लोकसभा चुनाव 2019: इंटरनेट पर पूछ-परख में राहुल से मोदी छह गुना आगे

Election 2019, Loksabhaelections 2019, Lok Sabha Election 2019, Lok Sabha Chunav 2019, Narendra Modi, Rahul Gandhi, İnternet, Mahasangram, Vote Karo, लोकसभा चुनाव 2019, नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, इंटरनेट, महासंग्राम, वोट करो

गूगल ट्रेंड्स के विश्लेषण से जानिए कब, कौन और क्यों ऊपर आया, नागरिकों द्वारा चुनावों के दौरान किए गए इंटरनेट सर्च के

Election 2019, Loksabhaelections 2019

5/14/2019

देश इस चुनावी समय में किसके बारे में जानना चाहता है, किसकी कही बातें पढ़ना और किसके साथ क्या हुआ है समझना चाहता है। INCIndia BJP4India narendramodi RahulGandhi Election2019 Loksabhaelections2019

गूगल ट्रेंड्स के विश्लेषण से जानिए कब, कौन और क्यों ऊपर आया, नागरिकों द्वारा चुनावों के दौरान किए गए इंटरनेट सर्च के

परिणाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : ए-सैट और चौथे चरण के चुनाव में चरम पर रहे मोदी को सर्च करने की उत्सुकता आचार संहिता लगने के बाद तेजी से बढ़ी, 27 मार्च को ए-सैट लॉन्च, 3 अप्रैल को राहुल गांधी द्वारा न्याय की घोषणा और 29 अप्रैल को चौथे चरण के मतदान के दौरान सर्वाधिक रही। वहीं गुजरात में मोदी को सर्च करने पर ग्राफ का आंकड़ा 87 के स्तर पर रहा, आंध्र प्रदेश में यह मात्र 16 और पंजाब में 23 ही पर रहा। 33 प्रमुख शहरों में से वे वडोदरा में 100, गाजियाबाद में 84 और सूरत में 76, व कोयंबटूर में 13, लुधियाना व चंडीगढ़ में 24 के स्तर पर रहे। राहुल गांधी : सुप्रीम कोर्ट से माफी ने करावाया सबसे ज्यादा सर्च राहुल को नागरिकों ने सबसे ज्यादा सर्च नकारात्मक वजह से 22 अप्रैल को किया। इस दिन उन्हाेंने सुप्रीम कोर्ट में ‘चौकीदार चोर है’ नारे को सुप्रीम कोर्ट के हवाले से एक भाषण में कहने पर माफी मांगी थी। 30 अप्रैल को सर्च का ग्राफ 72 के स्केल पर था, वह दिन भी कोर्ट में चोर चौकीदार नारे पर दिए माफी के हलफनामे में हुई गलतियों के लिए पड़ी फटकार और फिर से माफी का था। चार और पांच अप्रैल को भी यह आंकड़ा 58 पर पहुंचा, जब वे वायनाड से नामांकन भर रहे थे और भाषण दे रहे थे। 12 अप्रैल को पहले चरण के मतदान के दिन उनके सर्च का ग्राफ 57 पर रहा। तुलना : मोदी का औसत राहुल से छह गुना ज्यादा मोदी और राहुल के साझा विश्लेषण में सामने आया कि 10 मार्च से अब तक मोदी के सर्च का ग्राफ औसतन 72 पर रहा, राहुल का 12 पर। मोदी को 29 अप्रैल को सर्वाधिक सर्च किया गया, इसके मुकाबले राहुल को सर्वाधिक सर्च करने के दिन यानी 22 अप्रैल को ग्राफ 25 पर ही पहुंचा। जबकि इसी दिन मोदी का ग्राफ 83 पर था। किसी नेता के सर्वाधिक सर्च वाले दिन को 100 अंक दिया गया है। बाकी अंक इसी का प्रतिशत हैं। अगर 24 मार्च को पीएम मोदी को 100 लोगों ने सर्च किया तो इसकी तुलना में राहुल को 10 लोगों ने सर्च किया। अखिलेश यादव : चुनावी चरण के साथ बढ़ती गई लोकप्रियता सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को सर्च करने की उत्सुकता चुनावी चरण के साथ बढ़ी। अखिलेश को सबसे ज्यादा सर्च 5 मई को किया गया, यह छठवें चरण मतदान से एक दिन पहले का मौका था। 10 मार्च को यह 36 के स्केल पर थी। महीने के आखिर तक 28 मार्च को यह 52 पर पहुंची। 6 मई को ग्राफ 84 पर था। मायावती : मुलायम के लिए वोट मांगा तो हुईं सर्वाधिक सर्च 20 अप्रैल को बसपा अध्यक्ष मायावती ने जब मैनपुरी में सपा के पुराने मुखिया मुलायम सिंह के लिए वोट मांगे, वे इंटरनेट पर सर्वाधिक सर्च की गईं। आचार संहिता लगने के दिन जहां वे ग्राफ पर 22 के अंक पर थीं, आगे के चरणों में आंकड़ा बढ़ता गया। आठ अप्रैल को 65 और 16 अप्रैल को 72 से होते हुए सर्च का ग्राफ 6 मई को 69 पर रहा। योगी आदित्यनाथ : 20 अप्रैल को हासिल की सर्वाधिक ऊंचाई उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर हो रही ऑनलाइन सर्च 20 अप्रैल को सर्वाधिक ऊंचाई पर पहुंची। इसके मुकाबले आचार संहिता लगने के पहले दिन यह ग्राफ पर 64 के अंक पर थी तो वहीं 6 मई तक गिरकर 59 पर रह गई। तुलना : मायावती से भी पीछे योगी, दोगुने लोकप्रिय अखिलेश योगी से तुलना में अखिलेश और मायावती बहुत आगे रहे। अखिलेश रोजाना सर्च के ग्राफ पर औसतन 65 के अंक पर रहे। मायावती 52 के औसत पर रहीं। योगी का आंकड़ा, इन दोनों से बहुत पीछे 37 ही रहा। चुनावी समर आगे बढ़ने के साथ अखिलेश और मायावती को सर्च करने वालों की संख्या बढ़ती गई, वहीं योगी का ग्राफ गिरता गया। लोकप्रियता का अंतर भी बढ़ता गया। पांच मई को जब अखिलेश 100 के अंक पर थे, योगी केवल 39 पर, यानी करीब ढाई गुना पीछे थे। प्रियंका गांधी : तीन गुना बढ़ा सर्च का ग्राफ हाल ही में सोशल मीडिया पर आईं प्रियंका गांधी को इंटरनेट पर 19 मार्च को सर्वाधिक सर्च किया गया, वजह उनकी इलाहाबाद से वाराणसी यात्रा और मोदी पर दिया गया बयान कि ‘चौकीदार अमीरों के होते हैं’ बने। आचार संहिता लगने वाले दिन से उनके सर्च का ग्राफ 14 के अंक से बढ़कर 7 मई तक तीन गुना से बढ़कर 45 पहुंचा। ममता बनर्जी : मोदी के खिलाफ खड़े होकर पाई लोकप्रियता तीन गुना बढ़ा सर्च का ग्राफ पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को इंटरनेट पर सर्च करने में अचानक उछाल आया जब उन्होंने 6 मई को प्रधानमंत्री को अपने भाषण कठोर शब्दों से नवाजा। इसके मुकाबले 10 मार्च को उनका ग्राफ 36 के अंक पर था, 24 अप्रैल को यह बढ़कर 80 पर पहुंचा और सात मई को 77 पर रहा। तुलना : प्रमुख मुख्यमंत्रियों में सबसे आगे ममता चुनावों के दौरान ममता बनर्जी को सर्च करने वालों की संख्या इंटरनेट पर लोकप्रिय माने जाने अरविंद केजरीवाल से अधिक रही। दोनों का रोजाना का सर्च औसत क्रमश: 17 व 15 रहा। वहीं एन चंद्रबाबू नायडू 15, के चंद्रशेखर राव 11 और नवीन पटनायक 5 के स्तर पर रहे। देश इस चुनावी समय में किसके बारे में जानना चाहता है, किसकी कही बातें पढ़ना और किसके साथ क्या हुआ है समझना चाहता है। इन सभी बातों का कुछ आकलन इंटरनेट पर हो रही इन नेताओं की पूछ-परख से समझा जा सकता है। प्रमुख ऑनलाइन सर्च इंजन गूगल के 10 मार्च से 7 मई तक के सर्च ट्रेंड्स का अमर उजाला ने विश्लेषण किया तो सामने आया कि जब पीएम नरेंद्र मोदी विपक्षी दलों पर प्रहार करते हैं तो उनकी लोकप्रियता के पैमाने बढ़ जाते हैं। