरकार चला रहे है. उनका इशारा कांग्रेस की तरफ था.

और पढो: Zee News Hindi

श्रीनगर के डाउनटाउन में जुमे की नमाज के बाद हिंसा, पथराव, लहराए गए पाक के झंडे श्रीनगर के डाउनटाउन में जुमे की नमाज के बाद हिंसा, पथराव, लहराए गए पाक के झंडे JammuKashmir Srinagar Violence Ramadan Diya bujhne se phle ese hi hota h मोदी सरकार में वो दृढ़ इच्छा शक्ति नहीं कि पत्थरबाजों से सख्ती से निपट सके, सख्ती की जरूरत भी नहीं क्यूँकि ये एक खेल है, जिसे खेल की तरह ही खेलना होगा, जैसे लोहे को लोहा काटता है, थोड़ा दिमाग चाहिए जो कि सिर्फ सवर्ण हाई कास्ट के पास होता है इसको बोलते पागल होना।।

मोदी कैबिनेट 2.0: देखें किसे-किसे मिला केंद्रीय मंत्री का दर्जा-Navbharat Times लोकसभा चुनावों में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आए भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के नेता के तौर पर नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में एक भव्य समारोह में मोदी व उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। करीब दो घंटे चले शपथ ग्रहण समारोह में एनडीए की जीत के सूत्रधार रहे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर आकर्षण का केंद्र रहे। जानें मोदी सरकार 2.0 के 24 केंद्रीय मंत्रियों के बारे में...

मध्य प्रदेश में किसानों की समस्या हल करने को बनेगी राज्य स्तरीय समिति लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किसानों की समस्याओं को जल्द से जल्द दूर करने के लिए राज्य स्तरीय समिति बनाने का ऐलान किया है. इस घोषणा के बाद किसान महासंघ ने एक जून से प्रस्तावित अपनी हड़ताल को रद्द कर दिया है. ReporterRavish Ab pachtay hot kya jb chidiya chug gai khet ReporterRavish अब क्या फायदा हुआ सो हुआ ReporterRavish modi effect👌 good ab khuch sahi to karega.

लोकसभा में मिली हार के बाद NCP विधानसभा में कांग्रेस से मांगेगी आधी सीटें! कांग्रेस में विलय की बात को नकारते हुए एनसीपी ने विधानसभा चुनाव में 50-50 फीसदी सीटों पर लड़ने का फॉर्म्युला को आगे बढ़ाया है. लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हुई करारी हार के बाद एनसीपी की यह दबाव की राजनीति‍ का हिस्सा है.

लोकसभा चुनाव में हार के बाद अखिलेश UP का करेंगे दौरा, आज आजमगढ़ में रैली लोकसभा चुनाव में मिली हार के कारण तलाश रहे अखिलेश यादव ने विभिन्न संसदीय क्षेत्रों में प्रत्याशी रहे नेताओं और उनके पोलिंग एजेंटों और कार्यकर्ताओं से मुलाकात करके लोकसभा चुनाव के नतीजों को लेकर उनका पक्ष जान रहे हैं. अखिलेश जी ममता जी आपके साथ हैं तेवरों में बदलाव जब तक नही, तव तक वापसी असंभव है । Sir, Rally say kam nhi chalaiga ,gaun 2 Jana hoga Janta say direct bat kro

राजद-जदयू ने बुलायी अहम बैठक, इस मुद्दे पर हो सकती है चर्चा Lok Sabha Election/Chunav Results 2019 India, PM Narendra Modi Swearing in Ceremony Date LIVE Updates: राजद ने पार्टी विधायकों और एमएलसी की आज एक बैठक बुलायी है। यह बैठक राबड़ी देवी के आवास पर बुलायी गई है, जिसकी अध्यक्षता तेजस्वी यादव करेंगे।

speculations about modi cabinet and rahul gandhis resignation, live updates here - बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के मोदी कैबिनेट में शामिल होने पर जेपी नड्डा को बीजेपी अध्यक्ष बनाया जा सकता है। | Navbharat Times लोकसभा चुनावों में जीत के बाद एक तरफ बीजेपी जहां 30 मई को होने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शपथग्रहण की तैयारियों में जोर-शोर से लगी हुई है। वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस में इस्तीफों का दौर जारी है। राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश के बाद कई कांग्रेसी नेताओं ने इस्तीफ दिया। हालांकि इस बीच राहुल गांधी ने कुछ शर्तों के साथ पार्टी अध्यक्ष बने रहने के लिए सहमति दी है, लेकिन स्थिति अभी पूरी तरह स्पष्ट नहीं है। इस बीच ममता बनर्जी ने पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल होने से इनकार कर दिया है। पल-पल के अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ...