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को उनसे जुड़ी नकारात्मक बातों को लेकर ज्यादा सर्च किया जा रहा है। पढ़िए अन्य नेताओं का विश्लेषण - विज्ञापन विज्ञापन परिणाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : ए-सैट और चौथे चरण के चुनाव में चरम पर रहे मोदी को सर्च करने की उत्सुकता आचार संहिता लगने के बाद तेजी से बढ़ी, 27 मार्च को ए-सैट लॉन्च, 3 अप्रैल को राहुल गांधी द्वारा न्याय की घोषणा और 29 अप्रैल को चौथे चरण के मतदान के दौरान सर्वाधिक रही। वहीं गुजरात में मोदी को सर्च करने पर ग्राफ का आंकड़ा 87 के स्तर पर रहा, आंध्र प्रदेश में यह मात्र 16 और पंजाब में 23 ही पर रहा। 33 प्रमुख शहरों में से वे वडोदरा में 100, गाजियाबाद में 84 और सूरत में 76, व कोयंबटूर में 13, लुधियाना व चंडीगढ़ में 24 के स्तर पर रहे। राहुल गांधी : सुप्रीम कोर्ट से माफी ने करावाया सबसे ज्यादा सर्च राहुल को नागरिकों ने सबसे ज्यादा सर्च नकारात्मक वजह से 22 अप्रैल को किया। इस दिन उन्हाेंने सुप्रीम कोर्ट में ‘चौकीदार चोर है’ नारे को सुप्रीम कोर्ट के हवाले से एक भाषण में कहने पर माफी मांगी थी। 30 अप्रैल को सर्च का ग्राफ 72 के स्केल पर था, वह दिन भी कोर्ट में चोर चौकीदार नारे पर दिए माफी के हलफनामे में हुई गलतियों के लिए पड़ी फटकार और फिर से माफी का था। चार और पांच अप्रैल को भी यह आंकड़ा 58 पर पहुंचा, जब वे वायनाड से नामांकन भर रहे थे और भाषण दे रहे थे। 12 अप्रैल को पहले चरण के मतदान के दिन उनके सर्च का ग्राफ 57 पर रहा। तुलना : मोदी का औसत राहुल से छह गुना ज्यादा मोदी और राहुल के साझा विश्लेषण में सामने आया कि 10 मार्च से अब तक मोदी के सर्च का ग्राफ औसतन 72 पर रहा, राहुल का 12 पर। मोदी को 29 अप्रैल को सर्वाधिक सर्च किया गया, इसके मुकाबले राहुल को सर्वाधिक सर्च करने के दिन यानी 22 अप्रैल को ग्राफ 25 पर ही पहुंचा। जबकि इसी दिन मोदी का ग्राफ 83 पर था। किसी नेता के सर्वाधिक सर्च वाले दिन को 100 अंक दिया गया है। बाकी अंक इसी का प्रतिशत हैं। अगर 24 मार्च को पीएम मोदी को 100 लोगों ने सर्च किया तो इसकी तुलना में राहुल को 10 लोगों ने सर्च किया। अखिलेश यादव : चुनावी चरण के साथ बढ़ती गई लोकप्रियता सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को सर्च करने की उत्सुकता चुनावी चरण के साथ बढ़ी। अखिलेश को सबसे ज्यादा सर्च 5 मई को किया गया, यह छठवें चरण मतदान से एक दिन पहले का मौका था। 10 मार्च को यह 36 के स्केल पर थी। महीने के आखिर तक 28 मार्च को यह 52 पर पहुंची। 6 मई को ग्राफ 84 पर था। मायावती : मुलायम के लिए वोट मांगा तो हुईं सर्वाधिक सर्च 20 अप्रैल को बसपा अध्यक्ष मायावती ने जब मैनपुरी में सपा के पुराने मुखिया मुलायम सिंह के लिए वोट मांगे, वे इंटरनेट पर सर्वाधिक सर्च की गईं। आचार संहिता लगने के दिन जहां वे ग्राफ पर 22 के अंक पर थीं, आगे के चरणों में आंकड़ा बढ़ता गया। आठ अप्रैल को 65 और 16 अप्रैल को 72 से होते हुए सर्च का ग्राफ 6 मई को 69 पर रहा। योगी आदित्यनाथ : 20 अप्रैल को हासिल की सर्वाधिक ऊंचाई उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर हो रही ऑनलाइन सर्च 20 अप्रैल को सर्वाधिक ऊंचाई पर पहुंची। इसके मुकाबले आचार संहिता लगने के पहले दिन यह ग्राफ पर 64 के अंक पर थी तो वहीं 6 मई तक गिरकर 59 पर रह गई। तुलना : मायावती से भी पीछे योगी, दोगुने लोकप्रिय अखिलेश योगी से तुलना में अखिलेश और मायावती बहुत आगे रहे। अखिलेश रोजाना सर्च के ग्राफ पर औसतन 65 के अंक पर रहे। मायावती 52 के औसत पर रहीं। योगी का आंकड़ा, इन दोनों से बहुत पीछे 37 ही रहा। चुनावी समर आगे बढ़ने के साथ अखिलेश और मायावती को सर्च करने वालों की संख्या बढ़ती गई, वहीं योगी का ग्राफ गिरता गया। लोकप्रियता का अंतर भी बढ़ता गया। पांच मई को जब अखिलेश 100 के अंक पर थे, योगी केवल 39 पर, यानी करीब ढाई गुना पीछे थे। प्रियंका गांधी : तीन गुना बढ़ा सर्च का ग्राफ हाल ही में सोशल मीडिया पर आईं प्रियंका गांधी को इंटरनेट पर 19 मार्च को सर्वाधिक सर्च किया गया, वजह उनकी इलाहाबाद से वाराणसी यात्रा और मोदी पर दिया गया बयान कि ‘चौकीदार अमीरों के होते हैं’ बने। आचार संहिता लगने वाले दिन से उनके सर्च का ग्राफ 14 के अंक से बढ़कर 7 मई तक तीन गुना से बढ़कर 45 पहुंचा। ममता बनर्जी : मोदी के खिलाफ खड़े होकर पाई लोकप्रियता तीन गुना बढ़ा सर्च का ग्राफ पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को इंटरनेट पर सर्च करने में अचानक उछाल आया जब उन्होंने 6 मई को प्रधानमंत्री को अपने भाषण कठोर शब्दों से नवाजा। इसके मुकाबले 10 मार्च को उनका ग्राफ 36 के अंक पर था, 24 अप्रैल को यह बढ़कर 80 पर पहुंचा और सात मई को 77 पर रहा। तुलना : प्रमुख मुख्यमंत्रियों में सबसे आगे ममता चुनावों के दौरान ममता बनर्जी को सर्च करने वालों की संख्या इंटरनेट पर लोकप्रिय माने जाने अरविंद केजरीवाल से अधिक रही। दोनों का रोजाना का सर्च औसत क्रमश: 17 व 15 रहा। वहीं एन चंद्रबाबू नायडू 15, के चंद्रशेखर राव 11 और नवीन पटनायक 5 के स्तर पर रहे। Recommended और पढो: Amar Ujala

मतदान के दिन राहुल गांधी का अमेठी न पहुंचना बना चर्चा का विषय, पांचवें चरण के चुनाव की 10 बड़ी बातेंलोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में 63.5 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया, जो अब तक के सभी चरणों में सबसे कम है. चुनाव आयोग ने यह आंकड़ा जारी किया है. आयोग के मतदाता एंड्रॉयड एप्लिकेशन के अनुसार, सोमवार को रात के 9 बजे तक मतदान 63.5 प्रतिशत रहा. इस चुनाव में अब तक मतदाताओं की संख्या में गिरावट दर्ज की गई है. पहले चरण में 69.50 फीसदी मतदान हुआ था, जो अब तक के पांच चरण में सबसे अधिक है. दूसरे चरण में मतदान 69.44 प्रतिशत हुआ था, तीसरे चरण में 68.40 और चौथे चरण में 65.51 प्रतिशत मतदान हुआ था. वरिष्ठ उप चुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना ने यहां संवाददाताओं से कहा कि 2014 की तुलना में पहले चार चरणों (सोमवार के पांचवें चरण को छोड़कर) में 7.85 करोड़ अधिक मतदाता हैं. उन्होंने यह भी कहा कि 2014 के लोकसभा चुनावों के पहले चार चरणों की तुलना में इसके पहले चार चरणों में छह करोड़ अधिक मतदाताओं ने मतदान में भाग लिया. सक्सेना ने बताया कि झारखंड, राजस्थान, जम्मू कश्मीर और पश्चिम बंगाल में मतदान बाधित करने की छिटपुट घटनाओं को छोड़कर सभी जगह मतदान शांतिपूर्ण रहा. उन्होंने बताया कि पांचवें चरण में उत्तर प्रदेश और बिहार में मतदान का स्तर पिछले चुनाव की तुलना में बढ़ा है. Jab wo apna mat delhi me dete hai to amethi kya karne jate. Aur rahul gandhi ki haryana aur delhi m rally honi thi. Agar rahul amethi me hote to smriti ji bolti ki rahul ne booth capturing karai hai. स्मृती इरानी फिरभी कहरही है राहुल ने बुथ क्याप्चर किया । अब बताइए बात किसका सच माने जनता । श्री राधे,राहुल के मतदान के दिन अमेठी में न आने की वजह जो भी रही हो ,एक सच यह भी है कि उन्हें अमेठी जन पर पूरा विश्वास है दुसरा वह चाहते होंगे कि अमेठी जन खुले मन से निर्णय ले/ वोट कर अपने जन प्रतिनिधि का चुनाव करे,लेकिन तंगदिल और हल्की सोच को इतना कहां समझ आता है...