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा गंवा सकती है CPI चुनाव आयोग ने 15 मार्च को एक अधिसूचना जारी कर सात राष्ट्रीय दल बताए थे. वे हैं तृणमूल कांग्रेस, बीजेपी, बसपा, सीपीआई, सीपीआईएम, कांग्रेस और एनसीपी. हिंसावादी नक्सलवादी संगठन घोषित करो वामपंथ को इसे किसी राजनीतीक संगठन ना कहे यह वही संगठन है जिसमे टुकड़े गैंग पनपी है, जहा नक्सली को शहीद कहा जाता है। कन्हया और सीताराम येचुरी जी की यह बहुत बड़ी जीत है .जितनी चद्दर हो उतना ही फैलना चाहिए भारत की राजनीति का कोढ narendramodi जी की जयजयकार AtulKumarAnjaan SitaramYechury ने बंगाल में भाजपा के सामने आत्म समर्पण कर दिया । ShashiTharoor khud ghabra raha hai. आज हिंदी इतनी अच्छी पहली बार News18india के रिपोर्टर को समझा रहा था कि RahulGandhi unki dhaal bane. Darr hai

लोकसभा चुनाव में हार के बाद अरविंद केजरीवाल ने लिए ये 10 बड़े फैसले– News18 हिंदी Arvind Kejriwals 10 big decisions to get power again after the defeat of Lok Sabha elections तुमने कहा था जो पैसा दे ले लेना पर वोट झाडू को देना।अब तुम फ्री मे घोषणा करो पर वोट तो मोदी जी के नाम ही जायेगा ।

यूपी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भविष्यवाणी 100% सच साबित हुई, जानिये PM ने क्या कहा था? 10 बातें... यूपी में बना महागठबंधन (Mahagathbandhan) पहले लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Elections) में अपने लक्ष्य पाने में नाकाम रहा और उसके बाद अब वह टूटता नज़र आ रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के साथ-साथ कई नेताओं ने बुआ-बबुआ की जोड़ी को चुनाव परिणाम के बाद टूटने की बात कही थी. बता दें कि दिल्ली में कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठक में मायावती (Mayawati) ने साफ कर दिया कि विधानसभा की 11 सीटों पर होने वाले उपचुनावों में BSP अकेले लड़ेगी. वैसे ये भी एक नया चलन है, क्योंकि बीएसपी (BSP) आम तौर पर उपचुनाव लड़ने से अब तक परहेज करती रही है, लेकिन आज की बैठक में मायावती ने जो कुछ कहा, उससे साफ है कि वो नई राजनीतिक लड़ाई लड़ने की तैयारी कर रही हैं और गठबंधन उनके लिए अप्रासंगिक हो रहा है. बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले 12 जनवरी को उत्तर प्रदेश की राजनीति के दो कट्टर प्रतिद्वंद्वी समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने मिलकर आम चुनाव लड़ने का ऐतिहासिक फैसला लिया था, लेकिन चुनाव में इस गठबंधन को उम्मीद के मुताबिक कामयाबी नहीं मिली. बसपा के खाते में 10 सीटें आईं, जबकि सपा को 5 सीट से ही संतोष करना पड़ा. हालांकि गठबंधन तोड़ने का ऐलान अभी तक बसपा प्रमुख मायावती ने औपचारिक रूप से नहीं किया है. इन सबके बाद अब पीएम नरेंद्र मोदी की यह भविष्यवाणी सच साबित हो गई कि चुनाव बात यह गठबंधन टूट जाएगा. पीएम मोदी के साथ-साथ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी चुनाव बाद इस गठबंधन के टूटने की बात कही थी. EVM setting se Koi bhi bhaviswani ker sakta he बादल वैज्ञानिक कुछ भी कह सकता है 😇👏🤡🤹‍♂ Yahi ki unke dubara pm bante hi arajkta fayel jayegi, log dharm k nam par pitenge ek dusre ko

यूपी में गठबंधन की एक्सपायरी डेट आ गई? उत्तर प्रदेश में मोदी-योगी का विजय रथ रोकने के लिए बने गठबंधन के भविष्य पर अब खतरे के बादल मंडराने लगे हैं. लोकसभा चुनाव के बाद नई दिल्ली में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने आज अपने कार्यकर्ताओं के साथ समीक्षा बैठक की. समीक्षा बैठक में लोकसभा चुनाव के नतीजों पर बातचीत हुई. इस बैठक में मायावती ने जो संकेत दिए, वो गठबंधन की सेहत के लिए ठीक नहीं लगते. स्पेशल रिपोर्ट में आज देखें इसी पर हमारी खास पेशकश. anjanaomkashyap India main sab thug hi Kyun hain...? anjanaomkashyap Y to make ppl muftkhor M not getting this idea of free services are we not capable enough to bear our expenses.. or Delhi is that much backward.. anjanaomkashyap मतायो बहनो सब पूछे एक सवाल कैसे करोगे केजरीवाल

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

04 जून 2019, मंगलवार समाचार

पिछली खबर

बिहार: किशनगंज में हुई हार पर घमासान, बीजेपी और जेडीयू आमने-सामने

अगली खबर

चार बच्‍चों की मां से करना चाहता था शादी, इंकार करने पर 9 साल की बेटी का किया अपहरण
बिहार: किशनगंज में हुई हार पर घमासान, बीजेपी और जेडीयू आमने-सामने चार बच्‍चों की मां से करना चाहता था शादी, इंकार करने पर 9 साल की बेटी का किया अपहरण