स्पेशल रिपोर्ट: दिल्ली की सियासत में ट्रिपल धमाका Special Report: Prior to polling, political game intensifies - Special Report AajTakदिल्ली में मतदान से पहले घनघोर चुनाव प्रचार की दुंदुभि बज गई. प्रचार में सभी पार्टियों के बड़े योद्धा मैदान में कूद पड़े. दिल्ली में 12 मई को चुनाव है, और अब सभी पार्टियों ने यहां पूरी ताकत झोंक दी है. दिल्ली में आज चुनावी राजनीति के हिसाब से सबसे गहमागहमी वाला दिन रहा. सियासत के तीन तीन दिग्गजों ने यहां जोर आजमाइश की. सक्रिय राजनीति में आने के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने दिल्ली में आज दो दो रोड शो किए. प्रियंका के रोड शो में भारी भीड़ इकट्ठा हुई. उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रोड शो करके अपनी ताकत दिखाई . तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दिल्ली के रामलीला मैदान में इस चुनावी मौसम की पहली रैली को संबोधित किया.चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़लेटर PankajJainClick anjanaomkashyap दिल्ली में भी अब कांग्रेस वोट कटवा बन के रह गई है। 🤔🤔🤔 PankajJainClick anjanaomkashyap To congress ke pass kya tindey lene gye thy....🤔🤔 PankajJainClick anjanaomkashyap कांग्रेस ने जो 4 सर्जिकल स्ट्राइक किये थे वो ये थे 👉1947 में हिन्दुओ पर किया 👉1966 में गोभक्तों पर किया 👉 1984 में सिखों पर किया 👉1990 में कश्मीरी पंडितो पर किया था। देश हित मे वोट करो क्योंकि ये आपके शहर की बात नही देश की सुरक्षा की बात है। 👈👈 Mr_Pandit_Jii 👉👉

लोकसभा चुनाव 2019 : क्या तस्वीर हुई साफ? छठे चरण के मतदान की 11 बड़ी बातेंलोकसभा चुनाव के छठे चरण में रविवार को पश्चिम बंगाल में भाजपा उम्मीदवार भारती घोष पर हमला किया गया और उत्तरप्रदेश में भगवा दल के एक विधायक ने एक चुनाव अधिकारी की कथित तौर पर पिटाई की. इस चरण में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और छह राज्यों की 59 सीटों पर 63 फीसदी से अधिक वोट पड़े. इस चरण में उत्तरप्रदेश में 14 सीटों, हरियाणा की दस सीटों, बिहार, मध्यप्रदेश और पश्चिम बंगाल में आठ - आठ सीटों, झारखंड में चार सीटों और दिल्ली में सात सीटों पर वोट डाले गए. दिल्ली में वोट डालने वाली प्रमुख हस्तियों में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी , संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज शामिल हैं. आज के मतदान के साथ ही 543 लोकसभा क्षेत्रों में से करीब 89 फीसदी सीटों पर चुनाव संपन्न हो गए जबकि शेष 59 सीटों पर 19 मई को चुनाव होंगे. चुनाव आयोग ने विभिन्न राज्यों और दिल्ली में 63.48 फीसदी मतदान की घोषणा की, वहीं पश्चिम बंगाल में 80 फीसदी से अधिक वोट पड़े जबकि राष्ट्रीय राजधानी में महज 60.21 फीसदी मतदान हुआ. 2014 में यह 63.37 प्रतिशत था. चुनाव आयोग ने कहा कि मतदान प्रतिशत रात नौ बजे दर्ज किया गया. यह आंकड़ा अंतिम नहीं है और इसमें वृद्धि हो सकती है क्योंकि कुछ स्थानों पर मतदान चल रहा है. खास बात यह है कि अब सिर्फ अंतिम चरण का चुनाव ही बचा है लेकिन अभी तक कोई भी दावे से नहीं कह सकता है कि केंद्र में किसकी सरकार बनने वाली है. हालांकि नेताओं को अपने-अपने दावे जरूर हैं. चुनाव की स्थिति स्पष्ट है बोया पेड़ बाबुल का तो आम कहां से खाए जो जग दी आपने वही तो जग लौट आई

आखिर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को क्यों आता है गुस्सा?– News18 हिंदीउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज-कल गुस्से में हैं. सीएम योगी के गुस्से का ताजा शिकार हुए हैं गोरखपुर बीजेपी के कार्यकर्ता. खबरों की माने तो गोरखपुर शहर में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कार्यकर्ताओं से नाराज हो गए. योगी जी शहर के 115 बूथ में 15 बूथ के अध्यक्षों के सम्मेलन में नहीं आने से नाराज थे, सीएम योगी कार्यकर्ताओं से इतने नाराज थे कि उन्‍होंने कार्यकर्ताओं से यहां तक कहा कि आवाज नहीं निकलती है क्‍या. भाड़े पर आएं हैं या कार्यकर्ता ही हैं. Up yogi Ji ka apna ghar hai apno per hi gussaya ka Sakta hai सही कारण तो है

क्या धोनी से पार पा पाएंगे ऋषभ पंत, इन 5 खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर भी रहेगी नजरआईपीएल के दूसरे क्वालिफायर मुकाबले में बेहतरीन फॉर्म में चल रही दिल्ली कैपिटल्स का मुकाबला शुक्रवार को चेन्नई सुपरकिंग्स से होगा। जो टीम इस मुकाबले को जीतेगी, फाइनल में उसका सामना मुंबई इंडियंस से होगा। इस मैच में चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और दिल्ली के विकेटकीपर ऋषभ पंत के बीच कड़ा मुकाबला होने की उम्मीद है। ऋषभ पं‍त ने पिछले मैच में दिल्ली को जीत दिलाने में बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वहीं धोनी भी इस समय बेहतरीन लय में हैं। इन दोनों के साथ ही इन 5 खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर भी सभी की नजरें होगी...

राजतिलक: छठे चरण के मतदान में पश्चिम बंगाल आगे, पिछड़ा उत्तर प्रदेश West Bengal registers massive voter turnout in sixth phase - Rajtilak AajTak लोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण में दिल्ली सहित 7 राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर आज मतदान पूरा हो गया है. इसमें केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह, हर्षवर्धन और मेनका गांधी, सपा प्रमुख अखिलेश यादव और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया की किस्मत का फैसला होगा. छठे चरण में उत्तर प्रदेश की 14, हरियाणा की 10, बिहार और मध्य प्रदेश की 8-8, दिल्ली की सात और झारखंड की चार सीटों पर वोटिंग के बाद उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद हो चुका है. चुनाव आयोग के मुताबिक लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 63.04 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. आयोग के रात 8.50 बजे तक आए आंकड़ों के अनुसार बिहार में 59.29, हरियाणा में 66.69, मध्य प्रदेश में 64.22, उत्तर प्रदेश में 54.29, पश्चिम बंगाल में 80.35, झारखंड में 64.50 और दिल्ली में 58.93 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है.चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़ लेटर gauravbh anjanaomkashyap पिछले 24 घंटे में बंगाल में- हिंदू लड़कियों की साड़ियां खीची गई। हिंदुओं की गाड़ियों व घरों में घुस के तोड़फोड़ की गई। 3 हिंदुओं को जिहादियों ने मार डाला, 1का हाथ काट दिया - ABP गायब - aajtak गायब - बिंदी_गैंग गायब - अवार्ड_वापसी गायब - बालीवुड योद्धा गायब MeraVoteModiKo gauravbh anjanaomkashyap Congrats MI to win the VIVO IPL 2019 TROPHY gauravbh anjanaomkashyap Rahul rahul Didi didi

मालवा में आज मोदी बनाम प्रियंका के बीच महामुकाबला, इंदौर में प्रियंका के मेगा रोड शो की तैयारीभोपाल। लोकसभा के चुनावी रण में अब मालवा में भाजपा और कांग्रेस के बीच महायुद्ध शुरु हो गया है। मालवा–निमाड़ की आठ लोकसभा सीटों पर 19 मई को आखिरी चरण में होने वाले मतदान से पहले दोनों ही पार्टियों ने पूरी ताकत झोंक दी है। कांग्रेस की ओर से चुनावी कमान को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने संभाल रखा है। मध्य प्रदेश लोकसभा चुनाव में प्रचार करने के लिए पहली बार आ रहीं प्रियंका गांधी उज्जैन में बाबा महाकाल के दर्शन करेंगी। इसके बाद प्रियंका रतलाम में कांग्रेस उम्मीदवार कांतिलाल भूरिया के लिए चुनाव प्रचार करेंगी और शाम को इंदौर में एक रोड शो करेंगी।

LIVE UPDATES: Lok Sabha Chunav News On 9th May 2019 - 2014 से पहले आए दिन, पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर आए आतंकी, देश को डराते रहते थे। लेकिन बीते 5 वर्ष में, देश को दहलाने वाले ये लोग, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों और जम्मू कश्मीर के छोटे से हिस्से तक सिमट गएलोकसभा चुनाव के 5 चरणों की समाप्ति के बाद बाकी के बचे दो चरणों के लिए राजनीतिक दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल के बांकुड़ा में जनसभा को संबोधित किया और यूपी में बीजेपी प्रत्याशी दिनेश लाल निरहुआ और नीलम सोनकर के समर्थन में रैली करेंगे। उधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी हरियाणा के हिसार में रैली की और मध्य प्रदेश व दिल्ली में रैलियों को संबोधित करेंगे। चुनाव से जुड़े हर अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ.... नोट बंदी अपना प्रभाव दिखा रही है। किराये के मज़दूर लाकर ओर इवेंट मैनेजमेंट पर करोड़ों खर्च करके ऐसे कोई भी कर सकता है। पैसा होना चाहिये।

LIVE UPDATES: Lok Sabha Chunav News On 9th May 2019 - 23 मई को फिर एक बार मोदी के आने के बाद खेत मजदूर हो, छोटे दुकानदार, सब्जी बेचने वाले हो, दूध बेचने वाले हो या चाय बेचने वाले को हर किसी को 60 साल के बाद हर महीने पेंशन देने का काम ये चौकीदार करेगा: पलोकसभा चुनाव के 5 चरणों की समाप्ति के बाद बाकी के बचे दो चरणों के लिए राजनीतिक दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल के बांकुड़ा में जनसभा को संबोधित किया और यूपी में बीजेपी प्रत्याशी दिनेश लाल निरहुआ और नीलम सोनकर के समर्थन में रैली करेंगे। उधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी हरियाणा के हिसार में रैली की और मध्य प्रदेश व दिल्ली में रैलियों को संबोधित करेंगे। चुनाव से जुड़े हर अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ....

...जब नवजोत सिंह सिद्धू ने बताया क्यों वह बोलते हैं BJP के खिलाफ Revealed! Why Navjot Singh Sidhu speaks against BJP - Lok Sabha Election 2019 AajTakआज वोट का सवाल है में हम बात करेंगे पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से. आज के इस एपिसोड में हम बात करेंगे नवजोत सिंह सिद्धू से उनकी चुनावी रणनीति के बारे में. सिद्धू के बारे में कहा जाता है कि वह जिस टीम में होते हैं, वहां पर वह विस्फोटक पारी खेलते हैं और उनके निशाने पर होते हैं विरोधी टीम के कप्तान. एक समय में जब वह बीजेपी में थे तो राहुल गांधी सिद्धू के निशाने पर हुआ करते थे. लेकिन, अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही ज्यादातर उनके निशाने पर होते हैं और चाहे वह रोड शो हो, चाहे रैली हो सिद्धू का जुदा अंदाज होता है और सबसे पहले नवजोत सिंह सिद्धू प्रधानमंत्री मोदी पर ही अपना निशाना साधते हैं. देखें वीडियो. चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़लेटर sherryontopp ashokasinghal2 इसे थूकने और फिर चाटने की आदत है sherryontopp ashokasinghal2 बहुत बुरी तरह रेलमपेल कर रहे है पटियाला स्टाईल में चौकीदार की ये भूतपूर्व भाजपा के ये धुरंधर मिनिस्टर sherryontopp ashokasinghal2 सुबह सुबह झूठ बोलना शुरू.. आज तक वालो तुम तो कांग्रेस की एडवर्टाइजिंग में ही लगे हो.. शर्म करो.

खबरदार: छठे चरण के मतदान में दिग्गजों की अग्निपरीक्षा Khabardar: Big leaders will be tested in 6th phase of voting - khabardar AajTakकल लोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण के लिये 7 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होना है. उत्तर प्रदेश की 14 सीटों पर, बिहार की 8 सीटों पर, मध्यप्रदेश की 8 सीट, पश्चिम बंगाल में 8 सीट, झारखंड की 4 सीट, दिल्ली की सभी 7 सीट और हरियाणा की सभी 10 सीटों पर छठे चरण का मतदान होना है. कल के चुनाव में बड़े-बड़े नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. एक तरफ आजमगढ़ में अखिलेश यादव और भोजपुरी सुपरस्टार निरहुआ आमने सामने हैं तो वहीं, भोपाल में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से दो-दो हाथ करेंगी आतंकवाद के आरोपों में घिरी बीजेपी की साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, तो वहीं उत्तर-पूर्वी दिल्ली में मनोज तिवारी और शीला दीक्षित में सीधी टक्कर है. किन दिग्गजों की कल के मतदान में है अग्निपरीक्षा, इसी पर होगा आज विश्लेषण.चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़ लेटर chitraaum मीडिया का आलम ये है कि 30 साल पहले राजीव गांधी छुट्टी मनाने गए थे या नहीं, ये पता करने में लगी है। जज लोया को किसने मारा? काला धन क्यों नही आया? 4 जजो ने लाइव कॉन्फ्रेंस क्यो की? मोदी इतना झूठ क्यो बोलते हैं ? इन सब पर मीडिया चुप है। chitraaum ये चुनाव कुछ खास है तभी तो इतना उथल पुथल हो गया इसके पहले किसी चुनाव में नहीं हुआ chitraaum भोपाल से प्रज्ञा ठाकुर जी जीत रही हैं



टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

    समाचार

    13 मई 2019, सोमवार समाचार

    पिछली खबर

    राजस्थानः पाठ्यक्रम में बदलाव, सावरकर को वीर की जगह अंग्रेज़ों से माफ़ी मांगने वाला बताया

    अगली खबर

    कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष की बैठक को ममता की ना, माया-अखिलेश की चुप्पी